समाचार
वर्ष : माह :
  • राष्ट्रीय सहारा : 19/03/2019 लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को ट्विटर पर कहा कि उम्मीद है कि अब कांग्रेस मोदी जी से गंगा सफाई और उसके जीर्णोद्धार पर प्रमाण नहीं मांगेगी। उन्होंने कहा कि जबकि अब गंगा में कांग्रेस महासचिव प्रियंका बाड्रा का जहाज भी चल रहा है और उन्होंने गंगा का जल भी ग्रहण करके देख लिया।विपक्ष पर साधा निशाना :मुख्यमंत्री योगी ने मीडिया को दिये बयान में कहा कि जब समूचा देश सैन्य बलों के साहस और पराक्रम से गर्व महसूस कर रहा था, तब विरोधी पार्टियां सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के सबूत मांग रही थीं । इसी तरह जब पूरा विश्व दिव्य और भव्य कुंभ की प्रशंसा कर रहा है, तब विपक्षी दल गर्व महसूस करने के बजाय इस बात पर दुख व्यक्त कर रहे हैं कि आखिर अर्ध कुंभ को कुंभ क्यों कर दिया गया ? योगी ने कहा कि कुंभ के आयोजन में दो ताकतें लगी थीं। एक सात्विक थी, जो चाहती थी कि किसी भी तरह से आस्था और विास का आयोजन सफल हो। लेकिन इसके साथ ही एक बड़ा वर्ग ऐसा भी था, जो भारत, भारतीयता और सनातन हिन्दू धर्म के बारे में दुष्प्रचार भी कर रहा था। ऐसे लोगों की परवाह किये बिना हम आगे बढ़ते रहे और कुंभ के सफल आयोजन के अपने मिशन में कामयाब हुये। इस काम में प्रधानमंत्री मोदी हमारे प्रेरणा स्रेत थे। उन्होंने दावा किया कि हमने ‘‘स्वच्छ कुंभ-सुरक्षित कुंभ’ का सफल आयोजन किया।
    Close
    अब गंगा सफाई पर मोदी से प्रमाण नहीं मांगेगी कांग्रेस
    राष्ट्रीय सहारा 19/03/2019
    लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को ट्विटर पर कहा कि उम्मीद है कि अब कांग्रेस मोदी जी से गंगा सफाई और उसके जीर्णोद्धार पर प्रमाण नहीं मांगेगी। उन्होंने कहा कि जबकि अब गंगा में कांग्रेस महासचिव प्रियंका बाड्रा का जहाज भी चल रहा है और उन्होंने गंगा का जल भी ग्रहण करके देख लिया।विपक्ष पर साधा निशाना :मुख्यमंत्री योगी ने मीडिया को दिये बयान में कहा कि जब समूचा देश सैन्य बलों के साहस और पराक्रम से गर्व महसूस कर रहा था, तब विरोधी पार्टियां सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के सबूत मांग रही थीं । इसी तरह जब पूरा विश्व दिव्य और भव्य कुंभ की प्रशंसा कर रहा है, तब विपक्षी दल गर्व महसूस करने के बजाय इस बात पर दुख व्यक्त कर रहे हैं कि आखिर अर्ध कुंभ को कुंभ क्यों कर दिया गया ? योगी ने कहा कि कुंभ के आयोजन में दो ताकतें लगी थीं। एक सात्विक थी, जो चाहती थी कि किसी भी तरह से आस्था और विास का आयोजन सफल हो। लेकिन इसके साथ ही एक बड़ा वर्ग ऐसा भी था, जो भारत, भारतीयता और सनातन हिन्दू धर्म के बारे में दुष्प्रचार भी कर रहा था। ऐसे लोगों की परवाह किये बिना हम आगे बढ़ते रहे और कुंभ के सफल आयोजन के अपने मिशन में कामयाब हुये। इस काम में प्रधानमंत्री मोदी हमारे प्रेरणा स्रेत थे। उन्होंने दावा किया कि हमने ‘‘स्वच्छ कुंभ-सुरक्षित कुंभ’ का सफल आयोजन किया।


  • हिन्दुस्तान : 18/03/2019 लखनऊ | विशेष संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा यूपी में 74 से ज्यादा से सीटें जीतेगी। इसमें गोरखपुर, कैराना, अमेठी और आजमगढ़ सीटें भी शामिल होंगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शानदार काम की वजह से आज मोदी एक ब्रांड बन चुका है। मोदी ने भारत को चिड़िया नहीं शेर बनाया है। मुख्यमंत्री योगी ने रविवार को यहां एक चैनल के कार्यक्रम में कहा कि प्रियंका गांधी के राजनीति में आने से भाजपा का कोई नुकसान नहीं होगा। कांग्रेस की एक सम्मानित नेता होने के कारण प्रियंका को अपनी बात कहने का पूरा हक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 में तो उन्होंने दोनों लड़कों मिलाने का काम किया था लेकिन यूपी ने दोनों को खारिज कर दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में भारत दुनिया की 11वीं अर्थव्यवस्था था। अब यह छठी अर्थव्यवस्था हो गया है। अगले पांच साल में भारत टॉप थ्री में शामिल होगा। सपा-बसपा गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। 2014 में बीएसपी की जीरो सीटें आई थीं, अगर जीरो से किसी को गुणा करेंगे तो जीरो ही आएगा। इन दलों के कारनामे सब जानते हैं। इन दलों के राज में प्रदेश में जाति और पैसे लेकर नियुक्तियां होती थीं पर अब ऐसा नहीं है।
    Close
    इस बार 74 से ज्यादा सीटें जीतेंगे : योगी
    हिन्दुस्तान 18/03/2019
    लखनऊ | विशेष संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा यूपी में 74 से ज्यादा से सीटें जीतेगी। इसमें गोरखपुर, कैराना, अमेठी और आजमगढ़ सीटें भी शामिल होंगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शानदार काम की वजह से आज मोदी एक ब्रांड बन चुका है। मोदी ने भारत को चिड़िया नहीं शेर बनाया है। मुख्यमंत्री योगी ने रविवार को यहां एक चैनल के कार्यक्रम में कहा कि प्रियंका गांधी के राजनीति में आने से भाजपा का कोई नुकसान नहीं होगा। कांग्रेस की एक सम्मानित नेता होने के कारण प्रियंका को अपनी बात कहने का पूरा हक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 में तो उन्होंने दोनों लड़कों मिलाने का काम किया था लेकिन यूपी ने दोनों को खारिज कर दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में भारत दुनिया की 11वीं अर्थव्यवस्था था। अब यह छठी अर्थव्यवस्था हो गया है। अगले पांच साल में भारत टॉप थ्री में शामिल होगा। सपा-बसपा गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। 2014 में बीएसपी की जीरो सीटें आई थीं, अगर जीरो से किसी को गुणा करेंगे तो जीरो ही आएगा। इन दलों के कारनामे सब जानते हैं। इन दलों के राज में प्रदेश में जाति और पैसे लेकर नियुक्तियां होती थीं पर अब ऐसा नहीं है।


