समाचार
वर्ष : माह :
  • राष्ट्रीय सहारा : 16/07/2018 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद के नवसृजित ब्लाक भरोहिया के कार्यालय भवन का शिलान्यास एंव भूमि पूजन कर कहा कि धुरियापार चीनी मिल के पास बारह सौ करोड़ की लागत से एथेनाल प्लांट लगाया जाएगा जिससे हजारों लेगों को रोजगार मिलेगा। खेतों में पुआल और अवशेष की कीमत किसानों को जब मिलने लगेगी तो इन्हें जलाने पर स्वाभाविक रोक लगेगी। भरोहिया ब्लाक में कुल 48 ग्राम पंचायतें होंगी। कैम्पियरगंज के 9 ग्राम पंचायत तथा जंगल कौड़िया के 39 ग्राम पंचायत शामिल होगें जिसकी कुल आबादी लगभग डेढ़ लाख की है। उन्होंने कहा कि पहले पीपीगंज को विकास खण्ड बनाया गया था। अब क्षेत्र के विकास एवं गांव की दूरियों को ध्यान में रखकर भरोहिया ब्लॉक बनाया गया है। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा गांव के विकास हेतु धनराशि सीधे ग्राम पंचायतों में भेजी जाती है। गांव के विकास को और तेज करने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने बताया कि ग्राम्य विकास विभाग द्वारा 8 लाख 81 हजार आवास बनाकर कीर्तिमान स्थापित किया गया है। इस सत्र में 2 लाख और आवास बनाने की कार्ययोजना है। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत तालाबों का सुन्दरीकरण, वृक्षारोपण, गोशाला निर्माण आदि कायरे में इस धनराशि का उपयोग किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि कृषि कार्य से भी मनरेगा को जोड़ने के लिए मंथन हो रहा है ताकि किसानों की आय दोगुना करने का सपना साकार हो सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने पूरे देश के किसानों के लिए समर्थन मूल्य में काफी वृद्धि किया है जिसके तहत धान का समर्थन मूल्य 1460 रु. प्रति कुन्तल से बढ़ाकर 1750 रु. प्रति कुन्तल किया गया है। एक कुन्तल धान पैदा करने की लागत 1100 रु.आती है। अब जब किसान को उसके उत्पादन की लागत से प्रति कुंतल 650 रु.अधिक मिलेगा तो निश्चित रूप से उसका उत्साह बढ़ेगा। समर्थन मूल्य में बढ़ोत्तरी किसानों का उत्थान करेगी। उन्होंने कहा कि जिस तरह आप अपने घरों की सफाई करते है उसी भावना से गांव, नगर की सफाई पर ध्यान दें। लोगों को जागरूक करे।इंसेफलाइटिस जैसी घातक बीमारी का प्रमुख कारण गंदगी ही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 अगस्त को व्यापक रूप से पूरे प्रदेश मे वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाया जायेगा। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थलों पर पीपल, पाकड़, बीजू आम आदि का पौधा लगायें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा आजमगढ़ में पूर्वान्चल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास किया गया है इससे विकास को काफी गति मिलेगी। गोरखपुर दक्षिणान्चल क्षेत्र को फोरलेन के द्वारा एक्सप्रेस-वे से जोड़ा जायेगा। इससे औद्योगिकरण को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि एम्स, फर्टीलाइजर, गोरखपुर-सोनौली मार्ग के चौड़ीकरण का कार्य काफी गति से किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस के 42 हजार जवान भर्ती पूरी पारदर्शिता के साथ की गयी है। इसके अतिरिक्त 50 हजार की नई भर्ती भी निकलेगी। उन्होंने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार को समाप्त करने हेतु कृत संकल्पित है। टाउन एरिया का विस्तारीकरण हो इसके लिए कार्ययोजना के अनुरूप कार्य किया जायेगा। जनता को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि विकास का कोई विकल्प नही होता है लेकिन इस कार्य में सभी को जुड़ना होगा। इस अवसर पर ग्राम्य विकास मंत्री डा. महेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार विकास के प्रति कृत संकल्पित है। इस अवसर पर विधायक फतेह बहादुर सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भरोहिया विकास खंड के रुप में दी गयी सौगात क्षेत्र सहित प्रदेश के विकास की एक कड़ी है। सभा को महेन्द्र पाल सिंह, संत प्रसाद, उपेन्द्र दत्त शुक्ला, विजय शंकर यादव ने संबोधित किया। सभा का संचालन रमाकान्त निषाद व शिक्षिका ऋचा पांडेय ने किया। मौके पर ब्लाक प्रमुख वंशीधर जायसवाल, बृजेश यादव, गोरख सिंह, गणोश दत्त त्रिपाठी, राहुल श्रीवास्तव, अमित सिंह मोनू, जनार्दन सिंह, मृत्युंजय सिंह, कामेश्वर सिंह, महेन्द्र मिश्रा, शेषमणि त्रिपाठी, विन्द्रासन चौधरी, गंगा प्रसाद जायसवाल चेयरमैन, मकसूदन मिश्रा, गुड्डू श्रीवास्तव, डा. दीपक सिंह, प्रधान गण, क्षेत्र पंचायत सदस्य गण, जिला पंचायत सदस्य व काफी संख्या में पुरु ष व महिला मौजूद था। आभार ज्ञापन आयुक्त ग्राम्य विकास एऩपी़ सिंह ने किया। मण्डलायुक्त अनिल कुमार, जिलाधिकारी के. विजयेन्द्र पाण्डियन, मुख्य विकास अधिकारी अनुज सिंह भी उपस्थित रहे।
    Close
    धुरियापार में 12 सौ करोड़ की लागत से लगेगा एथेनाल प्लांट
    राष्ट्रीय सहारा 16/07/2018
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद के नवसृजित ब्लाक भरोहिया के कार्यालय भवन का शिलान्यास एंव भूमि पूजन कर कहा कि धुरियापार चीनी मिल के पास बारह सौ करोड़ की लागत से एथेनाल प्लांट लगाया जाएगा जिससे हजारों लेगों को रोजगार मिलेगा। खेतों में पुआल और अवशेष की कीमत किसानों को जब मिलने लगेगी तो इन्हें जलाने पर स्वाभाविक रोक लगेगी। भरोहिया ब्लाक में कुल 48 ग्राम पंचायतें होंगी। कैम्पियरगंज के 9 ग्राम पंचायत तथा जंगल कौड़िया के 39 ग्राम पंचायत शामिल होगें जिसकी कुल आबादी लगभग डेढ़ लाख की है। उन्होंने कहा कि पहले पीपीगंज को विकास खण्ड बनाया गया था। अब क्षेत्र के विकास एवं गांव की दूरियों को ध्यान में रखकर भरोहिया ब्लॉक बनाया गया है। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा गांव के विकास हेतु धनराशि सीधे ग्राम पंचायतों में भेजी जाती है। गांव के विकास को और तेज करने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने बताया कि ग्राम्य विकास विभाग द्वारा 8 लाख 81 हजार आवास बनाकर कीर्तिमान स्थापित किया गया है। इस सत्र में 2 लाख और आवास बनाने की कार्ययोजना है। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत तालाबों का सुन्दरीकरण, वृक्षारोपण, गोशाला निर्माण आदि कायरे में इस धनराशि का उपयोग किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि कृषि कार्य से भी मनरेगा को जोड़ने के लिए मंथन हो रहा है ताकि किसानों की आय दोगुना करने का सपना साकार हो सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने पूरे देश के किसानों के लिए समर्थन मूल्य में काफी वृद्धि किया है जिसके तहत धान का समर्थन मूल्य 1460 रु. प्रति कुन्तल से बढ़ाकर 1750 रु. प्रति कुन्तल किया गया है। एक कुन्तल धान पैदा करने की लागत 1100 रु.आती है। अब जब किसान को उसके उत्पादन की लागत से प्रति कुंतल 650 रु.अधिक मिलेगा तो निश्चित रूप से उसका उत्साह बढ़ेगा। समर्थन मूल्य में बढ़ोत्तरी किसानों का उत्थान करेगी। उन्होंने कहा कि जिस तरह आप अपने घरों की सफाई करते है उसी भावना से गांव, नगर की सफाई पर ध्यान दें। लोगों को जागरूक करे।इंसेफलाइटिस जैसी घातक बीमारी का प्रमुख कारण गंदगी ही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 अगस्त को व्यापक रूप से पूरे प्रदेश मे वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाया जायेगा। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थलों पर पीपल, पाकड़, बीजू आम आदि का पौधा लगायें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा आजमगढ़ में पूर्वान्चल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास किया गया है इससे विकास को काफी गति मिलेगी। गोरखपुर दक्षिणान्चल क्षेत्र को फोरलेन के द्वारा एक्सप्रेस-वे से जोड़ा जायेगा। इससे औद्योगिकरण को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि एम्स, फर्टीलाइजर, गोरखपुर-सोनौली मार्ग के चौड़ीकरण का कार्य काफी गति से किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस के 42 हजार जवान भर्ती पूरी पारदर्शिता के साथ की गयी है। इसके अतिरिक्त 50 हजार की नई भर्ती भी निकलेगी। उन्होंने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार को समाप्त करने हेतु कृत संकल्पित है। टाउन एरिया का विस्तारीकरण हो इसके लिए कार्ययोजना के अनुरूप कार्य किया जायेगा। जनता को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि विकास का कोई विकल्प नही होता है लेकिन इस कार्य में सभी को जुड़ना होगा। इस अवसर पर ग्राम्य विकास मंत्री डा. महेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार विकास के प्रति कृत संकल्पित है। इस अवसर पर विधायक फतेह बहादुर सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भरोहिया विकास खंड के रुप में दी गयी सौगात क्षेत्र सहित प्रदेश के विकास की एक कड़ी है। सभा को महेन्द्र पाल सिंह, संत प्रसाद, उपेन्द्र दत्त शुक्ला, विजय शंकर यादव ने संबोधित किया। सभा का संचालन रमाकान्त निषाद व शिक्षिका ऋचा पांडेय ने किया। मौके पर ब्लाक प्रमुख वंशीधर जायसवाल, बृजेश यादव, गोरख सिंह, गणोश दत्त त्रिपाठी, राहुल श्रीवास्तव, अमित सिंह मोनू, जनार्दन सिंह, मृत्युंजय सिंह, कामेश्वर सिंह, महेन्द्र मिश्रा, शेषमणि त्रिपाठी, विन्द्रासन चौधरी, गंगा प्रसाद जायसवाल चेयरमैन, मकसूदन मिश्रा, गुड्डू श्रीवास्तव, डा. दीपक सिंह, प्रधान गण, क्षेत्र पंचायत सदस्य गण, जिला पंचायत सदस्य व काफी संख्या में पुरु ष व महिला मौजूद था। आभार ज्ञापन आयुक्त ग्राम्य विकास एऩपी़ सिंह ने किया। मण्डलायुक्त अनिल कुमार, जिलाधिकारी के. विजयेन्द्र पाण्डियन, मुख्य विकास अधिकारी अनुज सिंह भी उपस्थित रहे।


