समाचार
वर्ष : माह :
  • दैनिक जागरण : 17/01/2018 जागरण संवाददाता, आगरा : इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से प्रदेश के विकास से जुड़े तमाम मुद्दों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दोपहर भोज पर चर्चा की। योगी ने उप्र में कृषि के विकास के लिए इजरायल से तकनीकी सहयोग की इच्छा जताई। इसे लेकर आगे वार्ता जारी रखने पर सहमति बनी। मुख्यमंत्री ने हॉर्टीकल्चर के क्षेत्र में बस्ती और कन्नौज में में दो इकाइयों की स्थापना, वाटर मैनेजमेंट व सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के संबंध में भी वार्ता की। शुद्ध पेयजल के लिए भी इजरायल के साथ मिलकर काम करने की संभावना तलाशने पर बात हुई। बुंदेलखंड क्षेत्र में भूगर्भीय जल के सही उपयोग के संबंध में भी विचार विमर्श किया गया। उप्र में इजरायल के उद्यमियों को निवेश के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। इस मामले में भी आने वाले दिनों बातचीत जारी रखने को कहा गया। मुख्यमंत्री ने विदेशी प्रधानमंत्री को अगले होने वाले कुंभ का लोगो भेंट किया और उन्हें कुंभ में आमंत्रित भी किया।
    Close
    इजरायल की तकनीक से होगा उप्र में कृषि विकास
    दैनिक जागरण 17/01/2018
    जागरण संवाददाता, आगरा : इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से प्रदेश के विकास से जुड़े तमाम मुद्दों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दोपहर भोज पर चर्चा की। योगी ने उप्र में कृषि के विकास के लिए इजरायल से तकनीकी सहयोग की इच्छा जताई। इसे लेकर आगे वार्ता जारी रखने पर सहमति बनी। मुख्यमंत्री ने हॉर्टीकल्चर के क्षेत्र में बस्ती और कन्नौज में में दो इकाइयों की स्थापना, वाटर मैनेजमेंट व सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के संबंध में भी वार्ता की। शुद्ध पेयजल के लिए भी इजरायल के साथ मिलकर काम करने की संभावना तलाशने पर बात हुई। बुंदेलखंड क्षेत्र में भूगर्भीय जल के सही उपयोग के संबंध में भी विचार विमर्श किया गया। उप्र में इजरायल के उद्यमियों को निवेश के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। इस मामले में भी आने वाले दिनों बातचीत जारी रखने को कहा गया। मुख्यमंत्री ने विदेशी प्रधानमंत्री को अगले होने वाले कुंभ का लोगो भेंट किया और उन्हें कुंभ में आमंत्रित भी किया।


  • राष्ट्रीय सहारा : 16/01/2018 गोरखपुर (एसएनबी)। ‘‘गोरखपुर महोत्सव’ पर सवाल और लखनऊ के वीवीआईपी इलाकों में आलू फेंकने की घटना के बाद आमने-सामने आयी सपा और सरकार की तल्खी बढ़ती जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा मुखिया अखिलेश यादव पर सीधा हमले करते हुए उन्हें नकारात्मक राजनीति छोड़ने की सलाह दी और कहा कि अपने गुगरे को दूसरों की जान लेने के लिए खुले में विचरण न करने दें। उन्होंने कहा कि लखनऊ की सड़कों पर कोल्ड स्टोरेज के सड़े आलू बिखेर कर सरकार को बदनाम करने की सपा की साजिश बेनकाब हो चुकी है। प्रदेश की जनता सच्चाई से वाकिफ हो चुकी है। उन्होंने राहुल गांधी को देश-दुनिया के बजाय पहले अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी को संभालने की सलाह दी।मकर संक्रांति पर बाबा गोरखनाथ को बतौर मुख्यमंत्री पहली बार खिचड़ी चढ़ाने के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ मीडिया से रूबरू थे। राहुल गांधी के सवाल पर सीएम ने कहा कि बतौर कांग्रेस अध्यक्ष उप्र में पहली बार आ रहे राहुल को मेरी सलाह है कि देश-दुनिया की बात करने के बजाय अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के विकास पर ध्यान दें। कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त होने के बाद पहली बार राहुल गांधी के उत्तर-प्रदेश आगमन के सवाल पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राहुल गांधी को सलाह दूंगा कि उन्हें देश और दुनिया की बात छोड़ कर पहले अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पर ध्यान देना चाहिए। सकारात्मक राजनीति करें। लोकतंत्र में सत्ता और विपक्ष का एक सामूहिक प्रयास होता है। सपा मुखिया अखिलेश यादव द्वारा कानून व्यवस्था पर सवाल उठाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरा देश जानता है कि यूपी की कानून व्यवस्था कैसी थी। राजनीतिक संरक्षण में लूट-खसोट और हत्याएं हो रहीं थीं। भाजपा शासन में सौ फीसद केस दर्ज हो रहे हैं। अपराधियों पर सख्ती से अंकुश लगाया गया है। सरकार जीरो टालरेंस की नीति पर काम कर रही है। अपराध घटे हैं। मुख्यमंत्री ने खुला आरोप लगाया कि विपक्ष के कुछ नेता अब भी अपराधियों को संरक्षण दे रहे हैं। ऐसे नेताओं को शीघ्र बेनकाब करेंगे। योगी ने कहा जिनके राज में कानून-व्यवस्था चौपट थी उन्हें जरूर अच्छा नहीं लगेगा। प्रदेश में अब कानून का शासन है। इसलिए जनता खुश है। लिहाजा अखिलेश अपने गुगरे को किसी की जान लेने के लिए खुले में विचरण से रोंके। सपा शासन में आजमगढ़ में निदरेष ग्रामीणों को जहरीली शराब पिलाकर मारा गया। हरदोई में उनके नेता जहरीली शराब बनाते पकड़े गये। लखनऊ के अंदर माहौल खराब करने की कोशिश की गई। यह ठीक नहीं है।मायावती को दी जन्मदिन की बधाई : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बसपा सुप्रीमो सुश्री मायावती को जन्मदिन की बधाई दी। उन्होंने कहा कि उम्मीद करते हैं कि उत्तर प्रदेश के विकास के लिए एक सकारात्मक रवैया बहुजन समाज पार्टी अपनाएगी। प्रदेश वासियों को दी मकर संक्रांति की बधाई : मुख्यमंत्री ने प्रदेश वासियों को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि भीषण शीतलहरी में गोरखनाथ मंदिर में आस्था की खिचड़ी लाखों लोग चढ़ा रहे हैं। प्रदेश में सुख-समृद्धि और लोगों के चेहरे पर खुशहाली आए इसकी कामना करते हैं।
    Close
    नकारात्मक राजनीति छोड़ें अखिलेश : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 16/01/2018
    गोरखपुर (एसएनबी)। ‘‘गोरखपुर महोत्सव’ पर सवाल और लखनऊ के वीवीआईपी इलाकों में आलू फेंकने की घटना के बाद आमने-सामने आयी सपा और सरकार की तल्खी बढ़ती जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा मुखिया अखिलेश यादव पर सीधा हमले करते हुए उन्हें नकारात्मक राजनीति छोड़ने की सलाह दी और कहा कि अपने गुगरे को दूसरों की जान लेने के लिए खुले में विचरण न करने दें। उन्होंने कहा कि लखनऊ की सड़कों पर कोल्ड स्टोरेज के सड़े आलू बिखेर कर सरकार को बदनाम करने की सपा की साजिश बेनकाब हो चुकी है। प्रदेश की जनता सच्चाई से वाकिफ हो चुकी है। उन्होंने राहुल गांधी को देश-दुनिया के बजाय पहले अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी को संभालने की सलाह दी।मकर संक्रांति पर बाबा गोरखनाथ को बतौर मुख्यमंत्री पहली बार खिचड़ी चढ़ाने के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ मीडिया से रूबरू थे। राहुल गांधी के सवाल पर सीएम ने कहा कि बतौर कांग्रेस अध्यक्ष उप्र में पहली बार आ रहे राहुल को मेरी सलाह है कि देश-दुनिया की बात करने के बजाय अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के विकास पर ध्यान दें। कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त होने के बाद पहली बार राहुल गांधी के उत्तर-प्रदेश आगमन के सवाल पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राहुल गांधी को सलाह दूंगा कि उन्हें देश और दुनिया की बात छोड़ कर पहले अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पर ध्यान देना चाहिए। सकारात्मक राजनीति करें। लोकतंत्र में सत्ता और विपक्ष का एक सामूहिक प्रयास होता है। सपा मुखिया अखिलेश यादव द्वारा कानून व्यवस्था पर सवाल उठाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरा देश जानता है कि यूपी की कानून व्यवस्था कैसी थी। राजनीतिक संरक्षण में लूट-खसोट और हत्याएं हो रहीं थीं। भाजपा शासन में सौ फीसद केस दर्ज हो रहे हैं। अपराधियों पर सख्ती से अंकुश लगाया गया है। सरकार जीरो टालरेंस की नीति पर काम कर रही है। अपराध घटे हैं। मुख्यमंत्री ने खुला आरोप लगाया कि विपक्ष के कुछ नेता अब भी अपराधियों को संरक्षण दे रहे हैं। ऐसे नेताओं को शीघ्र बेनकाब करेंगे। योगी ने कहा जिनके राज में कानून-व्यवस्था चौपट थी उन्हें जरूर अच्छा नहीं लगेगा। प्रदेश में अब कानून का शासन है। इसलिए जनता खुश है। लिहाजा अखिलेश अपने गुगरे को किसी की जान लेने के लिए खुले में विचरण से रोंके। सपा शासन में आजमगढ़ में निदरेष ग्रामीणों को जहरीली शराब पिलाकर मारा गया। हरदोई में उनके नेता जहरीली शराब बनाते पकड़े गये। लखनऊ के अंदर माहौल खराब करने की कोशिश की गई। यह ठीक नहीं है।मायावती को दी जन्मदिन की बधाई : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बसपा सुप्रीमो सुश्री मायावती को जन्मदिन की बधाई दी। उन्होंने कहा कि उम्मीद करते हैं कि उत्तर प्रदेश के विकास के लिए एक सकारात्मक रवैया बहुजन समाज पार्टी अपनाएगी। प्रदेश वासियों को दी मकर संक्रांति की बधाई : मुख्यमंत्री ने प्रदेश वासियों को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि भीषण शीतलहरी में गोरखनाथ मंदिर में आस्था की खिचड़ी लाखों लोग चढ़ा रहे हैं। प्रदेश में सुख-समृद्धि और लोगों के चेहरे पर खुशहाली आए इसकी कामना करते हैं।