  • दैनिक जागरण : 17/03/2019 राब्यू, लखनऊ : सपा-बसपा की उम्मीदों का दम गठबंधन है तो कांग्रेस के लिए प्रियंका गांधी तुरुप का इक्का। विपक्षी दलों के इन दंभों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरी तरह बेअसर बताया है। उनका कहना है कि भाजपा को प्रियंका से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला। वह पहले भी कांग्रेस के लिए प्रचार कर चुकी हैं। वहीं, सपा-बसपा गठबंधन का सिर्फ हौवा है। वह पहले ही विवादित हो चुका है। मुख्यमंत्री ने शनिवार को एक एजेंसी को दिए साक्षात्कार में कहा कि आम चुनाव राष्ट्रीय स्तर के होते हैं। इसमें जनता उसे ही वोट करती है, जिसके हाथ में देश की सुरक्षा और समृद्धि की गारंटी हो। प्रबुद्ध मतदाता भलीभांति जानते हैं कि किसकी अगुआई में इनकी गारंटी है। ऐसे में इस चुनाव में भाजपा की संभावनाएं किसी भी और चुनाव से बेहतर हैं। एयर स्ट्राइक के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि देशहित में जहां और जब जरूरत हुई, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरी निडरता से कदम उठाए। पुलवामा हमले के बाद हुई एयर स्ट्राइक और इसमें शामिल सभी आतंकवादियों को मार गिराने के बाद भारत उन देशों में शुमार हो गया, जो अपने दुश्मनों को करारा जवाब देने में सक्षम हैं। यही नहीं, इस मामले में भारत ने पाकिस्तान को पूरी दुनिया में आतंकवाद के मसले पर बेनकाब करने के साथ उसे अलग-थलग कर दिया। इसके पहले भी म्यांमार में उग्रवादियों के ठिकानों पर हमले, उरी हमले के बाद की गई सर्जिकल स्ट्राइक से मोदी ने बदलते भारत का संदेश दे दिया था। यह सब एक कुशल और काबिल नेतृत्व में ही मुमकिन है। हर कोई चाहता है सुरक्षा और समृद्धि : ग्रामीण क्षेत्रों के मतदाताओं के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा के इन मुद्दें की अहमियत के सवाल पर योगी ने कहा कि समाज का हर वर्ग विकास, सुशासन और राष्ट्रवाद जैसे मुद्दों पर जागरूक है। हर कोई समृद्धि और सुरक्षा चाहता है। छोटे-छोटे दलों के लिए यह संभव नहीं और कांग्रेस को जनता बार-बार आजमा चुकी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 के चुनाव में मोदी का सिर्फ नाम था। अबकी बार नाम के साथ काम भी है। लिहाजा, नतीजे भी अच्छे आएंगे। छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में हार की वजह पूछने पर योगी ने कहा कि विधानसभा चुनाव में मुद्दे स्थानीय होते हैं।राब्यू, लखनऊ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के यह कहने के बाद कि आपका चौकीदार मजबूती से खड़ा है और देश की सेवा कर रहा है। इसके बाद से भाजपा का हर खास और आम में सोशल मीडिया पर खुद को चौकीदार बताने की होड़ मची है। इसी क्रम में शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी शनिवार को ट्वीट किया है कि ‘हां मैं भी चौकीदार हूं’। अपने ट्विटर एकाउंट पर मुख्यमंत्री ने लिखा है कि ‘उत्तर प्रदेश है संकल्पित और मैं तैयार हूं, जो प्रेरणा से है बही विकास की बयार हूं। हां मैं भी चौकीदार हूं।
    Close
    भाजपा को प्रियंका से नहीं पड़ेगा कोई फर्क : योगी
    दैनिक जागरण 17/03/2019
    राब्यू, लखनऊ : सपा-बसपा की उम्मीदों का दम गठबंधन है तो कांग्रेस के लिए प्रियंका गांधी तुरुप का इक्का। विपक्षी दलों के इन दंभों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरी तरह बेअसर बताया है। उनका कहना है कि भाजपा को प्रियंका से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला। वह पहले भी कांग्रेस के लिए प्रचार कर चुकी हैं। वहीं, सपा-बसपा गठबंधन का सिर्फ हौवा है। वह पहले ही विवादित हो चुका है। मुख्यमंत्री ने शनिवार को एक एजेंसी को दिए साक्षात्कार में कहा कि आम चुनाव राष्ट्रीय स्तर के होते हैं। इसमें जनता उसे ही वोट करती है, जिसके हाथ में देश की सुरक्षा और समृद्धि की गारंटी हो। प्रबुद्ध मतदाता भलीभांति जानते हैं कि किसकी अगुआई में इनकी गारंटी है। ऐसे में इस चुनाव में भाजपा की संभावनाएं किसी भी और चुनाव से बेहतर हैं। एयर स्ट्राइक के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि देशहित में जहां और जब जरूरत हुई, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरी निडरता से कदम उठाए। पुलवामा हमले के बाद हुई एयर स्ट्राइक और इसमें शामिल सभी आतंकवादियों को मार गिराने के बाद भारत उन देशों में शुमार हो गया, जो अपने दुश्मनों को करारा जवाब देने में सक्षम हैं। यही नहीं, इस मामले में भारत ने पाकिस्तान को पूरी दुनिया में आतंकवाद के मसले पर बेनकाब करने के साथ उसे अलग-थलग कर दिया। इसके पहले भी म्यांमार में उग्रवादियों के ठिकानों पर हमले, उरी हमले के बाद की गई सर्जिकल स्ट्राइक से मोदी ने बदलते भारत का संदेश दे दिया था। यह सब एक कुशल और काबिल नेतृत्व में ही मुमकिन है। हर कोई चाहता है सुरक्षा और समृद्धि : ग्रामीण क्षेत्रों के मतदाताओं के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा के इन मुद्दें की अहमियत के सवाल पर योगी ने कहा कि समाज का हर वर्ग विकास, सुशासन और राष्ट्रवाद जैसे मुद्दों पर जागरूक है। हर कोई समृद्धि और सुरक्षा चाहता है। छोटे-छोटे दलों के लिए यह संभव नहीं और कांग्रेस को जनता बार-बार आजमा चुकी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 के चुनाव में मोदी का सिर्फ नाम था। अबकी बार नाम के साथ काम भी है। लिहाजा, नतीजे भी अच्छे आएंगे। छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में हार की वजह पूछने पर योगी ने कहा कि विधानसभा चुनाव में मुद्दे स्थानीय होते हैं।राब्यू, लखनऊ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के यह कहने के बाद कि आपका चौकीदार मजबूती से खड़ा है और देश की सेवा कर रहा है। इसके बाद से भाजपा का हर खास और आम में सोशल मीडिया पर खुद को चौकीदार बताने की होड़ मची है। इसी क्रम में शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी शनिवार को ट्वीट किया है कि ‘हां मैं भी चौकीदार हूं’। अपने ट्विटर एकाउंट पर मुख्यमंत्री ने लिखा है कि ‘उत्तर प्रदेश है संकल्पित और मैं तैयार हूं, जो प्रेरणा से है बही विकास की बयार हूं। हां मैं भी चौकीदार हूं।


  • राष्ट्रीय सहारा : 15/03/2019 लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य सरकार ने न केवल गेहूं का समर्थन मूल्य बढ़ाया है, बल्कि वर्तमान सीजन में 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया है।उन्होने कहा कि गेहूं का समर्थन मूल्य पहले 1460 रुपये था, जिसे प्रधानमंत्री श्री मोदी ने बढ़ाकर 1840 रुपये कर दिया। सपा की सरकार में किसानों से न तो धान खरीदा जा रहा था और न ही गेहूं। यही हाल आलू, दलहन, तिलहन की कोई खरीद नहीं हो रही थी। प्रदेश के अंदर खरीद पालिसी को लेकर कोई व्यवस्था नहीं थी। धान व गेहूं की उपज को अखिलेश सरकार सीधे नहीं खरीदती थी। एमएसपी तब तक बेईमानी है, जब तक आप किसान के उपज को नहीं खरीदते हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों से 2017 में सीधे 37 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदा। यही नहीं 2018 में 53 लाख मीट्रिक टन की खरीद हुई और अब 2019 में 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं के खरीद का लक्ष्य रखा है। इसके लिए छह हजार केंद्र खोले जा चुके हैं। श्री योगी ने कहा कि इसी तरह हमारी सरकार ने धान की खरीद प्रक्रिया में किसानों के जीवन में खुशहाली आयी है। इस वर्ष 2018-19 में सरकार ने 48 लाख मीट्रिक धान की खरीद की है।
    Close
    राज्य सरकार 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद करेगी : योगी
    राष्ट्रीय सहारा 15/03/2019
    लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य सरकार ने न केवल गेहूं का समर्थन मूल्य बढ़ाया है, बल्कि वर्तमान सीजन में 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया है।उन्होने कहा कि गेहूं का समर्थन मूल्य पहले 1460 रुपये था, जिसे प्रधानमंत्री श्री मोदी ने बढ़ाकर 1840 रुपये कर दिया। सपा की सरकार में किसानों से न तो धान खरीदा जा रहा था और न ही गेहूं। यही हाल आलू, दलहन, तिलहन की कोई खरीद नहीं हो रही थी। प्रदेश के अंदर खरीद पालिसी को लेकर कोई व्यवस्था नहीं थी। धान व गेहूं की उपज को अखिलेश सरकार सीधे नहीं खरीदती थी। एमएसपी तब तक बेईमानी है, जब तक आप किसान के उपज को नहीं खरीदते हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों से 2017 में सीधे 37 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदा। यही नहीं 2018 में 53 लाख मीट्रिक टन की खरीद हुई और अब 2019 में 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं के खरीद का लक्ष्य रखा है। इसके लिए छह हजार केंद्र खोले जा चुके हैं। श्री योगी ने कहा कि इसी तरह हमारी सरकार ने धान की खरीद प्रक्रिया में किसानों के जीवन में खुशहाली आयी है। इस वर्ष 2018-19 में सरकार ने 48 लाख मीट्रिक धान की खरीद की है।


  • दैनिक जागरण : 14/03/2019 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : चुनाव सीजन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ट्वीट भी बढ़ गये हैं। बुधवार को उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा ट्वीट किये। बुआ-बबुआ पर हमला किया। केंद्र-प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाई तो मतदाताओं की जागरूक भी किया। बताना न भूले कि पांच साल में जो काम हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ही संभव हैं। योगी ने ट्वीट किया कि गरीबों को मकान, शौचालय, पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर और किसान सम्मान निधि योजना के तहत लघु-सीमांत किसानों को सालाना छह हजार रुपये देने का निर्णय मोदी की अगुआई में ही संभव है। ‘स्किल डेवलपमेंट’ के माध्यम से नौजवानों को रोजगार, भारत को दुनिया का आर्थिक शक्ति के रूप में स्थापित करने का काम, आंतरिक और वाह्य सुरक्षा के साथ ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति पर बहुत काम हुए। पिछले सरकार में संरक्षित अपराधी अचानक दिखने बंद हो गए। दो साल में एक भी दंगा नहीं हुआ। वे कहते है, जनता जागरूक है। जातिवाद, भाई-भतीजा, परिवारवाद और भ्रष्टाचारियों के दिन लदने वाले हैं। बुआ-बबुआ का यह बेमेल गठबंधन जनता को पसंद नहीं।
    Close
    मोदी से मुमकिन हुआ : योगी
    दैनिक जागरण 14/03/2019
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : चुनाव सीजन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ट्वीट भी बढ़ गये हैं। बुधवार को उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा ट्वीट किये। बुआ-बबुआ पर हमला किया। केंद्र-प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाई तो मतदाताओं की जागरूक भी किया। बताना न भूले कि पांच साल में जो काम हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ही संभव हैं। योगी ने ट्वीट किया कि गरीबों को मकान, शौचालय, पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर और किसान सम्मान निधि योजना के तहत लघु-सीमांत किसानों को सालाना छह हजार रुपये देने का निर्णय मोदी की अगुआई में ही संभव है। ‘स्किल डेवलपमेंट’ के माध्यम से नौजवानों को रोजगार, भारत को दुनिया का आर्थिक शक्ति के रूप में स्थापित करने का काम, आंतरिक और वाह्य सुरक्षा के साथ ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति पर बहुत काम हुए। पिछले सरकार में संरक्षित अपराधी अचानक दिखने बंद हो गए। दो साल में एक भी दंगा नहीं हुआ। वे कहते है, जनता जागरूक है। जातिवाद, भाई-भतीजा, परिवारवाद और भ्रष्टाचारियों के दिन लदने वाले हैं। बुआ-बबुआ का यह बेमेल गठबंधन जनता को पसंद नहीं।