  • हिन्दुस्तान : 15/07/2018 प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे यूपी की समृद्धि का हिस्सा है। एक्सप्रेस-वे लखनऊ से बाराबंकी, बाराबंकी से अमेठी और इसके बाद सुल्तानपुर, मऊ, गाजीपुर को जोड़ेगा। इसके अलावा वाराणसी से पटना तक जुड़ेगा। तब पटना से दिल्ली की दूरी 10 घंटे की होगी। यही नहीं एक्सप्रेस-वे से गोरखपुर, अयोध्या, प्रयागराज भी जुड़ेगा। मुख्यमंत्री शनिवार को जिला मुख्यालय से 14 किमी. दूर मंदुरी हवाई पट्टी पर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने अपने 14 मिनट के भाषण की शुरुआत आजमगढ़ की धरती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत से की। उन्होंने कहा कि यह एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल की लाइफ बनने जा रही है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे भाजपा के जनकल्याण संकल्प पत्र में था, जिसे आगे बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विरोधी एक्सप्रेस-वे का पहले ही शिलान्यास होना बताकर जनभावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। वर्ष 2016 में एक्सप्रेस-वे की नींव ही नहीं रखी गई थी। इसके नाम पर कमीशनखोरी की गई। डेढ़ साल बाद भाजपा सरकार में एक्सप्रेस-वे की नींव पड़ी। उन्होंने विरोधियों पर प्रहार करते हुए कहा कि जातिवाद, परिवारवाद के नाम पर प्रदेश को पीछे कर दिया। विकास के नाम पर अराजकता और मां-बहनों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया। यह वही यूपी है, जो कभी गुंडाराज , दंगों की मार झेला करता था। समाजवाद के नाम पर भ्रष्टचार की मार झेलनी पड़ती थी। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत पूरी दुनिया में हर क्षेत्र में नई पहचान बना रहा है। बिना भेदभाव के विकास हो रहा है। कहा कि शासन कैसे चलता है। मोदी सरकार का चार साल का कार्यकाल मानक बन गया है। देश को नरेंद्र मोदी का नेतृत्व मिलने से देश में सुरक्षा, समृद्धि, विकास का विश्वास बढ़ा है।
    Close
    पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से जुड़ेगा गोरखपुर
    हिन्दुस्तान 15/07/2018
    प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे यूपी की समृद्धि का हिस्सा है। एक्सप्रेस-वे लखनऊ से बाराबंकी, बाराबंकी से अमेठी और इसके बाद सुल्तानपुर, मऊ, गाजीपुर को जोड़ेगा। इसके अलावा वाराणसी से पटना तक जुड़ेगा। तब पटना से दिल्ली की दूरी 10 घंटे की होगी। यही नहीं एक्सप्रेस-वे से गोरखपुर, अयोध्या, प्रयागराज भी जुड़ेगा। मुख्यमंत्री शनिवार को जिला मुख्यालय से 14 किमी. दूर मंदुरी हवाई पट्टी पर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने अपने 14 मिनट के भाषण की शुरुआत आजमगढ़ की धरती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत से की। उन्होंने कहा कि यह एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल की लाइफ बनने जा रही है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे भाजपा के जनकल्याण संकल्प पत्र में था, जिसे आगे बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विरोधी एक्सप्रेस-वे का पहले ही शिलान्यास होना बताकर जनभावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। वर्ष 2016 में एक्सप्रेस-वे की नींव ही नहीं रखी गई थी। इसके नाम पर कमीशनखोरी की गई। डेढ़ साल बाद भाजपा सरकार में एक्सप्रेस-वे की नींव पड़ी। उन्होंने विरोधियों पर प्रहार करते हुए कहा कि जातिवाद, परिवारवाद के नाम पर प्रदेश को पीछे कर दिया। विकास के नाम पर अराजकता और मां-बहनों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया। यह वही यूपी है, जो कभी गुंडाराज , दंगों की मार झेला करता था। समाजवाद के नाम पर भ्रष्टचार की मार झेलनी पड़ती थी। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत पूरी दुनिया में हर क्षेत्र में नई पहचान बना रहा है। बिना भेदभाव के विकास हो रहा है। कहा कि शासन कैसे चलता है। मोदी सरकार का चार साल का कार्यकाल मानक बन गया है। देश को नरेंद्र मोदी का नेतृत्व मिलने से देश में सुरक्षा, समृद्धि, विकास का विश्वास बढ़ा है।


