समाचार
वर्ष : माह :
  • दैनिक जागरण : 21/09/2019 राब्यू, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घरेलू कंपनियों को वित्तीय राहत पहुंचाने के केंद्र सरकार के फैसलों के लिए प्रधानमंत्री और केंद्रीय वित्त मंत्री को बधाई दी है। योगी ने कहा कि केंद्र के फैसलों से विकास और निवेश को बढ़ावा मिलेगा। देश की अर्थव्यवस्था का विस्तार होगा। सरकार की ओर से दी गई इस वित्तीय राहत से यह भारतीय कंपनियां वैश्विक बाजार में अपने उत्पाद प्रतिस्पर्धात्मक कीमत पर उपलब्ध कराने में सफल होंगी।
    Close
    वित्तीय राहत से विकास और निवेश को बढ़ावा
    दैनिक जागरण 21/09/2019
    राब्यू, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घरेलू कंपनियों को वित्तीय राहत पहुंचाने के केंद्र सरकार के फैसलों के लिए प्रधानमंत्री और केंद्रीय वित्त मंत्री को बधाई दी है। योगी ने कहा कि केंद्र के फैसलों से विकास और निवेश को बढ़ावा मिलेगा। देश की अर्थव्यवस्था का विस्तार होगा। सरकार की ओर से दी गई इस वित्तीय राहत से यह भारतीय कंपनियां वैश्विक बाजार में अपने उत्पाद प्रतिस्पर्धात्मक कीमत पर उपलब्ध कराने में सफल होंगी।


  • दैनिक जागरण : 20/09/2019 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : प्रदेश में भाजपा सरकार के ढाई साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को उम्मीदों की लकीर और गहरी की। उन्होंने अब तक की उपलब्धियां तो गिनाईं ही, आने वाले दिनों का रोडमैप भी सामने रखा। कहा कि हमने प्रदेश की पहचान वापस लौटाई है। अगले ढाई वर्ष में विकास का पहिया तेजी से दौड़ेगा। प्रदेश की वन टिलियन (दस खरब रुपये) डालर अर्थव्यवस्था बनाने के लिए अवस्थापना विकास, औद्योगिक निवेश व रोजगार सृजन, कृषि विकास, शहरी विकास व नियोजन और मानव संसाधन विकास की दिशा में कदम बढ़ाए गए हैं। उन्होंने मोदी सरकार के 100 दिनों की भी उपलब्धियां गिनाई। मुख्यमंत्री योगी पांच कालिदास मार्ग स्थित सरकारी आवास पर पत्रकारों से रूबरू हुए। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के आरोपों की बात चली तो बोले-‘अखिलेश की विफलता ही हमारी सफलता है। इस बात प्रमाण इससे अधिक क्या हो सकता है कि जनता ने उन्हें 2014, 2017 और 2019 में नकार दिया।’ लोकसभा चुनाव में सकुशल और शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए योगी ने अपनी टीम और बेहतर कानून-व्यवस्था को श्रेय दिया। दावा किया कि ऐसा कोई कार्य नहीं, जो सोचा और न कर पाया हो। योगी ने कहा कि 14 वर्ष के वनवास के बाद जब उप्र में भाजपा की सत्ता में वापसी हुई तो उस समय के हालात बद से बदतर से थे लेकिन हमारी सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के कुशल मार्गदर्शन और टीम वर्क के बूते प्रदेश की तस्वीर बदल दी। उन्होंने करीब 50 मिनट तक आंकड़ों समेत अपनी सरकार की सिलसिलेवार उपलब्धियां गिनाईं। साथ ही भविष्य की योजनाओं पर फोकस किया। योगी ने कहा कि सरकार ने प्रदेश में 14 नए मेडिकल कालेज खोलने के प्रस्ताव केंद्र को भेजे हैं। हर परिक्षेत्र में एक फोरेंसिक लैब और एक पुलिस व फोरेंसिक विश्वविद्यालय भी खोला जाएगा। अयोध्या के दीपोत्सव और ब्रज के रंगोत्सव की याद दिलाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्धन योजना के तहत हर विधानसभा क्षेत्र में एक पर्यटन केंद्र विकसित किया जाएगा। प्रदेश में और 11 एयरपोर्ट खोले जाएंगे। कहा, छूटे हुए प्रदेश के सात निगमों को भी स्मार्ट सिटी का दर्जा दिलाएंगे। गोरखपुर में बायो फ्यूल यूनिट के शिलान्यास की याद दिलाते हुए योगी ने कहा कि हर जिले में बायो फ्यूल की यूनिट लगाई जाएगी। इसे गोआश्रय स्थलों से जोड़ा जाएगा और जैविक कचरे से वैकल्पिक ईंधन तैयार होगा। पूर्वाचल एक्सप्रेस-वे को अगस्त 2020 तक यातायात के लिए खोलेंगे। फरवरी 2020 में डिफेंस एक्सपो में भारी निवेश का सपना पूरा होगा। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने पीएसी की 54 कंपनियों को समाप्त किया था, जिसे बहाल किया जा रहा है। योगी ने कहा कि सरयू नहर, मध्य गंगा नहर और अर्जुन सहायक नहर परियोजना के जरिए इस वर्ष के अंत तक 20 लाख हेक्टेयर खेत में सिंचाई की व्यवस्था मुकम्मल हो जाएगी। इससे पहले योगी ने ढाई वर्ष की उपलब्धियों पर एक बुकलेट ‘जन कनेक्ट (विकास एवं सुशासन के 30 माह)’ का लोकार्पण किया। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डा. दिनेश शर्मा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और मुख्य सचिव आरके तिवारी मौजूद थे।
    Close
    अगले ढाई साल में तेजी से दौड़ेगा विकास का पहिया
    दैनिक जागरण 20/09/2019
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : प्रदेश में भाजपा सरकार के ढाई साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को उम्मीदों की लकीर और गहरी की। उन्होंने अब तक की उपलब्धियां तो गिनाईं ही, आने वाले दिनों का रोडमैप भी सामने रखा। कहा कि हमने प्रदेश की पहचान वापस लौटाई है। अगले ढाई वर्ष में विकास का पहिया तेजी से दौड़ेगा। प्रदेश की वन टिलियन (दस खरब रुपये) डालर अर्थव्यवस्था बनाने के लिए अवस्थापना विकास, औद्योगिक निवेश व रोजगार सृजन, कृषि विकास, शहरी विकास व नियोजन और मानव संसाधन विकास की दिशा में कदम बढ़ाए गए हैं। उन्होंने मोदी सरकार के 100 दिनों की भी उपलब्धियां गिनाई। मुख्यमंत्री योगी पांच कालिदास मार्ग स्थित सरकारी आवास पर पत्रकारों से रूबरू हुए। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के आरोपों की बात चली तो बोले-‘अखिलेश की विफलता ही हमारी सफलता है। इस बात प्रमाण इससे अधिक क्या हो सकता है कि जनता ने उन्हें 2014, 2017 और 2019 में नकार दिया।’ लोकसभा चुनाव में सकुशल और शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए योगी ने अपनी टीम और बेहतर कानून-व्यवस्था को श्रेय दिया। दावा किया कि ऐसा कोई कार्य नहीं, जो सोचा और न कर पाया हो। योगी ने कहा कि 14 वर्ष के वनवास के बाद जब उप्र में भाजपा की सत्ता में वापसी हुई तो उस समय के हालात बद से बदतर से थे लेकिन हमारी सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के कुशल मार्गदर्शन और टीम वर्क के बूते प्रदेश की तस्वीर बदल दी। उन्होंने करीब 50 मिनट तक आंकड़ों समेत अपनी सरकार की सिलसिलेवार उपलब्धियां गिनाईं। साथ ही भविष्य की योजनाओं पर फोकस किया। योगी ने कहा कि सरकार ने प्रदेश में 14 नए मेडिकल कालेज खोलने के प्रस्ताव केंद्र को भेजे हैं। हर परिक्षेत्र में एक फोरेंसिक लैब और एक पुलिस व फोरेंसिक विश्वविद्यालय भी खोला जाएगा। अयोध्या के दीपोत्सव और ब्रज के रंगोत्सव की याद दिलाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्धन योजना के तहत हर विधानसभा क्षेत्र में एक पर्यटन केंद्र विकसित किया जाएगा। प्रदेश में और 11 एयरपोर्ट खोले जाएंगे। कहा, छूटे हुए प्रदेश के सात निगमों को भी स्मार्ट सिटी का दर्जा दिलाएंगे। गोरखपुर में बायो फ्यूल यूनिट के शिलान्यास की याद दिलाते हुए योगी ने कहा कि हर जिले में बायो फ्यूल की यूनिट लगाई जाएगी। इसे गोआश्रय स्थलों से जोड़ा जाएगा और जैविक कचरे से वैकल्पिक ईंधन तैयार होगा। पूर्वाचल एक्सप्रेस-वे को अगस्त 2020 तक यातायात के लिए खोलेंगे। फरवरी 2020 में डिफेंस एक्सपो में भारी निवेश का सपना पूरा होगा। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने पीएसी की 54 कंपनियों को समाप्त किया था, जिसे बहाल किया जा रहा है। योगी ने कहा कि सरयू नहर, मध्य गंगा नहर और अर्जुन सहायक नहर परियोजना के जरिए इस वर्ष के अंत तक 20 लाख हेक्टेयर खेत में सिंचाई की व्यवस्था मुकम्मल हो जाएगी। इससे पहले योगी ने ढाई वर्ष की उपलब्धियों पर एक बुकलेट ‘जन कनेक्ट (विकास एवं सुशासन के 30 माह)’ का लोकार्पण किया। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डा. दिनेश शर्मा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और मुख्य सचिव आरके तिवारी मौजूद थे।