  • हिन्दुस्तान : 15/01/2018 गोरखपुर मुख्य संवाददाताएक साल का कार्यकाल पूरा करने से महज दो महीने दूर सीएम योगी आदित्यनाथ इधर विपक्ष के आरोपों पर तीखे पलटवार की शैली अपनाए हुए हैं। खुद पर दर्ज मुकदमे वापस लेने के आरोपों पर रविवार को उन्होंने करारा जवाब दिया। कहा कि उनकी सरकार ने राजनीति से प्रेरित 20 हजार केस वापस कराए हैं। पूर्ववर्ती सरकार के मुखिया की तरह काम नहीं किया। उन्होंने तो खुद पर दर्ज मुकदमे वापस लिए थे।गोरखनाथ मंदिर में सोमवार से लगने वाले प्रसिद्ध खिचड़ी मेले की पूर्व संध्या पर पत्रकारों से बातचीत में योगी ने कई सवालों के खुल कर जवाब दिए। मुकदमा वापसी पर उन्होंने कहा कि यह कदम हाईकोर्ट के निर्देश पर उठाया गया, क्योंकि अदालतों पर मुकदमों का बोझ बढ़ रहा था। यह सभी राजनीति से प्रेरित थे। हमने यह काम चुपके से नहीं किया। बाकायदे विधानसभा में पारित करा कर राज्यपाल को भेजा गया। इस कदम से विभिन्न राजनीतिक दलों और आम लोगों पर दर्ज मुकदमे वापस हुए। समाजवादी पार्टी के आरोप में कोई दम नही है। सपा क्या बोलेगी? अखिलेश और मुलायम सिंह यादव की सरकार ने तो खुद पर दर्ज मुकदमे वापस लिए। उन्हें अपने गिरेबान में झांकना चाहिए। पूर्ववर्ती सरकार में तो आंतवादियों पर दर्ज मुकदमे भी वापस लिये गये।
    Close
    मैंने राजनीतिक केस वापस लिए, घर-घराने के नहीं
    हिन्दुस्तान 15/01/2018
    गोरखपुर मुख्य संवाददाताएक साल का कार्यकाल पूरा करने से महज दो महीने दूर सीएम योगी आदित्यनाथ इधर विपक्ष के आरोपों पर तीखे पलटवार की शैली अपनाए हुए हैं। खुद पर दर्ज मुकदमे वापस लेने के आरोपों पर रविवार को उन्होंने करारा जवाब दिया। कहा कि उनकी सरकार ने राजनीति से प्रेरित 20 हजार केस वापस कराए हैं। पूर्ववर्ती सरकार के मुखिया की तरह काम नहीं किया। उन्होंने तो खुद पर दर्ज मुकदमे वापस लिए थे।गोरखनाथ मंदिर में सोमवार से लगने वाले प्रसिद्ध खिचड़ी मेले की पूर्व संध्या पर पत्रकारों से बातचीत में योगी ने कई सवालों के खुल कर जवाब दिए। मुकदमा वापसी पर उन्होंने कहा कि यह कदम हाईकोर्ट के निर्देश पर उठाया गया, क्योंकि अदालतों पर मुकदमों का बोझ बढ़ रहा था। यह सभी राजनीति से प्रेरित थे। हमने यह काम चुपके से नहीं किया। बाकायदे विधानसभा में पारित करा कर राज्यपाल को भेजा गया। इस कदम से विभिन्न राजनीतिक दलों और आम लोगों पर दर्ज मुकदमे वापस हुए। समाजवादी पार्टी के आरोप में कोई दम नही है। सपा क्या बोलेगी? अखिलेश और मुलायम सिंह यादव की सरकार ने तो खुद पर दर्ज मुकदमे वापस लिए। उन्हें अपने गिरेबान में झांकना चाहिए। पूर्ववर्ती सरकार में तो आंतवादियों पर दर्ज मुकदमे भी वापस लिये गये।


  • दैनिक जागरण : 14/01/2018 रजनीश त्रिपाठी, गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि गोरखपुर महोत्सव एक गांव या परिवार का नहीं बल्कि जनता का उत्सव था। हर काम में नुक्स निकालना और उंगली उठाना कुछ लोगों की आदत होती है। गोरखपुर महोत्सव को लेकर भी उन्होंने ऐसा ही किया। मैं दो दिनों से सब सुनकर चुप था, क्योंकि मुङो पता था कि तीन दिनों तक चले महोत्सव में यहां के लोग धैर्य और अनुशासन का परिचय देंगे, जो गोरखपुर ही नहीं पूर्वाचल की पहचान है। गोरखपुर महोत्सव के समापन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महोत्सव और इसमें सरकारी धन के खर्च पर सवाल उठाने वाले विपक्षी दलों पर जोरदार हमला बोला। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों को बुरा इसलिए लग रहा है, क्योंकि इसके पहले तक महोत्सव का ठेका एक परिवार या गांव के लोगों ने ले रखा था।
    Close
    ये महोत्सव ‘परिवार’ नहीं जनता का उत्सव था: योगी
    दैनिक जागरण 14/01/2018
    रजनीश त्रिपाठी, गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि गोरखपुर महोत्सव एक गांव या परिवार का नहीं बल्कि जनता का उत्सव था। हर काम में नुक्स निकालना और उंगली उठाना कुछ लोगों की आदत होती है। गोरखपुर महोत्सव को लेकर भी उन्होंने ऐसा ही किया। मैं दो दिनों से सब सुनकर चुप था, क्योंकि मुङो पता था कि तीन दिनों तक चले महोत्सव में यहां के लोग धैर्य और अनुशासन का परिचय देंगे, जो गोरखपुर ही नहीं पूर्वाचल की पहचान है। गोरखपुर महोत्सव के समापन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महोत्सव और इसमें सरकारी धन के खर्च पर सवाल उठाने वाले विपक्षी दलों पर जोरदार हमला बोला। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों को बुरा इसलिए लग रहा है, क्योंकि इसके पहले तक महोत्सव का ठेका एक परिवार या गांव के लोगों ने ले रखा था।