  • हिन्दुस्तान : 13/03/2019 मुख्यंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर नया चुनावी नारा लांच किया। उन्होंने कहा यूपी 74 पार फिर एक बार मोदी सरकार। साथ में उन्होंने एक कविता भी ट्वीट की है। इसमें उन्होंने लिखा है। न जाति न धर्म, न ऊंच न नीच। हम पहुँचा रहे विकास सबके बीच। हिन्दुस्तान,कर रहा अभिमान, उत्तर प्रदेश गढ़ रहा नए प्रतिमान, रच रहा नई पहचान। आओ मिल सब साथ बढ़ें, आओ मिल सब साथ चलें। नए सफर पर उत्तर प्रदेश। इससे पहले मुख्यमंत्री ने सपा अध्यक्ष पर तंज करते हुए कहा कि चेतना को नया आयाम देने वाले महापुरुषों के स्मारकों को अखिलेश यादव ध्वस्त करने की बात करते थे। आज जब उनके स्वंय के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा तो बुआ के पाले में बैठकर अस्तित्व को बचाना चाहते हैं। समाज इस सबको देख रहा है, जिसे स्वीकार नहीं करेगा। सपा-बसपा को जिताने का मतलब अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि केंद्र व यूपी की भाजपा सरकार द्वारा किए गए काम सपा बसपा गठबंधन पर भारी पड़ेंगे। योगी ने कहा कि उनके एक कार्यकाल एक भी दंगा नहीं हुआ। ये जो गुंडे, अपराधी इनकी संरक्षण में बड़े-बड़े अपराध करते थे, आज उनके बारे में हर व्यक्ति जानता है कि वे कहां चले गए। कुंभ का आयोजन सफलता पूर्वक संपन होना अपने आप में बड़ी बात हैं। 2013 में महाकुंभ में अव्यवस्था थी, भगदड़ में लोग मरे थे। इस बार दोगुने से ज्यादा श्रद्धालु कुंभ में आए। सपा-बसपा को जिताने का मतलब अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा है। जनता जागरुक है, ऐसा कभी नहीं करेगी। योगी ने कहा कि गरीब को मकान, शौचालय, बिजली कनेक्शन, रसोई गैस कनेक्शन, पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर, किसान को 6 हजार रुपये सालाना किसान सम्मान निधि जैसे कार्य केवल प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में ही संभव है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बयान पर कटाक्ष करते हुए योगी ने कहा कि अखिलेश अपने मकान से बाहर निकले तो गांव की जानकारी मिलेगी। योगी ने कहा कि सच्चाई यह है कि अखिलेश की सरकार के समय उत्तर प्रदेश में पीएम आवास योजना (शहरी) में केवल 20 हजार आवास योजना सैंक्शन हुए थे, दो साल का समय इनके पास था। जबकि हमारी सरकार के समय अभी 23 महीने में 11 लाख से अधिक आवास गरीबों को मिल चुका है। समाजवादी पार्टी की सरकार में किसी भी गरीब परिवार को बिजली कनेक्शन नहीं मिला थे, जबकि हमारी सरकार ने 1 करोड़ से अधिक गरीबों को बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवाया है। लखनऊ :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बयान में कहा है कि सच्चाई यह है कि अखिलेश की सरकार के समय उत्तर प्रदेश में पीएम आवास योजना (शहरी) में केवल 20 हजार आवास योजना सेंशन हुए थे। दो साल का समय इनके पास था जबकि हमारी सरकार के समय अभी 23 महीने में 11 लाख से अधिक आवास गरीबों को मिल चुका है। उन्होंने कहा कि गरीब को मकान, शौचालय, बिजली कनेक्शन, रसोई गैस कनेक्शन, पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर, किसान को 6 हजार रुपये सालाना किसान सम्मान निधि जैसे अभिनंदनीय कार्य केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ही संभव है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बयान पर कटाक्ष करते हुए योगी ने कहा कि अखिलेश अपने मकान से बाहर निकले तो गांव की जानकारी मिलेगी। मैं सच्चाई बताऊं तो अखिलेश मुंह दिखने के लिए लायक नहीं रहेंगे।
    Close
    यूपी इस बार 74 पार
    हिन्दुस्तान 13/03/2019
    मुख्यंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर नया चुनावी नारा लांच किया। उन्होंने कहा यूपी 74 पार फिर एक बार मोदी सरकार। साथ में उन्होंने एक कविता भी ट्वीट की है। इसमें उन्होंने लिखा है। न जाति न धर्म, न ऊंच न नीच। हम पहुँचा रहे विकास सबके बीच। हिन्दुस्तान,कर रहा अभिमान, उत्तर प्रदेश गढ़ रहा नए प्रतिमान, रच रहा नई पहचान। आओ मिल सब साथ बढ़ें, आओ मिल सब साथ चलें। नए सफर पर उत्तर प्रदेश। इससे पहले मुख्यमंत्री ने सपा अध्यक्ष पर तंज करते हुए कहा कि चेतना को नया आयाम देने वाले महापुरुषों के स्मारकों को अखिलेश यादव ध्वस्त करने की बात करते थे। आज जब उनके स्वंय के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा तो बुआ के पाले में बैठकर अस्तित्व को बचाना चाहते हैं। समाज इस सबको देख रहा है, जिसे स्वीकार नहीं करेगा। सपा-बसपा को जिताने का मतलब अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि केंद्र व यूपी की भाजपा सरकार द्वारा किए गए काम सपा बसपा गठबंधन पर भारी पड़ेंगे। योगी ने कहा कि उनके एक कार्यकाल एक भी दंगा नहीं हुआ। ये जो गुंडे, अपराधी इनकी संरक्षण में बड़े-बड़े अपराध करते थे, आज उनके बारे में हर व्यक्ति जानता है कि वे कहां चले गए। कुंभ का आयोजन सफलता पूर्वक संपन होना अपने आप में बड़ी बात हैं। 2013 में महाकुंभ में अव्यवस्था थी, भगदड़ में लोग मरे थे। इस बार दोगुने से ज्यादा श्रद्धालु कुंभ में आए। सपा-बसपा को जिताने का मतलब अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा है। जनता जागरुक है, ऐसा कभी नहीं करेगी। योगी ने कहा कि गरीब को मकान, शौचालय, बिजली कनेक्शन, रसोई गैस कनेक्शन, पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर, किसान को 6 हजार रुपये सालाना किसान सम्मान निधि जैसे कार्य केवल प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में ही संभव है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बयान पर कटाक्ष करते हुए योगी ने कहा कि अखिलेश अपने मकान से बाहर निकले तो गांव की जानकारी मिलेगी। योगी ने कहा कि सच्चाई यह है कि अखिलेश की सरकार के समय उत्तर प्रदेश में पीएम आवास योजना (शहरी) में केवल 20 हजार आवास योजना सैंक्शन हुए थे, दो साल का समय इनके पास था। जबकि हमारी सरकार के समय अभी 23 महीने में 11 लाख से अधिक आवास गरीबों को मिल चुका है। समाजवादी पार्टी की सरकार में किसी भी गरीब परिवार को बिजली कनेक्शन नहीं मिला थे, जबकि हमारी सरकार ने 1 करोड़ से अधिक गरीबों को बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवाया है। लखनऊ :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बयान में कहा है कि सच्चाई यह है कि अखिलेश की सरकार के समय उत्तर प्रदेश में पीएम आवास योजना (शहरी) में केवल 20 हजार आवास योजना सेंशन हुए थे। दो साल का समय इनके पास था जबकि हमारी सरकार के समय अभी 23 महीने में 11 लाख से अधिक आवास गरीबों को मिल चुका है। उन्होंने कहा कि गरीब को मकान, शौचालय, बिजली कनेक्शन, रसोई गैस कनेक्शन, पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर, किसान को 6 हजार रुपये सालाना किसान सम्मान निधि जैसे अभिनंदनीय कार्य केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ही संभव है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बयान पर कटाक्ष करते हुए योगी ने कहा कि अखिलेश अपने मकान से बाहर निकले तो गांव की जानकारी मिलेगी। मैं सच्चाई बताऊं तो अखिलेश मुंह दिखने के लिए लायक नहीं रहेंगे।