  • दैनिक जागरण : 14/07/2018 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मौका तो वाणिज्य कर अधिकारियों के का था, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसी मंच से प्रदेश भर के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के संगठनों को संदेश दिया कि सरकार पर डंडे-झंडे का दबाव बनाकर व्यवस्था नहीं चलेगी। उन्होंने कहा कि सरकार की अपनी सीमाएं हैं, इसलिए संघर्ष से समस्याएं और बढ़ेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि तख्ती लेकर सड़क पर उतरने की बजाय ऐसा प्रेरक काम करें कि सरकार खुद आपके लिए सोचे।1लेखपालों के आंदोलन को लेकर पिछले दिनों सख्ती जता चुके मुख्यमंत्री का कड़ा रुख शुक्रवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित उप्र वाणिज्य कर सेवा संघ के 52वें में भी नजर आया। उन्होंने कहा कि अधिकारी-कर्मचारी काम नहीं करेंगे और दबाव बनाएंगे तो एकतरफा व्यवस्था नहीं चलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि संगठन का मतलब ट्रेड यूनियन नहीं होना चाहिए। अधिकारियों से योगी ने कहा कि आप मजदूर संगठन नहीं हो सकते, तख्ती लेकर सड़क पर उतरना आपको शोभा नहीं देता। उन्होंने कहा कि अंतर ही नहीं हो पाता कि अधिकारियों या कर्मचारियों का संगठन है या मजदूरों का। तीनों संगठनों के नारे एक जैसे हो गए हैं। नाराजगी जताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि या तो खुद को मजदूर मान लें या नारेबाजी बंद कर दें। अधिवेशन में सेवानिवृत्त अधिकारी एचएन राव तथा पर्वतारोही असिस्टेंट कमिश्नर कंचन सिंह गौर को मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया। आयोजन में वाणिज्य कर विभाग के अपर मुख्य सचिव आलोक सिन्हा व आयुक्त कामिनी चौहान रतन सहित प्रदेश भर के अधिकारी मौजूद थे।ज्यादा नहीं, कम हैं 13 लाख पंजीकरण : वाणिज्य कर अधिकारियों ने वैट के मुकाबले जीएसटी में करीब दोगुने यानि करीब 13 लाख व्यापारियों के पंजीकरण को अपनी उपलब्धि बताया, लेकिन मुख्यमंत्री ने इसे बेहद कम करार दिया। उन्होंने कहा कि पहले चरण में कम से कम 20 लाख पंजीकरण हो जाने चाहिए थे, जबकि इसे 50 लाख तक ले जाने का लक्ष्य हो जाना चाहिए।
    Close
    डंडे-झंडे से दबाव बनाकर नहीं चलेगी व्यवस्था : योगी
    दैनिक जागरण 14/07/2018
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मौका तो वाणिज्य कर अधिकारियों के का था, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसी मंच से प्रदेश भर के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के संगठनों को संदेश दिया कि सरकार पर डंडे-झंडे का दबाव बनाकर व्यवस्था नहीं चलेगी। उन्होंने कहा कि सरकार की अपनी सीमाएं हैं, इसलिए संघर्ष से समस्याएं और बढ़ेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि तख्ती लेकर सड़क पर उतरने की बजाय ऐसा प्रेरक काम करें कि सरकार खुद आपके लिए सोचे।1लेखपालों के आंदोलन को लेकर पिछले दिनों सख्ती जता चुके मुख्यमंत्री का कड़ा रुख शुक्रवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित उप्र वाणिज्य कर सेवा संघ के 52वें में भी नजर आया। उन्होंने कहा कि अधिकारी-कर्मचारी काम नहीं करेंगे और दबाव बनाएंगे तो एकतरफा व्यवस्था नहीं चलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि संगठन का मतलब ट्रेड यूनियन नहीं होना चाहिए। अधिकारियों से योगी ने कहा कि आप मजदूर संगठन नहीं हो सकते, तख्ती लेकर सड़क पर उतरना आपको शोभा नहीं देता। उन्होंने कहा कि अंतर ही नहीं हो पाता कि अधिकारियों या कर्मचारियों का संगठन है या मजदूरों का। तीनों संगठनों के नारे एक जैसे हो गए हैं। नाराजगी जताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि या तो खुद को मजदूर मान लें या नारेबाजी बंद कर दें। अधिवेशन में सेवानिवृत्त अधिकारी एचएन राव तथा पर्वतारोही असिस्टेंट कमिश्नर कंचन सिंह गौर को मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया। आयोजन में वाणिज्य कर विभाग के अपर मुख्य सचिव आलोक सिन्हा व आयुक्त कामिनी चौहान रतन सहित प्रदेश भर के अधिकारी मौजूद थे।ज्यादा नहीं, कम हैं 13 लाख पंजीकरण : वाणिज्य कर अधिकारियों ने वैट के मुकाबले जीएसटी में करीब दोगुने यानि करीब 13 लाख व्यापारियों के पंजीकरण को अपनी उपलब्धि बताया, लेकिन मुख्यमंत्री ने इसे बेहद कम करार दिया। उन्होंने कहा कि पहले चरण में कम से कम 20 लाख पंजीकरण हो जाने चाहिए थे, जबकि इसे 50 लाख तक ले जाने का लक्ष्य हो जाना चाहिए।


  • राष्ट्रीय सहारा : 13/07/2018 नई दिल्ली/लखनऊ (एसएनबी)मनरेगा और कृषि के बीच तालमेल के उद्देश्य से गठित मुख्यमंत्रियों के उपसमूह की नीति आयोग में हुई पहली बैठक में खेती की लागत कम करने, संसाधनों के बेहतर इस्तेमाल और फसलों में विविधता लाने पर र्चचा हुई। बैठक में तय हुआ कि किसानों की आय दोगुनी करने में मनरेगा की भूमिका महत्वपूर्ण है। इसके लिए सभी राज्यों में कार्यशालाएं आयोजित की जायेंगी। पहली कार्यशाला 6 अगस्त को भोपाल में होगी।बैठक में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विशेष रूप से उपस्थित होकर किसानों की आय बढ़ाने के लिए सुझाव दिये। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कई सुझाव देते हुए कहा कि किसानों को लाभ पहुंचाकर ही विकास किया जा सकता है। कृषि और किसानों के बीच के बिचौलियों को हटाकर ही किसानों को फसल का उचित लाभ दिलाया जा सकता है। प्राकृतिक आपदाओं के बाद कृषि भूमि एवं परिसंपत्तियों का पुनर्वास तथा कृषि में विविधता के जरिये अधिकतम लाभ के लिए मनरेगा के कोष का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके पूर्व नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने बताया कि इनमें खेती की लागत कम करना, पानी तथा अन्य संसाधनों के बेहतर इस्तेमाल से उत्पादन बढ़ाना और बाजार ढांचे में बदलाव कर किसानों को उचित कीमत दिलाना शामिल है। समूह इस बात पर एकमत था कि इन मुद्दों पर बड़े पैमाने पर विचार-विमर्श की जरूरत है जिसमें संबद्ध हितधारकों को भी शामिल किया जाना चाहिये। पटना, भोपाल, हैदराबाद, गुवाहाटी और नयी दिल्ली में पाँच क्षेत्रीय बैठकों/कार्यशालाओं का आयोजन किया जायेगा। इसमें विशेषज्ञों, किसानों और किसानों के प्रतिनिधियों तथा राज्य सरकारों समेत अन्य हितधारकों को भी आमंत्रित किया जायेगा।उपसमूह में इस बात पर भी सहमति जताई गयी कि इस क्रम में इस बात का भी ध्यान रखा जाना चाहिए कि श्रमिकों के हितों की रक्षा की जाये और मनरेगा के ‘‘परिसंपत्ति निर्माण’ के ध्येय को अक्षुण्ण रखा जाये। ग्रामीण विकास मांलय, कृषि मंत्रालय तथा संबद्ध राज्य सरकारों के साथ सलाह के बाद इन बैठकों की तारीख बाद में तय की जायेगी। आयोग ने बताया कि पांचों बैठकों का आयोजन 15 अगस्त से पहले कर लिया जायेगा और उनसे मिले फीडबैक पर उपसमूह की 31 अगस्त को होने वाली अगली बैठक में विचार किया जायेगा।
    Close
    किसानों को लाभ देकर ही विकास होगा
    राष्ट्रीय सहारा 13/07/2018
    नई दिल्ली/लखनऊ (एसएनबी)मनरेगा और कृषि के बीच तालमेल के उद्देश्य से गठित मुख्यमंत्रियों के उपसमूह की नीति आयोग में हुई पहली बैठक में खेती की लागत कम करने, संसाधनों के बेहतर इस्तेमाल और फसलों में विविधता लाने पर र्चचा हुई। बैठक में तय हुआ कि किसानों की आय दोगुनी करने में मनरेगा की भूमिका महत्वपूर्ण है। इसके लिए सभी राज्यों में कार्यशालाएं आयोजित की जायेंगी। पहली कार्यशाला 6 अगस्त को भोपाल में होगी।बैठक में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विशेष रूप से उपस्थित होकर किसानों की आय बढ़ाने के लिए सुझाव दिये। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कई सुझाव देते हुए कहा कि किसानों को लाभ पहुंचाकर ही विकास किया जा सकता है। कृषि और किसानों के बीच के बिचौलियों को हटाकर ही किसानों को फसल का उचित लाभ दिलाया जा सकता है। प्राकृतिक आपदाओं के बाद कृषि भूमि एवं परिसंपत्तियों का पुनर्वास तथा कृषि में विविधता के जरिये अधिकतम लाभ के लिए मनरेगा के कोष का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके पूर्व नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने बताया कि इनमें खेती की लागत कम करना, पानी तथा अन्य संसाधनों के बेहतर इस्तेमाल से उत्पादन बढ़ाना और बाजार ढांचे में बदलाव कर किसानों को उचित कीमत दिलाना शामिल है। समूह इस बात पर एकमत था कि इन मुद्दों पर बड़े पैमाने पर विचार-विमर्श की जरूरत है जिसमें संबद्ध हितधारकों को भी शामिल किया जाना चाहिये। पटना, भोपाल, हैदराबाद, गुवाहाटी और नयी दिल्ली में पाँच क्षेत्रीय बैठकों/कार्यशालाओं का आयोजन किया जायेगा। इसमें विशेषज्ञों, किसानों और किसानों के प्रतिनिधियों तथा राज्य सरकारों समेत अन्य हितधारकों को भी आमंत्रित किया जायेगा।उपसमूह में इस बात पर भी सहमति जताई गयी कि इस क्रम में इस बात का भी ध्यान रखा जाना चाहिए कि श्रमिकों के हितों की रक्षा की जाये और मनरेगा के ‘‘परिसंपत्ति निर्माण’ के ध्येय को अक्षुण्ण रखा जाये। ग्रामीण विकास मांलय, कृषि मंत्रालय तथा संबद्ध राज्य सरकारों के साथ सलाह के बाद इन बैठकों की तारीख बाद में तय की जायेगी। आयोग ने बताया कि पांचों बैठकों का आयोजन 15 अगस्त से पहले कर लिया जायेगा और उनसे मिले फीडबैक पर उपसमूह की 31 अगस्त को होने वाली अगली बैठक में विचार किया जायेगा।


