समाचार
वर्ष : माह :
  • दैनिक जागरण : 26/05/2017 अजय शुक्ल ’ पडरौना, कुशीनगर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंसेफ्लाइटिस से मुक्ति के लिए आमजन के स्वच्छता अभियान से जुड़ने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि सिर्फ सरकार या निकायों, पंचायतों के भरोसे बैठने से स्वच्छता नहीं आ सकती, बल्कि इसके लिए शहर से गांव तक सबको अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। जब गांव स्वच्छ और साफ-सुथरे रहेंगे तो इंसेफ्लाइटिस की बीमारी पनपने नहीं पाएगी। यह समझने की जरूरत है कि स्वच्छता ही इंसेफ्लाइटिस का समूल नाश करेगा। मुख्यमंत्री गुरुवार को कुशीनगर जिले की मुसहर बस्ती दीनापट्टी में जापानी इंसेफ्लाइटिस (जेईं) एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) और कालाजार के उन्मूलन को लेकर प्रदेश के 38 जिलों में शुरू टीकाकरण अभियान का शुभारंभ करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने मुसहर टोली के छह बच्चों को जापानी इंसेफ्लाइटिस से बचाव के लिए अपने सामने टीका लगवाया। किया कि इस अभियान में सभी सहभागिता निभाएं। योगी ने कहा कि मुसहर, मलीन और अल्पसंख्यक बस्तियों में इस बीमारी का कहर अधिक है। प्रशासन को एक मुहिम के तहत यहां कार्य करना होगा। स्वच्छता के लिए जागरूक करने के साथ सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ देना सुनिश्चत करना होगा। आज से शुरू होकर 10 जून तक चलने वाले इस अभियान के तहत 38 जिलों के 90 लाख बच्चों को टीका लगाया जाएगा। वैक्सीन की कहीं कोई कमी नहीं है। इसके लिए सरकार मुक्त हाथ से धन देगी। प्रदेश की कानून व्यवस्था का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि जो कानून का पालन नहीं करेगा, उसके लिए प्रदेश में कोई जगह नहीं। हम इसके लिए सख्ती से कार्य कर रहे हैं। सुरक्षा का वातावरण तैयार करना सरकार की प्राथमिकता है।
    Close
    इंसेफ्लाइटिस के अंत के लिए अपनाएं स्वच्छता
    दैनिक जागरण 26/05/2017
    अजय शुक्ल ’ पडरौना, कुशीनगर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंसेफ्लाइटिस से मुक्ति के लिए आमजन के स्वच्छता अभियान से जुड़ने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि सिर्फ सरकार या निकायों, पंचायतों के भरोसे बैठने से स्वच्छता नहीं आ सकती, बल्कि इसके लिए शहर से गांव तक सबको अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। जब गांव स्वच्छ और साफ-सुथरे रहेंगे तो इंसेफ्लाइटिस की बीमारी पनपने नहीं पाएगी। यह समझने की जरूरत है कि स्वच्छता ही इंसेफ्लाइटिस का समूल नाश करेगा। मुख्यमंत्री गुरुवार को कुशीनगर जिले की मुसहर बस्ती दीनापट्टी में जापानी इंसेफ्लाइटिस (जेईं) एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) और कालाजार के उन्मूलन को लेकर प्रदेश के 38 जिलों में शुरू टीकाकरण अभियान का शुभारंभ करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने मुसहर टोली के छह बच्चों को जापानी इंसेफ्लाइटिस से बचाव के लिए अपने सामने टीका लगवाया। किया कि इस अभियान में सभी सहभागिता निभाएं। योगी ने कहा कि मुसहर, मलीन और अल्पसंख्यक बस्तियों में इस बीमारी का कहर अधिक है। प्रशासन को एक मुहिम के तहत यहां कार्य करना होगा। स्वच्छता के लिए जागरूक करने के साथ सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ देना सुनिश्चत करना होगा। आज से शुरू होकर 10 जून तक चलने वाले इस अभियान के तहत 38 जिलों के 90 लाख बच्चों को टीका लगाया जाएगा। वैक्सीन की कहीं कोई कमी नहीं है। इसके लिए सरकार मुक्त हाथ से धन देगी। प्रदेश की कानून व्यवस्था का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि जो कानून का पालन नहीं करेगा, उसके लिए प्रदेश में कोई जगह नहीं। हम इसके लिए सख्ती से कार्य कर रहे हैं। सुरक्षा का वातावरण तैयार करना सरकार की प्राथमिकता है।