  • राष्ट्रीय सहारा : 19/09/2019 गोरखपुर (एसएनबी)। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिले के दक्षिणांचल में विकास का सूखा खत्म हो रहा है। धुरियापार में बायोफ्यूल काम्प्लेक्स का निर्माण शुरू हो रहा है। पूर्वाचल एक्सप्रेस-वे से गोरखपुर को जोड़ा जा रहा है जिसके दोनों तरफ औद्योगिक गलियारा बनाया जाएगा। अब उद्योग सिर्फ गीडा में ही नहीं बल्कि धुरियापार तक स्थापित होंगे। अब यहीं रोजगार व आमदनी के अतिरिक्त स्रेत उपलब्ध होंगे। लोगों को कमाने के लिए सिंगापुर व बैंकाक जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। धुरियापार में बायोफ्यूल काम्प्लेक्स के शिलान्यास व गीडा एवं बैतालपुर बॉटलिंग प्लांट के उद्घाटन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री ने यह उद्गार व्यक्त किया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में केंद्रीय पेट्रोलियम व इस्पात मंत्री धम्रेन्द्र प्रधान मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार ने पूर्वाचल के विकास के सूखेपन को दूर किया है। यहां उद्योग का अभाव था। गोरखपुर में 26 वर्षो से बंद पड़े खाद कारखाने का तेजी से पुनरुद्धार हो रहा है। साल 2021 फरवरी से खाद कारखाना चालू हो जाएगा। खाद कारखाना से उत्तर प्रदेश के अलावा बिहार, पश्चिम बंगाल तक यूरिया की आपूर्ति होगी। अब यहां एम्स के बाद बॉटलिंग प्लांट भी शुरू हो गया है। धुरियापार में तीस साल पहले चीनी मिल स्थापित हुई थी लेकिन यह एक भी सीजन नहीं चली। प्रदेश सरकार ने किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए यहां बायोफ्यूल काम्प्लेक्स लगाये जाने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि बायोफ्यूल काम्प्लेक्स से नगरीय कचरा, पुआली व खर-पतवार आदि से ऊर्जा-ईधन बनाया जाएगा। यह सब किसानों की अतिरिक्त आय का माध्यम होंगे। गाय-भैंस के मूत्र व गोबर को भी बेचा जा सकेगा। इसके अलावा यहां सैकड़ों लोगों को प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार भी मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कई बार लोगों ने उनसे यहां आने का अनुरोध किया। मैंने उनसे कहा था कि यहां तभी आएंगे जब बड़ा उद्योग लेकर आएंगे। आज यह इच्छा पूरी हो रही है। उन्होंने कहा कि धुरियापार तक सड़क कनेक्टिविटी को बेहतर बनाया जाएगा। वाराणसी-गोरखपुर फोरलेन का काम तेजी से प्रगति पर है। रामजानकी मार्ग को अयोध्या से जनकपुर तक फोरलेन बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों की आय में दोगुनी वृद्धि के लिए संकल्पबद्ध है। निराश्रित गोवंश के लिए जगह-जगह आश्रय स्थल बनाए जा रहे हैं। जो लोग निराश्रित गोवंश को अपने घरों में पालेंगे उन्हें प्रदेश सरकार हर महीना 900 रुपया देगी। गोवंश का गोबर-मूत्र बेचकर भी आमदनी हो सकेगी। उन्होंने कहा कि गोरखपुर में रसोई गैस के लिए लोगों को परेशान होना पड़ता था। अब यह समस्या दूर हो गयी है। गीडा और बैतालपुर में बॉटलिंग प्लांट की शुरूआत हो रही है। इसके अलावा वाराणसी-गोरखपुर पाइप लाइन बिछने के बाद घर-घर पाइप लाइन के माध्यम से गैस आपूर्ति भी शुरू हो रही है।
    Close
    कमाने को सिंगापुर, बैंकाक जाने की जरूरत नहीं : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 19/09/2019
    गोरखपुर (एसएनबी)। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिले के दक्षिणांचल में विकास का सूखा खत्म हो रहा है। धुरियापार में बायोफ्यूल काम्प्लेक्स का निर्माण शुरू हो रहा है। पूर्वाचल एक्सप्रेस-वे से गोरखपुर को जोड़ा जा रहा है जिसके दोनों तरफ औद्योगिक गलियारा बनाया जाएगा। अब उद्योग सिर्फ गीडा में ही नहीं बल्कि धुरियापार तक स्थापित होंगे। अब यहीं रोजगार व आमदनी के अतिरिक्त स्रेत उपलब्ध होंगे। लोगों को कमाने के लिए सिंगापुर व बैंकाक जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। धुरियापार में बायोफ्यूल काम्प्लेक्स के शिलान्यास व गीडा एवं बैतालपुर बॉटलिंग प्लांट के उद्घाटन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री ने यह उद्गार व्यक्त किया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में केंद्रीय पेट्रोलियम व इस्पात मंत्री धम्रेन्द्र प्रधान मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार ने पूर्वाचल के विकास के सूखेपन को दूर किया है। यहां उद्योग का अभाव था। गोरखपुर में 26 वर्षो से बंद पड़े खाद कारखाने का तेजी से पुनरुद्धार हो रहा है। साल 2021 फरवरी से खाद कारखाना चालू हो जाएगा। खाद कारखाना से उत्तर प्रदेश के अलावा बिहार, पश्चिम बंगाल तक यूरिया की आपूर्ति होगी। अब यहां एम्स के बाद बॉटलिंग प्लांट भी शुरू हो गया है। धुरियापार में तीस साल पहले चीनी मिल स्थापित हुई थी लेकिन यह एक भी सीजन नहीं चली। प्रदेश सरकार ने किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए यहां बायोफ्यूल काम्प्लेक्स लगाये जाने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि बायोफ्यूल काम्प्लेक्स से नगरीय कचरा, पुआली व खर-पतवार आदि से ऊर्जा-ईधन बनाया जाएगा। यह सब किसानों की अतिरिक्त आय का माध्यम होंगे। गाय-भैंस के मूत्र व गोबर को भी बेचा जा सकेगा। इसके अलावा यहां सैकड़ों लोगों को प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार भी मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कई बार लोगों ने उनसे यहां आने का अनुरोध किया। मैंने उनसे कहा था कि यहां तभी आएंगे जब बड़ा उद्योग लेकर आएंगे। आज यह इच्छा पूरी हो रही है। उन्होंने कहा कि धुरियापार तक सड़क कनेक्टिविटी को बेहतर बनाया जाएगा। वाराणसी-गोरखपुर फोरलेन का काम तेजी से प्रगति पर है। रामजानकी मार्ग को अयोध्या से जनकपुर तक फोरलेन बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों की आय में दोगुनी वृद्धि के लिए संकल्पबद्ध है। निराश्रित गोवंश के लिए जगह-जगह आश्रय स्थल बनाए जा रहे हैं। जो लोग निराश्रित गोवंश को अपने घरों में पालेंगे उन्हें प्रदेश सरकार हर महीना 900 रुपया देगी। गोवंश का गोबर-मूत्र बेचकर भी आमदनी हो सकेगी। उन्होंने कहा कि गोरखपुर में रसोई गैस के लिए लोगों को परेशान होना पड़ता था। अब यह समस्या दूर हो गयी है। गीडा और बैतालपुर में बॉटलिंग प्लांट की शुरूआत हो रही है। इसके अलावा वाराणसी-गोरखपुर पाइप लाइन बिछने के बाद घर-घर पाइप लाइन के माध्यम से गैस आपूर्ति भी शुरू हो रही है।