  • दैनिक जागरण : 12/07/2018 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मातृभूमि सर्वोपरि है। विदेश में रहकर भी आप अपनी मातृभूमि के बारे में सोच रहे हैं यह अच्छी बात है। देश और प्रदेश का माहौल अब बदल चुका है। ऐसे में मातृभूमि की बेहतरी के लिए निवेश के बारे में भी सोचें। सरकार इसमें हर संभव मदद करेगी।बुधवार को यहां एनेक्सी में अप्रवासी भारतीयों के एक प्रतिनिधिमंडल से के दौरान मुख्यमंत्री ने यह बातें कहीं। योगी ने कहा कि अगले साल इलाहाबाद में आयोजित कुंभ में आप सपरिवार आएं। रिश्तेदारों को भी इसके लिए प्रेरित करें। अप्रवासियों ने दीपोत्सव और अयोध्या के विकास को सराहा : अप्रवासी भारतीयों ने मुख्यमंत्री की सकारात्मक सोच, विकास कार्यो के प्रति प्रतिबद्धता, दीपावली के एक दिन पहले अयोध्या में दीपोत्सव का आयोजन और उसे केंद्र मानकर किये जा रहे विकास कार्यो की भी अप्रवासी भारतीयों ने सराहना की। साथ ही निवेश की संभावनाओं पर भी चर्चा की। रात के भोजन में सभी लोग मुख्यमंत्री आवास पर उनके मेहमान बने। प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व ‘वल्र्ड हिंदू इकोनॉमिक फोरम’ हांगकांग के अध्यक्ष सोहन गोयनका ने किया। उनके साथ 12 देशों को 100 से अधिक अप्रवासी भारतीय थे। इस मौके पर पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी आदि मौजूद थे। पीएम के लिए माहौल बना गए सीएम1जासं, वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो दिवसीय पूर्वाचल यात्र की कमान बुधवार को खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने हाथों में ली। लखनऊ से पहुंचकर आजमगढ़, बनारस और मीरजापुर में होने वाली रैलियों के स्थल का जायजा लिया। अफसरों के साथ बैठक कर सख्त निर्देश दिया कि पीएम के कार्यक्रम की तैयारियों में किसी भी तरह की लापरवाही न होने पाए, न ही किसी तरह की कोई चूक हो। अन्यथा भारी पड़ेगा। बारिश की स्थिति में जल निकासी की व्यवस्था को लेकर भी जोर रहा। योगी सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे सबसे पहले आजमगढ़ के मंदुरी हवाई पट्टी पहुंचे।
    Close
    प्रदेश की बेहतरी के लिए करें निवेश
    दैनिक जागरण 12/07/2018
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मातृभूमि सर्वोपरि है। विदेश में रहकर भी आप अपनी मातृभूमि के बारे में सोच रहे हैं यह अच्छी बात है। देश और प्रदेश का माहौल अब बदल चुका है। ऐसे में मातृभूमि की बेहतरी के लिए निवेश के बारे में भी सोचें। सरकार इसमें हर संभव मदद करेगी।बुधवार को यहां एनेक्सी में अप्रवासी भारतीयों के एक प्रतिनिधिमंडल से के दौरान मुख्यमंत्री ने यह बातें कहीं। योगी ने कहा कि अगले साल इलाहाबाद में आयोजित कुंभ में आप सपरिवार आएं। रिश्तेदारों को भी इसके लिए प्रेरित करें। अप्रवासियों ने दीपोत्सव और अयोध्या के विकास को सराहा : अप्रवासी भारतीयों ने मुख्यमंत्री की सकारात्मक सोच, विकास कार्यो के प्रति प्रतिबद्धता, दीपावली के एक दिन पहले अयोध्या में दीपोत्सव का आयोजन और उसे केंद्र मानकर किये जा रहे विकास कार्यो की भी अप्रवासी भारतीयों ने सराहना की। साथ ही निवेश की संभावनाओं पर भी चर्चा की। रात के भोजन में सभी लोग मुख्यमंत्री आवास पर उनके मेहमान बने। प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व ‘वल्र्ड हिंदू इकोनॉमिक फोरम’ हांगकांग के अध्यक्ष सोहन गोयनका ने किया। उनके साथ 12 देशों को 100 से अधिक अप्रवासी भारतीय थे। इस मौके पर पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी आदि मौजूद थे। पीएम के लिए माहौल बना गए सीएम1जासं, वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो दिवसीय पूर्वाचल यात्र की कमान बुधवार को खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने हाथों में ली। लखनऊ से पहुंचकर आजमगढ़, बनारस और मीरजापुर में होने वाली रैलियों के स्थल का जायजा लिया। अफसरों के साथ बैठक कर सख्त निर्देश दिया कि पीएम के कार्यक्रम की तैयारियों में किसी भी तरह की लापरवाही न होने पाए, न ही किसी तरह की कोई चूक हो। अन्यथा भारी पड़ेगा। बारिश की स्थिति में जल निकासी की व्यवस्था को लेकर भी जोर रहा। योगी सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे सबसे पहले आजमगढ़ के मंदुरी हवाई पट्टी पहुंचे।


  • राष्ट्रीय सहारा : 11/07/2018 लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन द्वारा इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ‘‘उप्र उद्यमी महासम्मेलन-2018’ में भाग लेने राज्य के विभिन्न जिलों से आये उद्यमियों को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य में औद्योगिक विकास के लिए बेहतरीन नीतियों के साथ निवेश के अनुकुल सुरक्षित माहौल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छोटे उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए ही ‘‘वन डिस्ट्रक वन प्रोडक्ट’ परियोजना शुरू की गयी है। श्री योगी ने कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के माध्यम से 2 करोड़ युवाओं को स्वावलम्बी बनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य में औद्योगिकरण को गति देने के लिए 14 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रदेश प्रवास के दौरान पूर्वाचल एक्सप्रेस वे और 29 जुलाई को लखनऊ में 60 हजार करोड़ की परियोजनाओं का भूमिपूजन करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार यूपी इन्वेस्टर्स समिट के अवसर पर प्रधानमंत्री द्वारा प्रदेश में डिफेन्स इण्डस्ट्रीयल कॉरिडोर की स्थापना की घोषणा को समयबद्ध ढंग से साकार करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए निरन्तर कार्यवाही की जा रही है।मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्यमियों की समस्याओं के निराकरण के लिए जिला प्रशासन को निर्देशित किया जा चुका है। उद्यमी भी जिला स्तर पर डीएम और एसपी की अध्यक्षता में होनी वाली उद्योग बंधु की बैठक में हिस्सा लें। श्री योगी ने उद्यमियों का आह्वान किया कि वह जीएसटी पंजीकरण अवश्य कराये जिससे उन्हें जीएसटी रिफंड की कार्यवाही तेज गति से हो सके। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण और जनस्वास्य को ध्यान में रखकर ही उद्योग लगायें। सम्मेलन में प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता सूबे का औद्योगीकरण है। इसके लिए राज्य सरकार उद्यमियों को हर तरह की मदद देने को तत्पर है। राज्य में डिफेंस कॉरिडोर के अलावा फतेहपुर में 100 एकड़ में रेलवे इंडस्ट्रियल पार्क के निर्माण से तीव्र औद्योगिक प्रगति के साथ बड़े पैमाने पर रोजगार के द्वार खुलेंगे। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। कार्यक्रम के अन्त में आईआईए के अध्यक्ष सुनील वैश्य ने मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह भी प्रदान किया।
    Close
    समय सीमा में बनेगा डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 11/07/2018
    लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन द्वारा इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ‘‘उप्र उद्यमी महासम्मेलन-2018’ में भाग लेने राज्य के विभिन्न जिलों से आये उद्यमियों को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य में औद्योगिक विकास के लिए बेहतरीन नीतियों के साथ निवेश के अनुकुल सुरक्षित माहौल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छोटे उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए ही ‘‘वन डिस्ट्रक वन प्रोडक्ट’ परियोजना शुरू की गयी है। श्री योगी ने कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के माध्यम से 2 करोड़ युवाओं को स्वावलम्बी बनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य में औद्योगिकरण को गति देने के लिए 14 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रदेश प्रवास के दौरान पूर्वाचल एक्सप्रेस वे और 29 जुलाई को लखनऊ में 60 हजार करोड़ की परियोजनाओं का भूमिपूजन करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार यूपी इन्वेस्टर्स समिट के अवसर पर प्रधानमंत्री द्वारा प्रदेश में डिफेन्स इण्डस्ट्रीयल कॉरिडोर की स्थापना की घोषणा को समयबद्ध ढंग से साकार करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए निरन्तर कार्यवाही की जा रही है।मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्यमियों की समस्याओं के निराकरण के लिए जिला प्रशासन को निर्देशित किया जा चुका है। उद्यमी भी जिला स्तर पर डीएम और एसपी की अध्यक्षता में होनी वाली उद्योग बंधु की बैठक में हिस्सा लें। श्री योगी ने उद्यमियों का आह्वान किया कि वह जीएसटी पंजीकरण अवश्य कराये जिससे उन्हें जीएसटी रिफंड की कार्यवाही तेज गति से हो सके। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण और जनस्वास्य को ध्यान में रखकर ही उद्योग लगायें। सम्मेलन में प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता सूबे का औद्योगीकरण है। इसके लिए राज्य सरकार उद्यमियों को हर तरह की मदद देने को तत्पर है। राज्य में डिफेंस कॉरिडोर के अलावा फतेहपुर में 100 एकड़ में रेलवे इंडस्ट्रियल पार्क के निर्माण से तीव्र औद्योगिक प्रगति के साथ बड़े पैमाने पर रोजगार के द्वार खुलेंगे। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। कार्यक्रम के अन्त में आईआईए के अध्यक्ष सुनील वैश्य ने मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह भी प्रदान किया।


