समाचार
वर्ष : माह :
  • हिन्दुस्तान : 27/04/2018 कुशीनगर में स्कूली वैन और पैसेंजर ट्रेन की टक्कर में घायल मासूमों का हाल जानने बीआरडी मेडिकल कॉलेज पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह हादसा दुर्भाग्यपूर्ण है। सभी पहलुओं की जांच की जाएगी। दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी।. सीएम गुरुवार की दोपहर 1.40 बजे बीआरडी पहुंचे। उनके साथ केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ल, नगर विधायक डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल और पिपराइच के विधायक महेन्द्र पाल सिंह भी मौजूद थे। सीएम सीधे हाई डिपेंडेसी यूनिट पहुंचे। इसी यूनिट में हादसे में घायल चार मासूम और वैन का चालक भर्ती हैं। सीएम ने एक-एक बेड पर जाकर घायलों का इलाज कर रहे डॉक्टरों से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि पहली नजर में हादसे का कारण स्कूली वैन चालक की लापरवाही लग रही है। वैन में क्षमता से अधिक बच्चे थे। चालक गाड़ी चलाते समय ईयरफोन लगाए हुए था। उसके नाबालिग होने का आरोप भी लग रहा है। इसको देखते हुए कमिश्नर को जांच की जिम्मेदारी दी गई है। उन्हें शाम तक रिपोर्ट देने को कहा गया है। स्कूल प्रशासन की भूमिका की भी जांच होगी। . सड़क सुरक्षा के लिए जारी हुए हैं निर्देश : सीएम ने माना कि घटना सड़क सुरक्षा के नियमों को दरकिनार करने से हुई। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करने के लिए समय-समय पर दिशा निर्देश जारी किए गए। इसका पालन होना चाहिए था। मामले में इसकी जांच कराई जाएगी कि आखिर निर्देशों का कितना पालन कराया गया।
    Close
    हादसे के सभी पहलुओं की होगी जांच : सीएम
    हिन्दुस्तान 27/04/2018
    कुशीनगर में स्कूली वैन और पैसेंजर ट्रेन की टक्कर में घायल मासूमों का हाल जानने बीआरडी मेडिकल कॉलेज पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह हादसा दुर्भाग्यपूर्ण है। सभी पहलुओं की जांच की जाएगी। दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी।. सीएम गुरुवार की दोपहर 1.40 बजे बीआरडी पहुंचे। उनके साथ केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ल, नगर विधायक डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल और पिपराइच के विधायक महेन्द्र पाल सिंह भी मौजूद थे। सीएम सीधे हाई डिपेंडेसी यूनिट पहुंचे। इसी यूनिट में हादसे में घायल चार मासूम और वैन का चालक भर्ती हैं। सीएम ने एक-एक बेड पर जाकर घायलों का इलाज कर रहे डॉक्टरों से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि पहली नजर में हादसे का कारण स्कूली वैन चालक की लापरवाही लग रही है। वैन में क्षमता से अधिक बच्चे थे। चालक गाड़ी चलाते समय ईयरफोन लगाए हुए था। उसके नाबालिग होने का आरोप भी लग रहा है। इसको देखते हुए कमिश्नर को जांच की जिम्मेदारी दी गई है। उन्हें शाम तक रिपोर्ट देने को कहा गया है। स्कूल प्रशासन की भूमिका की भी जांच होगी। . सड़क सुरक्षा के लिए जारी हुए हैं निर्देश : सीएम ने माना कि घटना सड़क सुरक्षा के नियमों को दरकिनार करने से हुई। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करने के लिए समय-समय पर दिशा निर्देश जारी किए गए। इसका पालन होना चाहिए था। मामले में इसकी जांच कराई जाएगी कि आखिर निर्देशों का कितना पालन कराया गया।


  • राष्ट्रीय सहारा : 26/04/2018 प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा का संघर्ष गरीबों, शोषितों व वंचितों के लिए अविस्मरणीय है। यह बात प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तथा प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा के जन्म शताब्दी वर्ष समारोह पर विधान भवन के तिलक हाल में आयोजित एक कार्यक्रम में कही। श्री योगी उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि भी दी। उन्होंने कहा कि बहुगुणा भारत माता के महान सपूत थे। एक राष्ट्रभक्त, राजनेता तथा समाजसेवी के रूप में गरीबों, शोषितों, वंचितों के लिए उनका संघर्ष अविस्मरणीय है। उन्होंने कहा कि हेमवती नन्दन बहुगुणा का जन्म 25 अप्रैल 1919 को उत्तराखण्ड राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले के एक गांव में हुआ था। बताते हैं कि आज भी वहां का मार्ग दुर्गम है। ऐसी दुर्गम जगह से निकलकर राजनीति और समाजसेवा के माध्यम से देश और प्रदेश में अपना स्थान बनाना उनके कठिन परिश्रम व लगन का परिचायक है। प्रदेश की राजधानी में ऐसे राजनेता तथा समाजसेवी की कोई प्रतिमा अथवा स्मारक न होने पर हैरानी जताते हुए श्री योगी ने कहा कि उनकी स्मृतियों को संजोए रखने के लिए स्मारक होना जरूरी है। विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि महापुरु षों के जयन्ती समारोह पर जनसामान्य को महापुरु षों की स्मृति के माध्यम से इतिहास से परिचित कराना चाहिए। उन्होंने कहा कि असाधारण होकर भी साधारणजन से जुड़े रहना बहुगुणा जी की खूबी थी। कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि स्व.बहुगुणा का लखनऊ से करीबी रिश्ता था। वे पहाड़ी तथा मैदानी इलाकों की जनता समेत श्रमिक वर्ग, अल्पसंख्यक वर्ग में भी काफी लोकप्रिय थे। जनता के प्रति समर्पण, ईमानदारी एवं विनम्रता उनके विशेष गुण थे। उनके गुणों के कारण विरोधी भी उनका सम्मान करते थे।पर्यटन मंत्री एवं स्व. बहुगुणा की सुपुत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि उनके पिता का राष्ट्रप्रेम अनन्य था। लोकतांत्रिक पण्राली में उन्हें पूरा विास था। अपने पिता को एक स्वाभिमानी, न्यायी, हार न मानने वाला तथा सतत संर्षघशील व्यक्ति बताते हुए उन्होंने उनसे जुड़े संस्मरण भी साझा किए। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, दुग्ध विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, प्राविधिक शिक्षा एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन, स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क मंत्री नन्द गोपाल ‘‘नन्दी’ समेत कई अधिकारी उपस्थित थे।
    Close
    बहुगुणा का गरीबों के लिए संघर्ष अविस्मरणीय
    राष्ट्रीय सहारा 26/04/2018
    प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा का संघर्ष गरीबों, शोषितों व वंचितों के लिए अविस्मरणीय है। यह बात प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तथा प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा के जन्म शताब्दी वर्ष समारोह पर विधान भवन के तिलक हाल में आयोजित एक कार्यक्रम में कही। श्री योगी उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि भी दी। उन्होंने कहा कि बहुगुणा भारत माता के महान सपूत थे। एक राष्ट्रभक्त, राजनेता तथा समाजसेवी के रूप में गरीबों, शोषितों, वंचितों के लिए उनका संघर्ष अविस्मरणीय है। उन्होंने कहा कि हेमवती नन्दन बहुगुणा का जन्म 25 अप्रैल 1919 को उत्तराखण्ड राज्य के पौड़ी गढ़वाल जिले के एक गांव में हुआ था। बताते हैं कि आज भी वहां का मार्ग दुर्गम है। ऐसी दुर्गम जगह से निकलकर राजनीति और समाजसेवा के माध्यम से देश और प्रदेश में अपना स्थान बनाना उनके कठिन परिश्रम व लगन का परिचायक है। प्रदेश की राजधानी में ऐसे राजनेता तथा समाजसेवी की कोई प्रतिमा अथवा स्मारक न होने पर हैरानी जताते हुए श्री योगी ने कहा कि उनकी स्मृतियों को संजोए रखने के लिए स्मारक होना जरूरी है। विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि महापुरु षों के जयन्ती समारोह पर जनसामान्य को महापुरु षों की स्मृति के माध्यम से इतिहास से परिचित कराना चाहिए। उन्होंने कहा कि असाधारण होकर भी साधारणजन से जुड़े रहना बहुगुणा जी की खूबी थी। कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि स्व.बहुगुणा का लखनऊ से करीबी रिश्ता था। वे पहाड़ी तथा मैदानी इलाकों की जनता समेत श्रमिक वर्ग, अल्पसंख्यक वर्ग में भी काफी लोकप्रिय थे। जनता के प्रति समर्पण, ईमानदारी एवं विनम्रता उनके विशेष गुण थे। उनके गुणों के कारण विरोधी भी उनका सम्मान करते थे।पर्यटन मंत्री एवं स्व. बहुगुणा की सुपुत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि उनके पिता का राष्ट्रप्रेम अनन्य था। लोकतांत्रिक पण्राली में उन्हें पूरा विास था। अपने पिता को एक स्वाभिमानी, न्यायी, हार न मानने वाला तथा सतत संर्षघशील व्यक्ति बताते हुए उन्होंने उनसे जुड़े संस्मरण भी साझा किए। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, दुग्ध विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, प्राविधिक शिक्षा एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन, स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क मंत्री नन्द गोपाल ‘‘नन्दी’ समेत कई अधिकारी उपस्थित थे।