  • हिन्दुस्तान : 18/09/2019 गोरखपुर | मुख्य संवाददाता : ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ एवं ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ राष्ट्रधर्म को सभी धर्मों से सर्वोपरि मानते थे। दोनों संतों का मानना था कि भारत के सर्वोपरि बने रहने की कुंजी हिन्दू धर्म व संस्कृति ही है। महंत दिग्विजयनाथ ने न केवल स्वतंत्रता संग्राम में योगदान दिया बल्कि दो महाविद्यालय समेत अपनी पूरी सम्पत्ति दान कर गोरखपुर विश्वविद्यालय के सपने को पूरा किया। ये बातें गोरक्षपीठाधीश्वर और सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहीं। योगी मंगलवार को स्मृति भवन सभागार में आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि महंत दिग्विजयनाथ आनन्दमठ की संन्यासी परम्परा की साक्षात प्रतिमूर्ति थे। गोरक्षपीठ ने उस संन्यासी परम्परा का अनुसरण किया जो मानती रही है राष्ट्रधर्म ही हमारा धर्म है।
    Close
    गोरक्षपीठ ने राष्ट्रधर्म सर्वोपरि माना : योगी
    हिन्दुस्तान 18/09/2019
    गोरखपुर | मुख्य संवाददाता : ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ एवं ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ राष्ट्रधर्म को सभी धर्मों से सर्वोपरि मानते थे। दोनों संतों का मानना था कि भारत के सर्वोपरि बने रहने की कुंजी हिन्दू धर्म व संस्कृति ही है। महंत दिग्विजयनाथ ने न केवल स्वतंत्रता संग्राम में योगदान दिया बल्कि दो महाविद्यालय समेत अपनी पूरी सम्पत्ति दान कर गोरखपुर विश्वविद्यालय के सपने को पूरा किया। ये बातें गोरक्षपीठाधीश्वर और सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहीं। योगी मंगलवार को स्मृति भवन सभागार में आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि महंत दिग्विजयनाथ आनन्दमठ की संन्यासी परम्परा की साक्षात प्रतिमूर्ति थे। गोरक्षपीठ ने उस संन्यासी परम्परा का अनुसरण किया जो मानती रही है राष्ट्रधर्म ही हमारा धर्म है।


  • दैनिक जागरण : 17/09/2019 राज्य ब्यूरो, लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन और उपलब्धियों पर आधारित प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। प्रदर्शनी में मोदी के बचपन से लेकर प्रधानमंत्री बनने तक के सफर और उनके नेतृत्व में मिलीं ऐतिहासिक उपलब्धियों को दर्शाया गया है। यह प्रदर्शनी 20 सितंबर तक लगी रहेगी। इस मौके पर योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के 70 साल पुराने राजनीतिक एजेंडे की धुरी बदली है। कार्यक्रम में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल भी मौजूद थे। प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को लोकप्रिय व्यक्तित्व व बहुआयामी प्रतिभा वाला बताते हुए कहा कि पूरा देश और दुनिया कौतूहल से उन्हें देखती हैं। प्रधानमंत्री के जीवन विभिन्न पक्षों को लेकर जो प्रदर्शनी लगाई गई है, वह लोगों के लिए प्रेरणादायी और अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि पहले राजनीतिक एजेंडा शीर्ष पर बैठे व्यक्ति, जाति, मत और मजहब पर आधारित था। अब इसके केंद्र ¨बदु में गांव, गरीब, किसान, नौजवान, महिलाएं और पूरा देश है। कश्मीर में धारा 370 को समाप्त करने का ऐतिहासिक व साहासिक निर्णय हो या सदियों से चली आ रही तीन तलाक की कुप्रथा, प्रधानमंत्री ने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से इन्हें खत्म कर दिया। इस मौके पर उन्होंने मोदी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना जीवन गांव, गरीब, किसान, नौजवान के कल्याण और राष्ट्र निर्माण के लिए समर्पित कर दिया है। जनसेवा के प्रति प्रधानमंत्री के समर्पण से प्रेरित होकर ही पार्टी उनके जन्मदिवस के अवसर पर 14 से 20 सितंबर तक सेवा सप्ताह अभियान चला रही है। प्रधानमंत्री के जीवन व उपलब्धियों पर आधारित प्रदर्शनी से पार्टी कार्यकर्ताओं को राष्ट्रसेवा की प्रेरणा मिलेगी।
    Close
    ‘प्रधानमंत्री ने बदली देश के राजनीतिक एजेंडे की धुरी’
    दैनिक जागरण 17/09/2019
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन और उपलब्धियों पर आधारित प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। प्रदर्शनी में मोदी के बचपन से लेकर प्रधानमंत्री बनने तक के सफर और उनके नेतृत्व में मिलीं ऐतिहासिक उपलब्धियों को दर्शाया गया है। यह प्रदर्शनी 20 सितंबर तक लगी रहेगी। इस मौके पर योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के 70 साल पुराने राजनीतिक एजेंडे की धुरी बदली है। कार्यक्रम में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल भी मौजूद थे। प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को लोकप्रिय व्यक्तित्व व बहुआयामी प्रतिभा वाला बताते हुए कहा कि पूरा देश और दुनिया कौतूहल से उन्हें देखती हैं। प्रधानमंत्री के जीवन विभिन्न पक्षों को लेकर जो प्रदर्शनी लगाई गई है, वह लोगों के लिए प्रेरणादायी और अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि पहले राजनीतिक एजेंडा शीर्ष पर बैठे व्यक्ति, जाति, मत और मजहब पर आधारित था। अब इसके केंद्र ¨बदु में गांव, गरीब, किसान, नौजवान, महिलाएं और पूरा देश है। कश्मीर में धारा 370 को समाप्त करने का ऐतिहासिक व साहासिक निर्णय हो या सदियों से चली आ रही तीन तलाक की कुप्रथा, प्रधानमंत्री ने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से इन्हें खत्म कर दिया। इस मौके पर उन्होंने मोदी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना जीवन गांव, गरीब, किसान, नौजवान के कल्याण और राष्ट्र निर्माण के लिए समर्पित कर दिया है। जनसेवा के प्रति प्रधानमंत्री के समर्पण से प्रेरित होकर ही पार्टी उनके जन्मदिवस के अवसर पर 14 से 20 सितंबर तक सेवा सप्ताह अभियान चला रही है। प्रधानमंत्री के जीवन व उपलब्धियों पर आधारित प्रदर्शनी से पार्टी कार्यकर्ताओं को राष्ट्रसेवा की प्रेरणा मिलेगी।


  • राष्ट्रीय सहारा : 16/09/2019 सहारा न्यूज ब्यूरो लखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि लक्ष्यों को हासिल करने में टीम वर्क जरूरी है। मुख्यमंत्री रविवार को यहां भारतीय प्रबन्ध संस्थान (आईआईएम) में आयोजित ‘‘मंथन-2’ कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में विकास और सुशासन के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए गम्भीरता से कार्य कर रही है। इसे गति प्रदान करने में मंथन जैसे कार्यक्रमों की बड़ी उपयोगिता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के समग्र विकास और सुशासन का रोडमैप तैयार करना और एक टीम के रूप में उसे जमीन पर उतारना वर्तमान सरकार का लक्ष्य है। आईआईएम, लखनऊ जैसे संस्थान के साथ मिलकर इस दिशा में बड़ा काम किया जा सकता है।योगी ने कहा कि पिछले सत्र में विकास और सुशासन के सम्बन्ध में सार्थक र्चचा हुई थी। इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए प्रदेश सरकार के मंत्रियों के साथ-साथ मुख्य सचिव सहित सभी विभागों के अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों, सचिवों तथा विभागाध्यक्षों को शामिल किया गया, जिससे टीम वर्क के साथ लक्ष्यों को प्राप्त किया जा सके।उन्होंने कहा कि प्रशासनिक तंत्र के पास विजन तो है पर उस विजन को मूर्तरूप देने में इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम सहायक सिद्ध हो सकते हैं। इस प्रकार प्रदेश की 23 करोड़ जनता को बेहतर ढंग से शासन की योजनाओं से लाभान्वित किया जा सकता है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था को वन ट्रिलियन डॉलर बनाने में भी यह प्रशिक्षण महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्री, मुख्य सचिव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी तथा आईआईएम के शिक्षाविद् उपस्थित थे। गौरतलब है कि इसके पहले आठ सितम्बर को इसी तरह मुख्यमंत्री और सरकार के मंत्रियों की पाठशाला आयोजित की गयी थी। इसी क्रम में रविवार को ‘‘मंथन-2’ कार्यक्रम आयोजित किया गया और अब अगला मंथन कार्यक्रम 22 सितम्बर को आयोजित होगा।
    Close
    लक्ष्य हासिल करने के लिए टीम वर्क जरूरी : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 16/09/2019
    सहारा न्यूज ब्यूरो लखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि लक्ष्यों को हासिल करने में टीम वर्क जरूरी है। मुख्यमंत्री रविवार को यहां भारतीय प्रबन्ध संस्थान (आईआईएम) में आयोजित ‘‘मंथन-2’ कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में विकास और सुशासन के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए गम्भीरता से कार्य कर रही है। इसे गति प्रदान करने में मंथन जैसे कार्यक्रमों की बड़ी उपयोगिता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के समग्र विकास और सुशासन का रोडमैप तैयार करना और एक टीम के रूप में उसे जमीन पर उतारना वर्तमान सरकार का लक्ष्य है। आईआईएम, लखनऊ जैसे संस्थान के साथ मिलकर इस दिशा में बड़ा काम किया जा सकता है।योगी ने कहा कि पिछले सत्र में विकास और सुशासन के सम्बन्ध में सार्थक र्चचा हुई थी। इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए प्रदेश सरकार के मंत्रियों के साथ-साथ मुख्य सचिव सहित सभी विभागों के अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों, सचिवों तथा विभागाध्यक्षों को शामिल किया गया, जिससे टीम वर्क के साथ लक्ष्यों को प्राप्त किया जा सके।उन्होंने कहा कि प्रशासनिक तंत्र के पास विजन तो है पर उस विजन को मूर्तरूप देने में इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम सहायक सिद्ध हो सकते हैं। इस प्रकार प्रदेश की 23 करोड़ जनता को बेहतर ढंग से शासन की योजनाओं से लाभान्वित किया जा सकता है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था को वन ट्रिलियन डॉलर बनाने में भी यह प्रशिक्षण महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्री, मुख्य सचिव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी तथा आईआईएम के शिक्षाविद् उपस्थित थे। गौरतलब है कि इसके पहले आठ सितम्बर को इसी तरह मुख्यमंत्री और सरकार के मंत्रियों की पाठशाला आयोजित की गयी थी। इसी क्रम में रविवार को ‘‘मंथन-2’ कार्यक्रम आयोजित किया गया और अब अगला मंथन कार्यक्रम 22 सितम्बर को आयोजित होगा।