  • हिन्दुस्तान : 10/07/2018 मुख्य संवाददाता : सीएम के दो दिवसीय दौरे में दूसरे दिन भी तेवर तल्ख दिखे। संभल में कानून-व्यवस्था की समीक्षा बैठक में वह सख्त मूड में दिखे। समीक्षा के दौरान उन्होंने पुलिस को निशाने पर लिया। समाधान दिवस में सुनवाई की औपचारिकता, भू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने, अधिकारियों के दफ्तर नहीं बैठने, फरियाद नहीं सुनने और सही विवेचना नहीं करने पर सीएम काफी खफा थे। उन्होंने यहां तक कह दिया कि आप लोग ठीक से फरियाद सुनें तो लोगों को लखनऊ तक दौड़ न लगानी पड़े। पुलिस अकादमी में सीएम ने नसीहत दी कि विवेवचना सही करो ताकि अपराधियों को सजा मिल सके। जाते-जाते सीएम संभल के धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने, वहां पुलिस लाइन और बिलारी में मंडी की स्थापना करने की सौगात भी दे गए।
    Close
    सीएम के सख्त तेवर, पुलिस के कसे पेच
    हिन्दुस्तान 10/07/2018
    मुख्य संवाददाता : सीएम के दो दिवसीय दौरे में दूसरे दिन भी तेवर तल्ख दिखे। संभल में कानून-व्यवस्था की समीक्षा बैठक में वह सख्त मूड में दिखे। समीक्षा के दौरान उन्होंने पुलिस को निशाने पर लिया। समाधान दिवस में सुनवाई की औपचारिकता, भू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने, अधिकारियों के दफ्तर नहीं बैठने, फरियाद नहीं सुनने और सही विवेचना नहीं करने पर सीएम काफी खफा थे। उन्होंने यहां तक कह दिया कि आप लोग ठीक से फरियाद सुनें तो लोगों को लखनऊ तक दौड़ न लगानी पड़े। पुलिस अकादमी में सीएम ने नसीहत दी कि विवेवचना सही करो ताकि अपराधियों को सजा मिल सके। जाते-जाते सीएम संभल के धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने, वहां पुलिस लाइन और बिलारी में मंडी की स्थापना करने की सौगात भी दे गए।


  • दैनिक जागरण : 09/07/2018 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की 11वीं पुण्यतिथि पर समाजवादी पार्टी और कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए समाजवाद ने नाम पर फैलाए जा रहे परिवारवाद और गुंडावाद को बेनकाब कराने का आह्वान किया। रविवार को विधानसभा के सेंट्रल हाल में आयोजित कार्यक्रम में योगी ने ‘राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखर, संसद में दो टूक-भाग दो’ पुस्तक का विमोचन किया। यह पुस्तक संसद में चंद्रशेखर के भाषणों का संग्रह है। चंद्रशेखर के विचारों पर चर्चा करते हुए योगी ने उनके स्वदेश प्रेम व गोहत्या विरोधी होने के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर ने मूल्यों के साथ कभी समझौता नहीं किया। उनके जीवन में एक अजीब सा फक्कड़पन था। वह पर्सनल लॉ और कॉमन सिविल कोड के खिलाफ नहीं थे। योगी ने अपने गुरु महंत अवेद्यनाथ और चंद्रशेखर से जुड़े कुछ संस्मरण भी सुनाए। योगी ने कहा कि अब बहुत से लोग अपने आपको समाजवादी कहते हैं, लेकिन समाजवादी कैसा हो? उसके आदर्श के तौर पर चंद्रशेखर को ही रखा जा सकता है।
    Close
    परिवारवाद और गुंडावाद को बढ़ावा देना समाजवाद नहीं
    दैनिक जागरण 09/07/2018
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की 11वीं पुण्यतिथि पर समाजवादी पार्टी और कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए समाजवाद ने नाम पर फैलाए जा रहे परिवारवाद और गुंडावाद को बेनकाब कराने का आह्वान किया। रविवार को विधानसभा के सेंट्रल हाल में आयोजित कार्यक्रम में योगी ने ‘राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखर, संसद में दो टूक-भाग दो’ पुस्तक का विमोचन किया। यह पुस्तक संसद में चंद्रशेखर के भाषणों का संग्रह है। चंद्रशेखर के विचारों पर चर्चा करते हुए योगी ने उनके स्वदेश प्रेम व गोहत्या विरोधी होने के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर ने मूल्यों के साथ कभी समझौता नहीं किया। उनके जीवन में एक अजीब सा फक्कड़पन था। वह पर्सनल लॉ और कॉमन सिविल कोड के खिलाफ नहीं थे। योगी ने अपने गुरु महंत अवेद्यनाथ और चंद्रशेखर से जुड़े कुछ संस्मरण भी सुनाए। योगी ने कहा कि अब बहुत से लोग अपने आपको समाजवादी कहते हैं, लेकिन समाजवादी कैसा हो? उसके आदर्श के तौर पर चंद्रशेखर को ही रखा जा सकता है।


  • दैनिक जागरण : 08/07/2018 जागरण संवाददाता, सोनभद्र : सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शिरकत करने आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को पूरे तेवर में थे। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित अधिकारियों संग समीक्षा बैठक में उन्होंने अवैध वसूली को लेकर जमकर तंज कसा। चेतावनी दी कि जनता को सस्ते दर पर बालू-गिट्टी मुहैया कराएं। वहीं कोर टीम की बैठक में कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वह कोई ऐसा कार्य नहीं करें जिससे पार्टी की छवि धूमिल हो। साथ ही कहा कि कार्यकर्ता सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाएं और हर पात्र को योजनाओं का लाभ दिलाएं। समीक्षा बैठक में सीएम ने तल्ख स्वर में कहा कि 11 हजार रुपये की परमिट 23 हजार रुपये में बेचने की शिकायतें आ रही हैं। इस तरह की वसूली बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसमें शीघ्र सुधार लाएं और आम जनता को सस्ते दर पर गिट्टी-बालू मुहैया कराएं। पुलिस अधिकारियों पर भी शिकंजा कसा। कहा कि पुलिस कर्मी अवैध वसूली से दूरी बनाएं अन्यथा कार्रवाई को तैयार रहें। चकबंदी के काफी पुराने मामले लंबित होने पर भी नाराजगी जताई। कहा कि यह लापरवाही की श्रेणी में आता है। इन मामलों को शीघ्र निस्तारित करें। आय, जाति व निवास प्रमाण पत्र बनाने में शिथिलता किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सीएम ने कहा कि जिले खाली पड़े पदों पर नियुक्ति के लिए शासनस्तर पर कवायद चल रही है। इसके पूर्व सीएम ने जिले की पांच अरब 90 करोड़ की 45 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। 1अक्टूबर के पहले ओडीएफ करें जिला: समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने स्वच्छता कार्यक्रमों पर खास जोर दिया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अक्टूबर के पहले जिले को ओडीएफ बनाने का प्रयास करें। सीएम ने कहा कि कोई भी घर बिजली की किरण से अछूता न रहे। जहां विद्युतीकरण न हो सके वहां सौर ऊर्जा से बिजली पहुंचाएं। सभी पात्रों को आवास मिलें, राशन कार्ड बने व अन्य सभी योजनाओं का लाभ मिले। कोई भी पात्र व्यक्ति छूटना नहीं चाहिए।
    Close
    सस्ती दर पर मुहैया कराएं बालू-गिट्टी
    दैनिक जागरण 08/07/2018
    जागरण संवाददाता, सोनभद्र : सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शिरकत करने आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को पूरे तेवर में थे। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित अधिकारियों संग समीक्षा बैठक में उन्होंने अवैध वसूली को लेकर जमकर तंज कसा। चेतावनी दी कि जनता को सस्ते दर पर बालू-गिट्टी मुहैया कराएं। वहीं कोर टीम की बैठक में कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वह कोई ऐसा कार्य नहीं करें जिससे पार्टी की छवि धूमिल हो। साथ ही कहा कि कार्यकर्ता सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाएं और हर पात्र को योजनाओं का लाभ दिलाएं। समीक्षा बैठक में सीएम ने तल्ख स्वर में कहा कि 11 हजार रुपये की परमिट 23 हजार रुपये में बेचने की शिकायतें आ रही हैं। इस तरह की वसूली बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसमें शीघ्र सुधार लाएं और आम जनता को सस्ते दर पर गिट्टी-बालू मुहैया कराएं। पुलिस अधिकारियों पर भी शिकंजा कसा। कहा कि पुलिस कर्मी अवैध वसूली से दूरी बनाएं अन्यथा कार्रवाई को तैयार रहें। चकबंदी के काफी पुराने मामले लंबित होने पर भी नाराजगी जताई। कहा कि यह लापरवाही की श्रेणी में आता है। इन मामलों को शीघ्र निस्तारित करें। आय, जाति व निवास प्रमाण पत्र बनाने में शिथिलता किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सीएम ने कहा कि जिले खाली पड़े पदों पर नियुक्ति के लिए शासनस्तर पर कवायद चल रही है। इसके पूर्व सीएम ने जिले की पांच अरब 90 करोड़ की 45 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। 1अक्टूबर के पहले ओडीएफ करें जिला: समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने स्वच्छता कार्यक्रमों पर खास जोर दिया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अक्टूबर के पहले जिले को ओडीएफ बनाने का प्रयास करें। सीएम ने कहा कि कोई भी घर बिजली की किरण से अछूता न रहे। जहां विद्युतीकरण न हो सके वहां सौर ऊर्जा से बिजली पहुंचाएं। सभी पात्रों को आवास मिलें, राशन कार्ड बने व अन्य सभी योजनाओं का लाभ मिले। कोई भी पात्र व्यक्ति छूटना नहीं चाहिए।