  • हिन्दुस्तान : 12/03/2019 चुनावी रणभेरी बजने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जो विपक्ष के लिए नामुमकिन था, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उसे मुमकिन किया। उन्होंने बसपा सपा गठबंधन पर तंज करते हुए कहा कि बुआ का जीरो और बबुआ का पांच का मतलब जीरो ही है। सपा बसपा का गठबंधन भ्रष्ट और महामिलावट वाला है। गणित का फार्मूला बताते हुए योगी ने कहा कि जीरो से गुणा करने पर जीरो ही आता है। इसी तरह सपा के पांच को बसपा के जीरो से मल्टीप्लाई करने पर जीरो ही आएगा। योगी ने कहा कि आतंकवादियों को बिरयानी खिलाने वाले आज सेना के शौर्य का सबूत मांग रहे हैं। कुछ लोग रमजान को चुनाव से जोड़कर ओछी राजनीति कर रहे हैं, जो ठीक नहीं है। रमजान मनाने के साथ लोग मतदान भी करेंगे। मुसलमान रमजान मनाएं, उन्हें कौन रोक रहा है: सीएम ने कहा कि मुसलमान रमजान मनाएं, उन्हें रमजान मनाने से कौन रोक रहा है। पर्व और त्यौहार भारत की संवैधानिक परंपरा के हिस्सा हैं। चुनाव प्रचार आप दिन भर कर सकते हैं। इसमें कहां से पर्व और त्यौहार आड़े आते हैं। ये देश का दुर्भाग्य है कि इतनी संकीर्ण मानसिकता के साथ कांग्रेस और विपक्षी दलों द्वारा ओछी राजनीति की जा रही है। भाजपा गठबंधन मोदी के नेतृत्व में इस चुनाव को प्रचंड बहुमत से जीतेगा। उत्तर प्रदेश 74 प्लस के लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ेगा, अमेठी और आजमगढ़ को भी भाजपा जीतेगी। बुआ और बबुआ को जनता फिर दिखाएगी ठेंगा: यूपी जातिवाद और परिवारवाद की राजनीति से उब चुका है। 2014 में सपा यहां सत्ता में थी, तब उनकी क्या हुई थी, ये हर व्यक्ति जानता है। 2017 में भी दो लड़के यूपी में आए थे, उन्होंने जनता को बरगलाने के लिए बहुत नारे दिए थे, जनता ने उनके अराजक और काले कारनामों को ठेंगा दिखा दिया था। उन्होंने कहा कि आज बुआ और बबुआ एक साथ एक मंच पर आए हैं, सभी को पता है ये भ्रष्टाचार और अराजकता का गठबंधन है। जनता इस प्रकार की किसी भी महामिलावट को स्वीकार नहीं करेगा। जिन सांसदों का रिपोर्ट कार्ड ठीक नहीं है, उनके टिकट काटने की बात पर योगी ने कहा कि इस पर हम लोग अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे हैं। अभी इस पर चर्चा हो रही है। भाजपा, सरकार और संगठन के साथ बेहतर तालमेल के साथ आगे बढ़ रही है। संगठन ने जो रणनीति पूरे प्रदेश में बनाई है, उस रणनीति के बारे में चर्चा करने के लिए हम लोग बैठे थे, अलग-अलग सीटों पर क्या स्ट्रेटजी हो सकती है, इन पर चर्चा करने के लिए हम लोगों की बैठकें होती रही हैं।
    Close
    बबुआ का पांच, बुआ जीरो बराबर शून्य : मुख्यमंत्री
    हिन्दुस्तान 12/03/2019
    चुनावी रणभेरी बजने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जो विपक्ष के लिए नामुमकिन था, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उसे मुमकिन किया। उन्होंने बसपा सपा गठबंधन पर तंज करते हुए कहा कि बुआ का जीरो और बबुआ का पांच का मतलब जीरो ही है। सपा बसपा का गठबंधन भ्रष्ट और महामिलावट वाला है। गणित का फार्मूला बताते हुए योगी ने कहा कि जीरो से गुणा करने पर जीरो ही आता है। इसी तरह सपा के पांच को बसपा के जीरो से मल्टीप्लाई करने पर जीरो ही आएगा। योगी ने कहा कि आतंकवादियों को बिरयानी खिलाने वाले आज सेना के शौर्य का सबूत मांग रहे हैं। कुछ लोग रमजान को चुनाव से जोड़कर ओछी राजनीति कर रहे हैं, जो ठीक नहीं है। रमजान मनाने के साथ लोग मतदान भी करेंगे। मुसलमान रमजान मनाएं, उन्हें कौन रोक रहा है: सीएम ने कहा कि मुसलमान रमजान मनाएं, उन्हें रमजान मनाने से कौन रोक रहा है। पर्व और त्यौहार भारत की संवैधानिक परंपरा के हिस्सा हैं। चुनाव प्रचार आप दिन भर कर सकते हैं। इसमें कहां से पर्व और त्यौहार आड़े आते हैं। ये देश का दुर्भाग्य है कि इतनी संकीर्ण मानसिकता के साथ कांग्रेस और विपक्षी दलों द्वारा ओछी राजनीति की जा रही है। भाजपा गठबंधन मोदी के नेतृत्व में इस चुनाव को प्रचंड बहुमत से जीतेगा। उत्तर प्रदेश 74 प्लस के लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ेगा, अमेठी और आजमगढ़ को भी भाजपा जीतेगी। बुआ और बबुआ को जनता फिर दिखाएगी ठेंगा: यूपी जातिवाद और परिवारवाद की राजनीति से उब चुका है। 2014 में सपा यहां सत्ता में थी, तब उनकी क्या हुई थी, ये हर व्यक्ति जानता है। 2017 में भी दो लड़के यूपी में आए थे, उन्होंने जनता को बरगलाने के लिए बहुत नारे दिए थे, जनता ने उनके अराजक और काले कारनामों को ठेंगा दिखा दिया था। उन्होंने कहा कि आज बुआ और बबुआ एक साथ एक मंच पर आए हैं, सभी को पता है ये भ्रष्टाचार और अराजकता का गठबंधन है। जनता इस प्रकार की किसी भी महामिलावट को स्वीकार नहीं करेगा। जिन सांसदों का रिपोर्ट कार्ड ठीक नहीं है, उनके टिकट काटने की बात पर योगी ने कहा कि इस पर हम लोग अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे हैं। अभी इस पर चर्चा हो रही है। भाजपा, सरकार और संगठन के साथ बेहतर तालमेल के साथ आगे बढ़ रही है। संगठन ने जो रणनीति पूरे प्रदेश में बनाई है, उस रणनीति के बारे में चर्चा करने के लिए हम लोग बैठे थे, अलग-अलग सीटों पर क्या स्ट्रेटजी हो सकती है, इन पर चर्चा करने के लिए हम लोगों की बैठकें होती रही हैं।


  • दैनिक जागरण : 11/03/2019 राब्यू, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछली सरकारों में किसानों और गरीबों का हित सिर्फ नारों एवं घोषणाओं तक सीमित था। कांग्रेस, सपा और बसपा की सरकारों के लिए मत, मजहब, जाति और परिवार सवरेपरि रहा है। इनके समय में परियोजनाएं लूट-खसोट और बेईमानी के लिए बनती थीं। यही वजह है कि सरयू नहर जैसी परियोजनाएं चार दशकों तक लटकी रहीं। खेत सूखे रहे और लागत बढ़ती रही। कहा कि इस साल के अंत तक हम प्रदेश की 20 लाख हेक्टेयर अतिरिक्त भूमि को सिंचन क्षमता से आच्छादित करेंगे। रविवार को यहां राज्य कृषि प्रबंधन संस्थान रहमानखेड़ा में ‘सेंटर आफ एक्सीलेंस’ और राजकीय कृषि प्रक्षेत्र मॉडल के शिलान्यास के मौके पर योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जबसे किसानों की आय दोगुना करने की घोषणा की तबसे प्रधानमंत्री सिंचाई, फसल बीमा और किसान सम्मान आदि योजनाओं के जरिए इस पर काम भी जारी है। केंद्र के नक्शे-कदम पर प्रदेश सरकार ने भी बदहाल लघु-सीमांत किसानों की फौरी राहत के लिए पहला काम कर्ज माफी का किया। समय से कृषि निवेश उपलब्ध कराया। बीजों पर अनुदान बढ़ाया। खरीद की पारदर्शी व्यवस्था कर इसमें से बिचौलियों की भूमिका खत्म कर दी। नतीजतन गेंहू, धान और गन्ने की रिकार्ड खरीद और भुगतान हुआ।
    Close
    पिछली सरकारों का एजेंडा था लूट-खसोट : योगी
    दैनिक जागरण 11/03/2019
    राब्यू, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछली सरकारों में किसानों और गरीबों का हित सिर्फ नारों एवं घोषणाओं तक सीमित था। कांग्रेस, सपा और बसपा की सरकारों के लिए मत, मजहब, जाति और परिवार सवरेपरि रहा है। इनके समय में परियोजनाएं लूट-खसोट और बेईमानी के लिए बनती थीं। यही वजह है कि सरयू नहर जैसी परियोजनाएं चार दशकों तक लटकी रहीं। खेत सूखे रहे और लागत बढ़ती रही। कहा कि इस साल के अंत तक हम प्रदेश की 20 लाख हेक्टेयर अतिरिक्त भूमि को सिंचन क्षमता से आच्छादित करेंगे। रविवार को यहां राज्य कृषि प्रबंधन संस्थान रहमानखेड़ा में ‘सेंटर आफ एक्सीलेंस’ और राजकीय कृषि प्रक्षेत्र मॉडल के शिलान्यास के मौके पर योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जबसे किसानों की आय दोगुना करने की घोषणा की तबसे प्रधानमंत्री सिंचाई, फसल बीमा और किसान सम्मान आदि योजनाओं के जरिए इस पर काम भी जारी है। केंद्र के नक्शे-कदम पर प्रदेश सरकार ने भी बदहाल लघु-सीमांत किसानों की फौरी राहत के लिए पहला काम कर्ज माफी का किया। समय से कृषि निवेश उपलब्ध कराया। बीजों पर अनुदान बढ़ाया। खरीद की पारदर्शी व्यवस्था कर इसमें से बिचौलियों की भूमिका खत्म कर दी। नतीजतन गेंहू, धान और गन्ने की रिकार्ड खरीद और भुगतान हुआ।