  • हिन्दुस्तान : 15/09/2019 लखनऊ/अलीगढ़| विशेष संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार सबका साथ, सबका विकास व सबका विश्वास की तर्ज पर जनता को उसका हक दिला रही है। सोनभद्र में कांग्रेस ने ग़रीबों और आदिवासियों की परंपरागत ज़मीन को फ़र्ज़ी सोसाइटी बनाकर लूटा। हमने गरीबों को जमीन के पट्टे दिये हैं। मुख्यमंत्री शनिवार को अलीगढ़ में थे। उन्होंने वहां 1135 करोड़ की 352 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस दौरान सीएम योगी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि हमने तय किया है कि गायों को कटने भी नहीं देंगे औऱ उनको किसानों की फसलों को नुकसान भी नहीं पहुंचाने देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने अलीगढ़ के ताला-हार्डवेयर उद्योगों को ओडीओपी से जोड़ा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि डिफेंस कॉरिडोर के प्रदेश में जो 6 केंद्र बनेंगे उसमे एक केंद्र अलीगढ़ भी होगा। यहां भी रक्षा उत्पादन से जुड़े हुए उद्योग लगेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में हमारी सरकार बनते ही हमने अलीगढ़ के अवैध बूचड़खानों को बंद कराया। पहले सरकारें उनके साथ होती थी, लोगों को कानून का भय नहीं था। हमने निराश्रित गोवंश के संरक्षण के लिए अपनी एक योजना लागू की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों में दंगे होते थे लेकिन आज हमारे ढाई साल के कार्यकाल में एक भी दंगा नहीं हुआ, लोग हर्षोल्लास के साथ अपने अपने त्योहार मना रहे हैं। विश्वविद्यालय बनेगा: मुख्यमंत्री ने कहा कि अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप के नाम पर स्टेट विश्वविद्यालय की स्थापना होगी। अब भारत की संस्थाओं में जनता के टैक्स से पलने वाली संस्थाओं और कश्मीर में कोई पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा नहीं लगा पाएगा।
    Close
    सरकार जनता को दिला रही उसका हक : योगी
    हिन्दुस्तान 15/09/2019
    लखनऊ/अलीगढ़| विशेष संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार सबका साथ, सबका विकास व सबका विश्वास की तर्ज पर जनता को उसका हक दिला रही है। सोनभद्र में कांग्रेस ने ग़रीबों और आदिवासियों की परंपरागत ज़मीन को फ़र्ज़ी सोसाइटी बनाकर लूटा। हमने गरीबों को जमीन के पट्टे दिये हैं। मुख्यमंत्री शनिवार को अलीगढ़ में थे। उन्होंने वहां 1135 करोड़ की 352 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस दौरान सीएम योगी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि हमने तय किया है कि गायों को कटने भी नहीं देंगे औऱ उनको किसानों की फसलों को नुकसान भी नहीं पहुंचाने देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने अलीगढ़ के ताला-हार्डवेयर उद्योगों को ओडीओपी से जोड़ा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि डिफेंस कॉरिडोर के प्रदेश में जो 6 केंद्र बनेंगे उसमे एक केंद्र अलीगढ़ भी होगा। यहां भी रक्षा उत्पादन से जुड़े हुए उद्योग लगेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में हमारी सरकार बनते ही हमने अलीगढ़ के अवैध बूचड़खानों को बंद कराया। पहले सरकारें उनके साथ होती थी, लोगों को कानून का भय नहीं था। हमने निराश्रित गोवंश के संरक्षण के लिए अपनी एक योजना लागू की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों में दंगे होते थे लेकिन आज हमारे ढाई साल के कार्यकाल में एक भी दंगा नहीं हुआ, लोग हर्षोल्लास के साथ अपने अपने त्योहार मना रहे हैं। विश्वविद्यालय बनेगा: मुख्यमंत्री ने कहा कि अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप के नाम पर स्टेट विश्वविद्यालय की स्थापना होगी। अब भारत की संस्थाओं में जनता के टैक्स से पलने वाली संस्थाओं और कश्मीर में कोई पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा नहीं लगा पाएगा।


  • दैनिक जागरण : 14/09/2019 जागरण संवाददाता, सोनभद्र : नरसंहार के बाद शुक्रवार को दूसरी बार उभ्भा गांव पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पीड़ितों व उनके परिजनों से मिलते वक्त जहां नरम दिखे, वहीं विपक्षी दलों पर आक्रामक रहे। उन्होंने नाम लिए बिना कांग्रेस की महासचिव प्रियंका वाड्रा पर तंज भी कसा। बोले, कांग्रेस की शहजादी यहां राजनीति कर रही हैं। उनसे पूछता हूं कि जो गरीबों के साथ अन्याय किया गया, उनका हक छीना गया, क्या उसके लिए कांग्रेस माफी मांगेंगी। उन्होंने हर गरीब को अधिकार, सम्मान व सुरक्षा दिलाने का भरोसा देते हुए कहा कि गरीब खुशहाल होगा तो देश खुशहाल होगा। योगी ने नरसंहार की घटना पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सरकार गरीबों के साथ है और बिना किसी भेदभाव के योजनाओं का लाभ उन तक पहुंचाया जा रहा है। बोले, 2014 में जब मोदी जी ने देश की बागडोर अपने हाथ में ली, तब एक आह्वान किया था कि सबका साथ सबका विकास। आज उसका परिणाम हम सब देख सकते हैं। हर गरीब के पास अपनी छत है। हर गरीब के पास स्वस्थ रहने, नारी गरिमा सम्मान के लिए अपना शौचालय है। सीएम ने कहा कि याद करिए, 1952 से 1955 के बीच आपके हक को छीनने का काम किसने किया, वह कांग्रेस थी। आज भाजपा की सरकार उस हक को दिलाने के लिए आपके पास आई है। कांग्रेस के पाप का परिमार्जन करने के लिए हम आपके बीच हैं। कांग्रेस ने जो पाप किया, उसकी सजा देश उनको दे रहा है। दूसरे प्रदेश के रहने वाले कांग्रेस के एक राज्यसभा सदस्य बाद में एमएलसी हुए, उन्होंने साजिश करके एक फर्जी कृषि समिति के नाम पर गरीबों के हक को छीनने का काम किया। मुख्यमंत्री ने अपने 24 मिनट के संबोधन में कहा कि नरसंहार की जब हमने जांच कराई तो पता चला कि अकेले सोनभद्र में ही गरीबों, आदिवासियों व वन की करीब एक लाख बीघे जमीन को कांग्रेस, सपा, बसपा व अन्य भू-माफिया ने सत्ता के संरक्षण में कब्जा करके गरीबों को भूमि से वंचित करने का काम किया।
    Close
    कांग्रेस की शहजादी उभ्भा में कर रहीं राजनीति : योगी
    दैनिक जागरण 14/09/2019
    जागरण संवाददाता, सोनभद्र : नरसंहार के बाद शुक्रवार को दूसरी बार उभ्भा गांव पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पीड़ितों व उनके परिजनों से मिलते वक्त जहां नरम दिखे, वहीं विपक्षी दलों पर आक्रामक रहे। उन्होंने नाम लिए बिना कांग्रेस की महासचिव प्रियंका वाड्रा पर तंज भी कसा। बोले, कांग्रेस की शहजादी यहां राजनीति कर रही हैं। उनसे पूछता हूं कि जो गरीबों के साथ अन्याय किया गया, उनका हक छीना गया, क्या उसके लिए कांग्रेस माफी मांगेंगी। उन्होंने हर गरीब को अधिकार, सम्मान व सुरक्षा दिलाने का भरोसा देते हुए कहा कि गरीब खुशहाल होगा तो देश खुशहाल होगा। योगी ने नरसंहार की घटना पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सरकार गरीबों के साथ है और बिना किसी भेदभाव के योजनाओं का लाभ उन तक पहुंचाया जा रहा है। बोले, 2014 में जब मोदी जी ने देश की बागडोर अपने हाथ में ली, तब एक आह्वान किया था कि सबका साथ सबका विकास। आज उसका परिणाम हम सब देख सकते हैं। हर गरीब के पास अपनी छत है। हर गरीब के पास स्वस्थ रहने, नारी गरिमा सम्मान के लिए अपना शौचालय है। सीएम ने कहा कि याद करिए, 1952 से 1955 के बीच आपके हक को छीनने का काम किसने किया, वह कांग्रेस थी। आज भाजपा की सरकार उस हक को दिलाने के लिए आपके पास आई है। कांग्रेस के पाप का परिमार्जन करने के लिए हम आपके बीच हैं। कांग्रेस ने जो पाप किया, उसकी सजा देश उनको दे रहा है। दूसरे प्रदेश के रहने वाले कांग्रेस के एक राज्यसभा सदस्य बाद में एमएलसी हुए, उन्होंने साजिश करके एक फर्जी कृषि समिति के नाम पर गरीबों के हक को छीनने का काम किया। मुख्यमंत्री ने अपने 24 मिनट के संबोधन में कहा कि नरसंहार की जब हमने जांच कराई तो पता चला कि अकेले सोनभद्र में ही गरीबों, आदिवासियों व वन की करीब एक लाख बीघे जमीन को कांग्रेस, सपा, बसपा व अन्य भू-माफिया ने सत्ता के संरक्षण में कब्जा करके गरीबों को भूमि से वंचित करने का काम किया।