  • राष्ट्रीय सहारा : 25/05/2017 लखनऊ (एसएनबी)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को यहां अपने सरकारी आवास में जनता की समस्याओं को सुना और इन पर शीघ्र कार्रवाई का भरोसा दिया।सरकारी प्रवक्ता के अनुसार सीतापुर की रागिनी ने मुख्यमंत्री को अपने आवास के आग से क्षतिग्रस्त हो जाने की जानकारी देते हुए उनसे आर्थिक सहयोग के लिए अनुरोध किया, वहीं सीतापुर के ही नन्द किशोर ने दिव्यांग पेंशन के लिए आग्रह किया। कासगंज से आयीं दीप्ति ने आवास एवं स्वरोजगार उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। इनके अलावा भी काफी संख्या में लोगों ने मुख्यमंत्री को अपने समस्या संबंधी आवेदन पत्र दिए। श्री योगी ने सभी मामलों में निष्पक्ष एवं प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। बुधवार को लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर जनता की समस्याएं सुनते मुख्यमंत्री।
    Close
    योगी ने सुनीं जनता की समस्याएं
    राष्ट्रीय सहारा 25/05/2017
    लखनऊ (एसएनबी)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को यहां अपने सरकारी आवास में जनता की समस्याओं को सुना और इन पर शीघ्र कार्रवाई का भरोसा दिया।सरकारी प्रवक्ता के अनुसार सीतापुर की रागिनी ने मुख्यमंत्री को अपने आवास के आग से क्षतिग्रस्त हो जाने की जानकारी देते हुए उनसे आर्थिक सहयोग के लिए अनुरोध किया, वहीं सीतापुर के ही नन्द किशोर ने दिव्यांग पेंशन के लिए आग्रह किया। कासगंज से आयीं दीप्ति ने आवास एवं स्वरोजगार उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। इनके अलावा भी काफी संख्या में लोगों ने मुख्यमंत्री को अपने समस्या संबंधी आवेदन पत्र दिए। श्री योगी ने सभी मामलों में निष्पक्ष एवं प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। बुधवार को लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर जनता की समस्याएं सुनते मुख्यमंत्री।


  • दैनिक जागरण : 24/05/2017 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में कहा कि तीन तलाक महिला सशक्तिकरण का मुद्दा है। अगर किसी धर्म की कोई प्रथा किसी के हक के खिलाफ है तो उसे खत्म होना ही चाहिए। जनता दर्शन में मेरे आवास पर रोजाना आने वालों में 25-30 मामले तीन तलाक के ही होते हैं। ऐसे सभी आवेदनों को एकत्र करवाकर सुप्रीमकोर्ट में भेजेंगे। योगी ने कहा कि अयोध्या विवाद में सरकार पक्षकार नहीं है। संविधान के दायरे में रहकर इसका हल हमारी प्रतिबद्धता है। दोनों पक्ष बातचीत के जरिए किसी सहमति पर पहुंचकर सरकार से मदद मांगते हैं तो उनकी मदद होगी। शांति एवं सद्भाव के लिए यह झगड़ा खत्म होना चाहिए। अतीत में हुई भूलों का सुधार जरूरी है। ऐसी हर पहल का स्वागत है। चीजें अच्छी दिशा में जा रही हैं, नतीजे भी अच्छे निकलेंगे। सौ दिन बाद सरकार हिसाब देने को तैयार : योगी ने कहा कि सुशासन, सुरक्षा, पारदर्शिता, जवाबदेह और संवेदनशील प्रशासन हमारी प्राथमिकता है। वर्षो का कचरा है। सफाई में कुछ वक्त लगेगा। सरकार के कामकाज को लेकर लोगों की शुरुआती आशंकाएं दूर हो चुकी हैं। अपेक्षाएं बेशुमार हैं। साथ में यह यकीन भी कि वे पूरा होंगी। जनता का यह विश्वास हमारी पूंजी है। सरकार अपेक्षाओं पर खरी उतरेगी। सौ दिन बाद हमसे हिसाब भी देंगे। कानून व्यवस्था सबसे बड़ी चुनौती, सुधार कर रहेंगे : मुख्यमंत्री ने माना कि कानून-व्यवस्था सबसे बड़ी चुनौती है। सरकार इसमें सुधार के प्रति प्रतिबद्ध है। अपराधियों की ही नहीं उनके आकाओं की भी नकेल कसेंगे। अपराधी या तो अपराध छोड़ेंगे या प्रदेश। सहारनपुर की घटना जातीय संघर्ष नहीं। मायावती बिना वजह इसे ऐसा रंग देने पर आमादा हैं। अब कोई भी अपने राजनीतिक हित में किसी घटना को जातीय या सांप्रदायिक रंग नहीं दे सकेगा। उन्होंने एंटी रोमियो दस्ते को और प्रभावी बनाने, पेट्रोल पंपों के खिलाफ अभियान जारी रखने और इंसेफ्लाइटिस के रोकथाम के लिए टीकाकरण अभियान शुरू करने की भी बात कही।