  • राष्ट्रीय सहारा : 10/03/2019 सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को ऐलान किया कि अधिवक्ताओं की सुरक्षा के बाबत दी जाने वाली पांच लाख की सहायता राशि अब 60 की जगह 70 साल तक के अधिवक्ताओं को मिलेगी। इसके साथ ही तीन वर्ष की प्रैक्टिस कर चुके अधिवक्ताओं को पांच हजार की सहयोग धनराशि प्रतिवर्ष विधि की किताबों की खरीद के लिए दी जाएगी। यह पैसा सीधे ई अकाउंट से उनके खाते में भेजा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वकीलों के लिए कल्याणकारी योजनाओं व सुरक्षा को लेकर प्रदेश सरकार सदैव कटिबद्ध है ।बार काउंसिल सदस्य भी सम्मानित:योगी ने यह ऐलान यहां लोकभवन में आयोजित अधिवक्ता सम्मान समारोह में किया। उन्होंने समारोह में प्रदेश के वरिष्ठ अधिवक्ताओं को सम्मानित किया। इनमें अधिकतर अधिवक्ता पचास वर्ष की प्रैक्टिस पूरी कर चुके हैं। उन्होंने इसके साथ बार काउंसिल सदस्यों को भी सम्मानित किया।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद अभी और अनेक क्रांतिकारी परिवर्तन वकीलों व न्यायपालिका के लिए लाने वाले हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर कोर्ट में लाइब्रेरी, पेयजल, अलग से विद्युतीकरण, सुरक्षा आदि अनेक मुख्य मुद्दों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। प्रदेश के महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह की भी मुख्यमंत्री ने सराहना की और सभी को धन्यवाद दिया। महाधिवक्ता ने कहा कि इतिहास में पहली बार मुख्यमंत्री के हाथों इतने अधिक सीनियर वकीलों को सम्मान दिया गया है। इस मौके पर विधि व कानून मंत्री बृजेश पाठक ने बताया कि प्रदेश के 13 जिलों में नये कोर्ट बनाये गए हैं और अनेक फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट की भी स्थापना की गयी है। विधि न्याय राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी ने सभी को धन्यवाद दिया। प्रमुख सचिव न्याय डीके सिंह ने भी सभी का आभार जताया। समारोह में मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय, अपर महाधिवक्ता वीके शाही, कुलदीप पति त्रिपाठी, मुख्य स्थाई अधिवक्ता जेके सिन्हा, श्रीप्रकाश सिंह, शैलेन्द्र सिंह, अपर मुख्य स्थाई अधिवक्ता रनविजय सिंह डा. उदयवीर सिंह, रामप्रताप सिंह सहित अनेक अधिवक्ता मौजूद थे ।इन वकीलों को किया सम्मानित : एनके सेठ, आरएन गुप्ता, सुबोध कुमार शुक्ला, सुरेश चंद्र श्रीवास्तव, टीएन गुप्ता,बीसी अग्रवाल, आरए उपाध्याय, यूके श्रीवास्तव को सम्मानित किया गया। बाकी अन्य को उनके आवास पर सम्मान पत्र भेजा जाएगा। इसके साथ ही बार काउंसिल सदस्य अमरेंद्र नाथ सिंह, प्रशांत सिंह अटल, अखिलेश अवस्थी, अजय शुक्ला, पांचू राम मौर्य, देवेंद्र मिश्र नगराता व जानकी शरण पाण्डेय को भी सम्मानित किया गया।
    Close
    वकीलों को अब 70 की उम्र तक मिलेगी मदद राशि : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 10/03/2019
    सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को ऐलान किया कि अधिवक्ताओं की सुरक्षा के बाबत दी जाने वाली पांच लाख की सहायता राशि अब 60 की जगह 70 साल तक के अधिवक्ताओं को मिलेगी। इसके साथ ही तीन वर्ष की प्रैक्टिस कर चुके अधिवक्ताओं को पांच हजार की सहयोग धनराशि प्रतिवर्ष विधि की किताबों की खरीद के लिए दी जाएगी। यह पैसा सीधे ई अकाउंट से उनके खाते में भेजा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वकीलों के लिए कल्याणकारी योजनाओं व सुरक्षा को लेकर प्रदेश सरकार सदैव कटिबद्ध है ।बार काउंसिल सदस्य भी सम्मानित:योगी ने यह ऐलान यहां लोकभवन में आयोजित अधिवक्ता सम्मान समारोह में किया। उन्होंने समारोह में प्रदेश के वरिष्ठ अधिवक्ताओं को सम्मानित किया। इनमें अधिकतर अधिवक्ता पचास वर्ष की प्रैक्टिस पूरी कर चुके हैं। उन्होंने इसके साथ बार काउंसिल सदस्यों को भी सम्मानित किया।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद अभी और अनेक क्रांतिकारी परिवर्तन वकीलों व न्यायपालिका के लिए लाने वाले हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर कोर्ट में लाइब्रेरी, पेयजल, अलग से विद्युतीकरण, सुरक्षा आदि अनेक मुख्य मुद्दों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। प्रदेश के महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह की भी मुख्यमंत्री ने सराहना की और सभी को धन्यवाद दिया। महाधिवक्ता ने कहा कि इतिहास में पहली बार मुख्यमंत्री के हाथों इतने अधिक सीनियर वकीलों को सम्मान दिया गया है। इस मौके पर विधि व कानून मंत्री बृजेश पाठक ने बताया कि प्रदेश के 13 जिलों में नये कोर्ट बनाये गए हैं और अनेक फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट की भी स्थापना की गयी है। विधि न्याय राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी ने सभी को धन्यवाद दिया। प्रमुख सचिव न्याय डीके सिंह ने भी सभी का आभार जताया। समारोह में मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय, अपर महाधिवक्ता वीके शाही, कुलदीप पति त्रिपाठी, मुख्य स्थाई अधिवक्ता जेके सिन्हा, श्रीप्रकाश सिंह, शैलेन्द्र सिंह, अपर मुख्य स्थाई अधिवक्ता रनविजय सिंह डा. उदयवीर सिंह, रामप्रताप सिंह सहित अनेक अधिवक्ता मौजूद थे ।इन वकीलों को किया सम्मानित : एनके सेठ, आरएन गुप्ता, सुबोध कुमार शुक्ला, सुरेश चंद्र श्रीवास्तव, टीएन गुप्ता,बीसी अग्रवाल, आरए उपाध्याय, यूके श्रीवास्तव को सम्मानित किया गया। बाकी अन्य को उनके आवास पर सम्मान पत्र भेजा जाएगा। इसके साथ ही बार काउंसिल सदस्य अमरेंद्र नाथ सिंह, प्रशांत सिंह अटल, अखिलेश अवस्थी, अजय शुक्ला, पांचू राम मौर्य, देवेंद्र मिश्र नगराता व जानकी शरण पाण्डेय को भी सम्मानित किया गया।


  • हिन्दुस्तान : 09/03/2019 गाजियाबाद। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में पिछले दो सालों में जितना विकास हुआ है उसके बारे में कभी दूसरी पार्टी की सरकार सोच भी नहीं सकती है। प्रदेश में नामुमकिन योजनाओं को मुमकिन कर दिखाने का काम भाजपा सरकार ने किया है। रैपिड रेल गाजियाबाद का भविष्य बदल देगी और पश्चिमी यूपी के लोगों का नया सपना साकार करेगी। यह सब कुछ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रभाव है। केंद्र में मोदी है तो सब कुछ मुमकिन है। उन्होंने ये बाद गाजियाबाद में साढ़े 32 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा के दौरान कही। योगी ने कहा पश्चिमी उत्तर प्रदेश दंगों के लिए जाना जाता था। यहां कैरना से पलायन तक हुआ। दो साल पहले तक गाजियाबाद में महिलाएं सुरक्षित नहीं थी, विकास ठप था। भ्रष्टाचार व अराजकता का माहौल था।
    Close
    मोदी हैं तो सब कुछ मुमकिन है : योगी
    हिन्दुस्तान 09/03/2019
    गाजियाबाद। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में पिछले दो सालों में जितना विकास हुआ है उसके बारे में कभी दूसरी पार्टी की सरकार सोच भी नहीं सकती है। प्रदेश में नामुमकिन योजनाओं को मुमकिन कर दिखाने का काम भाजपा सरकार ने किया है। रैपिड रेल गाजियाबाद का भविष्य बदल देगी और पश्चिमी यूपी के लोगों का नया सपना साकार करेगी। यह सब कुछ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रभाव है। केंद्र में मोदी है तो सब कुछ मुमकिन है। उन्होंने ये बाद गाजियाबाद में साढ़े 32 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा के दौरान कही। योगी ने कहा पश्चिमी उत्तर प्रदेश दंगों के लिए जाना जाता था। यहां कैरना से पलायन तक हुआ। दो साल पहले तक गाजियाबाद में महिलाएं सुरक्षित नहीं थी, विकास ठप था। भ्रष्टाचार व अराजकता का माहौल था।


  • दैनिक जागरण : 08/03/2019 राब्यू, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम विकास के साथ आस्था का भी सम्मान करते हैं। पिछली सरकारों का इन दोनों से कोई सरोकार नहीं था। उनका सरोकार अराजकता, लूट-खसोट और भ्रष्टाचार से था। आस्था तो उनके लिए हासिये पर थी। अयोध्या के नाम से उनको करंट लगता था। मथुरा, वृंदावन और बरसाना का नाम तो भूले से भी नहीं लेते थे। थानों पर जन्माष्टमी के आयोजन को बंद करवा दिया। कांवड़ियों को भजन गाने से रोक दिया। कुंभ के आयोजन की जिम्मेदारी एक ऐसे व्यक्ति को दी जिसकी निष्ठा ही संदिग्ध है। योगी गुरुवार को यहां लोकभवन में कैलाश-मानसरोवर और सिंधु यात्र पर पिछले साल गये श्रद्धालुओं के लिए आयोजित अनुदान वितरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। योगी ने कहा कि हमने विकास के साथ आस्था का भी सम्मान किया। अयोध्या का दीपोत्सव, वाराणसी की देव दीपावली और मथुरा-वृंदावन का रंगोत्सव इसका प्रमाण है। मुख्यमंत्री ने सिंधु दर्शन यात्र की अनुदान राशि 10 हजार से बढ़ाकर 20 हजार रुपये करने और अगले साल कैलाश मानसरोवर यात्र पर जाने वाले श्रद्धालुओं को कैबिनेट के साथ नेपाल के किसी जगह पर विदाई करने की भी घोषणा की।
    Close
    पिछली सरकारों के एजेंडे में न विकास था और न आस्था : योगी
    दैनिक जागरण 08/03/2019
    राब्यू, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम विकास के साथ आस्था का भी सम्मान करते हैं। पिछली सरकारों का इन दोनों से कोई सरोकार नहीं था। उनका सरोकार अराजकता, लूट-खसोट और भ्रष्टाचार से था। आस्था तो उनके लिए हासिये पर थी। अयोध्या के नाम से उनको करंट लगता था। मथुरा, वृंदावन और बरसाना का नाम तो भूले से भी नहीं लेते थे। थानों पर जन्माष्टमी के आयोजन को बंद करवा दिया। कांवड़ियों को भजन गाने से रोक दिया। कुंभ के आयोजन की जिम्मेदारी एक ऐसे व्यक्ति को दी जिसकी निष्ठा ही संदिग्ध है। योगी गुरुवार को यहां लोकभवन में कैलाश-मानसरोवर और सिंधु यात्र पर पिछले साल गये श्रद्धालुओं के लिए आयोजित अनुदान वितरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। योगी ने कहा कि हमने विकास के साथ आस्था का भी सम्मान किया। अयोध्या का दीपोत्सव, वाराणसी की देव दीपावली और मथुरा-वृंदावन का रंगोत्सव इसका प्रमाण है। मुख्यमंत्री ने सिंधु दर्शन यात्र की अनुदान राशि 10 हजार से बढ़ाकर 20 हजार रुपये करने और अगले साल कैलाश मानसरोवर यात्र पर जाने वाले श्रद्धालुओं को कैबिनेट के साथ नेपाल के किसी जगह पर विदाई करने की भी घोषणा की।