  • दैनिक जागरण : 25/04/2018 जागरण संवाददाता, मीरजापुर : विरोधियों के प्रति आक्रामक अंदाज रखने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को अलग मूड में दिखे। उन्होंने गरीबों के प्रति सहानुभूति जताते हुए कहा कि मजदूर के बच्चों की इंजीनियरिंग व मेडिकल की पढ़ाई का खर्च अब सरकार उठाएगी। सरकार गरीबों के साथ खड़ी है। उन्होंने स्वयं गरीबों की पीड़ा को नजदीक से महसूस किया है। ऐसे में गरीबों की सहायता के लिए तमाम योजनाओं को मूर्त रूप दिया जा रहा है। इन्हीं में एक योजना सामूहिक विवाह भी है जो गरीबों को शादी के बोझ से मुक्त करती है। वह नगर स्थित पुतली घर में श्रम विभाग की ओर से आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने 501 जोड़े वर-वधुओं को आशीर्वाद देने के बाद उनके मंगलमय जीवन की कामना करते हुए कहा कि ऐसे आयोजन समाज की रूढ़ियों को तोड़ने में सहायक साबित होंगी। सीएम ने याद दिलाया कि दहेज के कारण कई युवतियां दम तोड़ देती हैं। समाज का एक तबका शादी-ब्याह के आयोजन में लाखों रुपये खर्च कर देता है तो दूसरे तबके के पास बेटी की शादी के लिए एक कौड़ी तक नहीं होती है। अपेक्षित दहेज नहीं दे पाने के कारण वर पक्ष शादी से इन्कार कर देता है। दहेज समाज के लिए अभिशाप है। समारोह को स्थानीय सांसद व स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने भी संबोधित किया। रोकना होगा पलायन : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुलतानपुर के स्थानीय रामनरेश त्रिपाठी सभागार में पंचायती राज दिवस के शुभारंभ पर 30.09 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। स्वच्छता के लिए पांच प्रधानों सहित 11 लोगों को प्रशस्ति पत्र सौंपा। लाभार्थियों को प्रमाणपत्र बांटे। जिला चिकित्सालय व गेहूं क्रय केंद्र का निरीक्षण किया। स्कूल चलो अभियान को हरी झंडी दिखाई तथा सभागार परिसर में बनाए गए स्टॉलों का निरीक्षण किया। कहा, देश की अर्थव्यवस्था गांवों में है। सुविधाएं बढ़ाकर पलायन रोकना होगा। शिक्षा से निकलेगी स्वावलंबन की राह : प्रतापगढ़ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि शिक्षा ही लोगों के स्वावलंबी बनने की आधारशिला हो सकती है। सरकार ने परिषदीय स्कूलों में सिर्फ गरीब बच्चों की पढ़ाई होने की धारणा को तोड़ा है। कान्वेंट स्कूलों की पढ़ाई की तर्ज पर परिषदीय स्कूलों का पाठ्यक्रम बदला है। इसमें आधुनिक, संस्कार युक्त व कर्तव्यबोध कराने वाली शिक्षा देंगे।
    Close
    मजदूरों के बच्चों की शिक्षा का खर्च उठाएगी सरकार : योगी
    दैनिक जागरण 25/04/2018
    जागरण संवाददाता, मीरजापुर : विरोधियों के प्रति आक्रामक अंदाज रखने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को अलग मूड में दिखे। उन्होंने गरीबों के प्रति सहानुभूति जताते हुए कहा कि मजदूर के बच्चों की इंजीनियरिंग व मेडिकल की पढ़ाई का खर्च अब सरकार उठाएगी। सरकार गरीबों के साथ खड़ी है। उन्होंने स्वयं गरीबों की पीड़ा को नजदीक से महसूस किया है। ऐसे में गरीबों की सहायता के लिए तमाम योजनाओं को मूर्त रूप दिया जा रहा है। इन्हीं में एक योजना सामूहिक विवाह भी है जो गरीबों को शादी के बोझ से मुक्त करती है। वह नगर स्थित पुतली घर में श्रम विभाग की ओर से आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने 501 जोड़े वर-वधुओं को आशीर्वाद देने के बाद उनके मंगलमय जीवन की कामना करते हुए कहा कि ऐसे आयोजन समाज की रूढ़ियों को तोड़ने में सहायक साबित होंगी। सीएम ने याद दिलाया कि दहेज के कारण कई युवतियां दम तोड़ देती हैं। समाज का एक तबका शादी-ब्याह के आयोजन में लाखों रुपये खर्च कर देता है तो दूसरे तबके के पास बेटी की शादी के लिए एक कौड़ी तक नहीं होती है। अपेक्षित दहेज नहीं दे पाने के कारण वर पक्ष शादी से इन्कार कर देता है। दहेज समाज के लिए अभिशाप है। समारोह को स्थानीय सांसद व स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने भी संबोधित किया। रोकना होगा पलायन : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुलतानपुर के स्थानीय रामनरेश त्रिपाठी सभागार में पंचायती राज दिवस के शुभारंभ पर 30.09 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। स्वच्छता के लिए पांच प्रधानों सहित 11 लोगों को प्रशस्ति पत्र सौंपा। लाभार्थियों को प्रमाणपत्र बांटे। जिला चिकित्सालय व गेहूं क्रय केंद्र का निरीक्षण किया। स्कूल चलो अभियान को हरी झंडी दिखाई तथा सभागार परिसर में बनाए गए स्टॉलों का निरीक्षण किया। कहा, देश की अर्थव्यवस्था गांवों में है। सुविधाएं बढ़ाकर पलायन रोकना होगा। शिक्षा से निकलेगी स्वावलंबन की राह : प्रतापगढ़ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि शिक्षा ही लोगों के स्वावलंबी बनने की आधारशिला हो सकती है। सरकार ने परिषदीय स्कूलों में सिर्फ गरीब बच्चों की पढ़ाई होने की धारणा को तोड़ा है। कान्वेंट स्कूलों की पढ़ाई की तर्ज पर परिषदीय स्कूलों का पाठ्यक्रम बदला है। इसमें आधुनिक, संस्कार युक्त व कर्तव्यबोध कराने वाली शिक्षा देंगे।