  • राष्ट्रीय सहारा : 13/01/2018 ग्रेटर नोएडा (एसएनबी)। राष्ट्रीय युवा महोत्सव 2018 के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि युवा देश की ऊंचाई का प्रतीक है। ऊंचाई सम-विषम परिस्थतियों को नहीं देखती है, उसकी पहचान प्रतिभा है। युवाओं ने हर क्षेत्र में अपने तेवर, अभियान से एक नया आदर्श प्रस्तुत किया है। उन्होंने युवाओं में जोश भरने के लिए महापुरु षों तथा स्वतंत्रता सैनानियों का भी खूब जिक्र किया। उन्होंने कहा कि युवा जो ठान लेता है उसे पूरा करता है। जीवन में कुछ करने के लिए संकल्प लेना महत्वपूर्ण है। इसके महापुरु ष, स्वतंत्रता सेनानी उदाहरण हैं। मर्यादा पुरु षोत्तम श्रीराम व श्रीकृष्ण कम उम्र में ही अन्याय से लड़े। देश को आजाद कराने में युवा ही सबसे ज्यादा शहीद हुए, उनकी उम्र बहुत कम थी। उन्होंने स्वामी विवेकानंद का कई बार जिक्र किया। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा, केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन राठौर, सचिव एके दुबे, नेहरू युवा केंद्र के महानिदेशक मेजर जनरल सेवानिवृत्त दिलावर सिंह, मंडलायुक्त डॉ. प्रभात कुमार, जिलाधिकारी बीएन सिंह भी मौजूद थे।
    Close
    देश की ऊंचाई के प्रतीक हैं युवा : योगी
    राष्ट्रीय सहारा 13/01/2018
    ग्रेटर नोएडा (एसएनबी)। राष्ट्रीय युवा महोत्सव 2018 के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि युवा देश की ऊंचाई का प्रतीक है। ऊंचाई सम-विषम परिस्थतियों को नहीं देखती है, उसकी पहचान प्रतिभा है। युवाओं ने हर क्षेत्र में अपने तेवर, अभियान से एक नया आदर्श प्रस्तुत किया है। उन्होंने युवाओं में जोश भरने के लिए महापुरु षों तथा स्वतंत्रता सैनानियों का भी खूब जिक्र किया। उन्होंने कहा कि युवा जो ठान लेता है उसे पूरा करता है। जीवन में कुछ करने के लिए संकल्प लेना महत्वपूर्ण है। इसके महापुरु ष, स्वतंत्रता सेनानी उदाहरण हैं। मर्यादा पुरु षोत्तम श्रीराम व श्रीकृष्ण कम उम्र में ही अन्याय से लड़े। देश को आजाद कराने में युवा ही सबसे ज्यादा शहीद हुए, उनकी उम्र बहुत कम थी। उन्होंने स्वामी विवेकानंद का कई बार जिक्र किया। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा, केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन राठौर, सचिव एके दुबे, नेहरू युवा केंद्र के महानिदेशक मेजर जनरल सेवानिवृत्त दिलावर सिंह, मंडलायुक्त डॉ. प्रभात कुमार, जिलाधिकारी बीएन सिंह भी मौजूद थे।


  • दैनिक जागरण : 12/01/2018 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि पर एनेक्सी स्थित उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि देश के विकास में शास्त्री जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उनकी अगुआई में देश की सुरक्षा और आत्म निर्भरता के लिए हुए कार्यो को लोग हर दम याद करेंगे। उनकी निष्ठा और सादगी हम सबके लिए अनुकरणीय है। राज्यपाल ने कहा कि शास्त्री जी ने ‘जय जवान-जय किसान’ जैसा ओजस्वी नारा दिया। इससे पाकिस्तान से युद्ध लड़ रहे सैनिकों और किसानों का मनोबल बढ़ा। खाद्यान्न के संकट से जूझ रहे देश के लिए अन्न बचाने के लिए उपवास करने की अपील का भी देश पर चमत्कारिक असर रहा। हालांकि प्रधानमंत्री के रूप में उनका कार्यकाल कम रहा, लेकिन उन्होंने जो किया वह देश के लिए यादगार बन गया।
    Close
    लाल बहादुर शास्त्री की सादगी व निष्ठा अनुकरणीय : योगी
    दैनिक जागरण 12/01/2018
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि पर एनेक्सी स्थित उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि देश के विकास में शास्त्री जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उनकी अगुआई में देश की सुरक्षा और आत्म निर्भरता के लिए हुए कार्यो को लोग हर दम याद करेंगे। उनकी निष्ठा और सादगी हम सबके लिए अनुकरणीय है। राज्यपाल ने कहा कि शास्त्री जी ने ‘जय जवान-जय किसान’ जैसा ओजस्वी नारा दिया। इससे पाकिस्तान से युद्ध लड़ रहे सैनिकों और किसानों का मनोबल बढ़ा। खाद्यान्न के संकट से जूझ रहे देश के लिए अन्न बचाने के लिए उपवास करने की अपील का भी देश पर चमत्कारिक असर रहा। हालांकि प्रधानमंत्री के रूप में उनका कार्यकाल कम रहा, लेकिन उन्होंने जो किया वह देश के लिए यादगार बन गया।


  • हिन्दुस्तान : 11/01/2018 लखनऊ कार्यालय, संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविधालय (बीबीएयू) में कहा कि शिक्षण संस्थान पढ़ाई करवाकर डिग्री बांटकर सिर्फ औपचारिकता कर रहे हैं। जबकि शिक्षण संस्थानों को सामाजिक सरोकार भी करना चाहिए। संस्थानों को सरकार की योजनाओं में भागीदार बनना चाहिए। जिससे जिससे योजनाओं का लाभ जरूरतमंद लोगों तक पहुंच सके। विवि के 22वें स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज की क्या आवश्यकताएं हैं? क्या समस्याएं हैं? ऐसे तमाम चीजों की जिम्मेदारी हर कोई सरकार पर निर्भर करता है। जबकि शिक्षण संस्थानों को केंद्र सरकार की डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया जैसी योजनाओं के क्रियान्वयन में योगदान देना चाहिए। इस दौरान उन्होंने सरकार की विकास परक योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि प्रदेश के 70 लाख परिवारों को उज्‍जवला योजना का लाभ मिला। वहीं प्रदेश सरकार बनने के बाद 23 लाख घरों में मुफ्त में बिजली कनेक्शन दिया गया।
    Close
    शिक्षण संस्थान योजनाओं में साथ आएं
    हिन्दुस्तान 11/01/2018
    लखनऊ कार्यालय, संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविधालय (बीबीएयू) में कहा कि शिक्षण संस्थान पढ़ाई करवाकर डिग्री बांटकर सिर्फ औपचारिकता कर रहे हैं। जबकि शिक्षण संस्थानों को सामाजिक सरोकार भी करना चाहिए। संस्थानों को सरकार की योजनाओं में भागीदार बनना चाहिए। जिससे जिससे योजनाओं का लाभ जरूरतमंद लोगों तक पहुंच सके। विवि के 22वें स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज की क्या आवश्यकताएं हैं? क्या समस्याएं हैं? ऐसे तमाम चीजों की जिम्मेदारी हर कोई सरकार पर निर्भर करता है। जबकि शिक्षण संस्थानों को केंद्र सरकार की डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया जैसी योजनाओं के क्रियान्वयन में योगदान देना चाहिए। इस दौरान उन्होंने सरकार की विकास परक योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि प्रदेश के 70 लाख परिवारों को उज्‍जवला योजना का लाभ मिला। वहीं प्रदेश सरकार बनने के बाद 23 लाख घरों में मुफ्त में बिजली कनेक्शन दिया गया।