लखनऊ : राशनकार्ड बनाने के अभियान में तेजी लाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी विधायकों से अपने क्षेत्र में कैंप लगवाकर कार्ड बनवाने को कहा है। खाद्य एवं रसद विभाग राज्य मंत्री अतुल गर्ग ने बताया कि विधायकों को लिखे पत्र में कहा गया है कि राशन कार्ड सुविधा से कोई जरूरतमंद व्यक्ति वंचित न रहने पाए। उन्होंने बताया कि जनप्रतिनिधियों के साथ स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद भी इस अभियान में लेंगे। पुराने राशन कार्ड के स्थान पर नए कार्ड में क्यूआर कोड भी अंकित होगा और इसको आधार कार्ड से लिंक किया जाएगा। आगामी तीन माह में सभी राशन उपभोक्ता आधार कार्ड से जोड़ दिए जाएंगे। मंत्री ने बताया कि एलपीजी सब्सिडी के तर्ज पर सभी समृद्ध लोगों से स्वेच्छा से सस्ते राशन का खाद्यान्न छोड़ने की अपील की गई है।’
    Close
    ‘सुप्रीम कोर्ट भेजेंगे तीन तलाक के आवेदन’
    दैनिक जागरण 24/05/2017
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में कहा कि तीन तलाक महिला सशक्तिकरण का मुद्दा है। अगर किसी धर्म की कोई प्रथा किसी के हक के खिलाफ है तो उसे खत्म होना ही चाहिए। जनता दर्शन में मेरे आवास पर रोजाना आने वालों में 25-30 मामले तीन तलाक के ही होते हैं। ऐसे सभी आवेदनों को एकत्र करवाकर सुप्रीमकोर्ट में भेजेंगे। योगी ने कहा कि अयोध्या विवाद में सरकार पक्षकार नहीं है। संविधान के दायरे में रहकर इसका हल हमारी प्रतिबद्धता है। दोनों पक्ष बातचीत के जरिए किसी सहमति पर पहुंचकर सरकार से मदद मांगते हैं तो उनकी मदद होगी। शांति एवं सद्भाव के लिए यह झगड़ा खत्म होना चाहिए। अतीत में हुई भूलों का सुधार जरूरी है। ऐसी हर पहल का स्वागत है। चीजें अच्छी दिशा में जा रही हैं, नतीजे भी अच्छे निकलेंगे। सौ दिन बाद सरकार हिसाब देने को तैयार : योगी ने कहा कि सुशासन, सुरक्षा, पारदर्शिता, जवाबदेह और संवेदनशील प्रशासन हमारी प्राथमिकता है। वर्षो का कचरा है। सफाई में कुछ वक्त लगेगा। सरकार के कामकाज को लेकर लोगों की शुरुआती आशंकाएं दूर हो चुकी हैं। अपेक्षाएं बेशुमार हैं। साथ में यह यकीन भी कि वे पूरा होंगी। जनता का यह विश्वास हमारी पूंजी है। सरकार अपेक्षाओं पर खरी उतरेगी। सौ दिन बाद हमसे हिसाब भी देंगे। कानून व्यवस्था सबसे बड़ी चुनौती, सुधार कर रहेंगे : मुख्यमंत्री ने माना कि कानून-व्यवस्था सबसे बड़ी चुनौती है। सरकार इसमें सुधार के प्रति प्रतिबद्ध है। अपराधियों की ही नहीं उनके आकाओं की भी नकेल कसेंगे। अपराधी या तो अपराध छोड़ेंगे या प्रदेश। सहारनपुर की घटना जातीय संघर्ष नहीं। मायावती बिना वजह इसे ऐसा रंग देने पर आमादा हैं। अब कोई भी अपने राजनीतिक हित में किसी घटना को जातीय या सांप्रदायिक रंग नहीं दे सकेगा। उन्होंने एंटी रोमियो दस्ते को और प्रभावी बनाने, पेट्रोल पंपों के खिलाफ अभियान जारी रखने और इंसेफ्लाइटिस के रोकथाम के लिए टीकाकरण अभियान शुरू करने की भी बात कही।लखनऊ : राशनकार्ड बनाने के अभियान में तेजी लाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी विधायकों से अपने क्षेत्र में कैंप लगवाकर कार्ड बनवाने को कहा है। खाद्य एवं रसद विभाग राज्य मंत्री अतुल गर्ग ने बताया कि विधायकों को लिखे पत्र में कहा गया है कि राशन कार्ड सुविधा से कोई जरूरतमंद व्यक्ति वंचित न रहने पाए। उन्होंने बताया कि जनप्रतिनिधियों के साथ स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद भी इस अभियान में लेंगे। पुराने राशन कार्ड के स्थान पर नए कार्ड में क्यूआर कोड भी अंकित होगा और इसको आधार कार्ड से लिंक किया जाएगा। आगामी तीन माह में सभी राशन उपभोक्ता आधार कार्ड से जोड़ दिए जाएंगे। मंत्री ने बताया कि एलपीजी सब्सिडी के तर्ज पर सभी समृद्ध लोगों से स्वेच्छा से सस्ते राशन का खाद्यान्न छोड़ने की अपील की गई है।’