  • राष्ट्रीय सहारा : 24/04/2018 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जिले की कानून व्यवस्था एवं विकास कायरे की समीक्षा विकास भवन में की। उन्होंने कानून व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों के न केवल पेंच कसे बल्कि भ्रष्टाचार के कई मामलों में सीधी दण्डात्मक कार्रवाई के निर्देश भी दिये। उन्होंने भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन पर विशेष जोर दिया।मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को हिदायत दी की हर हाल में कानून व्यवस्था बेहतर हालत में दिखनी चाहिये। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था आम आदमी के दिल-दिमाग में विास के रूप में दिखनी चाहिये। उन्होंने जनपद में एन्टी रोमियो अभियान को और सशक्त बनाने तथा महिला हेल्पलाइन 1090 को प्रभावी ढंग से संचालित किये जाने पर बल दिया। उन्होंने फरियादियों के लिये थाने में सम्मान और सुविधा का वातावरण सृजित करने के लिये अधिकारियों को हिदायत दी, साथ ही हर फरियादी की शिकायत पर थाने में विवेचना गुण-दोष के आधार पर की जानी चाहिए।मुख्यमंत्री ने आम आदमी को शासन द्वारा चलायी जा रही लोक कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित कराने के लिये जन सुरक्षा एवं जन सुविधा अभियान संचालित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कानून व्यवस्था के प्रभावी नियंतण्रके लिये जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को सीधी जिम्मेदारी दी। उन्होंने कहा कि दागी अधिकारियों को थाने का प्रभार कतई न दिया जाये तथा थानाध्यक्ष थाने के परिसर में ही निवास करें। इसकी जिम्मेदारी उन्होने वरिष्ठ/पुलिस अधीक्षकों को देते हुये कहा कि थाने में थानाध्यक्ष का निवास करना उनके स्तर से सुनिश्चित कराया जाये ताकि हर समय आम-आदमी को सुरक्षा का अहसास हो। मुख्यमंत्री ने जनता के किसी भी मामले में किसी भी स्तर पर अवैध वसूली को तत्काल रोकने का निर्देश दिया।गरीब जरूरतमंद बीमार व्यक्तियों के लिये ग्राम निधि से 5000 रुपये की सहायता तत्काल दिये जाने के लिये व्यवस्था करने के मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि हर प्रकार की छात्रवृत्तियॉ साल में दो बार 02 अक्टूबर और 26 जनवरी तक खातों पहंच जानी चाहिए। उन्होंने पिछड़ा वर्ग और अनुसूचित जाति की छात्रवृत्तियों को अनिवार्य रूप से सम्बन्धित खाते में समय से पहुॅचा दिये जाने पर जोर दिया। फसल ऋणमोचन योजना की समीक्षा करते हुये मुख्यमंत्री ने इस बात के कड़े निर्देश दिये कि इस योजना के संचालन में शिकायत पाये जाने पर तत्काल कड़ी कार्रवाई की जाये और दोषियों को दण्डित किया जाये। उन्होंने जिला प्रशासन से कहा कि गर्मियों में किसी भी क्षेत्र में पेयजल का संकट न होने पाये। मुख्यमंत्री ने बिजली आपूत्तर्ि की समीक्षा करते हुये गांवों में 20 घण्टे एवं शहरी क्षेत्रों में 24 घण्टे निर्वाध बिजली आपूत्तर्ि सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। जनपद की सड़कों के निर्माण, उनके गड्ढा मुक्त किये जाने तथा नई सड़कों के निर्माण की समीक्षा करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रतापगढ़ जनपद आगामी कुम्भ की दृष्टि से अत्यन्त महत्वपूर्ण है तथा यहां से गुजरने वाली सड़कें कुम्भ के लिये यातायात का सबसे महत्वपूर्ण साधन है। इसके लिये इनके निर्माण, संरक्षण और गड्ढा मुक्त किये जाने की कार्यवाही समय से पूरी करते हुये इन्हें उच्च गुणवत्ता के साथ हर हाल में आगामी अक्टूबर तक पूरा कर लिया जाये। उन्होंने अधिकारियों को स्मरण कराया कि प्रयाग प्रतापगढ़ के माध्यम से अयोध्या-वाराणसी आदि पर्यटन स्थलों से सीधे जुड़ा है इसलिये यहां की सड़कों पर विशेष ध्यान दिया जाये। बैठक के प्रारम्भ में मुख्यमंत्री ने विकास कायरे से सम्बन्धित एक प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। बैठक में प्रभारी मंत्री स्वाती सिंह, ग्रामीण अभियन्तण्रविभाग मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह, सांसद कुंवर हरिवंश सिंह एवं विनोद सोनकर, इलाहाबाद के मण्डलायुक्त डा. आशीष कुमार गोयल एवं विधायक सदर संगम लाल गुप्ता, विधायक रानीगंज धीरज ओझा, विधायक विश्वनाथगंज डा. आरके वर्मा, पूर्व विधायक हरि प्रताप सिंह, पूर्व विधायक बृजेश सौरभ, भाजपा जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश त्रिपाठी आदि जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।
    Close
    मुख्यमंत्री का भ्रष्टाचारमुक्त प्रशासन पर जोर
    राष्ट्रीय सहारा 24/04/2018
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जिले की कानून व्यवस्था एवं विकास कायरे की समीक्षा विकास भवन में की। उन्होंने कानून व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों के न केवल पेंच कसे बल्कि भ्रष्टाचार के कई मामलों में सीधी दण्डात्मक कार्रवाई के निर्देश भी दिये। उन्होंने भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन पर विशेष जोर दिया।मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को हिदायत दी की हर हाल में कानून व्यवस्था बेहतर हालत में दिखनी चाहिये। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था आम आदमी के दिल-दिमाग में विास के रूप में दिखनी चाहिये। उन्होंने जनपद में एन्टी रोमियो अभियान को और सशक्त बनाने तथा महिला हेल्पलाइन 1090 को प्रभावी ढंग से संचालित किये जाने पर बल दिया। उन्होंने फरियादियों के लिये थाने में सम्मान और सुविधा का वातावरण सृजित करने के लिये अधिकारियों को हिदायत दी, साथ ही हर फरियादी की शिकायत पर थाने में विवेचना गुण-दोष के आधार पर की जानी चाहिए।मुख्यमंत्री ने आम आदमी को शासन द्वारा चलायी जा रही लोक कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित कराने के लिये जन सुरक्षा एवं जन सुविधा अभियान संचालित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कानून व्यवस्था के प्रभावी नियंतण्रके लिये जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को सीधी जिम्मेदारी दी। उन्होंने कहा कि दागी अधिकारियों को थाने का प्रभार कतई न दिया जाये तथा थानाध्यक्ष थाने के परिसर में ही निवास करें। इसकी जिम्मेदारी उन्होने वरिष्ठ/पुलिस अधीक्षकों को देते हुये कहा कि थाने में थानाध्यक्ष का निवास करना उनके स्तर से सुनिश्चित कराया जाये ताकि हर समय आम-आदमी को सुरक्षा का अहसास हो। मुख्यमंत्री ने जनता के किसी भी मामले में किसी भी स्तर पर अवैध वसूली को तत्काल रोकने का निर्देश दिया।गरीब जरूरतमंद बीमार व्यक्तियों के लिये ग्राम निधि से 5000 रुपये की सहायता तत्काल दिये जाने के लिये व्यवस्था करने के मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि हर प्रकार की छात्रवृत्तियॉ साल में दो बार 02 अक्टूबर और 26 जनवरी तक खातों पहंच जानी चाहिए। उन्होंने पिछड़ा वर्ग और अनुसूचित जाति की छात्रवृत्तियों को अनिवार्य रूप से सम्बन्धित खाते में समय से पहुॅचा दिये जाने पर जोर दिया। फसल ऋणमोचन योजना की समीक्षा करते हुये मुख्यमंत्री ने इस बात के कड़े निर्देश दिये कि इस योजना के संचालन में शिकायत पाये जाने पर तत्काल कड़ी कार्रवाई की जाये और दोषियों को दण्डित किया जाये। उन्होंने जिला प्रशासन से कहा कि गर्मियों में किसी भी क्षेत्र में पेयजल का संकट न होने पाये। मुख्यमंत्री ने बिजली आपूत्तर्ि की समीक्षा करते हुये गांवों में 20 घण्टे एवं शहरी क्षेत्रों में 24 घण्टे निर्वाध बिजली आपूत्तर्ि सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। जनपद की सड़कों के निर्माण, उनके गड्ढा मुक्त किये जाने तथा नई सड़कों के निर्माण की समीक्षा करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रतापगढ़ जनपद आगामी कुम्भ की दृष्टि से अत्यन्त महत्वपूर्ण है तथा यहां से गुजरने वाली सड़कें कुम्भ के लिये यातायात का सबसे महत्वपूर्ण साधन है। इसके लिये इनके निर्माण, संरक्षण और गड्ढा मुक्त किये जाने की कार्यवाही समय से पूरी करते हुये इन्हें उच्च गुणवत्ता के साथ हर हाल में आगामी अक्टूबर तक पूरा कर लिया जाये। उन्होंने अधिकारियों को स्मरण कराया कि प्रयाग प्रतापगढ़ के माध्यम से अयोध्या-वाराणसी आदि पर्यटन स्थलों से सीधे जुड़ा है इसलिये यहां की सड़कों पर विशेष ध्यान दिया जाये। बैठक के प्रारम्भ में मुख्यमंत्री ने विकास कायरे से सम्बन्धित एक प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। बैठक में प्रभारी मंत्री स्वाती सिंह, ग्रामीण अभियन्तण्रविभाग मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह, सांसद कुंवर हरिवंश सिंह एवं विनोद सोनकर, इलाहाबाद के मण्डलायुक्त डा. आशीष कुमार गोयल एवं विधायक सदर संगम लाल गुप्ता, विधायक रानीगंज धीरज ओझा, विधायक विश्वनाथगंज डा. आरके वर्मा, पूर्व विधायक हरि प्रताप सिंह, पूर्व विधायक बृजेश सौरभ, भाजपा जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश त्रिपाठी आदि जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।


  • हिन्दुस्तान : 23/04/2018 लखनऊ, विशेष संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब गांवों में चौपाल लगाएंगे। उनसे सीधा संवाद करेंगे। गरीबों के संग दाल-रोटी खाएंगे और गांव के किसी स्कूल या पंचायतघर में रात गुजारेंगे। यही नहीं, जिलों के दौरे के दौरान गड़बड़ी पाये जाने पर जिम्मेदार अफसरों पर सख्त कार्रवाई भी होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब विकास कार्यों की परख के लिए औचक निरीक्षण का सिलसिला शुरू कर दिया है। शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी के दौरे के बाद उनका अगला पड़ाव प्रतापगढ़, सुलतानपुर, मिर्जापुर व अमरोहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनता से संवाद और बढ़ा दिया है। सीएम सोमवार को प्रतापगढ़ के कंधई मधुपुर जाएंगे। वहां वे खूझा पुरवा गांव के बीडीएसके एजुकेशनल इंस्टीटयूट प्रांगण में चौपाल लाएंगे। यहां के उच्च माध्यमिक विद्यालय में रात्रि निवास करेंगे। 24 अप्रैल को सीएम प्रतापगढ़ के स्कूल चलो अभियान का शुभारंभ करेंगे।
    Close
    योगी गांवों में चौपाल लगाएंगे,स्कूल में रुकेंगे
    हिन्दुस्तान 23/04/2018
    लखनऊ, विशेष संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब गांवों में चौपाल लगाएंगे। उनसे सीधा संवाद करेंगे। गरीबों के संग दाल-रोटी खाएंगे और गांव के किसी स्कूल या पंचायतघर में रात गुजारेंगे। यही नहीं, जिलों के दौरे के दौरान गड़बड़ी पाये जाने पर जिम्मेदार अफसरों पर सख्त कार्रवाई भी होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब विकास कार्यों की परख के लिए औचक निरीक्षण का सिलसिला शुरू कर दिया है। शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी के दौरे के बाद उनका अगला पड़ाव प्रतापगढ़, सुलतानपुर, मिर्जापुर व अमरोहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनता से संवाद और बढ़ा दिया है। सीएम सोमवार को प्रतापगढ़ के कंधई मधुपुर जाएंगे। वहां वे खूझा पुरवा गांव के बीडीएसके एजुकेशनल इंस्टीटयूट प्रांगण में चौपाल लाएंगे। यहां के उच्च माध्यमिक विद्यालय में रात्रि निवास करेंगे। 24 अप्रैल को सीएम प्रतापगढ़ के स्कूल चलो अभियान का शुभारंभ करेंगे।