  • राष्ट्रीय सहारा : 13/09/2019 गोरखपुर (एसएनबी)। मुख्यमंत्री व गोरक्षपीठाधीश्वर महन्त योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मठ एवं मन्दिरों को केवल पूजा-पाठ तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए। लोक कल्याणकारी कार्यो के साथ-साथ राष्ट्रीय भावना के कार्यो में उन्हें सबसे आगे रहना चाहिए। भारतीय ऋषि परम्परा ने राष्ट्रधर्म को सभी धर्मो से बड़ा माना है। मुख्यंमत्री गुरुवार को श्री गोरखनाथ मन्दिर में ब्रrालीन महन्त दिग्विजयनाथ की 50वीं एवं राष्ट्र सन्त महन्त अवेद्यनाथ की पाचवीं पुण्य तिथि के अवसर पर आयोजित ‘‘ राष्ट्रीय पुनर्जागरण यज्ञ एवं संत समाज’ विषयक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लोक-कल्याण में संत समाज सबसे आगे रहता है। महर्षि विश्वामित्र एवं वशिष्ठ के लोक कल्याणकारी कार्यो का उल्लेख करते हुए कहा कि कहा कि जब रावण जैसे पापी को नष्ट करने के लिए तत्पर हो रहे थे, उस समय के दो शक्तिशाली राष्ट्र मिथिला और अयोध्या को इस बात की चिंता नहीं थी। महर्षि विश्वामित्र को चिंता व्याप्त हुई। उन्होंने यज्ञ के बहाने श्रीराम और लक्ष्मण को आगे लाकर राष्ट्र रक्षा का कार्य किया। महर्षि विश्वामित्र ने राम के चरित्र का उपयोग किया तो दूसरी तरफ महर्षि वाल्मिकी ने उनके चरित्र को अपने रामायाण में निरूपित कर समाज के लिए आदर्श प्रस्तुत किया। महर्षि वेदव्यास ने भारत की परम्परा को दुनिया के सामने रखते हुए कहा कि महाभारत में जो भी कुछ है, वही सम्पूर्ण संसार में है। शंकराचार्य ने केरल से निकलकर भारत के चारों कोनों में पीठ स्थापित कर भारत को एक सूत्र में बांधने का कार्य किया। स्वामी विवेकानन्द जब सन्यास लेना चाह रहे थे तो स्वामी रामकृष्ण परमहंस ने कहा कि मनुष्य का जीवन केवल अपने लिए ही नहीं होता। वास्तविक सन्यास समाज की सेवा में है।
    Close
    मंदिरों और मठों को पूजा पाठ तक न रखें सीमित
    राष्ट्रीय सहारा 13/09/2019
    गोरखपुर (एसएनबी)। मुख्यमंत्री व गोरक्षपीठाधीश्वर महन्त योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मठ एवं मन्दिरों को केवल पूजा-पाठ तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए। लोक कल्याणकारी कार्यो के साथ-साथ राष्ट्रीय भावना के कार्यो में उन्हें सबसे आगे रहना चाहिए। भारतीय ऋषि परम्परा ने राष्ट्रधर्म को सभी धर्मो से बड़ा माना है। मुख्यंमत्री गुरुवार को श्री गोरखनाथ मन्दिर में ब्रrालीन महन्त दिग्विजयनाथ की 50वीं एवं राष्ट्र सन्त महन्त अवेद्यनाथ की पाचवीं पुण्य तिथि के अवसर पर आयोजित ‘‘ राष्ट्रीय पुनर्जागरण यज्ञ एवं संत समाज’ विषयक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लोक-कल्याण में संत समाज सबसे आगे रहता है। महर्षि विश्वामित्र एवं वशिष्ठ के लोक कल्याणकारी कार्यो का उल्लेख करते हुए कहा कि कहा कि जब रावण जैसे पापी को नष्ट करने के लिए तत्पर हो रहे थे, उस समय के दो शक्तिशाली राष्ट्र मिथिला और अयोध्या को इस बात की चिंता नहीं थी। महर्षि विश्वामित्र को चिंता व्याप्त हुई। उन्होंने यज्ञ के बहाने श्रीराम और लक्ष्मण को आगे लाकर राष्ट्र रक्षा का कार्य किया। महर्षि विश्वामित्र ने राम के चरित्र का उपयोग किया तो दूसरी तरफ महर्षि वाल्मिकी ने उनके चरित्र को अपने रामायाण में निरूपित कर समाज के लिए आदर्श प्रस्तुत किया। महर्षि वेदव्यास ने भारत की परम्परा को दुनिया के सामने रखते हुए कहा कि महाभारत में जो भी कुछ है, वही सम्पूर्ण संसार में है। शंकराचार्य ने केरल से निकलकर भारत के चारों कोनों में पीठ स्थापित कर भारत को एक सूत्र में बांधने का कार्य किया। स्वामी विवेकानन्द जब सन्यास लेना चाह रहे थे तो स्वामी रामकृष्ण परमहंस ने कहा कि मनुष्य का जीवन केवल अपने लिए ही नहीं होता। वास्तविक सन्यास समाज की सेवा में है।


  • हिन्दुस्तान : 12/09/2019 मथुरा | हिन्दुस्तान टीम :- राष्ट्रीय पशुधन मेले के उद्घाटन समारोह में पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के चलते विषाणुजनित बीमारियां काबू में आ रही हैं। इसी के चलते मस्तिष्क ज्वर (इंसेफेलाइटिस) पर भी धीरे-धीरे काबू पाया जा रहा है और अब इसका पूरी तरह उन्मूलन करने की ओर सरकार बढ़ रही है। योगी ने उदाहरण देते हुए कहा कि मस्तिष्क ज्वर से पिछले कुछ सालों में लगातार गिरावट आई है। दो अक्तूबर 2014 में पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान शुरू किया तो लोग हंसी उड़ाते थे लेकिन आज परिणाम सामने है। इससे पहले पीएम मोदी का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वागत किया। संबोधन से पहले मोदी ने प्रदर्शनी का जायजा लिया और अधिकारियों से बात की। इस दौरान केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, संजीव बालियान, गजेंद्र शेखावत, हेमा मालिनी, मंत्री लक्ष्मीनारायण और श्रीकांत शर्मा भी मौजूद रहे।
    Close
    स्वच्छता मिशन से इंसेफेलाइटिस काबू में : योगी
    हिन्दुस्तान 12/09/2019
    मथुरा | हिन्दुस्तान टीम :- राष्ट्रीय पशुधन मेले के उद्घाटन समारोह में पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के चलते विषाणुजनित बीमारियां काबू में आ रही हैं। इसी के चलते मस्तिष्क ज्वर (इंसेफेलाइटिस) पर भी धीरे-धीरे काबू पाया जा रहा है और अब इसका पूरी तरह उन्मूलन करने की ओर सरकार बढ़ रही है। योगी ने उदाहरण देते हुए कहा कि मस्तिष्क ज्वर से पिछले कुछ सालों में लगातार गिरावट आई है। दो अक्तूबर 2014 में पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान शुरू किया तो लोग हंसी उड़ाते थे लेकिन आज परिणाम सामने है। इससे पहले पीएम मोदी का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वागत किया। संबोधन से पहले मोदी ने प्रदर्शनी का जायजा लिया और अधिकारियों से बात की। इस दौरान केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, संजीव बालियान, गजेंद्र शेखावत, हेमा मालिनी, मंत्री लक्ष्मीनारायण और श्रीकांत शर्मा भी मौजूद रहे।