  • राष्ट्रीय सहारा : 23/05/2017 सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधान परिषद में सोमवार को कानून व्यवस्था पर सख्त रुख दिखाया। राज्यपाल के अभिभाषण पर र्चचा का जवाब देते हुए योगी ने कहा कि अपराधी कोई भी हो, बचेगा नहीं, उसके साथ ही संरक्षण देने वालों से भी निपटेंगे। यूपी में तमाम माफिया पलते रहे हैं लेकिन अब सरकार सूबे को गुण्डा-माफिया राज व भ्रष्टाचार से मुक्त करेगी। उन्होंने कहा कि सरकारी जमीन पर कब्जा करने वालों की भी खैर नहीं लेकिन किसी भी गरीब को बेघर नहीं किया जाएगा। इसके लिए सख्त निर्देश दिये गये हैं।परिषद में मुख्यमंत्री ने कहा कि जब अपराधियों को सत्ता का संरक्षण मिलता है तो संकट और गहरा जाता है। यह संरक्षण किसने दिया। प्रदेश का अपराधीकरण, प्रशासन का जातीयकरण और भ्रष्टाचार का सामजीकरण किया है। योगी ने कहा कि प्रदेश में कुछ अपराध घटित हुए हैं लेकिन परिणाम भी आये हैं। इससे भी बेहतर परिणाम आएंगे। सरकार सुरक्षा की गारंटी बिना भेदभाव के 22 करोड़ जनता को देगी। उन्होंने कहा कि जनता ने जिस उम्मीद में बदलाव किया है, वह करके दिखाया जाएगा। योगी ने कहा कि सरकार की इतनी बड़ी उपलब्धि है कि पूर्व मुख्यमंत्री को दो बार परिषद में आना पड़ा। इतनी बार तो वह पांच वर्ष में नहीं आये होंगे। उन्होंने सपा सरकार की नाकामियों को गिनाया और कहा कि अब सरकार सबको लेकर साथ चलेगी। दोगुना राजस्व देगी नयी आबकारी नीति : योगी ने कहा कि आश्र्चय होता है कि कोई सरकार अपने कार्यकाल के आगे के लिए भी निर्णय लेकर जाए। उन्होंने कहा कि सरकार की सरकार ने आबकारी के ठेके 2018 तक कर दिये लेकिन नयी सरकार जल्द आबकारी नीति लेकर आ रही है, जिसमें राजस्व भी दोगुना होगा और शराब की दुकानें किसी स्कूल, अस्पताल, गांव के भीतर आबादी या फिर धार्मिक स्थल तथा हाईवे पर नहीं खुल पाएंगी। गडबड़ियां जो की गयी हैं नयी आबकारी आने के बाद रोक दी जाएगी।विविद्यालयों में होंगे छात्रसंघ चुनाव : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि छात्रसंघ के चुनाव पर रोक को हटाकर लिंगदोह समिति की सिफारिशों के दायरे में चुनाव कराये जाएंगे। इसके लिए एक सप्ताह में सभी विविद्यालय व डिग्री कालेजों को चुनाव कराने हो, इसका भी जल्द समाधान होगा। उन्होंने कहा कि काशी, इलाहाबाद हो या फिर दूसरे विवि वातावरण बदलेगा। उन्होंने कहा कि विविद्यालयों में छात्र इकट्टा हों, उनके बीच छात्र नेता अपने पद के मुताबिक विचार रखें और जो भी योग्य होगा, उसका चुनाव कर लिया जाए।दो महीने की सरकार से मांग रहे 100 वर्ष का ब्योरा : योगी ने कहा कि मौजूदा सरकार ने अभी अपने कार्यकाल के 60 दिन पूरे किये हैं, लेकिन इसे ऐसे प्रस्तुत किया जा रहा है कि जैसे वह 100 वर्ष का ब्योरा चाह रहे हैं। सरकार का यह कार्यकाल पिछली सरकार के पांच वर्ष के कार्यकाल पर भारी पड़ेगा। यह सरकार विकास कायरे को अंजाम देगी, भेदभाव किसी से नहीं होगा।ऋण माफी का बोझ जनता पर नहीं पड़ेगा : विधान परिषद में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार 31 मार्च 2016 तक लघु व सीमांत किसानों का एक लाख तक का ऋण माफ कर रही है। इस पर 36 हजार करोड़ का बोझ पड़ रहा है लेकिन सरकार इस बोझ को जनता पर नहीं डालेगी।
    Close
    गुण्डा-माफियाराज व भ्रष्टाचार से मुक्त होगा प्रदेश : मुख्यमंत्री
    राष्ट्रीय सहारा 23/05/2017
    सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधान परिषद में सोमवार को कानून व्यवस्था पर सख्त रुख दिखाया। राज्यपाल के अभिभाषण पर र्चचा का जवाब देते हुए योगी ने कहा कि अपराधी कोई भी हो, बचेगा नहीं, उसके साथ ही संरक्षण देने वालों से भी निपटेंगे। यूपी में तमाम माफिया पलते रहे हैं लेकिन अब सरकार सूबे को गुण्डा-माफिया राज व भ्रष्टाचार से मुक्त करेगी। उन्होंने कहा कि सरकारी जमीन पर कब्जा करने वालों की भी खैर नहीं लेकिन किसी भी गरीब को बेघर नहीं किया जाएगा। इसके लिए सख्त निर्देश दिये गये हैं।