  • दैनिक जागरण : 22/04/2018 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रायबरेली को उसकी पहचान दिलाने के लिए पंचवटी परिवार भाजपा के साथ खड़ा है। शार्ट सर्किट हुआ तो लगा कि कांग्रेस अपने षड्यंत्र से बाज नहीं आ रही है। कांग्रेस ने देश की न्यायपालिका के साथ भी षड्यंत्र किया। जस्टिस लोया मामले में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ षड्यंत्र किया, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उसका भंडाफोड़ कर दिया। योगी ने कहा कि राहुल गांधी के षड्यंत्र से लोकतंत्र की अपूरणीय क्षति हुई है। उन्होंने जुलाई माह में रायबरेली में एम्स के ओपीडी की शुरुआत का भरोसा देते हुए कहा कि हमारी सरकार किसी भी क्षेत्र, धर्म, मत, मजहब के आधार पर कोई भेद नहीं करती है। उन्होंने रायबरेली में 74 हजार किसानों के कर्ज माफ करने का आंकड़ा गिनाते हुए विकास का भरोसा दिया।
    Close
    कांग्रेस ने न्यायपालिका के साथ किया षड्यंत्र : योगी
    दैनिक जागरण 22/04/2018
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रायबरेली को उसकी पहचान दिलाने के लिए पंचवटी परिवार भाजपा के साथ खड़ा है। शार्ट सर्किट हुआ तो लगा कि कांग्रेस अपने षड्यंत्र से बाज नहीं आ रही है। कांग्रेस ने देश की न्यायपालिका के साथ भी षड्यंत्र किया। जस्टिस लोया मामले में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ षड्यंत्र किया, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उसका भंडाफोड़ कर दिया। योगी ने कहा कि राहुल गांधी के षड्यंत्र से लोकतंत्र की अपूरणीय क्षति हुई है। उन्होंने जुलाई माह में रायबरेली में एम्स के ओपीडी की शुरुआत का भरोसा देते हुए कहा कि हमारी सरकार किसी भी क्षेत्र, धर्म, मत, मजहब के आधार पर कोई भेद नहीं करती है। उन्होंने रायबरेली में 74 हजार किसानों के कर्ज माफ करने का आंकड़ा गिनाते हुए विकास का भरोसा दिया।


  • राष्ट्रीय सहारा : 21/04/2018 लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का फेसबुक पेज देश के अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों की तुलना में सबसे अधिक लोकप्रिय रहा। सोशल मीडिया प्लेटफार्म की ओर से जारी रैंकिंग में योगी का पेज राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से अधिक लोकप्रिय रहा। उत्तर प्रदेश सरकार को फेसबुक की ओर से भेजे गये संदेश में सोशल मीडिया के प्रतिनिधि ने कहा कि हमने हाल ही में भारतीय सरकारी विभागों, मंत्रालयों, राजनीतिक दलों में शीर्ष पर रहे फेसबुक पेज के आंकड़े जारी किये हैं। ये आंकड़े एक जनवरी से 31 दिसंबर 2017 के बीच विभिन्न फेसबुक पेज की लोकप्रियता को दर्शाते हैं। ये आंकड़े सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर हुए संवाद, बातचीत, प्रतिक्रिया, शेयर और टिप्पणियों पर आधारित हैं। प्रतिनिधि ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी का फेसबुक पेज भारतीय मुख्यमंत्रियों की श्रेणी में शीर्ष पर है।
    Close
    योगी का फेसबुक पेज सर्वाधिक लोकप्रिय
    राष्ट्रीय सहारा 21/04/2018
    लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का फेसबुक पेज देश के अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों की तुलना में सबसे अधिक लोकप्रिय रहा। सोशल मीडिया प्लेटफार्म की ओर से जारी रैंकिंग में योगी का पेज राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से अधिक लोकप्रिय रहा। उत्तर प्रदेश सरकार को फेसबुक की ओर से भेजे गये संदेश में सोशल मीडिया के प्रतिनिधि ने कहा कि हमने हाल ही में भारतीय सरकारी विभागों, मंत्रालयों, राजनीतिक दलों में शीर्ष पर रहे फेसबुक पेज के आंकड़े जारी किये हैं। ये आंकड़े एक जनवरी से 31 दिसंबर 2017 के बीच विभिन्न फेसबुक पेज की लोकप्रियता को दर्शाते हैं। ये आंकड़े सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर हुए संवाद, बातचीत, प्रतिक्रिया, शेयर और टिप्पणियों पर आधारित हैं। प्रतिनिधि ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी का फेसबुक पेज भारतीय मुख्यमंत्रियों की श्रेणी में शीर्ष पर है।


  • राष्ट्रीय सहारा : 20/04/2018 लखनऊ (वार्ता)। न्यायाधीश बीएच लोया मामले में उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस मामले में कांग्रेस की बदनीयती एक बार फिर उजागर हो गई है और इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। योगी ने कहा कि कांग्रेस ने देश में ऐसा माहौल बनाने की कोशिश की है, जिससे सरकार के प्रति लोगों के दिलों में नकारात्मक भावनाएं पैदा हों। उच्चतम न्यायालय ने भ्रम को साफ कर दिया है। यह कांग्रेस के एक षड्यंत्र का खुलासा है।
    Close
    राहुल मांगे देश से माफी : योगी
    राष्ट्रीय सहारा 20/04/2018
    लखनऊ (वार्ता)। न्यायाधीश बीएच लोया मामले में उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस मामले में कांग्रेस की बदनीयती एक बार फिर उजागर हो गई है और इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। योगी ने कहा कि कांग्रेस ने देश में ऐसा माहौल बनाने की कोशिश की है, जिससे सरकार के प्रति लोगों के दिलों में नकारात्मक भावनाएं पैदा हों। उच्चतम न्यायालय ने भ्रम को साफ कर दिया है। यह कांग्रेस के एक षड्यंत्र का खुलासा है।


  • हिन्दुस्तान : 19/04/2018 राज्य मुख्यालय, प्रमुख संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को अपनी कार्यशैली में बदलाव लाने की ताकीद की है। साथ ही कहा है कि कानून-व्यवस्था में व्यापक सुधार के लिए बीट सिपाही से लेकर ऊपर तक के सभी पुलिस अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाए। उन्होंने अपराधियों के साथ संलिप्त पुलिसकर्मी को चिन्ह्ति कर उन्हें दण्डित करने के निर्देश दिए तथा वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से भी स्पष्ट शब्दों में कहा है कि वे नियमित रूप से थानों का दौरा कर वहां की कार्यप्रणाली को सुधारें। श्री योगी बुधवार को प्रदेश के सभी अपर पुलिस महानिदेशक एवं पुलिस महानिरीक्षकों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने बरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से स्पष्ट शब्दों में कहा कि हर आपराधिक घटना का संज्ञान लिया जाए और उसकी व्यापक छानबीन कर घटना की तह तक पहुंचकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। कानून-व्यवस्था से सम्बन्धित घटनाओं में जिन पुलिस कार्मिकों की लापरवाही सिद्ध हो उनके विरुद्ध तत्काल सख्त कार्रवाई करने के भी उन्होंने निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पिछले 01 वर्ष के दौरान उत्तर प्रदेश में पुलिस के प्रति पूरे देश के अन्दर विश्वास जगा है, किन्तु विगत कुछ दिनों की घटनाएं चिन्ताजनक हैं। इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं होनी चाहिए।
    Close
    पुलिस अपनी कार्यशैली में सुधार लाए : योगी
    हिन्दुस्तान 19/04/2018
    राज्य मुख्यालय, प्रमुख संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को अपनी कार्यशैली में बदलाव लाने की ताकीद की है। साथ ही कहा है कि कानून-व्यवस्था में व्यापक सुधार के लिए बीट सिपाही से लेकर ऊपर तक के सभी पुलिस अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाए। उन्होंने अपराधियों के साथ संलिप्त पुलिसकर्मी को चिन्ह्ति कर उन्हें दण्डित करने के निर्देश दिए तथा वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से भी स्पष्ट शब्दों में कहा है कि वे नियमित रूप से थानों का दौरा कर वहां की कार्यप्रणाली को सुधारें। श्री योगी बुधवार को प्रदेश के सभी अपर पुलिस महानिदेशक एवं पुलिस महानिरीक्षकों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने बरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से स्पष्ट शब्दों में कहा कि हर आपराधिक घटना का संज्ञान लिया जाए और उसकी व्यापक छानबीन कर घटना की तह तक पहुंचकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। कानून-व्यवस्था से सम्बन्धित घटनाओं में जिन पुलिस कार्मिकों की लापरवाही सिद्ध हो उनके विरुद्ध तत्काल सख्त कार्रवाई करने के भी उन्होंने निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पिछले 01 वर्ष के दौरान उत्तर प्रदेश में पुलिस के प्रति पूरे देश के अन्दर विश्वास जगा है, किन्तु विगत कुछ दिनों की घटनाएं चिन्ताजनक हैं। इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं होनी चाहिए।