  • हिन्दुस्तान : 07/07/2018 लेखपालों की हड़ताल से नाराज मुख्यमंत्री योग आदित्यनाथ ने कहा कि हड़ताली लेखपालों से सभी रेवेन्यू रिकॉर्ड ले लिए जाएं और हड़ताल से वापस न आने वाले लेखपालों को छुट्टी दे दी जाए। वहीं बाराबंकी में मुख्यमंत्री ने कहा कि महादेवा मंदिर को पर्यटन से जोड़कर उसे ऐतिहासिक धर्मस्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री शुक्रवार को बाराबंकी और औरैया के दौरे पर थे। औरैया दौरे पर पहुंचे सीएम ने गेल के मीटिंग हाल में अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक में साफ कहा कि हड़ताली लेखपालों का दायित्व ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी, कानूनगो को दिया जाए। लेखपालों को निर्देश दें कि वह काम पर लौट आएं अन्यथा उनको छुट्टी दे दी जाए। उन्होंने कहा कि आय, जाति, निवास, खसरा, खतौनी से संबंधित कार्यों के निस्तारण के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाए। कोई भी विभाग जनप्रतिनिधि से ऊपर नहीं है। अधिकारी जनप्रतिनिधियों से तालमेल बनाएं और लगातार बातचीत करें ताकि हर समस्या का समाधान निकाला जा सके। सीएम ने इस दौरान नगला जयसिंह में प्राथमिक व जूनियर विद्यालय के साथ ही सीएचसी दिबियापुर का निरीक्षण किया।
    Close
    हड़ताली लेखपालों की छुट्टी करें : योगी
    हिन्दुस्तान 07/07/2018
    लेखपालों की हड़ताल से नाराज मुख्यमंत्री योग आदित्यनाथ ने कहा कि हड़ताली लेखपालों से सभी रेवेन्यू रिकॉर्ड ले लिए जाएं और हड़ताल से वापस न आने वाले लेखपालों को छुट्टी दे दी जाए। वहीं बाराबंकी में मुख्यमंत्री ने कहा कि महादेवा मंदिर को पर्यटन से जोड़कर उसे ऐतिहासिक धर्मस्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री शुक्रवार को बाराबंकी और औरैया के दौरे पर थे। औरैया दौरे पर पहुंचे सीएम ने गेल के मीटिंग हाल में अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक में साफ कहा कि हड़ताली लेखपालों का दायित्व ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी, कानूनगो को दिया जाए। लेखपालों को निर्देश दें कि वह काम पर लौट आएं अन्यथा उनको छुट्टी दे दी जाए। उन्होंने कहा कि आय, जाति, निवास, खसरा, खतौनी से संबंधित कार्यों के निस्तारण के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाए। कोई भी विभाग जनप्रतिनिधि से ऊपर नहीं है। अधिकारी जनप्रतिनिधियों से तालमेल बनाएं और लगातार बातचीत करें ताकि हर समस्या का समाधान निकाला जा सके। सीएम ने इस दौरान नगला जयसिंह में प्राथमिक व जूनियर विद्यालय के साथ ही सीएचसी दिबियापुर का निरीक्षण किया।


  • राष्ट्रीय सहारा : 05/07/2018 लखनऊ (एसएनबी)।प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को केन्द्रीय मंत्रिमण्डल द्वारा खरीफ की फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाये जाने के निर्णय को ऐतिहासिक बताते हुए इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया है।मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषक हितैषी केन्द्र सरकार के इस निर्णय का लाभ प्रदेश के किसानों को भी प्राप्त होगा। कृषि को लाभकारी बनाने तथा किसानों की खुशहाली को बढ़ाने में केन्द्र सरकार का यह निर्णय महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने वर्ष 2022 तक देश के किसानों की आमदनी को बढ़ाकर दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। प्रदेश में इस लक्ष्य की पूर्ति के लिए राज्य सरकार एक कार्ययोजना बनाकर गम्भीरता से कार्य कर रही है। श्री योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है। गत माह केन्द्र सरकार द्वारा गन्ना किसानों के हित में घोषित किए गए चीनी उद्योग पैकेज के साथ-साथ खरीफ फसल के समर्थन मूल्य में वृद्धि सम्बन्धी इस निर्णय का प्रदेश की अर्थव्यवस्था पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।
    Close
    योगी ने खरीफ की फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाये जाने पर मोदी का आभार जताया
    राष्ट्रीय सहारा 05/07/2018
    लखनऊ (एसएनबी)।प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को केन्द्रीय मंत्रिमण्डल द्वारा खरीफ की फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाये जाने के निर्णय को ऐतिहासिक बताते हुए इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया है।मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषक हितैषी केन्द्र सरकार के इस निर्णय का लाभ प्रदेश के किसानों को भी प्राप्त होगा। कृषि को लाभकारी बनाने तथा किसानों की खुशहाली को बढ़ाने में केन्द्र सरकार का यह निर्णय महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने वर्ष 2022 तक देश के किसानों की आमदनी को बढ़ाकर दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। प्रदेश में इस लक्ष्य की पूर्ति के लिए राज्य सरकार एक कार्ययोजना बनाकर गम्भीरता से कार्य कर रही है। श्री योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है। गत माह केन्द्र सरकार द्वारा गन्ना किसानों के हित में घोषित किए गए चीनी उद्योग पैकेज के साथ-साथ खरीफ फसल के समर्थन मूल्य में वृद्धि सम्बन्धी इस निर्णय का प्रदेश की अर्थव्यवस्था पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।