परिषद में मुख्यमंत्री ने कहा कि जब अपराधियों को सत्ता का संरक्षण मिलता है तो संकट और गहरा जाता है। यह संरक्षण किसने दिया। प्रदेश का अपराधीकरण, प्रशासन का जातीयकरण और भ्रष्टाचार का सामजीकरण किया है। योगी ने कहा कि प्रदेश में कुछ अपराध घटित हुए हैं लेकिन परिणाम भी आये हैं। इससे भी बेहतर परिणाम आएंगे। सरकार सुरक्षा की गारंटी बिना भेदभाव के 22 करोड़ जनता को देगी। उन्होंने कहा कि जनता ने जिस उम्मीद में बदलाव किया है, वह करके दिखाया जाएगा। योगी ने कहा कि सरकार की इतनी बड़ी उपलब्धि है कि पूर्व मुख्यमंत्री को दो बार परिषद में आना पड़ा। इतनी बार तो वह पांच वर्ष में नहीं आये होंगे। उन्होंने सपा सरकार की नाकामियों को गिनाया और कहा कि अब सरकार सबको लेकर साथ चलेगी। दोगुना राजस्व देगी नयी आबकारी नीति : योगी ने कहा कि आश्र्चय होता है कि कोई सरकार अपने कार्यकाल के आगे के लिए भी निर्णय लेकर जाए। उन्होंने कहा कि सरकार की सरकार ने आबकारी के ठेके 2018 तक कर दिये लेकिन नयी सरकार जल्द आबकारी नीति लेकर आ रही है, जिसमें राजस्व भी दोगुना होगा और शराब की दुकानें किसी स्कूल, अस्पताल, गांव के भीतर आबादी या फिर धार्मिक स्थल तथा हाईवे पर नहीं खुल पाएंगी। गडबड़ियां जो की गयी हैं नयी आबकारी आने के बाद रोक दी जाएगी।विविद्यालयों में होंगे छात्रसंघ चुनाव : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि छात्रसंघ के चुनाव पर रोक को हटाकर लिंगदोह समिति की सिफारिशों के दायरे में चुनाव कराये जाएंगे। इसके लिए एक सप्ताह में सभी विविद्यालय व डिग्री कालेजों को चुनाव कराने हो, इसका भी जल्द समाधान होगा। उन्होंने कहा कि काशी, इलाहाबाद हो या फिर दूसरे विवि वातावरण बदलेगा। उन्होंने कहा कि विविद्यालयों में छात्र इकट्टा हों, उनके बीच छात्र नेता अपने पद के मुताबिक विचार रखें और जो भी योग्य होगा, उसका चुनाव कर लिया जाए।दो महीने की सरकार से मांग रहे 100 वर्ष का ब्योरा : योगी ने कहा कि मौजूदा सरकार ने अभी अपने कार्यकाल के 60 दिन पूरे किये हैं, लेकिन इसे ऐसे प्रस्तुत किया जा रहा है कि जैसे वह 100 वर्ष का ब्योरा चाह रहे हैं। सरकार का यह कार्यकाल पिछली सरकार के पांच वर्ष के कार्यकाल पर भारी पड़ेगा। यह सरकार विकास कायरे को अंजाम देगी, भेदभाव किसी से नहीं होगा।ऋण माफी का बोझ जनता पर नहीं पड़ेगा : विधान परिषद में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार 31 मार्च 2016 तक लघु व सीमांत किसानों का एक लाख तक का ऋण माफ कर रही है। इस पर 36 हजार करोड़ का बोझ पड़ रहा है लेकिन सरकार इस बोझ को जनता पर नहीं डालेगी।


  • राष्ट्रीय सहारा : 22/05/2017 बरेली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था ठीक हुई है, लेकिन कुछ जगहों पर विपक्षी पार्टियां अराजकता फैला रही हैं। बरेली मंडल की कानून व्यवस्था और विकास कायरें की समीक्षा के लिए यहां आये श्री योगी ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आप लोग क्षेत्र में जाएं और विपक्षी पार्टियों की करामात से अवगत कराएं। इसका सबसे बेहतर तरीका है कि तीन साल की मोदी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी ‘‘मेरा घर,भाजपा का घर’ अभियान के तहत जनता तक पहुंचाएं। इससे विरोधी बेनकाब हो जाएंगे। श्री योगी ने यह भी कहा कि पार्टी कार्यकत्र्ता धैर्य रखें, सरकार बने अभी दो महीने हुए हैं। उन्हें सम्मान मिलेगा, जनता को परिवर्तन नजर आएगा। श्री योगी ने कहा कि हम अराजकता फैलाने वालों से सख्ती से निपटना जानते हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि वह अब सत्ता में अधिकारियों के साथ बेहतर रिश्ते बनायें। उनसे सामंजस्य स्थापित करें, ताकि जनता की समस्याओं का निराकरण त्वरित हो। उन्होंने बताया कि गंगा की सफाई अभियान के तहत गंगा के किनारे 1685 गांव हैं उनमें शौचालय बनाने की योजना है। आपको दावे से कह रहा हूं कि एक साल के अंदर प्रदेश भर में 24 घंटे बिजली होगी, गांव-शहर का कोई भेद नहीं रहेगा।
    Close
    कुछ दल फैला रहे अराजकता : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 22/05/2017