  • राष्ट्रीय सहारा : 17/04/2018 प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारतीय जनता पार्टी को दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल और विश्वसनीयता का प्रतीक बताया है। उन्होंने सोमवार को यहां कहा कि केन्द्र और भाजपा शासित राज्यों में विकास और सुशासन की बदौलत पार्टी लोकप्रियता के नये आयाम गढ़ रही है। श्री योगी यहां विधानपरिषद चुनाव के उम्मीदवारों को नामांकन करने से पहले सम्मानित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आठ-नौ महीने पहले विधानपरिषद की सदस्यता से इस्तीफा देकर विपक्षी दलों के कुछ लोगों ने उनके और उनके साथियों के लिये सीट छोड़ी थी। भाजपा ने उन लोगों को फिर से विधानपरिषद का उम्मीदवार बनाकर विश्वसनीयता का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि सीट छोड़ने वालों को फिर से उम्मीदवार बनाकर भाजपा ने अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है। उन्होंने कहा कि विकास और सुशासन को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्थापित किया है। उम्मीद है कि ये सभी लोग उसे प्रखर सिपाही बनकर आगे बढ़ायेंगे। उन्होंने प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के प्रति आभार जताया। श्री योगी ने कहा कि विधानपरिषद का सदस्य बनकर ये सभी पार्टी के मूल्यों और आदशरे का अनुसरण करते हुए उत्तर प्रदेश को आगे बढ़ायेंगे।श्री योगी ने विधानपरिषद उम्मीदवार विजय बहादुर पाठक, मोहसिन रजा, विद्यासागर सोनकर, यशवंत सिंह, बुक्कल नवाब, अशोक धवन, आशीष पटेल, अशोक कटारिया, जयवीर सिंह, सरोजिनी अग्रवाल और डा. महेन्द्र सिंह को माला पहनायी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र पाण्डेय और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी उम्मीदवारों का उत्साह बढ़ाया।यहां बताना जरूरी है कि बुक्कल नवाब, जयवीर सिंह, सरोजनी अग्रवाल और यशवंत सिंह ने विधानपरिषद की अपनी सदस्यता से इस्तीफा दिया था, जिस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा और मोहसिन रजा विधानपरिषद पहुंचे थे। इन उम्मीदवारों में से एक आशीष पटेल अपना दल (अनुप्रिया पटेल गुट) से हैं। उन्हें भाजपा का समर्थन प्राप्त है।
    Close
    भाजपा दुनिया का सबसे विशाल व विश्वसनीय दल
    राष्ट्रीय सहारा 17/04/2018
    प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारतीय जनता पार्टी को दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल और विश्वसनीयता का प्रतीक बताया है। उन्होंने सोमवार को यहां कहा कि केन्द्र और भाजपा शासित राज्यों में विकास और सुशासन की बदौलत पार्टी लोकप्रियता के नये आयाम गढ़ रही है। श्री योगी यहां विधानपरिषद चुनाव के उम्मीदवारों को नामांकन करने से पहले सम्मानित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आठ-नौ महीने पहले विधानपरिषद की सदस्यता से इस्तीफा देकर विपक्षी दलों के कुछ लोगों ने उनके और उनके साथियों के लिये सीट छोड़ी थी। भाजपा ने उन लोगों को फिर से विधानपरिषद का उम्मीदवार बनाकर विश्वसनीयता का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि सीट छोड़ने वालों को फिर से उम्मीदवार बनाकर भाजपा ने अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है। उन्होंने कहा कि विकास और सुशासन को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्थापित किया है। उम्मीद है कि ये सभी लोग उसे प्रखर सिपाही बनकर आगे बढ़ायेंगे। उन्होंने प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के प्रति आभार जताया। श्री योगी ने कहा कि विधानपरिषद का सदस्य बनकर ये सभी पार्टी के मूल्यों और आदशरे का अनुसरण करते हुए उत्तर प्रदेश को आगे बढ़ायेंगे।श्री योगी ने विधानपरिषद उम्मीदवार विजय बहादुर पाठक, मोहसिन रजा, विद्यासागर सोनकर, यशवंत सिंह, बुक्कल नवाब, अशोक धवन, आशीष पटेल, अशोक कटारिया, जयवीर सिंह, सरोजिनी अग्रवाल और डा. महेन्द्र सिंह को माला पहनायी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र पाण्डेय और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी उम्मीदवारों का उत्साह बढ़ाया।यहां बताना जरूरी है कि बुक्कल नवाब, जयवीर सिंह, सरोजनी अग्रवाल और यशवंत सिंह ने विधानपरिषद की अपनी सदस्यता से इस्तीफा दिया था, जिस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा और मोहसिन रजा विधानपरिषद पहुंचे थे। इन उम्मीदवारों में से एक आशीष पटेल अपना दल (अनुप्रिया पटेल गुट) से हैं। उन्हें भाजपा का समर्थन प्राप्त है।


  • दैनिक जागरण : 15/04/2018 राब्यू, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जिला मुख्यालय ही नहीं, जिन क्षेत्रों में लाइन हानियां 10 फीसद से कम होगी वहां 24 घंटे बिजली देंगे। योगी ने कहा कि लाइन हानियां बिजली क्षेत्र की सबसे बड़ी चुनौती है। बिजली चोरी पर अंकुश लगाकर इसे कम करना ही होगा। ऐसा होने पर हम करोड़ों परिवारों को बिजली दे सकेंगे। मुख्यमंत्री शनिवार को अपने सरकारी आवास पर ग्राम स्वराज अभियान के तहत आयोजित सौभाग्य और उजाला योजना का शुभारंभ कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने करीब 948 करोड़ रुपये की लागत से बने 15 उपकेंद्रों का लोकार्पण भी किया। इससे प्रदेश को 2446 एमवीए बिजली मिलेगी। साथ ही सौभाग्य और उजाला योजना के 126 लाभार्थियों को प्रमाणपत्र और एलक्ष्डी बल्ब भी बांटे और एलक्ष्डी बांटने वाली गाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। योगी ने कहा कि प्रदेश के 3087 गांवों को ग्राम स्वराज अभियान के तहत केंद्र और प्रदेश की सभी विकास योजनाओं से संतृप्त किया जाएगा।
    Close
    लाइन हानियां 10 फीसद से कम करें, 24 घंटे देंगे बिजली : सीएम
    दैनिक जागरण 15/04/2018
    राब्यू, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जिला मुख्यालय ही नहीं, जिन क्षेत्रों में लाइन हानियां 10 फीसद से कम होगी वहां 24 घंटे बिजली देंगे। योगी ने कहा कि लाइन हानियां बिजली क्षेत्र की सबसे बड़ी चुनौती है। बिजली चोरी पर अंकुश लगाकर इसे कम करना ही होगा। ऐसा होने पर हम करोड़ों परिवारों को बिजली दे सकेंगे। मुख्यमंत्री शनिवार को अपने सरकारी आवास पर ग्राम स्वराज अभियान के तहत आयोजित सौभाग्य और उजाला योजना का शुभारंभ कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने करीब 948 करोड़ रुपये की लागत से बने 15 उपकेंद्रों का लोकार्पण भी किया। इससे प्रदेश को 2446 एमवीए बिजली मिलेगी। साथ ही सौभाग्य और उजाला योजना के 126 लाभार्थियों को प्रमाणपत्र और एलक्ष्डी बल्ब भी बांटे और एलक्ष्डी बांटने वाली गाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। योगी ने कहा कि प्रदेश के 3087 गांवों को ग्राम स्वराज अभियान के तहत केंद्र और प्रदेश की सभी विकास योजनाओं से संतृप्त किया जाएगा।


  • हिन्दुस्तान : 14/04/2018 चित्रकूट/उरई ’ हिन्दुस्तान टीम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार देर रात चित्रकूट में समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि थानों व तहसीलों में भ्रष्टाचार थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसे गंभीर मामला बताते हुए डीएम व एसपी को सख्त हिदायत दी कि वह इस पर लगाम लगाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर सुधार न हुआ तो जिम्मेदारों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं शुक्रवार को उरई पहुंचे सीएम ने कहा कि बुन्देलखण्ड में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। प्रदेश सरकार चंबल घाटी में स्थित पांच नदियों के संगम स्थल पंचनदा के विकास की ठोस कार्ययोजना तैयार करेगी इससे यहां विकास के साथ रोजगार के साधन भी विकसित हों। दो दिवसीय दौरे पर बुन्देलखण्ड पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चित्रकूट में गुरुवार देर रात कलक्ट्रेट सभागार में मंडलीय समीक्षा बैठक की। इस दौरान सीएम ने स्पष्ट तौर पर कहा कि थानों और तहसीलों में भ्रष्टाचार की शिकायतें लखनऊ तक पहुंच रही हैं। एक साल का समय बीतने पर भी सुधार नहीं हुआ। पुलिस कप्तान को निर्देश दिया कि थानेवार लंबित विवेचनाओं का निस्तारण तेजी से कराया जाए। जिलाधिकारी अब हर 15 दिन में विकास कार्यो की समीक्षा करेंगे। विशेषकर जिले में निर्माणाधीन बड़ी परियोजनाओं की समीक्षा की जाए। ताकि निर्माण में तेजी आए।
    Close
    थानों और तहसीलों में नहीं थम रहा भ्रष्टाचार : योगी
    हिन्दुस्तान 14/04/2018
    चित्रकूट/उरई ’ हिन्दुस्तान टीम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार देर रात चित्रकूट में समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि थानों व तहसीलों में भ्रष्टाचार थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसे गंभीर मामला बताते हुए डीएम व एसपी को सख्त हिदायत दी कि वह इस पर लगाम लगाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर सुधार न हुआ तो जिम्मेदारों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं शुक्रवार को उरई पहुंचे सीएम ने कहा कि बुन्देलखण्ड में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। प्रदेश सरकार चंबल घाटी में स्थित पांच नदियों के संगम स्थल पंचनदा के विकास की ठोस कार्ययोजना तैयार करेगी इससे यहां विकास के साथ रोजगार के साधन भी विकसित हों। दो दिवसीय दौरे पर बुन्देलखण्ड पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चित्रकूट में गुरुवार देर रात कलक्ट्रेट सभागार में मंडलीय समीक्षा बैठक की। इस दौरान सीएम ने स्पष्ट तौर पर कहा कि थानों और तहसीलों में भ्रष्टाचार की शिकायतें लखनऊ तक पहुंच रही हैं। एक साल का समय बीतने पर भी सुधार नहीं हुआ। पुलिस कप्तान को निर्देश दिया कि थानेवार लंबित विवेचनाओं का निस्तारण तेजी से कराया जाए। जिलाधिकारी अब हर 15 दिन में विकास कार्यो की समीक्षा करेंगे। विशेषकर जिले में निर्माणाधीन बड़ी परियोजनाओं की समीक्षा की जाए। ताकि निर्माण में तेजी आए।