  • हिन्दुस्तान : 07/03/2019 शहीदों के आश्रितों को सरकारी नौकरी का नियुक्ति पत्र व आर्थिक मदद देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पहले ऐसी व्यवस्था नहीं थी कि शहीदों के आश्रितों को सरकारी सेवा में समायोजित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीदों के जिन आश्रितों को आयु कम होने की वजह से नियुक्ति पत्र नहीं मिल पा रहा है उन्हें आयु सीमा पूरी करते ही सरकारी नौकरी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सेना के 15 जवानों में छह को नियुक्ति पत्र दिया जा रहा है। नौ में तीन आश्रितों ने नौकरी लेने से मना कर दिया है। तीन ने आवेदन नहीं दिया। एक नाबालिग है, एक को पेंशन मिल रही है और एक सैनिक की वीर नारी सरकारी नौकरी कर रही है। शहीद के एक भाई ने नौकरी की इच्छा जताई है। इसके लिए नियमों को शिथिल किया जाएगा। राज्यपाल राम नाईक शहीदों की वीरता को नमन करते हुए कहा कि भारत की सेना दुनिया की सर्वोच्च सेना में एक है। उन्होंने बताया कि मुंबई की एक कंपनी ने वीर सैनिकों के आश्रितों को पांच-पांच लाख देने का कहा है। इसका चेक जल्द मुख्यमंत्री को भिजवा दिया जाएगा।
    Close
    शहीदों के आश्रितों के लिए नई व्यवस्था : योगी
    हिन्दुस्तान 07/03/2019
    शहीदों के आश्रितों को सरकारी नौकरी का नियुक्ति पत्र व आर्थिक मदद देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पहले ऐसी व्यवस्था नहीं थी कि शहीदों के आश्रितों को सरकारी सेवा में समायोजित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीदों के जिन आश्रितों को आयु कम होने की वजह से नियुक्ति पत्र नहीं मिल पा रहा है उन्हें आयु सीमा पूरी करते ही सरकारी नौकरी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सेना के 15 जवानों में छह को नियुक्ति पत्र दिया जा रहा है। नौ में तीन आश्रितों ने नौकरी लेने से मना कर दिया है। तीन ने आवेदन नहीं दिया। एक नाबालिग है, एक को पेंशन मिल रही है और एक सैनिक की वीर नारी सरकारी नौकरी कर रही है। शहीद के एक भाई ने नौकरी की इच्छा जताई है। इसके लिए नियमों को शिथिल किया जाएगा। राज्यपाल राम नाईक शहीदों की वीरता को नमन करते हुए कहा कि भारत की सेना दुनिया की सर्वोच्च सेना में एक है। उन्होंने बताया कि मुंबई की एक कंपनी ने वीर सैनिकों के आश्रितों को पांच-पांच लाख देने का कहा है। इसका चेक जल्द मुख्यमंत्री को भिजवा दिया जाएगा।


  • दैनिक जागरण : 06/03/2019 प्रयागराज कुंभ 2019 के समापन के लिए कुंभ क्षेत्र के गंगा पंडाल में मंगलवार को आयोजित समारोह को संबोधित करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं मंच पर बैठे राज्यपाल रामनाईक, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, मंत्रिपरिषद के सदस्य, अधिकारीगण एवं संत-महात्मा ’ जागरणज्ञानेन्द्र सिंह ’ प्रयागराज 1दिव्य और भव्य कुंभ का आगाज जिस दिव्यता व भव्यता के साथ हुआ था उसी तरह दुनिया के इस सबसे बड़े जनसमागम का समापन भी हुआ। इसमें महत्वपूर्ण योगदान देने वाले कर्मयोगियों को सौगात के साथ सम्मानित भी किया गया। कुंभ मेला आयोजन समिति के अध्यक्ष व राज्यपाल राम नाईक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में 93 उच्चाधिकारियों को उनके उत्कृष्ट कार्यो के लिए प्रशस्ति पत्र भेंट किया। मुख्यमंत्री ने कुंभ की कोर टीम में शामिल अफसरों को एक माह का वेतन बोनस के रूप में देने की घोषणा की। साथ ही मेले की सुरक्षा और यातायात के लिए तैनात लगभग 50 हजार सुरक्षा कर्मियों को कुंभ मेडल देने का एलान किया। मेले के कार्यो में लगे विभागों के 28 हजार कर्मयोगियों को प्रशस्ति पत्र के साथ ही पुरस्कार देने को भी कहा। दुनियाभर से आए लगभग 25 करोड़ श्रद्धालुओं के प्रति आभार भी जताया। कुंभ मेला क्षेत्र के सेक्टर एक स्थित गंगा पंडाल में मंगलवार शाम को समापन समारोह में राज्यपाल ने कहा कि किसी भी कार्य की शुरुआत अच्छे मन से होती है तो उसका परिणाम भी अच्छा ही होता है। कुंभ की पहली बैठक में जिले का नाम प्रयागराज किया गया था।
    Close
    कुंभ के कर्मयोगियों को सौगात और सम्मान
    दैनिक जागरण 06/03/2019
    प्रयागराज कुंभ 2019 के समापन के लिए कुंभ क्षेत्र के गंगा पंडाल में मंगलवार को आयोजित समारोह को संबोधित करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं मंच पर बैठे राज्यपाल रामनाईक, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, मंत्रिपरिषद के सदस्य, अधिकारीगण एवं संत-महात्मा ’ जागरणज्ञानेन्द्र सिंह ’ प्रयागराज 1दिव्य और भव्य कुंभ का आगाज जिस दिव्यता व भव्यता के साथ हुआ था उसी तरह दुनिया के इस सबसे बड़े जनसमागम का समापन भी हुआ। इसमें महत्वपूर्ण योगदान देने वाले कर्मयोगियों को सौगात के साथ सम्मानित भी किया गया। कुंभ मेला आयोजन समिति के अध्यक्ष व राज्यपाल राम नाईक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में 93 उच्चाधिकारियों को उनके उत्कृष्ट कार्यो के लिए प्रशस्ति पत्र भेंट किया। मुख्यमंत्री ने कुंभ की कोर टीम में शामिल अफसरों को एक माह का वेतन बोनस के रूप में देने की घोषणा की। साथ ही मेले की सुरक्षा और यातायात के लिए तैनात लगभग 50 हजार सुरक्षा कर्मियों को कुंभ मेडल देने का एलान किया। मेले के कार्यो में लगे विभागों के 28 हजार कर्मयोगियों को प्रशस्ति पत्र के साथ ही पुरस्कार देने को भी कहा। दुनियाभर से आए लगभग 25 करोड़ श्रद्धालुओं के प्रति आभार भी जताया। कुंभ मेला क्षेत्र के सेक्टर एक स्थित गंगा पंडाल में मंगलवार शाम को समापन समारोह में राज्यपाल ने कहा कि किसी भी कार्य की शुरुआत अच्छे मन से होती है तो उसका परिणाम भी अच्छा ही होता है। कुंभ की पहली बैठक में जिले का नाम प्रयागराज किया गया था।


  • हिन्दुस्तान : 05/03/2019 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि आतंकवादी प्यार की भाषा नहीं समझते। कांग्रेस के समय में आतंकवादियों ने मुंबई में हमला किया था। उसी समय ठीक से जवाब दे दिया गया होता तो आज आतंकी हमले नहीं होते। कांग्रेस के लिए यह मुमकिन नही था, अब मोदी हैं तो सब मुमकिन है। योगी सोमवार को पथरदेवा के मेदीपट्टी में नर्मदेश्वर महादेव मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा व लोकार्पण समारोह के बाद सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने त्रिपुरासुर नामक राक्षस पर किए शिव तांडव का उल्लेख करते हुए कहा कि हमारे सैनिकों ने उसी तरह का तांडव पाकिस्तान के अंदर सर्जिकल स्ट्राइक के माध्यम से किया। सर्जिकल स्ट्राइक में मारे गए बहुत से आतंकियों के बारे में पाकिस्तान छिपा रहा है। पाकिस्तान की हालत यह हो गई कि उससे न तो निगलते बन रहा है और न उगलते। तीसरी बड़ी अर्थव्ययस्था बनेगा भारत : योगी ने कहा कि 2014 में जब कांग्रेस की सरकार थी तो भारत दुनिया की 11वीं अर्थव्यवस्था था। नरेन्द्र मोदी के प्रयास से आज भारत दुनिया की छठवीं अर्थव्यवस्था बन गया है और अगले पांच वर्षों में देश दुनिया के तीन बड़ी अर्थव्यवस्था व तीन बड़ी ताकत वाले देशों में होगा।
    Close
    आतंकवादी प्यार की भाषा नहीं समझते : योगी
    हिन्दुस्तान 05/03/2019
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि आतंकवादी प्यार की भाषा नहीं समझते। कांग्रेस के समय में आतंकवादियों ने मुंबई में हमला किया था। उसी समय ठीक से जवाब दे दिया गया होता तो आज आतंकी हमले नहीं होते। कांग्रेस के लिए यह मुमकिन नही था, अब मोदी हैं तो सब मुमकिन है। योगी सोमवार को पथरदेवा के मेदीपट्टी में नर्मदेश्वर महादेव मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा व लोकार्पण समारोह के बाद सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने त्रिपुरासुर नामक राक्षस पर किए शिव तांडव का उल्लेख करते हुए कहा कि हमारे सैनिकों ने उसी तरह का तांडव पाकिस्तान के अंदर सर्जिकल स्ट्राइक के माध्यम से किया। सर्जिकल स्ट्राइक में मारे गए बहुत से आतंकियों के बारे में पाकिस्तान छिपा रहा है। पाकिस्तान की हालत यह हो गई कि उससे न तो निगलते बन रहा है और न उगलते। तीसरी बड़ी अर्थव्ययस्था बनेगा भारत : योगी ने कहा कि 2014 में जब कांग्रेस की सरकार थी तो भारत दुनिया की 11वीं अर्थव्यवस्था था। नरेन्द्र मोदी के प्रयास से आज भारत दुनिया की छठवीं अर्थव्यवस्था बन गया है और अगले पांच वर्षों में देश दुनिया के तीन बड़ी अर्थव्यवस्था व तीन बड़ी ताकत वाले देशों में होगा।