  • दैनिक जागरण : 10/01/2018 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : देश के दिग्गज उद्योगपति और आदित्य बिड़ला समूह के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके आवास पर मुलाकात की। करीब 45 मिनट की इस मुलाकात के दौरान दोनों ने बदले माहौल में प्रदेश में निवेश की संभावनाओं पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रदेश में औद्योगिक इकाईयां लगें। स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार मिले और प्रदेश की तरक्की हो इसके लिए सरकार प्रतिबद्ध है। सरकार निवेशकों को बेहतर कानून-व्यवस्था के जरिये सुरक्षा की गारंटी के साथ हरसंभव सुविधा देगी। बुनियादी सुविधाओं को भी बेहतर किया जा रहा है। औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति सहित क्षेत्रवार नीतियां लागू की गई हैं। प्रयास किया गया है कि ये नीतियां किसी भी प्रदेश से बेहतर हों। कुमार मंगलम ने सरकार की पहल की सराहना करते हुए प्रदेश में निवेश के प्रति प्रतिबद्धता जताई। भूमि विवाद के कारण अल्ट्राटेक सीमेंट फैक्टरी के रुके कार्यो में आए गतिरोध के बावत ध्यान दिलाने पर मुख्यमंत्री ने शीघ्र इसके हल का भरोसा दिया।
    Close
    कुमार मंगलम ने दिया निवेश करने का भरोसा
    दैनिक जागरण 10/01/2018
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : देश के दिग्गज उद्योगपति और आदित्य बिड़ला समूह के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके आवास पर मुलाकात की। करीब 45 मिनट की इस मुलाकात के दौरान दोनों ने बदले माहौल में प्रदेश में निवेश की संभावनाओं पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रदेश में औद्योगिक इकाईयां लगें। स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार मिले और प्रदेश की तरक्की हो इसके लिए सरकार प्रतिबद्ध है। सरकार निवेशकों को बेहतर कानून-व्यवस्था के जरिये सुरक्षा की गारंटी के साथ हरसंभव सुविधा देगी। बुनियादी सुविधाओं को भी बेहतर किया जा रहा है। औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति सहित क्षेत्रवार नीतियां लागू की गई हैं। प्रयास किया गया है कि ये नीतियां किसी भी प्रदेश से बेहतर हों। कुमार मंगलम ने सरकार की पहल की सराहना करते हुए प्रदेश में निवेश के प्रति प्रतिबद्धता जताई। भूमि विवाद के कारण अल्ट्राटेक सीमेंट फैक्टरी के रुके कार्यो में आए गतिरोध के बावत ध्यान दिलाने पर मुख्यमंत्री ने शीघ्र इसके हल का भरोसा दिया।


  • दैनिक जागरण : 09/01/2018 राब्यू, लखनऊ : नेपाल के पूर्व राजा ज्ञानेंद्र वीर विक्रम शाह सोमवार को सुबह करीब नौ बजे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके आवास पर मिले। उनके साथ विश्व हिंदु महासंघ के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष जनरल भरत केशर सिंह भी थे। इस अनौपचारिक मुलाकात में भारत और नेपाल के रिश्तों और ताजा हालात पर बात हुई। मालूम हो कि गोरक्षपीठ और नेपाल का रिश्ता बेहद पुराना है। ज्ञानेंद्र समेत नेपाल के अन्य राजा और गोरक्षपीठ दोनों देशों के मधुर संबंधों के पक्षधर रहे हैं। सांसद के रूप में योगी आदित्यनाथ इन मुद्दों को लगातार उठाते भी रहे हैं। ज्ञानेंद्र वीर और मुख्यमंत्री की बातचीत के केंद्र में भी यही मुद्दे रहे।
    Close
    नेपाल के पूर्व राजा ने की योगी से मुलाकात
    दैनिक जागरण 09/01/2018
    राब्यू, लखनऊ : नेपाल के पूर्व राजा ज्ञानेंद्र वीर विक्रम शाह सोमवार को सुबह करीब नौ बजे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके आवास पर मिले। उनके साथ विश्व हिंदु महासंघ के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष जनरल भरत केशर सिंह भी थे। इस अनौपचारिक मुलाकात में भारत और नेपाल के रिश्तों और ताजा हालात पर बात हुई। मालूम हो कि गोरक्षपीठ और नेपाल का रिश्ता बेहद पुराना है। ज्ञानेंद्र समेत नेपाल के अन्य राजा और गोरक्षपीठ दोनों देशों के मधुर संबंधों के पक्षधर रहे हैं। सांसद के रूप में योगी आदित्यनाथ इन मुद्दों को लगातार उठाते भी रहे हैं। ज्ञानेंद्र वीर और मुख्यमंत्री की बातचीत के केंद्र में भी यही मुद्दे रहे।


  • राष्ट्रीय सहारा : 08/01/2018 केंद्र व राज्य में एक ही पार्टी की सरकार के शासन पर जोर देते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को मतदाताओं से राज्य के तीव्र विकास के लिए आगामी कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा को फिर से वोट देने का आग्रह किया।यहां पार्टी की एक रैली में उन्होंने कहा, यदि यहां भाजपा का शासन होगा तो कर्नाटक को गुजरात व हिमाचल की तरह फायदा होगा, जो केंद्र की राजग सरकार व प्रधानमंत्री मोदी के गतिशील नेतृत्व में आगे बढ़ रहे हैं। आदित्यनाथ ने भाजपा के 90 दिनों के राज्यव्यापी ‘‘नव कर्नाटक निर्माण परिवर्तन यात्रा’ के तहत लगभग 50,000 लोगों की एक सभा को संबोधित किया। आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस के शासन के तहत बीते चार साल से कर्नाटक का विकास रुक गया है, जो मोदी सरकार की कई योजनाओं को लागू करने में विफल रही है। उन्होंने कहा, मोदी सरकार ने राज्य के बेंगलुरू व अन्य नौ शहरों को अपनी महत्वाकांक्षी स्मार्ट सिटी परियोजना में शामिल किया है, फिर भी राज्य सरकार ने इस राशि के इस्तेमाल या राज्य में जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए कोई कार्य नहीं किया है।आदित्यनाथ ने कहा, कांग्रेस सरकार लोगों को जाति व धर्म के आधार पर ध्रुवीकरण करने में व्यस्त है और कानून-व्यवस्था की बदतर स्थिति को रोकने में विफल रही है। इनके पास राज्य के विकास के लिए समय नहीं है, जो ज्ञान के क्षेत्र खास तौर से आईटी व बॉयोटेक में अभूतपूर्व विकास के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस से सत्ता हासिल की और गुजरात में रिकॉर्ड छठीं बार जीत दर्ज की है।
    Close
    कर्नाटक के तीव्र विकास के लिए भाजपा को वोट दें
    राष्ट्रीय सहारा 08/01/2018
    केंद्र व राज्य में एक ही पार्टी की सरकार के शासन पर जोर देते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को मतदाताओं से राज्य के तीव्र विकास के लिए आगामी कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा को फिर से वोट देने का आग्रह किया।यहां पार्टी की एक रैली में उन्होंने कहा, यदि यहां भाजपा का शासन होगा तो कर्नाटक को गुजरात व हिमाचल की तरह फायदा होगा, जो केंद्र की राजग सरकार व प्रधानमंत्री मोदी के गतिशील नेतृत्व में आगे बढ़ रहे हैं। आदित्यनाथ ने भाजपा के 90 दिनों के राज्यव्यापी ‘‘नव कर्नाटक निर्माण परिवर्तन यात्रा’ के तहत लगभग 50,000 लोगों की एक सभा को संबोधित किया। आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस के शासन के तहत बीते चार साल से कर्नाटक का विकास रुक गया है, जो मोदी सरकार की कई योजनाओं को लागू करने में विफल रही है। उन्होंने कहा, मोदी सरकार ने राज्य के बेंगलुरू व अन्य नौ शहरों को अपनी महत्वाकांक्षी स्मार्ट सिटी परियोजना में शामिल किया है, फिर भी राज्य सरकार ने इस राशि के इस्तेमाल या राज्य में जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए कोई कार्य नहीं किया है।आदित्यनाथ ने कहा, कांग्रेस सरकार लोगों को जाति व धर्म के आधार पर ध्रुवीकरण करने में व्यस्त है और कानून-व्यवस्था की बदतर स्थिति को रोकने में विफल रही है। इनके पास राज्य के विकास के लिए समय नहीं है, जो ज्ञान के क्षेत्र खास तौर से आईटी व बॉयोटेक में अभूतपूर्व विकास के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस से सत्ता हासिल की और गुजरात में रिकॉर्ड छठीं बार जीत दर्ज की है।