    बरेली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था ठीक हुई है, लेकिन कुछ जगहों पर विपक्षी पार्टियां अराजकता फैला रही हैं। बरेली मंडल की कानून व्यवस्था और विकास कायरें की समीक्षा के लिए यहां आये श्री योगी ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आप लोग क्षेत्र में जाएं और विपक्षी पार्टियों की करामात से अवगत कराएं। इसका सबसे बेहतर तरीका है कि तीन साल की मोदी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी ‘‘मेरा घर,भाजपा का घर’ अभियान के तहत जनता तक पहुंचाएं। इससे विरोधी बेनकाब हो जाएंगे। श्री योगी ने यह भी कहा कि पार्टी कार्यकत्र्ता धैर्य रखें, सरकार बने अभी दो महीने हुए हैं। उन्हें सम्मान मिलेगा, जनता को परिवर्तन नजर आएगा। श्री योगी ने कहा कि हम अराजकता फैलाने वालों से सख्ती से निपटना जानते हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि वह अब सत्ता में अधिकारियों के साथ बेहतर रिश्ते बनायें। उनसे सामंजस्य स्थापित करें, ताकि जनता की समस्याओं का निराकरण त्वरित हो। उन्होंने बताया कि गंगा की सफाई अभियान के तहत गंगा के किनारे 1685 गांव हैं उनमें शौचालय बनाने की योजना है। आपको दावे से कह रहा हूं कि एक साल के अंदर प्रदेश भर में 24 घंटे बिजली होगी, गांव-शहर का कोई भेद नहीं रहेगा।


  • दैनिक जागरण : 21/05/2017 जागरण संवाददाता, बांदा : बुंदेलखंड की सूखी धरा पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कदम रखते ही उम्मीदों की फसल लहलहा उठी। उन्होंने सख्त संदेश दिया कि न तो कानून व्यवस्था से खिलवाड़ बर्दाश्त होगी और न ही विकास कार्यो से पीछे हटना मंजूर है। शनिवार को एक दिवसीय दौरे पर आए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को जिम्मेदारी का पाठ पढ़ाया। पुलिस को निर्देश दिए कि बिना किसी भेदभाव के अपराधियों पर लगाम कसें। स्पष्ट लहजे में कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गो पर गुंडा टैक्स की वसूली नहीं होनी चाहिए। भाजपा पदाधिकारियों को विश्वास दिलाया कि बुंदेलखंड का विकास सरकार की प्राथमिकता में है। इसके लिए कार्ययोजना तैयार की जा रही है। बुंदेलखंड में एक्सप्रेस वे का निर्माण कराया जाएगा। जिससे यह क्षेत्र भी विकास की मुख्यधारा में शामिल हो सके। योगी ने दो बार जिला अस्पताल का दौरा किया। पहले सुविधाओं का जायजा लिया, फिर जसपुरा बस हादसे में घायल यात्रियों का हाल चाल लेने पहुंचे।1शनिवार को मुख्यमंत्री ने कलेक्ट्रेट सभागार में चित्रकूटधाम मंडल के विकास कार्यो एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की। करीब तीन घंटे तक चली बैठक में बुंदेलखंड की पेयजल व कानून व्यवस्था पर गहन मंथन किया। अधिकारियों को निर्देश दिए कि चेकडैम, खेत तालाब योजना को प्राथमिकता से लागू किया जाए ताकि अधिक से अधिक जल संचयन हो सके और आने वाले सालों में बुंदेलखंड को पानी संकट का सामना न करना पड़े। इस कार्य में जन सहभागिता सुनिश्चित कराई जाए।
    Close
    बंद हो हाईवे पर गुंडा टैक्स की वसूली: योगी
    दैनिक जागरण 21/05/2017
    जागरण संवाददाता, बांदा : बुंदेलखंड की सूखी धरा पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कदम रखते ही उम्मीदों की फसल लहलहा उठी। उन्होंने सख्त संदेश दिया कि न तो कानून व्यवस्था से खिलवाड़ बर्दाश्त होगी और न ही विकास कार्यो से पीछे हटना मंजूर है। शनिवार को एक दिवसीय दौरे पर आए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को जिम्मेदारी का पाठ पढ़ाया। पुलिस को निर्देश दिए कि बिना किसी भेदभाव के अपराधियों पर लगाम कसें। स्पष्ट लहजे में कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गो पर गुंडा टैक्स की वसूली नहीं होनी चाहिए। भाजपा पदाधिकारियों को विश्वास दिलाया कि बुंदेलखंड का विकास सरकार की प्राथमिकता में है। इसके लिए कार्ययोजना तैयार की जा रही है। बुंदेलखंड में एक्सप्रेस वे का निर्माण कराया जाएगा। जिससे यह क्षेत्र भी विकास की मुख्यधारा में शामिल हो सके। योगी ने दो बार जिला अस्पताल का दौरा किया। पहले सुविधाओं का जायजा लिया, फिर जसपुरा बस हादसे में घायल यात्रियों का हाल चाल लेने पहुंचे।