  • राष्ट्रीय सहारा : 04/03/2019 गोरखपुर (एसएनबी)। देश ने 57 महीनों के अंदर बदलते एवं उभरते भारत को देखा और महसूस किया है। देशवासियों के मन की बात जानकर लोक कल्याण संकल्प पत्र तैयार करने के लिए भाजपा देश का सबसे बड़ा अभियान चला रही है। इसके तहत भाजपा विभिन्न तबकों से संवाद स्थापित कर रही है। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिग्विजयनाथ स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आयोजित भारत के मन की बात कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहीं। वह दो दिवसीय दौरे पर रविवार को गोरखपुर पहुंचे थे। इसी क्रम में वह भारत के मन की बात के तहत प्रवासियों के मन की बात जानने के लिए डीवीएनपीजी कालेज पहुंचे थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस कार्यक्रम में जो सुझाव मिल रहे हैं, उन्हें भाजपा लोक कल्याण संकल्प पत्र में शामिल करेगी। यह संकल्प पत्र देशहित, जनहित को केंद्र में रखकर तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पहली बार देश और प्रदेश की राजधानी के बाहर अप्रवासी सम्मेलन का आयोजन वाराणसी में किया गया। इसकी मेजबानी उत्तर प्रदेश सरकार ने की। करीब डेढ़ से दो सौ वर्ष पूर्व मारीशस, हालैंड समेत विभिन्न देशों में भारतीय गिरगिटिया मजदूर बनकर गए। कालांतर में उन्होंने अपनी जीवटता से राष्ट्राध्यक्ष जैसे पदों को सुशोभित किया। उन्होंने बलिया के रसड़ा निवासी प्रवीण जगरन्नाथ और आजमगढ़ के सर रामगुलाम का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों ने वहां गांवों को बसाया और अपनी संस्कृति को जिंदा रखा। अनपढ़ होने के बाद भी ये लोग अपने साथ रामचरितमानस लेकर गए। इसके अनुसार अपने धार्मिक संस्कृति का संरक्षण किया। थाईलैंड से आए माधव सिंह, साउथ कोरिया के अरुण कुमार सिंह, पुणो के कन्हैया लाल, सिंगापुर से आए रवि राय, बैंकाक के नीतिश चंद्र आदि ने सीएम से सवाल किए। सीएम ने इसका जवाब दिया। संचालन अभय शुक्ल ने किया। इस मौके पर क्षेत्रीय अध्यक्ष डा. धमेर्ंद्र सिंह, जय प्रकाश निषाद, विश्वजीताशु सिंह आशु, प्रबल प्रताप शाही, बृजेश राम त्रिपाठी, आनंद अग्रहरि, रामनगीना शाही आदि मौजूद रहे।
    Close
    लोक कल्याण संकल्प पत्र में शामिल होेंगे सुझाव
    राष्ट्रीय सहारा 04/03/2019
    गोरखपुर (एसएनबी)। देश ने 57 महीनों के अंदर बदलते एवं उभरते भारत को देखा और महसूस किया है। देशवासियों के मन की बात जानकर लोक कल्याण संकल्प पत्र तैयार करने के लिए भाजपा देश का सबसे बड़ा अभियान चला रही है। इसके तहत भाजपा विभिन्न तबकों से संवाद स्थापित कर रही है। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिग्विजयनाथ स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आयोजित भारत के मन की बात कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहीं। वह दो दिवसीय दौरे पर रविवार को गोरखपुर पहुंचे थे। इसी क्रम में वह भारत के मन की बात के तहत प्रवासियों के मन की बात जानने के लिए डीवीएनपीजी कालेज पहुंचे थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस कार्यक्रम में जो सुझाव मिल रहे हैं, उन्हें भाजपा लोक कल्याण संकल्प पत्र में शामिल करेगी। यह संकल्प पत्र देशहित, जनहित को केंद्र में रखकर तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पहली बार देश और प्रदेश की राजधानी के बाहर अप्रवासी सम्मेलन का आयोजन वाराणसी में किया गया। इसकी मेजबानी उत्तर प्रदेश सरकार ने की। करीब डेढ़ से दो सौ वर्ष पूर्व मारीशस, हालैंड समेत विभिन्न देशों में भारतीय गिरगिटिया मजदूर बनकर गए। कालांतर में उन्होंने अपनी जीवटता से राष्ट्राध्यक्ष जैसे पदों को सुशोभित किया। उन्होंने बलिया के रसड़ा निवासी प्रवीण जगरन्नाथ और आजमगढ़ के सर रामगुलाम का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों ने वहां गांवों को बसाया और अपनी संस्कृति को जिंदा रखा। अनपढ़ होने के बाद भी ये लोग अपने साथ रामचरितमानस लेकर गए। इसके अनुसार अपने धार्मिक संस्कृति का संरक्षण किया। थाईलैंड से आए माधव सिंह, साउथ कोरिया के अरुण कुमार सिंह, पुणो के कन्हैया लाल, सिंगापुर से आए रवि राय, बैंकाक के नीतिश चंद्र आदि ने सीएम से सवाल किए। सीएम ने इसका जवाब दिया। संचालन अभय शुक्ल ने किया। इस मौके पर क्षेत्रीय अध्यक्ष डा. धमेर्ंद्र सिंह, जय प्रकाश निषाद, विश्वजीताशु सिंह आशु, प्रबल प्रताप शाही, बृजेश राम त्रिपाठी, आनंद अग्रहरि, रामनगीना शाही आदि मौजूद रहे।


  • दैनिक जागरण : 03/03/2019 जासं, गोरखपुर : विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की वतन वापसी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकार के मजबूत इरादों का अभिनव उदाहरण बताया है। उन्होंने कहा कि देश के जांबाज को पाकिस्तान से तीन दिन के भीतर वतन वापस लाकर केंद्र सरकार ने साबित कर दिया है कि वह खुद तो मजबूत है ही, उसके इरादे भी मजबूत हैं। सरकार जवानों को संबल देने के साथ किसानों के हितों का भी संवर्धन कर रही है। पीपीगंज के चौकमाफी में कृषि मेला और प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री ने देश के जवानों और किसानों के हित में काम करने वाली केंद्र सरकार की उपलब्धियों के साथ पूर्ववर्ती सरकार की नाकामियों को भी गिनाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभिनंदन मामले में सरकार अगर कमजोर होती तो गिड़गिड़ाती नजर आती। पाकिस्तानी फाइटर प्लेन को नष्ट करके उसकी धरती पर उतरने वाला भारतीय जांबाज अगर सकुशल घर लौट पाया है तो यह मजबूत और दृढ़ इच्छाशक्ति की सरकार से ही संभव हुआ है। समारोह में उपस्थित केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने सीएम के दावों को मजबूत करते हुए न केवल केंद्र सरकार की योजनाएं गिनाईं बल्कि किसानों को तकनीकी ज्ञान से लैस करने पर भी जोर दिया। खेती में तकनीक के इस्तेमाल पर जोर देते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि अब समय आ गया है जब नवीनतम आविष्कारों को जमीन तक पहुंचाया जाए। प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने भी सरकार की योजनाओं के साथ उपलब्धियों को बताया।
    Close
    अभिनंदन की रिहाई मजबूत इरादों का अभिनव उदाहरण
    दैनिक जागरण 03/03/2019
    जासं, गोरखपुर : विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की वतन वापसी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकार के मजबूत इरादों का अभिनव उदाहरण बताया है। उन्होंने कहा कि देश के जांबाज को पाकिस्तान से तीन दिन के भीतर वतन वापस लाकर केंद्र सरकार ने साबित कर दिया है कि वह खुद तो मजबूत है ही, उसके इरादे भी मजबूत हैं। सरकार जवानों को संबल देने के साथ किसानों के हितों का भी संवर्धन कर रही है। पीपीगंज के चौकमाफी में कृषि मेला और प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री ने देश के जवानों और किसानों के हित में काम करने वाली केंद्र सरकार की उपलब्धियों के साथ पूर्ववर्ती सरकार की नाकामियों को भी गिनाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभिनंदन मामले में सरकार अगर कमजोर होती तो गिड़गिड़ाती नजर आती। पाकिस्तानी फाइटर प्लेन को नष्ट करके उसकी धरती पर उतरने वाला भारतीय जांबाज अगर सकुशल घर लौट पाया है तो यह मजबूत और दृढ़ इच्छाशक्ति की सरकार से ही संभव हुआ है। समारोह में उपस्थित केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने सीएम के दावों को मजबूत करते हुए न केवल केंद्र सरकार की योजनाएं गिनाईं बल्कि किसानों को तकनीकी ज्ञान से लैस करने पर भी जोर दिया। खेती में तकनीक के इस्तेमाल पर जोर देते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि अब समय आ गया है जब नवीनतम आविष्कारों को जमीन तक पहुंचाया जाए। प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने भी सरकार की योजनाओं के साथ उपलब्धियों को बताया।