  • हिन्दुस्तान : 07/01/2018 मेरठ। मुख्य संवाददाता मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को मेरठ में अपराध और अपराधियों के खिलाफ कड़े तेवर दिखाए। सीएम ने कहा कि दुर्योधन-दुशासन को उनके अंजाम तक पहुंचाए। बहन-बेटियों की सुरक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में शुमार है। कहीं भी अपराधी नजर नहीं आने चाहिए। मोहिउद्दीनपुर चीनी मिल के नए प्लांट के साथ 15 मेगावाट बिजली उत्पादन संयंत्र का शुभारंभ करते हुए सीएम ने कहा कि यूपी किसानों की आय दोगुना करने वाला पहला राज्य बनेगा। सभा को सम्बोधित करते हुए योगी ने पुलिसवालों का भी हौसला बढ़ाया। शामली मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिस के जवान अंकित तोमर को नमन किया। हस्तिनापुर के द्रौपदी प्रसंग पर कहा कि बहन-बेटियों की इज्जत से खेलनेवालों को बख्शा नहीं जाए। पुलिस समाज के साथ मिलकर एक्शन प्लान बनाए। पुलिस की तारीफ करते हुए कहा कि हमारे जवान जान पर खेलकर 22 करोड़ जनता को सुरक्षा की गारंटी दे रहे हैं। जो कैराना कभी भय से जाना जाता था, अब उसे पुलिस आबाद कर रही है। सरकार ने शहीद सैनिकों, अर्धसैनिक बलों और पुलिस आश्रितों को मिलने वाली राशि 50 लाख कर दी। जब पुलिस को काम करने की पूरी आजादी है तो अपराधियों पर और सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। सीएम योगी ने कहा कि उनकी सरकार किसानों, नौजवानों और गरीबों की सरकार है। 30 जनवरी तक गन्ना किसानों का पिछला बकाया और अब 14 दिन का भुगतान करा दिया जाएगा। अब कोई जिला वीआईपी नहीं होगा और जहां 10 फीसदी से कम लाइनलॉस होगा वहां 24 घंटे बिजली मिलेगी।
    Close
    दुशासनों को अंजाम तक पहुंचाएं
    हिन्दुस्तान 07/01/2018
    मेरठ। मुख्य संवाददाता मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को मेरठ में अपराध और अपराधियों के खिलाफ कड़े तेवर दिखाए। सीएम ने कहा कि दुर्योधन-दुशासन को उनके अंजाम तक पहुंचाए। बहन-बेटियों की सुरक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में शुमार है। कहीं भी अपराधी नजर नहीं आने चाहिए। मोहिउद्दीनपुर चीनी मिल के नए प्लांट के साथ 15 मेगावाट बिजली उत्पादन संयंत्र का शुभारंभ करते हुए सीएम ने कहा कि यूपी किसानों की आय दोगुना करने वाला पहला राज्य बनेगा। सभा को सम्बोधित करते हुए योगी ने पुलिसवालों का भी हौसला बढ़ाया। शामली मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिस के जवान अंकित तोमर को नमन किया। हस्तिनापुर के द्रौपदी प्रसंग पर कहा कि बहन-बेटियों की इज्जत से खेलनेवालों को बख्शा नहीं जाए। पुलिस समाज के साथ मिलकर एक्शन प्लान बनाए। पुलिस की तारीफ करते हुए कहा कि हमारे जवान जान पर खेलकर 22 करोड़ जनता को सुरक्षा की गारंटी दे रहे हैं। जो कैराना कभी भय से जाना जाता था, अब उसे पुलिस आबाद कर रही है। सरकार ने शहीद सैनिकों, अर्धसैनिक बलों और पुलिस आश्रितों को मिलने वाली राशि 50 लाख कर दी। जब पुलिस को काम करने की पूरी आजादी है तो अपराधियों पर और सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। सीएम योगी ने कहा कि उनकी सरकार किसानों, नौजवानों और गरीबों की सरकार है। 30 जनवरी तक गन्ना किसानों का पिछला बकाया और अब 14 दिन का भुगतान करा दिया जाएगा। अब कोई जिला वीआईपी नहीं होगा और जहां 10 फीसदी से कम लाइनलॉस होगा वहां 24 घंटे बिजली मिलेगी।