1शनिवार को मुख्यमंत्री ने कलेक्ट्रेट सभागार में चित्रकूटधाम मंडल के विकास कार्यो एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की। करीब तीन घंटे तक चली बैठक में बुंदेलखंड की पेयजल व कानून व्यवस्था पर गहन मंथन किया। अधिकारियों को निर्देश दिए कि चेकडैम, खेत तालाब योजना को प्राथमिकता से लागू किया जाए ताकि अधिक से अधिक जल संचयन हो सके और आने वाले सालों में बुंदेलखंड को पानी संकट का सामना न करना पड़े। इस कार्य में जन सहभागिता सुनिश्चित कराई जाए।


  • राष्ट्रीय सहारा : 20/05/2017 सहारा न्यूज ब्यूरो लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार यूपी में कानून का राज व सुशासन स्थापित करेगी। अपराध करने वाले और उसे संरक्षण देने वाले किसी को बख्शा नहीं जाएगा। गरीब, निरीह, व्यापारी या किसी अन्य का शोषण करने और अपराध करने वाले अपराधी को वह जो भाषा समझेगा, उसमें समझाएंगे। भाजपा सरकार किसी के साथ भेदभाव नहीं करेगी। मुख्यमंत्री शुक्रवार को विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव में विपक्ष को जबाव दे रहे थे। उन्होंने करीब पौने दो घंटे के अपने भाषण में कानून-व्यवस्था, किसान, बिजली, आबकारी, खनन, एंटी रोमियो, एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स से लेकर अन्य उन सभी मुद्दों का जवाब दिया, जिसे विपक्षी सदस्यों ने धन्यवाद प्रस्ताव पर उठाये थे। श्री योगी ने कहा कि सरकार के दो महीने का कार्यकाल बड़ा नहीं है। मगर सपा-बसपा के 15 सालों के कार्यकाल पर हमारी सरकार का यह कार्यकाल भारी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार हर मां-बेटी-बहन को सुरक्षा देगी। किसी तरह की अराजकता नहीं फैलने देंगे। अपराधों पर लगाम लगेगी। अभी जो अपराध हो रहे हैं, वह अपराधियों के खत्म होने के पहले की उछल-कूद और तड़फड़ाहट है। थोड़े दिनों में सब शांत हो जाएंगे। प्रशासन को खुली छूट है कानून का राज स्थापित करने में जो आड़े आये, उससे निपटें। जबावदेही बाद में तय होगी। यहां न तो कोई अपना न कोई पराया। श्री योगी ने कहा यूपी में हमें जर्जर व्यवस्था मिली है। इसे संभालने का प्रयास हम कर रहे हैं। यहां का किसान बदहाल है। हमने किसानों के हित में फैसला लेकर उनके एक लाख रुपये तक के कर्ज माफ कर दिये। इससे 86 लाख किसानों को फायदा हुआ है। आलू किसानों के लिए पैकेज बनाया जा रहा है। पिछली सरकारों में चीनी मिलें बेची गयीं। बुंदेलखण्ड की दशा सुधारने को केन-बेतवा को जोड़ेंगे। बिजली के मामले में वीआईपी कल्चर को खत्म किया है। पहले पांच जिले ही 24 घंटे बिजली पा रहे थे। हमने पावर फार आल समझौता करके पूरे प्रदेश को समान विद्युत आपूर्ति शुरू की है।
    Close
    अपराधियों से सख्ती से निपटेंगे : मुख्यमंत्री
    राष्ट्रीय सहारा 20/05/2017
    सहारा न्यूज ब्यूरो लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार यूपी में कानून का राज व सुशासन स्थापित करेगी। अपराध करने वाले और उसे संरक्षण देने वाले किसी को बख्शा नहीं जाएगा। गरीब, निरीह, व्यापारी या किसी अन्य का शोषण करने और अपराध करने वाले अपराधी को वह जो भाषा समझेगा, उसमें समझाएंगे। भाजपा सरकार किसी के साथ भेदभाव नहीं करेगी। मुख्यमंत्री शुक्रवार को विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव में विपक्ष को जबाव दे रहे थे। उन्होंने करीब पौने दो घंटे के अपने भाषण में कानून-व्यवस्था, किसान, बिजली, आबकारी, खनन, एंटी रोमियो, एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स से लेकर अन्य उन सभी मुद्दों का जवाब दिया, जिसे विपक्षी सदस्यों ने धन्यवाद प्रस्ताव पर उठाये थे। श्री योगी ने कहा कि सरकार के दो महीने का कार्यकाल बड़ा नहीं है। मगर सपा-बसपा