  • दैनिक जागरण : 11/09/2019 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सतत विकास लक्ष्य उत्तर प्रदेश विजन-2030 को लेकर एक सप्ताह में ठोस कार्ययोजना बनाए जाने का निर्देश दिया है। मंगलवार को मुख्य सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर योगी ने कहा कि सभी नोडल अधिकारी उप्र को फोकस कर ठोस कार्ययोजना बनाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि नियोजन विभाग इसमें रुचि लेकर काम को तेजी से आगे बढ़ाए। कार्ययोजना में प्रदेश के सभी हिस्सों व जरूरतों को ध्यान में रखा जाए। पूरब, पश्चिम, मध्य और बुंदेलखंड पर फोकस किया जाना चाहिए। सभी मंडलों व जिलों का प्रतिनिधितत्व भी दिखना चाहिए। योगी ने कहा कि इसके लिए विस्तार से और संक्षेप में दो अलग-अलग लिटरेचर तैयार किए जाएं। 20 सितंबर तक उनका प्रकाशन भी सुनिश्चित कराया जाये। योगी ने कहा कि सतत विकास लक्ष्य जनवरी 2016 से पूरे विश्व में लागू किया गया है। सतत विकास लक्ष्य एक साहसिक और सार्वभौमिक समझौता है, जो सबके लिए एक समान न्यायपूर्ण और सुरक्षित विश्व की कल्पना को साकार करेगा। गरीबी उन्मूलन, भुखमरी समाप्त करना, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, लैंगिक समानता, सुरक्षित जल एवं स्वच्छता समेत 17 लक्ष्यों के लिए अलग-अलग विभागों के प्रमुख सचिवों को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।
    Close
    सतत विकास लक्ष्य पर एक सप्ताह में बने कार्ययोजना : मुख्यमंत्री
    दैनिक जागरण 11/09/2019
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सतत विकास लक्ष्य उत्तर प्रदेश विजन-2030 को लेकर एक सप्ताह में ठोस कार्ययोजना बनाए जाने का निर्देश दिया है। मंगलवार को मुख्य सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर योगी ने कहा कि सभी नोडल अधिकारी उप्र को फोकस कर ठोस कार्ययोजना बनाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि नियोजन विभाग इसमें रुचि लेकर काम को तेजी से आगे बढ़ाए। कार्ययोजना में प्रदेश के सभी हिस्सों व जरूरतों को ध्यान में रखा जाए। पूरब, पश्चिम, मध्य और बुंदेलखंड पर फोकस किया जाना चाहिए। सभी मंडलों व जिलों का प्रतिनिधितत्व भी दिखना चाहिए। योगी ने कहा कि इसके लिए विस्तार से और संक्षेप में दो अलग-अलग लिटरेचर तैयार किए जाएं। 20 सितंबर तक उनका प्रकाशन भी सुनिश्चित कराया जाये। योगी ने कहा कि सतत विकास लक्ष्य जनवरी 2016 से पूरे विश्व में लागू किया गया है। सतत विकास लक्ष्य एक साहसिक और सार्वभौमिक समझौता है, जो सबके लिए एक समान न्यायपूर्ण और सुरक्षित विश्व की कल्पना को साकार करेगा। गरीबी उन्मूलन, भुखमरी समाप्त करना, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, लैंगिक समानता, सुरक्षित जल एवं स्वच्छता समेत 17 लक्ष्यों के लिए अलग-अलग विभागों के प्रमुख सचिवों को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।


  • राष्ट्रीय सहारा : 09/09/2019 लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जीवन सीखने के लिए होता है। जीवन की प्रत्येक घटना से कुछ न कुछ सीखने को मिलता है। सीखने के लिए जहां कहीं भी अवसर मिले उसका लाभ अवश्य लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विगत ढाई वर्षों में जनता की आशाओं और आकांक्षाओं की कसौटी पर खरी उतरी है। मुख्यमंत्री रविवार को भारतीय प्रबन्धन संस्थान (आईआईएम) लखनऊ में आयोजित लीडरशिप डेवलपमेन्ट ‘‘मंथन-1’ कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आईआईएम के सहयोग से मंथन कार्यक्रम के तीन विशेष सत्रों का आयोजन किया जा रहा है, जिसका प्रथम सत्र रविवार को आयोजित किया गया है। प्रदेश के सर्वांगीण विकास में इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम सहायक सिद्ध हो सकते हैं।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार सुशासन, प्रबंधन, नेतृत्व कौशल व जनभागीदारी को बेहतर ढंग से जानने के लिए आईआईएम संस्थान से सहयोग प्राप्त कर रही है। पहली बार किसी राज्य सरकार ने देश में अपने राजनीतिक नेतृत्व की दक्षता के लिए देश के श्रेष्ठ प्रबन्धन संस्थान से प्रशिक्षण लेने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक प्रशासनिक अधिकारी द्वारा दिये गये सुझावों को प्राथमिक विद्यालयों पर लागू किया, जिसके सकारात्मक परिणाम आये। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए आईआईएम की निदेशक प्रो. अर्चना शुक्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री की प्रेरणा से यह कार्यक्रम सम्पन्न हो रहा है। उत्तर प्रदेश भारत की रीढ़ है। उत्तर प्रदेश का विकास करके ही हम देश के विकास में सहभागी बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि एक राजनेता से जनता को काफी उम्मीदें होती हैं। इन उम्मीदों को पूरा करने में यह मंथन कार्यक्रम महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्रिगण, आईआईएम के शिक्षाविद् भी उपस्थित थे।
    Close
    जहां भी सीखने का मौका मिले सीखें जरूर : मुख्यमंत्री
    राष्ट्रीय सहारा 09/09/2019
    लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जीवन सीखने के लिए होता है। जीवन की प्रत्येक घटना से कुछ न कुछ सीखने को मिलता है। सीखने के लिए जहां कहीं भी अवसर मिले उसका लाभ अवश्य लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विगत ढाई वर्षों में जनता की आशाओं और आकांक्षाओं की कसौटी पर खरी उतरी है। मुख्यमंत्री रविवार को भारतीय प्रबन्धन संस्थान (आईआईएम) लखनऊ में आयोजित लीडरशिप डेवलपमेन्ट ‘‘मंथन-1’ कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आईआईएम के सहयोग से मंथन कार्यक्रम के तीन विशेष सत्रों का आयोजन किया जा रहा है, जिसका प्रथम सत्र रविवार को आयोजित किया गया है। प्रदेश के सर्वांगीण विकास में इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम सहायक सिद्ध हो सकते हैं।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार सुशासन, प्रबंधन, नेतृत्व कौशल व जनभागीदारी को बेहतर ढंग से जानने के लिए आईआईएम संस्थान से सहयोग प्राप्त कर रही है। पहली बार किसी राज्य सरकार ने देश में अपने राजनीतिक नेतृत्व की दक्षता के लिए देश के श्रेष्ठ प्रबन्धन संस्थान से प्रशिक्षण लेने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक प्रशासनिक अधिकारी द्वारा दिये गये सुझावों को प्राथमिक विद्यालयों पर लागू किया, जिसके सकारात्मक परिणाम आये। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए आईआईएम की निदेशक प्रो. अर्चना शुक्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री की प्रेरणा से यह कार्यक्रम सम्पन्न हो रहा है। उत्तर प्रदेश भारत की रीढ़ है। उत्तर प्रदेश का विकास करके ही हम देश के विकास में सहभागी बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि एक राजनेता से जनता को काफी उम्मीदें होती हैं। इन उम्मीदों को पूरा करने में यह मंथन कार्यक्रम महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्रिगण, आईआईएम के शिक्षाविद् भी उपस्थित थे।


  • हिन्दुस्तान : 08/09/2019 अम्बेडकरनगर/प्रतापगढ़। हिटी :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि यूपी में सरकारी योजनाओं का लाभ अब जाति देखकर नहीं दिया जाता। सही पात्र को सही योजना का लाभ देना हमारी प्राथमिकता है। सपा और बसपा पर प्रहार करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारें समाज को बांटने में लगी रहती थीं और जाति के आधार पर योजनाएं बनाती थीं। योगी ने अम्बेडकरनगर और प्रतापगढ़ को अरबों रुपये की परियोजनाओं की सौगात दी। अम्बेडकरनगर के जलालपुर स्थित नरेन्द्र देव इंटर कॉलेज के मैदान पर आयोजित सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि देश और प्रदेश में पहली बार काम करने वाली सरकारें हैं। पांच साल में मोदी सरकार ने और ढाई साल में हमारी सरकार ने जितना काम किया उतना काम कभी नहीं हुआ। पूर्ववर्ती सरकारों ने केवल लूट-खसोट और भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया। हमारी सरकार में सभी को बिना भेदभाव को एक समान योजनाओं का लाभ मिल रहा है।
    Close
    हमारी सरकार जाति के आधार पर योजनाएं नहीं बनाती : योगी
    हिन्दुस्तान 08/09/2019
    अम्बेडकरनगर/प्रतापगढ़। हिटी :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि यूपी में सरकारी योजनाओं का लाभ अब जाति देखकर नहीं दिया जाता। सही पात्र को सही योजना का लाभ देना हमारी प्राथमिकता है। सपा और बसपा पर प्रहार करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारें समाज को बांटने में लगी रहती थीं और जाति के आधार पर योजनाएं बनाती थीं। योगी ने अम्बेडकरनगर और प्रतापगढ़ को अरबों रुपये की परियोजनाओं की सौगात दी। अम्बेडकरनगर के जलालपुर स्थित नरेन्द्र देव इंटर कॉलेज के मैदान पर आयोजित सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि देश और प्रदेश में पहली बार काम करने वाली सरकारें हैं। पांच साल में मोदी सरकार ने और ढाई साल में हमारी सरकार ने जितना काम किया उतना काम कभी नहीं हुआ। पूर्ववर्ती सरकारों ने केवल लूट-खसोट और भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया। हमारी सरकार में सभी को बिना भेदभाव को एक समान योजनाओं का लाभ मिल रहा है।