  • दैनिक जागरण : 06/01/2018 जागरण संवाददाता, वाराणसी : एक तरफ मंच पर सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ तो दूसरी तरफ उनके सामने सुरक्षा-व्यवस्था से जुड़ी अंतिम कड़ी के चौकीदार। प्रदेश में पहली बार मुख्यमंत्री ग्राम चौकीदारों के सम्मेलन में शामिल हुए। मान-सम्मान देने के साथ ही उनका उत्साहवर्धन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भले ही संप्रदाय अलग हों लेकिन हम सभी का धर्म एक ही है और वह है राष्ट्रधर्म। पुलिस लाइन में शुक्रवार को आयोजित ग्राम चौकीदारों के सम्मेलन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घोषणा कि ग्राम चौकीदार नहीं बल्कि अब यह ग्राम प्रहरी कहे जाएंगे। कहा कि कोई भी कानून मानवीय संबंधों से ऊपर नहीं हो सकता है। ग्राम प्रहरी सरकार की आंख-कान हैं और कानून-व्यवस्था की पहली जिम्मेदारी उनकी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस प्रशासन को जमीनी हकीकत से अवगत कराने, प्रत्येक घटना की जानकारी पहुंचाने में अहम भूमिका का निर्वहन कर सकते हैं। प्रदेश सरकार कानून-व्यवस्था को अनुशासित रखना चाहती है। कोई भी कानून मानवीय संबंधों से ऊपर नहीं हो सकता। कानून लोक व्यवस्था के लिए बना है। जिस दिन पुलिस का संवाद जनता से दोस्ताना हो जाएगा, उसी दिन वह इंटेलीजेंस का काम कर सकती है। आप नींव के पत्थर हैं : ग्राम प्रहरियों से संवाद करते हुए सीएम योगी ने कहा कि आप नींव के पत्थर हैं। प्रदेश में 60 हजार से अधिक ग्राम पंचायत हैं। प्रत्येक ग्राम में अगर एक ग्राम प्रहरी प्रतिदिन या सप्ताह में थानेदार को रिपोर्ट देता है व थानेदार उसे गंभीरता से लेता है तो यकीन मानिए की कानून व्यवस्था कभी बिगड़ेगी नहीं। हमें प्रदेश को विकास के पथ पर आगे ले जाना है जिसके लिए किसी भी सूरत में असामाजिक तत्वों को पनपने नहीं देना है। सेतु का करेंगे काम : सीएम योगी ने कहा कि कानून व्यवस्था को बनाए रखने में ग्राम प्रहरी की बड़ी भूमिका होगी। आपकी सेवा पुलिस प्रशासन को मजबूती देने के साथ सेतु का काम करेगी तो यह राष्ट्र की सेवा होगी। संप्रदाय अलग हो सकता है लेकिन धर्म सभी का राष्ट्रधर्म होना चाहिए। एसएसपी की पहल को सराहा : ग्राम चौकीदारों के सम्मेलन में एसएपसी आरके भारद्वाज ने ग्राम चौकीदारों के लिए वाराणसी पुलिस की ओर से की गई व्यवस्था के बाबत मुख्यमंत्री को जानकारी देते हुए बताया कि ग्राम प्रहरियों को समय-समय पर मानदेय के अतिरिक्त वर्दी दी गई है। साथ ही परिचय पत्र, डंडा, सीटी, साफा जैकेट, धोती जूता, साइकिल और रखरखाव के लिए 700 रुपये, विवाद रजिस्टर दिए गए हैं। ग्राम चौकीदारों के लिए कार्यशाला का आयोजन कर उन्हें उनकी भूमिका बताई गई। मुख्यमंत्री ने एसएसपी के प्रयास की खुले मंच से सराहना की।
    Close
    चौकीदार नहीं अब ग्राम प्रहरी
    दैनिक जागरण 06/01/2018
    जागरण संवाददाता, वाराणसी : एक तरफ मंच पर सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ तो दूसरी तरफ उनके सामने सुरक्षा-व्यवस्था से जुड़ी अंतिम कड़ी के चौकीदार। प्रदेश में पहली बार मुख्यमंत्री ग्राम चौकीदारों के सम्मेलन में शामिल हुए। मान-सम्मान देने के साथ ही उनका उत्साहवर्धन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भले ही संप्रदाय अलग हों लेकिन हम सभी का धर्म एक ही है और वह है राष्ट्रधर्म। पुलिस लाइन में शुक्रवार को आयोजित ग्राम चौकीदारों के सम्मेलन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घोषणा कि ग्राम चौकीदार नहीं बल्कि अब यह ग्राम प्रहरी कहे जाएंगे। कहा कि कोई भी कानून मानवीय संबंधों से ऊपर नहीं हो सकता है। ग्राम प्रहरी सरकार की आंख-कान हैं और कानून-व्यवस्था की पहली जिम्मेदारी उनकी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस प्रशासन को जमीनी हकीकत से अवगत कराने, प्रत्येक घटना की जानकारी पहुंचाने में अहम भूमिका का निर्वहन कर सकते हैं। प्रदेश सरकार कानून-व्यवस्था को अनुशासित रखना चाहती है। कोई भी कानून मानवीय संबंधों से ऊपर नहीं हो सकता। कानून लोक व्यवस्था के लिए बना है। जिस दिन पुलिस का संवाद जनता से दोस्ताना हो जाएगा, उसी दिन वह इंटेलीजेंस का काम कर सकती है। आप नींव के पत्थर हैं : ग्राम प्रहरियों से संवाद करते हुए सीएम योगी ने कहा कि आप नींव के पत्थर हैं। प्रदेश में 60 हजार से अधिक ग्राम पंचायत हैं। प्रत्येक ग्राम में अगर एक ग्राम प्रहरी प्रतिदिन या सप्ताह में थानेदार को रिपोर्ट देता है व थानेदार उसे गंभीरता से लेता है तो यकीन मानिए की कानून व्यवस्था कभी बिगड़ेगी नहीं। हमें प्रदेश को विकास के पथ पर आगे ले जाना है जिसके लिए किसी भी सूरत में असामाजिक तत्वों को पनपने नहीं देना है। सेतु का करेंगे काम : सीएम योगी ने कहा कि कानून व्यवस्था को बनाए रखने में ग्राम प्रहरी की बड़ी भूमिका होगी। आपकी सेवा पुलिस प्रशासन को मजबूती देने के साथ सेतु का काम करेगी तो यह राष्ट्र की सेवा होगी। संप्रदाय अलग हो सकता है लेकिन धर्म सभी का राष्ट्रधर्म होना चाहिए। एसएसपी की पहल को सराहा : ग्राम चौकीदारों के सम्मेलन में एसएपसी आरके भारद्वाज ने ग्राम चौकीदारों के लिए वाराणसी पुलिस की ओर से की गई व्यवस्था के बाबत मुख्यमंत्री को जानकारी देते हुए बताया कि ग्राम प्रहरियों को समय-समय पर मानदेय के अतिरिक्त वर्दी दी गई है। साथ ही परिचय पत्र, डंडा, सीटी, साफा जैकेट, धोती जूता, साइकिल और रखरखाव के लिए 700 रुपये, विवाद रजिस्टर दिए गए हैं। ग्राम चौकीदारों के लिए कार्यशाला का आयोजन कर उन्हें उनकी भूमिका बताई गई। मुख्यमंत्री ने एसएसपी के प्रयास की खुले मंच से सराहना की।


  • राष्ट्रीय सहारा : 05/01/2018 लखनऊ (वार्ता)। उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शामली के कैराना क्षेत्र में बदमाशों के साथ हुई मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से शहीद कांस्टेबल अंकित तोमर की वीरता और साहस की प्रशंसा करते हुए उनके परिजनों को 50 लाख रपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शान्ति की कामना करते हुए उनके परिजनों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि आर्थिक सहायता के रूप में 40 लाख रपए शहीद की पत्नी को और 10 लाख रपए उनके माता-पिता को दिए जाएंगे। गौरतलब है कि शामली के कैराना इलाके के जंधेड़ी गांव में मंगलवार की रात बदमाशों से हुई मुठभेड़ के दौरान कांस्टेबल अंकित तोमर गोली लगने से गंभीर रुप से घायल हो गया था।
    Close
    शहीद सिपाही के परिवार को 50 लाख की मदद
    राष्ट्रीय सहारा 05/01/2018
    लखनऊ (वार्ता)। उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शामली के कैराना क्षेत्र में बदमाशों के साथ हुई मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से शहीद कांस्टेबल अंकित तोमर की वीरता और साहस की प्रशंसा करते हुए उनके परिजनों को 50 लाख रपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शान्ति की कामना करते हुए उनके परिजनों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि आर्थिक सहायता के रूप में 40 लाख रपए शहीद की पत्नी को और 10 लाख रपए उनके माता-पिता को दिए जाएंगे। गौरतलब है कि शामली के कैराना इलाके के जंधेड़ी गांव में मंगलवार की रात बदमाशों से हुई मुठभेड़ के दौरान कांस्टेबल अंकित तोमर गोली लगने से गंभीर रुप से घायल हो गया था।