  • राष्ट्रीय सहारा : 02/03/2019 सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को आशा बहुओं की तारीफ करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्य सुविधाएं पहुंचाने में उनके योगदान महत्वपूर्ण हैं। इसीलिए सरकार आशा बहुओं के सेवाभाव और महत्वपूर्ण कार्य को देखते हुए उनके मानदेय में प्रतिमाह 750 रुपये की बढ़ोतरी करने जा रही है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में मरीजों को अस्पताल नहीं जाना होगा, बल्कि अस्पताल स्वयं मरीज के पास पहुंचेगा।मुख्यमंत्री श्री योगी ने शुक्रवार को यहां लोकभवन में कॉफी टेबल बुक का विमोचन, आरोग्य केंद्र एवं एमसीएच विग, टेली मेडिसिन और टेलीरेडियोलजी सेवा का लोकार्पण किया। उन्होंने लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड, आरोग्य कार्ड का वितरण किया। उन्होंने कहा कि एक साथ बहुत सारी योजनायें प्रदेश की जनता को दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों ने स्वास्य व्यवस्था की अनदेखी की। पहले अस्पतालों में दवा उपलब्ध नहीं होती थी। इसे देखकर उच्च न्यायालय को भी टिप्पणी करनी पड़ी थी कि सभी वीवीआईपी को तो स्वास्य सुविधाएं मिल जाती हैं, लेकिन आम आदमी को नहीं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा चिह्नित 115 अति पिछड़े जिलों में से आठ यूपी में हैं, जिनमें डॉक्टर जाने को तैयार नहीं होते थे। मगर टेलीमेडिसिन के तकनीक के उपयोग से वहां पहुंचना सम्भव हुआ है। इससे बीमारी से मरने के आंकड़ों में कमी आयी है। इस अवसर पर स्वास्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि, गोरखपुर, हमीरपुर, मिर्जापुर और बहराइच में कुल 15 टेलीमेडिसिन केंद्रों का शुभारंभ हुआ है। रेडियोलॉजिस्टों की कमी को देखते हुए प्रथम चरण में लखनऊ, बाराबंकी व सीतापुर जिलों में कुल पंद्रह टेली रेडियोलॉजी केंद्रों का शुभारंभ किया गया। 750 और स्वास्य उपकेंद्रों और संबंधित स्वास्य केंद्रों में आरोग्य केंद्र को लोकार्पित किया गया। मातृ व शिशु मृत्यु दर को भी कम करने का काम सरकार ने किया है। महीने के अंत तक आरोग्य केंद्र के 2500 सेंटर खोले जाने की योजना है। उन्होंने आशा बहुओं को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि 712 नये एम्बुलेंस आज 108 में जोड़ी जा रही हैं। परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि शिशु व मातृ-मृत्यु दर में सरकार के प्रयास से कमी आयी है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद डा. महेन्द्रनाथ पाण्डेय ने कहा कि मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने में आशा बहुओं का योगदान सराहनीय है। परिवार कल्याण राज्यमंत्री श्रीमती स्वाती सिंह ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव स्वास्य प्रशांत त्रिवेदी, राष्ट्रीय स्वास्य मिशन के मिशन निदेशक पंकज कुमार तथा सूचना निदेशक शिशिर सहित बड़ी संख्या में आशा कार्यकत्री और अधिकारी उपस्थित थे।
    Close
    750 रुपये बढ़ा आशा बहुओं का मानदेय
    राष्ट्रीय सहारा 02/03/2019
    सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को आशा बहुओं की तारीफ करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्य सुविधाएं पहुंचाने में उनके योगदान महत्वपूर्ण हैं। इसीलिए सरकार आशा बहुओं के सेवाभाव और महत्वपूर्ण कार्य को देखते हुए उनके मानदेय में प्रतिमाह 750 रुपये की बढ़ोतरी करने जा रही है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में मरीजों को अस्पताल नहीं जाना होगा, बल्कि अस्पताल स्वयं मरीज के पास पहुंचेगा।मुख्यमंत्री श्री योगी ने शुक्रवार को यहां लोकभवन में कॉफी टेबल बुक का विमोचन, आरोग्य केंद्र एवं एमसीएच विग, टेली मेडिसिन और टेलीरेडियोलजी सेवा का लोकार्पण किया। उन्होंने लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड, आरोग्य कार्ड का वितरण किया। उन्होंने कहा कि एक साथ बहुत सारी योजनायें प्रदेश की जनता को दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों ने स्वास्य व्यवस्था की अनदेखी की। पहले अस्पतालों में दवा उपलब्ध नहीं होती थी। इसे देखकर उच्च न्यायालय को भी टिप्पणी करनी पड़ी थी कि सभी वीवीआईपी को तो स्वास्य सुविधाएं मिल जाती हैं, लेकिन आम आदमी को नहीं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा चिह्नित 115 अति पिछड़े जिलों में से आठ यूपी में हैं, जिनमें डॉक्टर जाने को तैयार नहीं होते थे। मगर टेलीमेडिसिन के तकनीक के उपयोग से वहां पहुंचना सम्भव हुआ है। इससे बीमारी से मरने के आंकड़ों में कमी आयी है। इस अवसर पर स्वास्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि, गोरखपुर, हमीरपुर, मिर्जापुर और बहराइच में कुल 15 टेलीमेडिसिन केंद्रों का शुभारंभ हुआ है। रेडियोलॉजिस्टों की कमी को देखते हुए प्रथम चरण में लखनऊ, बाराबंकी व सीतापुर जिलों में कुल पंद्रह टेली रेडियोलॉजी केंद्रों का शुभारंभ किया गया। 750 और स्वास्य उपकेंद्रों और संबंधित स्वास्य केंद्रों में आरोग्य केंद्र को लोकार्पित किया गया। मातृ व शिशु मृत्यु दर को भी कम करने का काम सरकार ने किया है। महीने के अंत तक आरोग्य केंद्र के 2500 सेंटर खोले जाने की योजना है। उन्होंने आशा बहुओं को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि 712 नये एम्बुलेंस आज 108 में जोड़ी जा रही हैं। परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि शिशु व मातृ-मृत्यु दर में सरकार के प्रयास से कमी आयी है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद डा. महेन्द्रनाथ पाण्डेय ने कहा कि मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने में आशा बहुओं का योगदान सराहनीय है। परिवार कल्याण राज्यमंत्री श्रीमती स्वाती सिंह ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव स्वास्य प्रशांत त्रिवेदी, राष्ट्रीय स्वास्य मिशन के मिशन निदेशक पंकज कुमार तथा सूचना निदेशक शिशिर सहित बड़ी संख्या में आशा कार्यकत्री और अधिकारी उपस्थित थे।


  • हिन्दुस्तान : 01/03/2019 लखनऊ। लोकभवन में हुए समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगाह किया कि सरकारी पैसा कभी पचता नही है , इस सरकारी पैसे का उतना ही उपयोग होना चाइए जितना फलीभूत हो सके। यह जनता का पैसा है । सीएम ने कहा कि विनियमतीकरण के बाद संग्रह अमीन अपनी क्षमता बढ़ाते हुए राजस्व वसूली कम से कम डेढ़ गुनी करें। देखने में आया है कि नियमित होने के बाद कर्मचारी की क्षमता कम होने लगती है, तभी कॉन्ट्रैक्ट बेस पर काम कराने की बाते होती हैं। राजस्व से जुड़े मामलों में तकनीक का उपयोग करके आम जनमानस को राहत दी जा सकती है। राजस्व राज्य मंत्री अनुपमा जायसवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री ने सामयिक संग्रह अमीनों एवं संग्रह अनुसेवकों को विनियमित करने का जो जनकल्याणकारी फैसला लिया है, वह अत्यंत सराहनीय है। राजस्व परिषद के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने कहा कि विनियमतीकरण के बाद संग्रह अमीन अब और मेहनत से काम करके अब 3000 हजार करोड़ का राजस्व वसूली का लक्ष्य पूरा करेंगे।
    Close
    सरकारी पैसा कभी किसी को पचता नहीं : योगी
    हिन्दुस्तान 01/03/2019
    लखनऊ। लोकभवन में हुए समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगाह किया कि सरकारी पैसा कभी पचता नही है , इस सरकारी पैसे का उतना ही उपयोग होना चाइए जितना फलीभूत हो सके। यह जनता का पैसा है । सीएम ने कहा कि विनियमतीकरण के बाद संग्रह अमीन अपनी क्षमता बढ़ाते हुए राजस्व वसूली कम से कम डेढ़ गुनी करें। देखने में आया है कि नियमित होने के बाद कर्मचारी की क्षमता कम होने लगती है, तभी कॉन्ट्रैक्ट बेस पर काम कराने की बाते होती हैं। राजस्व से जुड़े मामलों में तकनीक का उपयोग करके आम जनमानस को राहत दी जा सकती है। राजस्व राज्य मंत्री अनुपमा जायसवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री ने सामयिक संग्रह अमीनों एवं संग्रह अनुसेवकों को विनियमित करने का जो जनकल्याणकारी फैसला लिया है, वह अत्यंत सराहनीय है। राजस्व परिषद के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने कहा कि विनियमतीकरण के बाद संग्रह अमीन अब और मेहनत से काम करके अब 3000 हजार करोड़ का राजस्व वसूली का लक्ष्य पूरा करेंगे।

सर्वश्रेष्ठ समीक्षा

आपका मत

आप के विचार

  • बूचड़ खाना बंद करने पर धन्यावाद

    राजेश patodi हम यह चाहते हे की यह नियम पुरे भारत देश शक्ति से लागु किया जाये हम आशा करते हे की आप की यह मेहनत जरूर रंग लाएगी जय हिन्द जय भारत ,राजेश पटौदी म.प. इंदौर
  • शिक्षा

    अभिशेष एक अपील मोदी जी और योगी जी से की प्राइवेट स्कूल की फीस पर कोई लगाम नहीं है और उनके स्कूल मे पढ़ाया जाने वाला कोर्स बाजार भाव से पांच गुना दामों मे बेचा जा रहा है । आपसे निवेदन है कि इन दोनों बातो पर अपना ध्यान दे ।
  • संपूर्ण देखें