  • राष्ट्रीय सहारा : 07/09/2019 सहारनपुर (आईएएनएस) : प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने शुक्रवार को यहां कहा कि सपा के शासन काल में यहां पर दंगे होते थे, लेकिन अब प्रदेश में कोई दूसरा कैराना नहीं बनने पाएगा।मुख्यमंत्री ने यहां जिले में कई करोड़ रपए की योजनाओं का शिलान्यास किया। सहारनपुर के गंगोह में मुख्यमंत्री ने एक जनसभा को भी संबोधित किया। उन्होंने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘सपा सरकार में नौकरी एक ही बिरादरी के लोगों को मिलती थी, अब ऐसा नहीं होता है। विकास में किसी की जाति नहीं देखी जा रही है। इनके शासनकाल (सपा) में दंगा भी खूब होता था। आप सभी से वादा है कि प्रदेश में अब कोई दूसरा कैराना नहीं बनेगा। कैराना में पीएसी की बटालियन स्थापित होने जा रही है।’योगी ने कहा, ‘‘सहारनपुर जिला लंबे समय बाद अब राष्ट्रवाद की राह पर है। हमारा वादा है कि हम इस जिले का काफी विकास करेंगे। सरकार बिना भेदभाव के हर योजना क्रियान्वित कर रही है। हम प्रदेश का व्यापक और वास्तविक विकास कर रहे हैं।
    Close
    उप्र में दूसरा कैराना नहीं बनने देंगे : योगी
    राष्ट्रीय सहारा 07/09/2019
    सहारनपुर (आईएएनएस) : प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने शुक्रवार को यहां कहा कि सपा के शासन काल में यहां पर दंगे होते थे, लेकिन अब प्रदेश में कोई दूसरा कैराना नहीं बनने पाएगा।मुख्यमंत्री ने यहां जिले में कई करोड़ रपए की योजनाओं का शिलान्यास किया। सहारनपुर के गंगोह में मुख्यमंत्री ने एक जनसभा को भी संबोधित किया। उन्होंने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘सपा सरकार में नौकरी एक ही बिरादरी के लोगों को मिलती थी, अब ऐसा नहीं होता है। विकास में किसी की जाति नहीं देखी जा रही है। इनके शासनकाल (सपा) में दंगा भी खूब होता था। आप सभी से वादा है कि प्रदेश में अब कोई दूसरा कैराना नहीं बनेगा। कैराना में पीएसी की बटालियन स्थापित होने जा रही है।’योगी ने कहा, ‘‘सहारनपुर जिला लंबे समय बाद अब राष्ट्रवाद की राह पर है। हमारा वादा है कि हम इस जिले का काफी विकास करेंगे। सरकार बिना भेदभाव के हर योजना क्रियान्वित कर रही है। हम प्रदेश का व्यापक और वास्तविक विकास कर रहे हैं।


  • दैनिक जागरण : 06/09/2019 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : शिक्षक दिवस पर सरकार ने प्रदेश के 31 शिक्षकों को सम्मानित किया। इनमें दो को सरस्वती सम्मान दिया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राज्यपाल ने शिक्षा क्षेत्र से जुड़े अपने अनुभव साझा किए। वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दायित्वों का ‘गुरुमंत्र’ दिया। कहा कि शिक्षकों को अनुच्छेद 370 और तीन तलाक जैसे फैसलों पर भी बच्चों से बात करनी चाहिए। गुरुवार को लोक भवन में आयोजित अध्यापक सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सबसे बड़ी शिक्षा जीवन का व्यावहारिक अनुभव है। हर घटना हमें कुछ न कुछ सिखाती है। बच्चों को व्यावहारिक ज्ञान देना जरूरी है। हर चीज को वोटों की राजनीति की नजर से नहीं देखना चाहिए। अभी देशहित में कई महत्वपूर्ण फैसले हुए। क्या शिक्षकों का दायित्व नहीं था कि बच्चों के साथ अनुच्छेद 370 जम्मू कश्मीर से हटाए जाने के फैसले पर बात करते। महिला सशक्तीकरण की दिशा में उठाए गए कदम तीन तलाक कानून पर बात होनी थी। उनके सामने सभी पक्ष रखते। प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को अभिनंदन पत्र भेजते। योगी ने कहा कि जनचेतना में शिक्षक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने शिक्षकों को पाठ्यक्रम का सरलीकरण कर बच्चों को पढ़ाने की भी सलाह दी।
    Close
    ‘अनुच्छेद 370, तीन तलाक पर भी बच्चों से करें बात’
    दैनिक जागरण 06/09/2019
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : शिक्षक दिवस पर सरकार ने प्रदेश के 31 शिक्षकों को सम्मानित किया। इनमें दो को सरस्वती सम्मान दिया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राज्यपाल ने शिक्षा क्षेत्र से जुड़े अपने अनुभव साझा किए। वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दायित्वों का ‘गुरुमंत्र’ दिया। कहा कि शिक्षकों को अनुच्छेद 370 और तीन तलाक जैसे फैसलों पर भी बच्चों से बात करनी चाहिए। गुरुवार को लोक भवन में आयोजित अध्यापक सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सबसे बड़ी शिक्षा जीवन का व्यावहारिक अनुभव है। हर घटना हमें कुछ न कुछ सिखाती है। बच्चों को व्यावहारिक ज्ञान देना जरूरी है। हर चीज को वोटों की राजनीति की नजर से नहीं देखना चाहिए। अभी देशहित में कई महत्वपूर्ण फैसले हुए। क्या शिक्षकों का दायित्व नहीं था कि बच्चों के साथ अनुच्छेद 370 जम्मू कश्मीर से हटाए जाने के फैसले पर बात करते। महिला सशक्तीकरण की दिशा में उठाए गए कदम तीन तलाक कानून पर बात होनी थी। उनके सामने सभी पक्ष रखते। प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को अभिनंदन पत्र भेजते। योगी ने कहा कि जनचेतना में शिक्षक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने शिक्षकों को पाठ्यक्रम का सरलीकरण कर बच्चों को पढ़ाने की भी सलाह दी।


  • हिन्दुस्तान : 05/09/2019 लखनऊ | विशेष संवाददाता :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर महिला शिक्षकों का आह्वान किया कि अगले राज्य पुरस्कारों में उनकी संख्या ज्यादा होनी चाहिए। उन्होंने शिक्षकों को सीख दी कि वे ट्रेड यूनियन वाले नहीं है, इसलिए सड़कों पर न आएं। कार्यक्रम में उन्होंने प्रेरणा ऐप को भी पूरे प्रदेश में लागू किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री गुरु की भूमिका में नजर आए और उन्होंने प्रदेश के अध्यापकों को कहा कि पिछले हफ्ते मेधावी बच्चों को सम्मानित किया तो उनमें लड़कियां ज्यादा थीं लेकिन राज्य अध्यापक पुस्कार में 49 में से 29 पुरुष और 20 महिला शिक्षिकाएं हैं। अगले वर्ष महिला शिक्षक ज्यादा होनी चाहिए। उन्होंने इशारों में महिला शिक्षिकाओं के स्कूल न जाने पर तंज भी कसा।
    Close
    शिक्षक ट्रेड यूनियन के सदस्य नहीं : योगी
    हिन्दुस्तान 05/09/2019
    लखनऊ | विशेष संवाददाता :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर महिला शिक्षकों का आह्वान किया कि अगले राज्य पुरस्कारों में उनकी संख्या ज्यादा होनी चाहिए। उन्होंने शिक्षकों को सीख दी कि वे ट्रेड यूनियन वाले नहीं है, इसलिए सड़कों पर न आएं। कार्यक्रम में उन्होंने प्रेरणा ऐप को भी पूरे प्रदेश में लागू किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री गुरु की भूमिका में नजर आए और उन्होंने प्रदेश के अध्यापकों को कहा कि पिछले हफ्ते मेधावी बच्चों को सम्मानित किया तो उनमें लड़कियां ज्यादा थीं लेकिन राज्य अध्यापक पुस्कार में 49 में से 29 पुरुष और 20 महिला शिक्षिकाएं हैं। अगले वर्ष महिला शिक्षक ज्यादा होनी चाहिए। उन्होंने इशारों में महिला शिक्षिकाओं के स्कूल न जाने पर तंज भी कसा।