  • हिन्दुस्तान : 04/01/2018 लखनऊ, प्रमुख संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कृषि उत्पादन मण्डी अधिनियम में किसानों के हित में संशोधन करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मंडियों से बिचौलियों की भूमिका हर हाल में खत्म की जाए। किसानों के कृषि उत्पादों की खरीद में बिचौलियों के लिए कोई स्थान नही होना चाहिए।मुख्यमंत्री बुधवार को शास्त्री भवन में कृषि विपणन के क्षेत्र में सुधारों के बारे में हुए प्रस्तुतिकरण के दौरान विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि किसानों को उत्पाद को बेचने की स्वतंत्रता हो, जिससे उन्हें उत्पाद का बेहतर मूल्य मिल सके। मंडी समितियों के संचालन में जवाबदेही तय हो, जिससे उनका स्थानीय आवश्यकता के अनुरूप विकास हो सके। उन्होंने कहा कि कोल्ड स्टोरेज व गोदामों की बेहतर व्यवस्था की जाए। किसानों से प्रसंस्करण इकाइयों और व्यवसायियों द्वारा भी उनके उत्पादों को क्रय करने की व्यवस्था के बेहतर इंतजाम हों। उन्होंने कहा कि इसमें जो भी बाधाएं हैं, उन्हें दूर किया जाए। मुख्यमंत्री ने मण्डी स्थलों पर व्यापारिक गतिविधियों को पारदर्शी एवं भ्रष्टाचार मुक्त ढंग से संचालित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मण्डी समितियों के संचालन में किसानों, व्यापारियों और अन्य घटकों का प्रतिनिधित्व भी तय हो। कृषि विपणन के क्षेत्र में निजी पूंजी निवेश की संभावनाओं पर भी विचार किया जाए। इस अवसर पर प्रमुख सचिव कृषि एवं कृषि विपणन श्री अमित मोहन प्रसाद ने कृषि उत्पादन मण्डी अधिनियम, 1964 के उद्देश्यों व उपलब्धियों की जानकारी दी। बैठक में कृषि निर्यात, विपणन व विदेश व्यापार राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वाती सिंह, मुख्य सचिव राजीव कुमार, कृषि उत्पादन आयुक्त राज प्रताप सिंह मौजूद थे।
    Close
    मंडियों से खत्म हो बिचौलियों की भूमिका : योगी
    हिन्दुस्तान 04/01/2018
    लखनऊ, प्रमुख संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कृषि उत्पादन मण्डी अधिनियम में किसानों के हित में संशोधन करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मंडियों से बिचौलियों की भूमिका हर हाल में खत्म की जाए। किसानों के कृषि उत्पादों की खरीद में बिचौलियों के लिए कोई स्थान नही होना चाहिए।मुख्यमंत्री बुधवार को शास्त्री भवन में कृषि विपणन के क्षेत्र में सुधारों के बारे में हुए प्रस्तुतिकरण के दौरान विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि किसानों को उत्पाद को बेचने की स्वतंत्रता हो, जिससे उन्हें उत्पाद का बेहतर मूल्य मिल सके। मंडी समितियों के संचालन में जवाबदेही तय हो, जिससे उनका स्थानीय आवश्यकता के अनुरूप विकास हो सके। उन्होंने कहा कि कोल्ड स्टोरेज व गोदामों की बेहतर व्यवस्था की जाए। किसानों से प्रसंस्करण इकाइयों और व्यवसायियों द्वारा भी उनके उत्पादों को क्रय करने की व्यवस्था के बेहतर इंतजाम हों। उन्होंने कहा कि इसमें जो भी बाधाएं हैं, उन्हें दूर किया जाए। मुख्यमंत्री ने मण्डी स्थलों पर व्यापारिक गतिविधियों को पारदर्शी एवं भ्रष्टाचार मुक्त ढंग से संचालित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मण्डी समितियों के संचालन में किसानों, व्यापारियों और अन्य घटकों का प्रतिनिधित्व भी तय हो। कृषि विपणन के क्षेत्र में निजी पूंजी निवेश की संभावनाओं पर भी विचार किया जाए। इस अवसर पर प्रमुख सचिव कृषि एवं कृषि विपणन श्री अमित मोहन प्रसाद ने कृषि उत्पादन मण्डी अधिनियम, 1964 के उद्देश्यों व उपलब्धियों की जानकारी दी। बैठक में कृषि निर्यात, विपणन व विदेश व्यापार राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वाती सिंह, मुख्य सचिव राजीव कुमार, कृषि उत्पादन आयुक्त राज प्रताप सिंह मौजूद थे।


  • दैनिक जागरण : 03/01/2018 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगामी 21 व 22 फरवरी राजधानी में आयोजित किये जाने वाले यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018 के लिए पुख्ता तैयारी समय से पूरी करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि सभी संबंधित विभाग प्राथमिकता के आधार पर गंभीरता के साथ समिट के लिए अपनी जिम्मेदारियां निभाएं। इसमें किसी भी प्रकार की ढिलाई व लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वह मंगलवार को यूपी इन्वेस्टर्स समिट की तैयारियों की निगरानी के लिए गठित आयोजन समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा है कि यह समिट प्रदेश की छवि को उभारने व निखारने का एक प्रतिष्ठित आयोजन है जिसमें कई केंद्रीय मंत्री, औद्योगिक घराने, राजदूत व हाई कमिश्नर, व्यापारिक संगठन, बैंकर्स, देश-विदेश के निवेशक शामिल होंगे। समिट की तैयारियों के लिए बनाई गई सभी समितियां सौंपे गए काम को तय समय-सीमा में पूरा करें। जिन विभागों से जुड़ी नीतियां जारी नहीं हुई हैं, उन्हें भी जल्दी जारी करने की कार्यवाही की जाए। समिट में शामिल होने वाले अति विशिष्ट लोगों को सुविधाएं उपलब्ध कराने, उनके ठहरने, आने-जाने के साथ सुरक्षा व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन तथा अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर उत्तर प्रदेश की छवि को उभारते हुए इन्वेस्टर्स समिट से संबंधित प्रचार-प्रसार की रणनीति अपनायी जाए। विशिष्ट व्यक्तियों के लिए लायजन ऑफीसर्स की तैनाती की जाए।
    Close
    इन्वेस्टर्स समिट की तैयारियों में ढिलाई बर्दाश्त नहीं : योगी
    दैनिक जागरण 03/01/2018
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगामी 21 व 22 फरवरी राजधानी में आयोजित किये जाने वाले यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018 के लिए पुख्ता तैयारी समय से पूरी करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि सभी संबंधित विभाग प्राथमिकता के आधार पर गंभीरता के साथ समिट के लिए अपनी जिम्मेदारियां निभाएं। इसमें किसी भी प्रकार की ढिलाई व लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वह मंगलवार को यूपी इन्वेस्टर्स समिट की तैयारियों की निगरानी के लिए गठित आयोजन समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा है कि यह समिट प्रदेश की छवि को उभारने व निखारने का एक प्रतिष्ठित आयोजन है जिसमें कई केंद्रीय मंत्री, औद्योगिक घराने, राजदूत व हाई कमिश्नर, व्यापारिक संगठन, बैंकर्स, देश-विदेश के निवेशक शामिल होंगे। समिट की तैयारियों के लिए बनाई गई सभी समितियां सौंपे गए काम को तय समय-सीमा में पूरा करें। जिन विभागों से जुड़ी नीतियां जारी नहीं हुई हैं, उन्हें भी जल्दी जारी करने की कार्यवाही की जाए। समिट में शामिल होने वाले अति विशिष्ट लोगों को सुविधाएं उपलब्ध कराने, उनके ठहरने, आने-जाने के साथ सुरक्षा व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन तथा अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर उत्तर प्रदेश की छवि को उभारते हुए इन्वेस्टर्स समिट से संबंधित प्रचार-प्रसार की रणनीति अपनायी जाए। विशिष्ट व्यक्तियों के लिए लायजन ऑफीसर्स की तैनाती की जाए।