  • राष्ट्रीय सहारा : 13/04/2018 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिले की जनता ने गौवंश आश्रय स्थल के निर्माण के रूप में जो संकल्प लिया है, वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि बुन्देलखंड की धरा की यह खासियत है कि यहां का निवासी कठिन समस्याओं से हार नहीं मानता है। ठीक वैसे ही हम बिना हारे यदि अन्ना प्रथा के खिलाफ लड़ते रहे तो एक दिन इस समस्या का समाधान अवश्य किया जायेगा। अगले तीन वर्ष से कम समय के भीतर ही अन्ना गोवंश की समस्या का उन्मूलन कर दिया जायेगा। जनपद में सूखे की समस्या का हर हाल में समाधान होगा। मुख्यमंत्री ने 159 करोड़ की 76 परियोजनाओं का बटन दबाकर लोकार्पण-शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को जिले के कैलगुवां रोड स्थित कल्यानपुरा में निर्मित गोवंश आश्रय स्थल का लोकार्पण किया। इससे पूर्व उन्होंने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक की। कल्यानपुरा जाते महिलाओं ने जगह-जगह मुख्यमंत्री का काफिला रोककर उनका स्वागत किया। महिलाएं सिर पर कलश एवं दीप रखकर बुन्देलखण्डी लोकगीतों के साथ मुख्यमंत्री का स्वागत कर रही थीं। कल्यानपुरा में गोवंश आश्रय स्थल का लोकार्पण करने के बाद मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टालों का निरीक्षण किया। इसके बाद मंच पर पहुंचे मुख्यमंत्री ने मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन एवं माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। श्रम एवं सेवायोजन राज्य मंत्री मनोहर लाल पंथ ने स्वागत सम्बोधन प्रस्तुत किया। इसके उपरान्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 159 करोड़ की 76 परियोजनाओं का बटन दबाकर लोकार्पण-शिलान्यास किया। साथ ही विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाणपत्र वितरित किये। मुख्यमंत्री ने कहा कि ललितपुर की जनता ने गोवंश आश्रय स्थल के निर्माण के रूप में जो संकल्प लिया है, वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड की धरा की यह खासियत है कि यहां का निवासी कठिन समस्याओं से जूझता है लेकिन हार नहीं मानता है। ठीक वैसे ही हम बिना हारे यदि अन्ना प्रथा के खिलाफ लड़ते रहे तो एक दिन इस समस्या का समाधान अवश्य किया जायेगा। उन्होंने जिले के प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही तथा डीएम मानवेन्द्र सिंह की इस बात की सराहना की कि उन्होेंने अन्ना गोवंश की समस्या के समाधान के लिए एक प्रभावी कदम उठाया है। उन्होंने बताया कि प्रभारी मंत्री के निर्देशन में डीएम जिस दिशा में काम कर रहे हैं, उससे अगले तीन वर्ष से कम समय के भीतर ही अन्ना गोवंश की समस्या का उन्मूलन कर दिया जायेगा। जनपद में सूखे की समस्या का समाधान हर हाल में होगा। प्रदेश सरकार ललितपुर जनपद में कुछ ऐसी परियोजनाओं पर कार्य कर रही है, जिनके पूर्ण होते ही पेयजल की समस्या का समाधान हमेशा के लिए हो जायेगा। उन्होंने किसानों को पिछले वर्ष रिकार्ड गेहूं खरीद के लिए बधाई दी और कहा कि मुझे उम्मीद है कि जनपद के किसान अपने पिछले रिकार्ड को जरूर तोड़ेंगे। प्रदेश सरकार का यह लक्ष्य है कि कोई भी गरीब व्यक्ति राशनकार्ड बनवाने से वंचित न रह जाये। हमारी सरकार अपराध को जड़ से खत्म करने के लिए दृढ़ संकल्प है। पूरे प्रदेश में अपराधियों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई की जा रही है। इससे पूर्व प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार जन हितैषी, गरीब हितैषी एवं कृषक हितैषी है। सरकार ने विभिन्न फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्यों में वृद्धि की है, जिससे किसानों की आय में बढ़ोतरी हुयी है। डीएम ने सीएम को स्मृति चिह्न भेंट की। सदर विधायक रामरतन कुशवाहा ने आभार व्यक्त किया। जनसभा के उपरान्त मुख्यमंत्री ने प्राथमिक विद्यालय के छात्र-छात्राओं की रैली को झण्डी दिखाकर स्कूल चलो अभियान की शुरूआत की। सीएम ने कचनौंदा बांध परियोजना का निरीक्षण किया तथा कचनौंदा बांध के डूब क्षेत्र में आने वाले किसानों को मुआवजे की धनराशि का ड्राफ्ट प्रदान किया। इस अवसर पर कुल 18 किसानों को 06 करोड़ 88 लाख की धनराशि के ड्राफ्ट प्रदान किये गये। कचनौंदा में आयोजित कार्यक्रम के उपरान्त सीएम अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जनपद चित्रकूट धाम करवी के लिए रवाना हो गये।
    Close
    तीन साल में होगा अन्ना गोवंश समस्या का समाधान
    राष्ट्रीय सहारा 13/04/2018
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिले की जनता ने गौवंश आश्रय स्थल के निर्माण के रूप में जो संकल्प लिया है, वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि बुन्देलखंड की धरा की यह खासियत है कि यहां का निवासी कठिन समस्याओं से हार नहीं मानता है। ठीक वैसे ही हम बिना हारे यदि अन्ना प्रथा के खिलाफ लड़ते रहे तो एक दिन इस समस्या का समाधान अवश्य किया जायेगा। अगले तीन वर्ष से कम समय के भीतर ही अन्ना गोवंश की समस्या का उन्मूलन कर दिया जायेगा। जनपद में सूखे की समस्या का हर हाल में समाधान होगा। मुख्यमंत्री ने 159 करोड़ की 76 परियोजनाओं का बटन दबाकर लोकार्पण-शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को जिले के कैलगुवां रोड स्थित कल्यानपुरा में निर्मित गोवंश आश्रय स्थल का लोकार्पण किया। इससे पूर्व उन्होंने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक की। कल्यानपुरा जाते महिलाओं ने जगह-जगह मुख्यमंत्री का काफिला रोककर उनका स्वागत किया। महिलाएं सिर पर कलश एवं दीप रखकर बुन्देलखण्डी लोकगीतों के साथ मुख्यमंत्री का स्वागत कर रही थीं। कल्यानपुरा में गोवंश आश्रय स्थल का लोकार्पण करने के बाद मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टालों का निरीक्षण किया। इसके बाद मंच पर पहुंचे मुख्यमंत्री ने मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन एवं माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। श्रम एवं सेवायोजन राज्य मंत्री मनोहर लाल पंथ ने स्वागत सम्बोधन प्रस्तुत किया। इसके उपरान्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 159 करोड़ की 76 परियोजनाओं का बटन दबाकर लोकार्पण-शिलान्यास किया। साथ ही विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाणपत्र वितरित किये। मुख्यमंत्री ने कहा कि ललितपुर की जनता ने गोवंश आश्रय स्थल के निर्माण के रूप में जो संकल्प लिया है, वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड की धरा की यह खासियत है कि यहां का निवासी कठिन समस्याओं से जूझता है लेकिन हार नहीं मानता है। ठीक वैसे ही हम बिना हारे यदि अन्ना प्रथा के खिलाफ लड़ते रहे तो एक दिन इस समस्या का समाधान अवश्य किया जायेगा। उन्होंने जिले के प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही तथा डीएम मानवेन्द्र सिंह की इस बात की सराहना की कि उन्होेंने अन्ना गोवंश की समस्या के समाधान के लिए एक प्रभावी कदम उठाया है। उन्होंने बताया कि प्रभारी मंत्री के निर्देशन में डीएम जिस दिशा में काम कर रहे हैं, उससे अगले तीन वर्ष से कम समय के भीतर ही अन्ना गोवंश की समस्या का उन्मूलन कर दिया जायेगा। जनपद में सूखे की समस्या का समाधान हर हाल में होगा। प्रदेश सरकार ललितपुर जनपद में कुछ ऐसी परियोजनाओं पर कार्य कर रही है, जिनके पूर्ण होते ही पेयजल की समस्या का समाधान हमेशा के लिए हो जायेगा। उन्होंने किसानों को पिछले वर्ष रिकार्ड गेहूं खरीद के लिए बधाई दी और कहा कि मुझे उम्मीद है कि जनपद के किसान अपने पिछले रिकार्ड को जरूर तोड़ेंगे। प्रदेश सरकार का यह लक्ष्य है कि कोई भी गरीब व्यक्ति राशनकार्ड बनवाने से वंचित न रह जाये। हमारी सरकार अपराध को जड़ से खत्म करने के लिए दृढ़ संकल्प है। पूरे प्रदेश में अपराधियों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई की जा रही है। इससे पूर्व प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार जन हितैषी, गरीब हितैषी एवं कृषक हितैषी है। सरकार ने विभिन्न फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्यों में वृद्धि की है, जिससे किसानों की आय में बढ़ोतरी हुयी है। डीएम ने सीएम को स्मृति चिह्न भेंट की। सदर विधायक रामरतन कुशवाहा ने आभार व्यक्त किया। जनसभा के उपरान्त मुख्यमंत्री ने प्राथमिक विद्यालय के छात्र-छात्राओं की रैली को झण्डी दिखाकर स्कूल चलो अभियान की शुरूआत की। सीएम ने कचनौंदा बांध परियोजना का निरीक्षण किया तथा कचनौंदा बांध के डूब क्षेत्र में आने वाले किसानों को मुआवजे की धनराशि का ड्राफ्ट प्रदान किया। इस अवसर पर कुल 18 किसानों को 06 करोड़ 88 लाख की धनराशि के ड्राफ्ट प्रदान किये गये। कचनौंदा में आयोजित कार्यक्रम के उपरान्त सीएम अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जनपद चित्रकूट धाम करवी के लिए रवाना हो गये।