  • राष्ट्रीय सहारा : 03/09/2019 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश पुलिस के आधुनिकीकरण के दृष्टिगत हर मंडल में फोरेन्सिक लैब्स स्थापित की जायेंगी। राज्य सरकार द्वारा ड्यूटी के दौरान शहीद होने पर पुलिसकर्मियों के आश्रितों को उनके सेवाकाल तक वेतन के बराबर पेंशन दी जाने की व्यवस्था की गई है।उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह पुलिस के प्रशिक्षण व रिक्रूटमेंट का काम इस साल दिसम्बर महीने तक पूरा कर लें। मुख्यमंत्री सोमवार को पुलिस महानिदेशक कार्यालय ‘‘सिग्नेचर बिल्डिंग’ के उद्घाटन समारोह में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रोच्चार और शंखनाद के बीच नारियल फोड़ा। इससे पहले सीएम योगी ने परिसर में पीपल का पौधा रोपित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पुलिस की वर्दी का हमेशा एक ही धर्म होता है, वह है आम जनता में सुरक्षा की भावना पैदा करना। इसलिए सभी पुलिसकर्मियों को अपनी वर्दी का पूरा सम्मान करना चाहिए। पुलिस को जनता की समस्याओं का समाधान करने के लिए न्यायोचित कार्य करने चाहिये। उन्होंने कहा कि हमने पुलिस बल के आधुनिकीकरण व सशक्तीकरण के लिए बजट में वृद्धि की है। हमारा प्रयास है कि आने वाले समय में यूपी पुलिस की अपनी एक फारेन्सिक लैब हो। हमें न्याय की प्रक्रिया को समयबद्ध करना होगा।उन्होंने कहा कि विगत ढाई वर्ष के दौरान पुलिस बल के साथ जुड़े और उनकी कार्य पद्धति को बहुत नजदीक से देखने का अवसर मिला है। प्रदेश में सुरक्षा का जो वातावरण बना है, उसका ही परिणाम है कि प्रदेश में एक लाख करोड़ रपए के निवेश प्रस्ताव को जमीन पर उतारने में कामयाबी मिली।आज रूस के उद्यमी भी यूपी में प्रवेश करने के इच्छुक हैं।उन्होंने कहा कि कुंभ के दौरान प्रदेश सरकार ने बेहतर सुरक्षा, उत्तम स्वच्छता व बेहतरीन यातयात सुविधाओं का नया उदाहरण पेश किया। एक सप्ताह के अंदर प्रदेश को दो नये पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय प्राप्त हुए हैं, जो एक बड़ी उपलब्धि है। इन दो नये पुलिस प्रशिक्षण विद्यालयों को मिलाकर वर्तमान में प्रदेश में 11 पुलिस विद्यालय हो चुके हैं।
    Close
    पुलिस जनता में सुरक्षा की भावना पैदा करे
    राष्ट्रीय सहारा 03/09/2019
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश पुलिस के आधुनिकीकरण के दृष्टिगत हर मंडल में फोरेन्सिक लैब्स स्थापित की जायेंगी। राज्य सरकार द्वारा ड्यूटी के दौरान शहीद होने पर पुलिसकर्मियों के आश्रितों को उनके सेवाकाल तक वेतन के बराबर पेंशन दी जाने की व्यवस्था की गई है।उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह पुलिस के प्रशिक्षण व रिक्रूटमेंट का काम इस साल दिसम्बर महीने तक पूरा कर लें। मुख्यमंत्री सोमवार को पुलिस महानिदेशक कार्यालय ‘‘सिग्नेचर बिल्डिंग’ के उद्घाटन समारोह में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रोच्चार और शंखनाद के बीच नारियल फोड़ा। इससे पहले सीएम योगी ने परिसर में पीपल का पौधा रोपित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पुलिस की वर्दी का हमेशा एक ही धर्म होता है, वह है आम जनता में सुरक्षा की भावना पैदा करना। इसलिए सभी पुलिसकर्मियों को अपनी वर्दी का पूरा सम्मान करना चाहिए। पुलिस को जनता की समस्याओं का समाधान करने के लिए न्यायोचित कार्य करने चाहिये। उन्होंने कहा कि हमने पुलिस बल के आधुनिकीकरण व सशक्तीकरण के लिए बजट में वृद्धि की है। हमारा प्रयास है कि आने वाले समय में यूपी पुलिस की अपनी एक फारेन्सिक लैब हो। हमें न्याय की प्रक्रिया को समयबद्ध करना होगा।उन्होंने कहा कि विगत ढाई वर्ष के दौरान पुलिस बल के साथ जुड़े और उनकी कार्य पद्धति को बहुत नजदीक से देखने का अवसर मिला है। प्रदेश में सुरक्षा का जो वातावरण बना है, उसका ही परिणाम है कि प्रदेश में एक लाख करोड़ रपए के निवेश प्रस्ताव को जमीन पर उतारने में कामयाबी मिली।आज रूस के उद्यमी भी यूपी में प्रवेश करने के इच्छुक हैं।उन्होंने कहा कि कुंभ के दौरान प्रदेश सरकार ने बेहतर सुरक्षा, उत्तम स्वच्छता व बेहतरीन यातयात सुविधाओं का नया उदाहरण पेश किया। एक सप्ताह के अंदर प्रदेश को दो नये पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय प्राप्त हुए हैं, जो एक बड़ी उपलब्धि है। इन दो नये पुलिस प्रशिक्षण विद्यालयों को मिलाकर वर्तमान में प्रदेश में 11 पुलिस विद्यालय हो चुके हैं।


  • राष्ट्रीय सहारा : 02/09/2019 सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ।प्रदेश को कुपोषण से मुक्त करने के संकल्प के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने हाथ से नौनिहालों को भोजन परोस कर एक महीने तक चलने वाले अभियान की शुरुआत की।’राष्ट्रीय पोषण‘‘ माह का शुभारम्भ : योगी ने रविवार को अपने सरकारी आवास पर ‘‘राष्ट्रीय पोषण’ माह का शुभारम्भ करते हुये बच्चों को पौष्टिक भोजन परोसा और गर्भवती महिलाओं को भी एक-एक किट प्रदान की। इस दौरान उन्होंने बच्चों और उनकी माताओं से बात कर उन्हें स्वस्थ रहने की टिप्स दी और बच्चों को दुलारा-पुचकारा। कुपोषण के खिलाफ जंग की शुरुआत मोदी ने की : मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रेष्ठ भारत के निर्माण के लिये हर नागरिक का स्वस्थ होना जरूरी है। देश का जब हर बच्चा, पुरु ष और महिला स्वस्थ होगी, तभी श्रेष्ठ भारत का सपना साकार हो सकेगा, जिस देश का बचपन कमजोर, कुपोषण का शिकार हो, उस देश की जवानी और विकास को लेकर कई सवाल खड़े होते हैं। देश में कुपोषण के खिलाफ जंग की शुरुआत पिछले साल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की थी। योगी ने कहा कि सभी जिलाधिकारियों और संबधित विभागों को एक कार्ययोजना बनाकर और मिलजुल कर कुपोषण से लड़ना होगा।
    Close
    श्रेष्ठ भारत के निर्माण को हर नागरिक का स्वस्थ होना जरूरी : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 02/09/2019
    सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ।प्रदेश को कुपोषण से मुक्त करने के संकल्प के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने हाथ से नौनिहालों को भोजन परोस कर एक महीने तक चलने वाले अभियान की शुरुआत की।’राष्ट्रीय पोषण‘‘ माह का शुभारम्भ : योगी ने रविवार को अपने सरकारी आवास पर ‘‘राष्ट्रीय पोषण’ माह का शुभारम्भ करते हुये बच्चों को पौष्टिक भोजन परोसा और गर्भवती महिलाओं को भी एक-एक किट प्रदान की। इस दौरान उन्होंने बच्चों और उनकी माताओं से बात कर उन्हें स्वस्थ रहने की टिप्स दी और बच्चों को दुलारा-पुचकारा। कुपोषण के खिलाफ जंग की शुरुआत मोदी ने की : मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रेष्ठ भारत के निर्माण के लिये हर नागरिक का स्वस्थ होना जरूरी है। देश का जब हर बच्चा, पुरु ष और महिला स्वस्थ होगी, तभी श्रेष्ठ भारत का सपना साकार हो सकेगा, जिस देश का बचपन कमजोर, कुपोषण का शिकार हो, उस देश की जवानी और विकास को लेकर कई सवाल खड़े होते हैं। देश में कुपोषण के खिलाफ जंग की शुरुआत पिछले साल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की थी। योगी ने कहा कि सभी जिलाधिकारियों और संबधित विभागों को एक कार्ययोजना बनाकर और मिलजुल कर कुपोषण से लड़ना होगा।

  •     
    1  2 
     

सर्वश्रेष्ठ समीक्षा

आपका मत

आप के विचार

  • बूचड़ खाना बंद करने पर धन्यावाद

    राजेश patodi हम यह चाहते हे की यह नियम पुरे भारत देश शक्ति से लागु किया जाये हम आशा करते हे की आप की यह मेहनत जरूर रंग लाएगी जय हिन्द जय भारत ,राजेश पटौदी म.प. इंदौर
  • शिक्षा

    अभिशेष एक अपील मोदी जी और योगी जी से की प्राइवेट स्कूल की फीस पर कोई लगाम नहीं है और उनके स्कूल मे पढ़ाया जाने वाला कोर्स बाजार भाव से पांच गुना दामों मे बेचा जा रहा है । आपसे निवेदन है कि इन दोनों बातो पर अपना ध्यान दे ।
  • संपूर्ण देखें