  • राष्ट्रीय सहारा : 02/01/2018 महराजगंज / पनियरा (एसएनबी)। महराजगंज के पनियरा क्षेत्र के वन ग्राम चन्दनचाफी के बरहवा नर्सरी में 18 वन टांगिया ग्रामों के राजस्व ग्राम घोषित करने के बाद मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के सभी 1625 वन ग्राम राजस्व ग्राम के रूप लाभान्वित होंगे। अकेले गोरखपुर व महराजगंज के लगभग 50 हजार वन टांगिया किसान देश आजाद होने के बाद भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित थे। गोरखपुर के पांच वन ग्रामों के करीब 8 हजार व महराजगंज जनपद के 18 वन ग्रामों के 42 हजार वन टांगिया किसानों को विकास की मुख्यधारा से जुड़ने से अब कोई रोक नहीं सकता। सीएम ने अपने लगभग 40 मिनट के सम्बोधन में केन्द्र व प्रदेश की सरकार की उपलब्धियों को गिनाया। वहीं पर सपा, बसपा व कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि सांसद रहते हुए बेलासपुर व दौलतपुर उनके संसदीय क्षेत्र का हिस्सा था। एक बार इस गांव में उन्होंने सड़क बनवाने का काम सांसद निधि से शुरू कराया तो मेरे प्रतिनिधि पर वन विभाग ने मुकदमा दर्ज करा दिया था। ऐसे में उन्होंने महसूस किया कि वन टांगिया किसान व मूसहर जाति के लोग इस देश व प्रदेश में रह तो रहे हैं लेकिन वे शासन की सभी सुविधाओं से वंचित हैं। सदन में उन्होने संघर्ष कर 2007 में ही कानून में परिवर्तन करा दिया था। मुख्यमंत्री बनने के बाद जव वह पहली बार गोरखपुर आये तो अधिकारियों की बैठक में मुसहर व वन टांगिया किसानों को सभी कार्य योजनाओं में जोड़ने को कहा। दीपावली पर गोरखपुर जनपद के पांच वन ग्रामों को राजस्व ग्राम घोषित कर 8 हजार वन टांगिया किसानों को दीपावली की वास्तविक खुशी दी। आज नव वर्ष पर बड़ा सुखद अनुभव हो रहा है जब महराजगंज के 18 वन ग्राम राजस्व ग्राम के रूप में मैं घोषित कर रहा हू। अब इस जनपद के 42 हजार वन टांगिया किसान भी अब विकास की मुख्यधारा से जुड़ जायेंगे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि इन गांवों में अब बिजली, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ, आंगनबाड़ी, वृद्धा, विधवा पेंशन व दिव्यांग पेंशन सहित सभी योजनओं के लाभों से लाभान्वित करायें। सांसद पंकज चौधरी ने अभियान चलाकर इन गांवों में सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने की बात कही।
    Close
    सभी 1625 वन ग्राम राजस्व ग्राम होंगे : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 02/01/2018
    महराजगंज / पनियरा (एसएनबी)। महराजगंज के पनियरा क्षेत्र के वन ग्राम चन्दनचाफी के बरहवा नर्सरी में 18 वन टांगिया ग्रामों के राजस्व ग्राम घोषित करने के बाद मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के सभी 1625 वन ग्राम राजस्व ग्राम के रूप लाभान्वित होंगे। अकेले गोरखपुर व महराजगंज के लगभग 50 हजार वन टांगिया किसान देश आजाद होने के बाद भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित थे। गोरखपुर के पांच वन ग्रामों के करीब 8 हजार व महराजगंज जनपद के 18 वन ग्रामों के 42 हजार वन टांगिया किसानों को विकास की मुख्यधारा से जुड़ने से अब कोई रोक नहीं सकता। सीएम ने अपने लगभग 40 मिनट के सम्बोधन में केन्द्र व प्रदेश की सरकार की उपलब्धियों को गिनाया। वहीं पर सपा, बसपा व कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि सांसद रहते हुए बेलासपुर व दौलतपुर उनके संसदीय क्षेत्र का हिस्सा था। एक बार इस गांव में उन्होंने सड़क बनवाने का काम सांसद निधि से शुरू कराया तो मेरे प्रतिनिधि पर वन विभाग ने मुकदमा दर्ज करा दिया था। ऐसे में उन्होंने महसूस किया कि वन टांगिया किसान व मूसहर जाति के लोग इस देश व प्रदेश में रह तो रहे हैं लेकिन वे शासन की सभी सुविधाओं से वंचित हैं। सदन में उन्होने संघर्ष कर 2007 में ही कानून में परिवर्तन करा दिया था। मुख्यमंत्री बनने के बाद जव वह पहली बार गोरखपुर आये तो अधिकारियों की बैठक में मुसहर व वन टांगिया किसानों को सभी कार्य योजनाओं में जोड़ने को कहा। दीपावली पर गोरखपुर जनपद के पांच वन ग्रामों को राजस्व ग्राम घोषित कर 8 हजार वन टांगिया किसानों को दीपावली की वास्तविक खुशी दी। आज नव वर्ष पर बड़ा सुखद अनुभव हो रहा है जब महराजगंज के 18 वन ग्राम राजस्व ग्राम के रूप में मैं घोषित कर रहा हू। अब इस जनपद के 42 हजार वन टांगिया किसान भी अब विकास की मुख्यधारा से जुड़ जायेंगे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि इन गांवों में अब बिजली, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ, आंगनबाड़ी, वृद्धा, विधवा पेंशन व दिव्यांग पेंशन सहित सभी योजनओं के लाभों से लाभान्वित करायें। सांसद पंकज चौधरी ने अभियान चलाकर इन गांवों में सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने की बात कही।


  • हिन्दुस्तान : 01/01/2018 सिद्धार्थनगर। कार्यालय संवाददातासीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को सिद्धार्थनगर को नए साल का शानदार तोहफा दिया। कपिलवस्तु महोत्सव के समापन समारोह में मुख्यमंत्री ने जिले में 350 बेड का मेडिकल कॉलेज बनाने का ऐलान किया। साथ ही जिला अस्पताल में 100 बेड और बढ़ाने की भी बात कही। इस दौरान सीएम ने कई योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। विश्वस्तरीय बनेगा सिद्धार्थ विवि: कपिलवस्तु महोत्सव के समापन समारोह को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि कुछ लोग सिद्धार्थ विवि के औचित्य पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। ऐसे लोगों के बारे में कुछ कहने की जरूरत नहीं। उन्होंने कहा कि सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी अन्तरराष्ट्रीय स्तर की बनेगी। यहां पर विभिन्न भाषाओं की शिक्षा के साथ शोध के इंतजाम होंगे।सीएम को 12.15 बजे सिद्धार्थनगर पहुंचना था, पर घने कोहरे के कारण पुलिस लाइंस में बने हेलीपैड पर हेलीकाप्टर नहीं उतर पाया। तब हेलीकॉप्टर गोरखपुर ले जाया गया, वहां भी लैंडिंग में मुश्किल हुई तो हेलीकॉप्टर फैजाबाद गया और वहां से सीएम सड़क मार्ग से कपिलवस्तु पहुंचे।
    Close
    सिद्धार्थनगर में बनेगा मेडिकल कॉलेज
    हिन्दुस्तान 01/01/2018
    सिद्धार्थनगर। कार्यालय संवाददातासीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को सिद्धार्थनगर को नए साल का शानदार तोहफा दिया। कपिलवस्तु महोत्सव के समापन समारोह में मुख्यमंत्री ने जिले में 350 बेड का मेडिकल कॉलेज बनाने का ऐलान किया। साथ ही जिला अस्पताल में 100 बेड और बढ़ाने की भी बात कही। इस दौरान सीएम ने कई योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। विश्वस्तरीय बनेगा सिद्धार्थ विवि: कपिलवस्तु महोत्सव के समापन समारोह को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि कुछ लोग सिद्धार्थ विवि के औचित्य पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। ऐसे लोगों के बारे में कुछ कहने की जरूरत नहीं। उन्होंने कहा कि सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी अन्तरराष्ट्रीय स्तर की बनेगी। यहां पर विभिन्न भाषाओं की शिक्षा के साथ शोध के इंतजाम होंगे।सीएम को 12.15 बजे सिद्धार्थनगर पहुंचना था, पर घने कोहरे के कारण पुलिस लाइंस में बने हेलीपैड पर हेलीकाप्टर नहीं उतर पाया। तब हेलीकॉप्टर गोरखपुर ले जाया गया, वहां भी लैंडिंग में मुश्किल हुई तो हेलीकॉप्टर फैजाबाद गया और वहां से सीएम सड़क मार्ग से कपिलवस्तु पहुंचे।

सर्वश्रेष्ठ समीक्षा

आपका मत

आप के विचार

  • बूचड़ खाना बंद करने पर धन्यावाद

    राजेश patodi हम यह चाहते हे की यह नियम पुरे भारत देश शक्ति से लागु किया जाये हम आशा करते हे की आप की यह मेहनत जरूर रंग लाएगी जय हिन्द जय भारत ,राजेश पटौदी म.प. इंदौर
  • शिक्षा

    अभिशेष एक अपील मोदी जी और योगी जी से की प्राइवेट स्कूल की फीस पर कोई लगाम नहीं है और उनके स्कूल मे पढ़ाया जाने वाला कोर्स बाजार भाव से पांच गुना दामों मे बेचा जा रहा है । आपसे निवेदन है कि इन दोनों बातो पर अपना ध्यान दे ।
  • संपूर्ण देखें