  • दैनिक जागरण : 11/04/2018 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : उन्नाव दुष्कर्म कांड में बुधवार शाम तक राज्य सरकार कड़े कदम उठा सकती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर इस मामले की जांच के लिए गठित एसआइटी को 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है। यह रिपोर्ट बुधवार शाम तक आ सकती है। इसके बाद कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सख्त संदेश देने के लिए कड़े कदम उठाए जा सकते हैं। रविवार को पीड़ित किशोरी के मुख्यमंत्री आवास के समीप आत्मदाह की कोशिश के बाद से ही इस मामले में कड़े कदम की संभावना जताई जाने लगी थी। सोमवार को पीड़िता के पिता की मौत के बाद सायंकाल विधायक कुलदीप सेंगर मुख्यमंत्री से मिलने भी पहुंचे थे, लेकिन उन्हें बैरंग लौटना पड़ा था। मंगलवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद जिस तेजी से पुलिस ने कदम उठाए हैं, उससे भी इस प्रकरण में सख्त कदम के संदेश मिले हैं। एसआइटी में शामिल एडीजी राजीव कृष्ण बुधवार सुबह उन्नाव के माखी गांव पहुंचेंगे। सायंकाल तक उनकी रिपोर्ट आ जाने की संभावना है। इसके बाद विधायक समेत कई अधिकारियों के खिलाफ कड़े कदम उठाए जा सकते हैं।
    Close
    मुख्यमंत्री योगी ने 24 घंटे में एसआइटी से मांगी रिपोर्ट
    दैनिक जागरण 11/04/2018
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : उन्नाव दुष्कर्म कांड में बुधवार शाम तक राज्य सरकार कड़े कदम उठा सकती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर इस मामले की जांच के लिए गठित एसआइटी को 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है। यह रिपोर्ट बुधवार शाम तक आ सकती है। इसके बाद कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सख्त संदेश देने के लिए कड़े कदम उठाए जा सकते हैं। रविवार को पीड़ित किशोरी के मुख्यमंत्री आवास के समीप आत्मदाह की कोशिश के बाद से ही इस मामले में कड़े कदम की संभावना जताई जाने लगी थी। सोमवार को पीड़िता के पिता की मौत के बाद सायंकाल विधायक कुलदीप सेंगर मुख्यमंत्री से मिलने भी पहुंचे थे, लेकिन उन्हें बैरंग लौटना पड़ा था। मंगलवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद जिस तेजी से पुलिस ने कदम उठाए हैं, उससे भी इस प्रकरण में सख्त कदम के संदेश मिले हैं। एसआइटी में शामिल एडीजी राजीव कृष्ण बुधवार सुबह उन्नाव के माखी गांव पहुंचेंगे। सायंकाल तक उनकी रिपोर्ट आ जाने की संभावना है। इसके बाद विधायक समेत कई अधिकारियों के खिलाफ कड़े कदम उठाए जा सकते हैं।


  • हिन्दुस्तान : 10/04/2018 लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उन्नाव मामले में किसी को बख्शा नहीं जाएगा। सीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने पहले ही इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। रविवार को ही इस मामले में एडीजी लखनऊ को पूरी जांच करने को कहा है और जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी। अगर पुलिस की लापरवाही कहीं पर है तो ऐसे दोषी कर्मियों के खिलाफ की जाएगी। पहले ही सरकार कह चुकी है कि किसी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। सरकार और कानून इस मामले में किसी भी दोषी के साथ कोई रियायत नहीं करेगी।
    Close
    किसी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा : योगी
    हिन्दुस्तान 10/04/2018
    लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उन्नाव मामले में किसी को बख्शा नहीं जाएगा। सीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने पहले ही इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। रविवार को ही इस मामले में एडीजी लखनऊ को पूरी जांच करने को कहा है और जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी। अगर पुलिस की लापरवाही कहीं पर है तो ऐसे दोषी कर्मियों के खिलाफ की जाएगी। पहले ही सरकार कह चुकी है कि किसी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। सरकार और कानून इस मामले में किसी भी दोषी के साथ कोई रियायत नहीं करेगी।


  • दैनिक जागरण : 09/04/2018 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश को असल खतरा बाहर से नहीं भीतर है। बाहरी खतरे से निपटने के लिए हमारी सेनाएं पूरी तरह से सक्षम हैं। असली खतरा उनसे है जिनको कश्मीर के आतंकवाद, कई राज्यों में फैले नक्सलवाद की ¨हसा में मानवाधिकार दिखता है। खतरा उनसे है जो अपने हित में समाज को जाति-पाति, क्षेत्र और धर्म के नाम बांटते हैं। रविवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आजादी की लड़ाई में पहली शहादत देने वाले मंगल पांडेय के पर आयोजित कार्यक्रम में योगी ने कहा कि देश के कई हिस्सों में ऐसी ताकतें हैं जिनको भारत की संप्रभुता खटकती है। यह लगातार देश को बांटने की साजिश कर रहे हैं। इनका स्वरूप अलग-अलग हो सकता है, पर मंशा एक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी देश का निर्माण इसके लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले लोगों से होता है। आजादी और इस उपलब्धि को बचाना हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती है। इसके लिए हमें भटके लोगों को समाज की मुख्य धारा से जोड़कर उनकी ऊर्जा को सकारात्मक दिशा देना होगा। ऐसी संस्थाएं और शहीदों के परिवारीजन अगर यह काम करें तो यह देश के लिए मर मिटने वालों वालों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। देश के लिए शहीद होने वालों ने आजाद भारत के लिए एक सपना था। शहीद चंद्रशेखर आजाद के पोते अमित आजाद, भगत सिंह के परिवारीजन यादवेंद्र संधू ने शहीदों को शहीद का दर्जा देने, उनकी वैधानिक सूची तैयार करने और संग्रहालय बनाने की मांग की।
    Close
    'आतंकी-नक्सली' हिंसा में मानवाधिकार देखने वाले खतरनाक’
    दैनिक जागरण 09/04/2018
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश को असल खतरा बाहर से नहीं भीतर है। बाहरी खतरे से निपटने के लिए हमारी सेनाएं पूरी तरह से सक्षम हैं। असली खतरा उनसे है जिनको कश्मीर के आतंकवाद, कई राज्यों में फैले नक्सलवाद की ¨हसा में मानवाधिकार दिखता है। खतरा उनसे है जो अपने हित में समाज को जाति-पाति, क्षेत्र और धर्म के नाम बांटते हैं। रविवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आजादी की लड़ाई में पहली शहादत देने वाले मंगल पांडेय के पर आयोजित कार्यक्रम में योगी ने कहा कि देश के कई हिस्सों में ऐसी ताकतें हैं जिनको भारत की संप्रभुता खटकती है। यह लगातार देश को बांटने की साजिश कर रहे हैं। इनका स्वरूप अलग-अलग हो सकता है, पर मंशा एक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी देश का निर्माण इसके लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले लोगों से होता है। आजादी और इस उपलब्धि को बचाना हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती है। इसके लिए हमें भटके लोगों को समाज की मुख्य धारा से जोड़कर उनकी ऊर्जा को सकारात्मक दिशा देना होगा। ऐसी संस्थाएं और शहीदों के परिवारीजन अगर यह काम करें तो यह देश के लिए मर मिटने वालों वालों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। देश के लिए शहीद होने वालों ने आजाद भारत के लिए एक सपना था। शहीद चंद्रशेखर आजाद के पोते अमित आजाद, भगत सिंह के परिवारीजन यादवेंद्र संधू ने शहीदों को शहीद का दर्जा देने, उनकी वैधानिक सूची तैयार करने और संग्रहालय बनाने की मांग की।