  • दैनिक जागरण : 04/07/2018 जासं, कानपुर : कानपुर से मंगलवार को दिल्ली के लिए उड़ी पहली फ्लाइट ने इस शहर ही नहीं बल्कि प्रदेश और देश को भी संभावनाओं का बड़ा आसमान दिखाया है। हवाई सेवा में औद्योगिक विकास का रास्ता देख रहे मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि प्रदेश के हर शहर को एयर कनेक्टिविटी देंगे। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि सिविल एविएशन सेक्टर की वजह से देश को दस लाख करोड़ रुपये का निवेश मिलेगा। उत्तर प्रदेश को लॉजिस्टिक हब बनाने का भी वादा किया। प्रदेश का सबसे बड़ा औद्योगिक क्षेत्र कानपुर लंबे समय से हवाई मानचित्र से गायब था। भारत सरकार के ‘उड़ान’ प्रोजेक्ट के तहत निजी विमानन कंपनी स्पाइस जेट ने कानपुर-दिल्ली फ्लाइट यहां शुरू की है। मंगलवार को चकेरी स्थित अहिरवां एयरपोर्ट पर निर्धारित समय से आधा घंटा विलंब से फ्लाइट दिल्ली से कानपुर पहुंचीं। यहां से विमान को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय नागरिक उड्डयन एवं वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु और सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने झंडी दिखाकर रवाना किया।
    Close
    हर शहर को देंगे एयर कनेक्टिविटी : योगी
    दैनिक जागरण 04/07/2018
    जासं, कानपुर : कानपुर से मंगलवार को दिल्ली के लिए उड़ी पहली फ्लाइट ने इस शहर ही नहीं बल्कि प्रदेश और देश को भी संभावनाओं का बड़ा आसमान दिखाया है। हवाई सेवा में औद्योगिक विकास का रास्ता देख रहे मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि प्रदेश के हर शहर को एयर कनेक्टिविटी देंगे। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि सिविल एविएशन सेक्टर की वजह से देश को दस लाख करोड़ रुपये का निवेश मिलेगा। उत्तर प्रदेश को लॉजिस्टिक हब बनाने का भी वादा किया। प्रदेश का सबसे बड़ा औद्योगिक क्षेत्र कानपुर लंबे समय से हवाई मानचित्र से गायब था। भारत सरकार के ‘उड़ान’ प्रोजेक्ट के तहत निजी विमानन कंपनी स्पाइस जेट ने कानपुर-दिल्ली फ्लाइट यहां शुरू की है। मंगलवार को चकेरी स्थित अहिरवां एयरपोर्ट पर निर्धारित समय से आधा घंटा विलंब से फ्लाइट दिल्ली से कानपुर पहुंचीं। यहां से विमान को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय नागरिक उड्डयन एवं वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु और सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने झंडी दिखाकर रवाना किया।


  • हिन्दुस्तान : 03/07/2018 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शहरी सरकार के कामकाज से नाराज दिखे। कहा स्मार्ट सिटी में स्थिति खराब है। सफाई के नाम पर खानपूर्ति हो रही है। हाउस टैक्स वसूली में मनमानी की जा रही है। जो हाल है उससे तो खुले में शौच से मुक्ति तो अभी दूर की कौड़ी लग रही है। काम करें वरना यूपी के मतदाता हटा देंगे। यूपी का मतदाता बहुत जागरूक है, बोलता कम है, लेकिन जवाब जरूर देता है। राजधनी होने के बाद भी लखनऊ पीछे : मुख्यमंत्री सोमवार को नगरीय प्रशिक्षण एवं शोध केंद्र व स्थानीय निकाय निदेशालय भवन का लोकार्पण और स्वच्छ सर्वेक्षण में पुरस्कार वितरण समारोह में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने निकाय अफसरों के सामने शहरों की सफाई की सच्चाई रखी। कहा कि प्रदेश की राजधानी होने के बाद भी लखनऊ कई मामलों में पीछे है। लखनऊ को प्रदेश का आइना बनना चाहिए। इसमें उसे अग्रणी भूमिका निभानी चाहिए। आगरा, इलाहाबाद, वाराणसी में और काम की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने गाजियाबाद में हुए कामों की सराहना की और बधाई दी। 30 सितंबर तक ओडीएफ मुक्त बनाए : मुख्यमंत्री ने कहा कि 30 सितंबर तक हर निकाय व हर वार्ड अपने को ओडीएफ मुक्त बनाए। शहरों में व्यक्तिगत शौचालय बनाने की स्थिति काफी खराब है, गांवों में जबकि बेहतर है। तय करें कि अच्छा काम करेंगे और आगे रहेंगे। अच्छा काम करने वालों को सरकार पुरस्कृत करेगी और खराब काम करने वालों को दंडित। जनवरी 2019 में प्रयागराज में कुंभ मेला लगने जा रहा है। इसके पहले हमें नादियों को अविरल बनाने के लिए नमामि गंगे परियोजना पर ठीक करें। बाबुओं को रोकने की सिफारिश न करें : निकाय स्वायत्तशासी संस्थाएं हैं। इन्हें आत्मनिर्भर बनना चाहिए। शासन के आगे बार-बार हाथ नहीं फैलाना चाहिए। हाउस टैक्स की वसूली ऑनलाइन करें। सालों से एक ही स्थान पर जमे बाबुओं को हटाया जाए। जनप्रतिनिधि ऐसे बाबुओं को रोकने की सिफारिश न करें। बेहतर सफाई के लिए मेयर व नगर आयुक्त और चेयरमैन व अधिशासी अधिकारी समन्वय बनाकर काम करें। अधिक ट्रैफिक वाले स्थानों पर रात में सफाई कराएं। स्मार्ट सिटी की स्थिति खराब : स्मार्ट सिटी में चयनित होने वाला उत्तर प्रदेश सबसे बड़ा राज्य है। यूपी के 10 शहरों को स्मार्ट सिटी में चुने गए। केंद्र व राज्य सरकार ने पैसे भी दिए, लेकिन हकीकत में क्या हुआ...वाराणसी को छोड़ दिया जाए तो अन्य शहरों की अभी कार्ययोजना तक नहीं बनी है। अधिकारी एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डालने के बजाय खुद काम करें। फाइल दबा कर बैठने की आदत छोड़ दें। सरकार को जकड़ी, ठहरी व्यवस्था मिली : भाजपा सरकार ने 15 महीनों में स्ट्रीट लाइट ईएसएल को देकर 110 करोड़ रुपये सालाना की बचत की है। उनसे एक मेयर ने मिलकर कहा कि स्ट्रीट लाइट में घोटाला हुआ है, लेकिन सुबूत नहीं दे पाए। जब ईएसएल को पैसे ही नहीं दिए तो घोटाला कहां से होगा। शहरों को अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए दुकानदारों को वेंडर पालिसी के तहत एक स्थान दिया जाए जिससे अतिक्रमण रुक सके। यूपी स्तर पर नवंबर में स्वच्छता सर्वेक्षण : नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि सरकार नवंबर व दिसंबर में राज्य स्तर पर स्वच्छता सर्वेक्षण कराएगी। अधिकारियों को इसके लिए तैयार रहना चाहिए। बेहतर काम करने वाली स्वच्छता समितियां दिसंबर में सम्मानित की जाएंगी।
    Close
    काम करें वरना मतदाता हटा देंगे : योगी
    हिन्दुस्तान 03/07/2018
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शहरी सरकार के कामकाज से नाराज दिखे। कहा स्मार्ट सिटी में स्थिति खराब है। सफाई के नाम पर खानपूर्ति हो रही है। हाउस टैक्स वसूली में मनमानी की जा रही है। जो हाल है उससे तो खुले में शौच से मुक्ति तो अभी दूर की कौड़ी लग रही है। काम करें वरना यूपी के मतदाता हटा देंगे। यूपी का मतदाता बहुत जागरूक है, बोलता कम है, लेकिन जवाब जरूर देता है। राजधनी होने के बाद भी लखनऊ पीछे : मुख्यमंत्री सोमवार को नगरीय प्रशिक्षण एवं शोध केंद्र व स्थानीय निकाय निदेशालय भवन का लोकार्पण और स्वच्छ सर्वेक्षण में पुरस्कार वितरण समारोह में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने निकाय अफसरों के सामने शहरों की सफाई की सच्चाई रखी। कहा कि प्रदेश की राजधानी होने के बाद भी लखनऊ कई मामलों में पीछे है। लखनऊ को प्रदेश का आइना बनना चाहिए। इसमें उसे अग्रणी भूमिका निभानी चाहिए। आगरा, इलाहाबाद, वाराणसी में और काम की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने गाजियाबाद में हुए कामों की सराहना की और बधाई दी। 30 सितंबर तक ओडीएफ मुक्त बनाए : मुख्यमंत्री ने कहा कि 30 सितंबर तक हर निकाय व हर वार्ड अपने को ओडीएफ मुक्त बनाए। शहरों में व्यक्तिगत शौचालय बनाने की स्थिति काफी खराब है, गांवों में जबकि बेहतर है। तय करें कि अच्छा काम करेंगे और आगे रहेंगे। अच्छा काम करने वालों को सरकार पुरस्कृत करेगी और खराब काम करने वालों को दंडित। जनवरी 2019 में प्रयागराज में कुंभ मेला लगने जा रहा है। इसके पहले हमें नादियों को अविरल बनाने के लिए नमामि गंगे परियोजना पर ठीक करें। बाबुओं को रोकने की सिफारिश न करें : निकाय स्वायत्तशासी संस्थाएं हैं। इन्हें आत्मनिर्भर बनना चाहिए। शासन के आगे बार-बार हाथ नहीं फैलाना चाहिए। हाउस टैक्स की वसूली ऑनलाइन करें। सालों से एक ही स्थान पर जमे बाबुओं को हटाया जाए। जनप्रतिनिधि ऐसे बाबुओं को रोकने की सिफारिश न करें। बेहतर सफाई के लिए मेयर व नगर आयुक्त और चेयरमैन व अधिशासी अधिकारी समन्वय बनाकर काम करें। अधिक ट्रैफिक वाले स्थानों पर रात में सफाई कराएं। स्मार्ट सिटी की स्थिति खराब : स्मार्ट सिटी में चयनित होने वाला उत्तर प्रदेश सबसे बड़ा राज्य है। यूपी के 10 शहरों को स्मार्ट सिटी में चुने गए। केंद्र व राज्य सरकार ने पैसे भी दिए, लेकिन हकीकत में क्या हुआ...वाराणसी को छोड़ दिया जाए तो अन्य शहरों की अभी कार्ययोजना तक नहीं बनी है। अधिकारी एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डालने के बजाय खुद काम करें। फाइल दबा कर बैठने की आदत छोड़ दें। सरकार को जकड़ी, ठहरी व्यवस्था मिली : भाजपा सरकार ने 15 महीनों में स्ट्रीट लाइट ईएसएल को देकर 110 करोड़ रुपये सालाना की बचत की है। उनसे एक मेयर ने मिलकर कहा कि स्ट्रीट लाइट में घोटाला हुआ है, लेकिन सुबूत नहीं दे पाए। जब ईएसएल को पैसे ही नहीं दिए तो घोटाला कहां से होगा। शहरों को अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए दुकानदारों को वेंडर पालिसी के तहत एक स्थान दिया जाए जिससे अतिक्रमण रुक सके। यूपी स्तर पर नवंबर में स्वच्छता सर्वेक्षण : नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि सरकार नवंबर व दिसंबर में राज्य स्तर पर स्वच्छता सर्वेक्षण कराएगी। अधिकारियों को इसके लिए तैयार रहना चाहिए। बेहतर काम करने वाली स्वच्छता समितियां दिसंबर में सम्मानित की जाएंगी।


  • राष्ट्रीय सहारा : 02/07/2018 लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दो अक्टूबर तक प्रदेश को खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि कुंभ को भी ओडीएफ मुक्त बनाकर दुनिया को अच्छा संदेश देने की जरूरत है। ऐसे में सभी जिलाधिकारी यह सुनिश्चित करें कि ओडीएफ का लक्ष्य हर हाल में पूरा हो। उन्होंने कहा कि इसके लिए जिलािधकारी मनरेगा व सीएसआर फंड के उपयोग पर भी ध्यान दें।मुख्यमंत्री ने रविवार को यहां सचिवालय के तिलक हाल में जिलाधिकारियों के साथ स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अन्तर्गत समीक्षा एवं ओडीएफ पर आयोजित बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि ओडीएफ में 77.2 फीसद कार्य पूरा हो चुका है। आठ पिछड़े जिले इस योजना में तेजी लाएं। सीएम यह भी निर्देश दिए कि जिलाधिकारी के अलावा एसपी, एसएसपी, मुख्य विकास अधिकारी एक साथ जिला न छोड़ें। कमिश्नरी मुख्यालय पर जिलाधिकारी/ मण्डलायुक्त में से कोई एक अधिकारी अवश्य मौजूद रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि डीएम कांवड़ यात्रा की तैयारियां पूरी कर लें। इससे पूर्व, कार्यक्रम को मुख्य सचिव डा. अनूप चन्द्र पाण्डेय ने कहा कि जनशिकायतों के निस्तारण में गलत रिपोर्ट बिल्कुल न लगाई जाए। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से संवाद स्थापित करने की आवश्यकता पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि शौचालय निर्माण कार्य की सफलता के लिए टीम गठित की जाए और कार्य की लगातार मॉनीटरिंग की जाए।अपर मुख्य सचिव सूचना, पर्यटन एवं यूपीडा के कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का प्रधानमंत्री द्वारा शिलान्यास शीघ्र प्रस्तावित है। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे का एलाइनमेंट फाइनल किया जा चुका है। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के तहत डिफेन्स कॉरिडोर का भी निर्माण किया जाना है और गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे योजना के लिए शीघ्र ही भूमि का अधिग्रहण किया जाएगा।
    Close
    दो अक्टूबर तक ओडीएफ करें प्रदेश : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 02/07/2018
    लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दो अक्टूबर तक प्रदेश को खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि कुंभ को भी ओडीएफ मुक्त बनाकर दुनिया को अच्छा संदेश देने की जरूरत है। ऐसे में सभी जिलाधिकारी यह सुनिश्चित करें कि ओडीएफ का लक्ष्य हर हाल में पूरा हो। उन्होंने कहा कि इसके लिए जिलािधकारी मनरेगा व सीएसआर फंड के उपयोग पर भी ध्यान दें।मुख्यमंत्री ने रविवार को यहां सचिवालय के तिलक हाल में जिलाधिकारियों के साथ स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अन्तर्गत समीक्षा एवं ओडीएफ पर आयोजित बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि ओडीएफ में 77.2 फीसद कार्य पूरा हो चुका है। आठ पिछड़े जिले इस योजना में तेजी लाएं। सीएम यह भी निर्देश दिए कि जिलाधिकारी के अलावा एसपी, एसएसपी, मुख्य विकास अधिकारी एक साथ जिला न छोड़ें। कमिश्नरी मुख्यालय पर जिलाधिकारी/ मण्डलायुक्त में से कोई एक अधिकारी अवश्य मौजूद रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि डीएम कांवड़ यात्रा की तैयारियां पूरी कर लें। इससे पूर्व, कार्यक्रम को मुख्य सचिव डा. अनूप चन्द्र पाण्डेय ने कहा कि जनशिकायतों के निस्तारण में गलत रिपोर्ट बिल्कुल न लगाई जाए। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से संवाद स्थापित करने की आवश्यकता पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि शौचालय निर्माण कार्य की सफलता के लिए टीम गठित की जाए और कार्य की लगातार मॉनीटरिंग की जाए।अपर मुख्य सचिव सूचना, पर्यटन एवं यूपीडा के कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का प्रधानमंत्री द्वारा शिलान्यास शीघ्र प्रस्तावित है। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे का एलाइनमेंट फाइनल किया जा चुका है। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के तहत डिफेन्स कॉरिडोर का भी निर्माण किया जाना है और गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे योजना के लिए शीघ्र ही भूमि का अधिग्रहण किया जाएगा।


  • दैनिक जागरण : 01/07/2018 लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहा है कि दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक आयोजन कुंभ की तैयारियों और प्रचार-प्रसार में भी वैसी ही भव्यता दिखनी चाहिए। निर्देश दिया कि कुंभ के प्रचार-प्रसार में इसके धार्मिक, आध्यात्मिक और सांस्कृतिक पक्ष के साथ इसके वैज्ञानिक पहलू के बारे में भी लोगों को बताएं। शनिवार को अपने आवास पर हुई बैठक में मुख्यमंत्री ने अब तक की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कुंभ के दौरान यहां आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा और सुरक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता होगी। संबंधित विभाग इसे अभी से सुनिश्चित कराएं।
    Close
    कुंभ की तैयारियों में दिखनी चाहिए पूरी भव्यता : योगी
    दैनिक जागरण 01/07/2018
    लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहा है कि दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक आयोजन कुंभ की तैयारियों और प्रचार-प्रसार में भी वैसी ही भव्यता दिखनी चाहिए। निर्देश दिया कि कुंभ के प्रचार-प्रसार में इसके धार्मिक, आध्यात्मिक और सांस्कृतिक पक्ष के साथ इसके वैज्ञानिक पहलू के बारे में भी लोगों को बताएं। शनिवार को अपने आवास पर हुई बैठक में मुख्यमंत्री ने अब तक की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कुंभ के दौरान यहां आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा और सुरक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता होगी। संबंधित विभाग इसे अभी से सुनिश्चित कराएं।

सर्वश्रेष्ठ समीक्षा

आपका मत

आप के विचार

  • बूचड़ खाना बंद करने पर धन्यावाद

    राजेश patodi हम यह चाहते हे की यह नियम पुरे भारत देश शक्ति से लागु किया जाये हम आशा करते हे की आप की यह मेहनत जरूर रंग लाएगी जय हिन्द जय भारत ,राजेश पटौदी म.प. इंदौर
  • शिक्षा

    अभिशेष एक अपील मोदी जी और योगी जी से की प्राइवेट स्कूल की फीस पर कोई लगाम नहीं है और उनके स्कूल मे पढ़ाया जाने वाला कोर्स बाजार भाव से पांच गुना दामों मे बेचा जा रहा है । आपसे निवेदन है कि इन दोनों बातो पर अपना ध्यान दे ।
  • संपूर्ण देखें