  • राष्ट्रीय सहारा : 08/04/2018 इलाहाबाद (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज में कुंभ से सम्बंधित 684 करोड़ रुपये की 151 परियोजनाओं का शिलान्यास करते हुए गंगा की अविरलता और निर्मलता को बनाये रखने के लिए 27 जनपदों में गंगा हरीतिमा अभियान व एक व्यक्ति एक वृक्ष योजना का शुभारंभ किया।मुख्यमंत्री ने शनिवार को यहां गंगा हरीतिमा अभियान 2018 व कुंभ 2019 प्रयाग में परियोजनाओं का शिलान्यास कार्यक्रम में लोगों को जीवनदायिनी, पापनाशिनी और मोक्षदायिनी गंगा की अविरलता और निर्मलता को बनाये रखने के लिए पर्यावरण संरक्षण का मंत्र दिया और गंगा नदी क्षेत्र में वानस्पतिक आच्छादन बढ़ाए जाने का संकल्प दिलाया और कहा कि गंगा की स्वच्छता के लिए सभी की सहभागिता जरूरी है। मुख्यमंत्री ने कुंभ आने वाले श्रद्धालुओं को सड़क, वायु व जलमार्ग तीनों प्रकार की सुविधा उपलब्ध कराने की बात कही। उन्होंने आशा जतायी कि प्रयाग कुंभ-2019 से दुनिया के समक्ष उत्तर प्रदेश की नयी तस्वीर उभरकर सामने आयेगी। साथ ही बताया कि प्रदेश सरकार ने श्रृंगवेरपुर को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने को अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। गंगा के दोनों ओर एक किलोमीटर की सीमा में वानस्पतिक आच्छादन बढ़ाने से गंगा के किनारे स्थित 11 मण्डलों के 27 जनपद बुलंदशहर, हापुड़, मेरठ, मुजफ्फरनगर, अलीगढ़, कासगंज, बिजनौर, संभल, अमरोहा, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, रायबरेली, उन्नाव, फरूखाबाद, कन्नौज, कानपुर नगर, चंदौली, इलाहाबाद, कौशाम्बी, फतेहपुर, प्रतापगढ़, भदोही, मिर्जापुर, गाजीपुर, वाराणसी तथा बलिया लाभान्वित होंगे। इसके अलावा ‘‘एक व्यक्ति एक वृक्ष’ योजना से इस अभियान को बल मिलेगा। मुख्यमंत्री ने लोगों से नदी के तटों पर पंचवटी लगाने के लिए आगे आने की अपील की। प्रयाग नगरी को प्रदेश के कई शहरों को वायु सेवा से जोड़ा जा रहा है। कुम्भ से पहले जलमार्ग से प्रयाग को जोड़ने पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि कुम्भ मेले में आने वालों को जल, थल और वायु मार्ग की सुविधा होगी। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, दारा सिंह चौहान, नंद गोपाल गुप्ता ‘‘नंदी’, राज्य मंत्री उपेंद्र तिवारी आदि ने सभा को संबोधित किया तथा सांसद श्यामाचरण गुप्ता, विनोद सोनकर, महापौर श्रीमती अभिलाषा गुप्ता ‘‘नंदी’ समेत विधायक भी मौके पर मौजूद रहे। समारोह में गंगा नंदी को स्वच्छ बनाने, वृक्षारोपण करने तथा पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा करने वाले 47 लोगों को सम्मानित भी किया जायेगा।
    Close
    प्रयाग में 684 करोड़ की 151 परियोजनाओं का शिलान्यास
    राष्ट्रीय सहारा 08/04/2018
    इलाहाबाद (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज में कुंभ से सम्बंधित 684 करोड़ रुपये की 151 परियोजनाओं का शिलान्यास करते हुए गंगा की अविरलता और निर्मलता को बनाये रखने के लिए 27 जनपदों में गंगा हरीतिमा अभियान व एक व्यक्ति एक वृक्ष योजना का शुभारंभ किया।मुख्यमंत्री ने शनिवार को यहां गंगा हरीतिमा अभियान 2018 व कुंभ 2019 प्रयाग में परियोजनाओं का शिलान्यास कार्यक्रम में लोगों को जीवनदायिनी, पापनाशिनी और मोक्षदायिनी गंगा की अविरलता और निर्मलता को बनाये रखने के लिए पर्यावरण संरक्षण का मंत्र दिया और गंगा नदी क्षेत्र में वानस्पतिक आच्छादन बढ़ाए जाने का संकल्प दिलाया और कहा कि गंगा की स्वच्छता के लिए सभी की सहभागिता जरूरी है। मुख्यमंत्री ने कुंभ आने वाले श्रद्धालुओं को सड़क, वायु व जलमार्ग तीनों प्रकार की सुविधा उपलब्ध कराने की बात कही। उन्होंने आशा जतायी कि प्रयाग कुंभ-2019 से दुनिया के समक्ष उत्तर प्रदेश की नयी तस्वीर उभरकर सामने आयेगी। साथ ही बताया कि प्रदेश सरकार ने श्रृंगवेरपुर को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने को अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। गंगा के दोनों ओर एक किलोमीटर की सीमा में वानस्पतिक आच्छादन बढ़ाने से गंगा के किनारे स्थित 11 मण्डलों के 27 जनपद बुलंदशहर, हापुड़, मेरठ, मुजफ्फरनगर, अलीगढ़, कासगंज, बिजनौर, संभल, अमरोहा, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, रायबरेली, उन्नाव, फरूखाबाद, कन्नौज, कानपुर नगर, चंदौली, इलाहाबाद, कौशाम्बी, फतेहपुर, प्रतापगढ़, भदोही, मिर्जापुर, गाजीपुर, वाराणसी तथा बलिया लाभान्वित होंगे। इसके अलावा ‘‘एक व्यक्ति एक वृक्ष’ योजना से इस अभियान को बल मिलेगा। मुख्यमंत्री ने लोगों से नदी के तटों पर पंचवटी लगाने के लिए आगे आने की अपील की। प्रयाग नगरी को प्रदेश के कई शहरों को वायु सेवा से जोड़ा जा रहा है। कुम्भ से पहले जलमार्ग से प्रयाग को जोड़ने पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि कुम्भ मेले में आने वालों को जल, थल और वायु मार्ग की सुविधा होगी। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, दारा सिंह चौहान, नंद गोपाल गुप्ता ‘‘नंदी’, राज्य मंत्री उपेंद्र तिवारी आदि ने सभा को संबोधित किया तथा सांसद श्यामाचरण गुप्ता, विनोद सोनकर, महापौर श्रीमती अभिलाषा गुप्ता ‘‘नंदी’ समेत विधायक भी मौके पर मौजूद रहे। समारोह में गंगा नंदी को स्वच्छ बनाने, वृक्षारोपण करने तथा पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा करने वाले 47 लोगों को सम्मानित भी किया जायेगा।


  • हिन्दुस्तान : 07/04/2018 लखनऊ, प्रमुख संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर करारा वार करते हुए सवाल किया कि वह दलित महापुरुषों की मूर्तियां और स्मारक क्यों तोड़ने की बात कहते थे? अवसरवादिता के चलते आज वह दलित हितैषी बन रहे हैं। जबकि बाबा साहब पर भी उन्होंने टिप्पणी की थी। हमारी सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से दलितों, गरीबों-पिछड़ों तक सुविधाएं पहुंचा रही है। मुख्यमंत्री ने यह बात शुक्रवार को एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में कही। एक कार्यक्रम के दौरान यह बातें कहीं। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जिन लोगों ने साज़िश के तहत बंद के दौरान ¨हसा करवाई उनकी पहचान जल्द होगी। दलित आंदोलन पर राजनीति करने वाले दलों पर उन्होंने कहा कि जब यह फैसला मायावती ने यूपी में लागू किया था तब विरोध क्यों नहीं किया? गरीबों-दलितों की आड़ में ¨हसा फैलाई गई। योगी ने साफ कहा कि एक भी फर्जी एनकाउंटर नही हुआ है। विपक्ष के आरोप बेबुनियाद हैं। योगी ने कहा कि पहले ये सब यह तो तय करें अखिलेश और मायावती की गठबंधन का नेता है कौन है? मायावती-अखिलेश का अवसरवादी गठबंधन 2019 में हारेगा। जो लोग 2017 विधानसभा चुनाव में ईवीएम गड़बड़ी का शोर मचा रहे थे गोरखपुर-फूलपुर में जीतने के बाद यह सवाल क्यों नहीं उठाया?
    Close
    अखिलेश क्यों तुड़वाना चाहते थे दलित नेताओं की मूर्तियां : योगी
    हिन्दुस्तान 07/04/2018
    लखनऊ, प्रमुख संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर करारा वार करते हुए सवाल किया कि वह दलित महापुरुषों की मूर्तियां और स्मारक क्यों तोड़ने की बात कहते थे? अवसरवादिता के चलते आज वह दलित हितैषी बन रहे हैं। जबकि बाबा साहब पर भी उन्होंने टिप्पणी की थी। हमारी सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से दलितों, गरीबों-पिछड़ों तक सुविधाएं पहुंचा रही है। मुख्यमंत्री ने यह बात शुक्रवार को एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में कही। एक कार्यक्रम के दौरान यह बातें कहीं। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जिन लोगों ने साज़िश के तहत बंद के दौरान ¨हसा करवाई उनकी पहचान जल्द होगी। दलित आंदोलन पर राजनीति करने वाले दलों पर उन्होंने कहा कि जब यह फैसला मायावती ने यूपी में लागू किया था तब विरोध क्यों नहीं किया? गरीबों-दलितों की आड़ में ¨हसा फैलाई गई। योगी ने साफ कहा कि एक भी फर्जी एनकाउंटर नही हुआ है। विपक्ष के आरोप बेबुनियाद हैं। योगी ने कहा कि पहले ये सब यह तो तय करें अखिलेश और मायावती की गठबंधन का नेता है कौन है? मायावती-अखिलेश का अवसरवादी गठबंधन 2019 में हारेगा। जो लोग 2017 विधानसभा चुनाव में ईवीएम गड़बड़ी का शोर मचा रहे थे गोरखपुर-फूलपुर में जीतने के बाद यह सवाल क्यों नहीं उठाया?

  •     
    1  2 
     

सर्वश्रेष्ठ समीक्षा

आपका मत

आप के विचार

  • बूचड़ खाना बंद करने पर धन्यावाद

    राजेश patodi हम यह चाहते हे की यह नियम पुरे भारत देश शक्ति से लागु किया जाये हम आशा करते हे की आप की यह मेहनत जरूर रंग लाएगी जय हिन्द जय भारत ,राजेश पटौदी म.प. इंदौर
  • शिक्षा

    अभिशेष एक अपील मोदी जी और योगी जी से की प्राइवेट स्कूल की फीस पर कोई लगाम नहीं है और उनके स्कूल मे पढ़ाया जाने वाला कोर्स बाजार भाव से पांच गुना दामों मे बेचा जा रहा है । आपसे निवेदन है कि इन दोनों बातो पर अपना ध्यान दे ।
  • संपूर्ण देखें