के 15 सालों के कार्यकाल पर हमारी सरकार का यह कार्यकाल भारी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार हर मां-बेटी-बहन को सुरक्षा देगी। किसी तरह की अराजकता नहीं फैलने देंगे। अपराधों पर लगाम लगेगी। अभी जो अपराध हो रहे हैं, वह अपराधियों के खत्म होने के पहले की उछल-कूद और तड़फड़ाहट है। थोड़े दिनों में सब शांत हो जाएंगे। प्रशासन को खुली छूट है कानून का राज स्थापित करने में जो आड़े आये, उससे निपटें। जबावदेही बाद में तय होगी। यहां न तो कोई अपना न कोई पराया। श्री योगी ने कहा यूपी में हमें जर्जर व्यवस्था मिली है। इसे संभालने का प्रयास हम कर रहे हैं। यहां का किसान बदहाल है। हमने किसानों के हित में फैसला लेकर उनके एक लाख रुपये तक के कर्ज माफ कर दिये। इससे 86 लाख किसानों को फायदा हुआ है। आलू किसानों के लिए पैकेज बनाया जा रहा है। पिछली सरकारों में चीनी मिलें बेची गयीं। बुंदेलखण्ड की दशा सुधारने को केन-बेतवा को जोड़ेंगे। बिजली के मामले में वीआईपी कल्चर को खत्म किया है। पहले पांच जिले ही 24 घंटे बिजली पा रहे थे। हमने पावर फार आल समझौता करके पूरे प्रदेश को समान विद्युत आपूर्ति शुरू की है।


  • दैनिक जागरण : 19/05/2017 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को विधानसभा में तहसील दिवस को संपरूण समाधान दिवस के रूप में मनाने और दिव्यांगों की पेंशन 500 रुपये करने की घोषणा की। उन्होंने तहसील दिवस को लेकर लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को भी कार्यशैली बदलने की हिदायत दी।1मुख्यमंत्री योगी विधानसभा सत्र में लगातार चौथे दिन भी प्रश्न काल में उपस्थित रहे और प्रश्नों के उत्तर देने में हड़बड़ाए दिव्यांगजन सशक्तिकरण मंत्री ओमप्रकाश राजभर की मदद के लिए आगे आए। सपा के संजय गर्ग के प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार ने लोक कल्याण संकल्प पत्र में जनता से किया वादा पूरा करते हुए दिव्यांगजन पेंशन में 200 रुपये प्रतिमाह बढ़ोतरी का निर्णय किया है। अब दिव्यांगजन को पांच सौ रुपये पेंशन मिलेगी। इतना ही मुख्यमंत्री ने दिव्यांगजन के प्रमाणपत्र आदि बनाने की व्यवस्था तहसील दिवस कार्यक्रमों कराने का एलान किया। उन्होंने बताया कि तहसील दिवस अब संपूर्ण समाधान दिवस के रूप में आयोजित होंगे। इनके आयोजन का नया स्वरूप तैयार किया जा रहा है। एक ही स्थान पर आमजन की विभिन्न समस्याओं का समाधान हो सकेगा। इसमें लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिव्यांगजन को अभी तक अपने प्रमाणपत्र आदि बनवाने के लिए सीएमओ कार्यालय में जाना पड़ता था। इससे पहले मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने बताया कि दिव्यांगजन के लिए ट्राई साइकिल उपलब्ध कराने का प्रस्ताव है, जिसे अनुमोदन के किए भारत सरकार को भेजा गया है।
    Close
    तहसील दिवस अब संपूर्ण समाधान दिवस : योगी
    दैनिक जागरण 19/05/2017
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को विधानसभा में तहसील दिवस को संपरूण समाधान दिवस के रूप में मनाने और दिव्यांगों की पेंशन 500 रुपये करने की घोषणा की। उन्होंने तहसील दिवस को लेकर लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को भी कार्यशैली बदलने की हिदायत दी।1मुख्यमंत्री योगी विधानसभा सत्र में लगातार चौथे दिन भी प्रश्न काल में उपस्थित रहे और प्रश्नों के उत्तर देने में हड़बड़ाए दिव्यांगजन सशक्तिकरण मंत्री ओमप्रकाश राजभर की मदद के लिए आगे आए। सपा के संजय गर्ग के प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार ने लोक कल्याण संकल्प पत्र में जनता से किया वादा पूरा करते हुए दिव्यांगजन पेंशन में 200 रुपये प्रतिमाह बढ़ोतरी का निर्णय किया है। अब दिव्यांगजन को पांच सौ रुपये पेंशन मिलेगी। इतना ही मुख्यमंत्री ने दिव्यांगजन के प्रमाणपत्र आदि बनाने की व्यवस्था तहसील दिवस कार्यक्रमों कराने का एलान किया। उन्होंने बताया कि तहसील दिवस अब संपूर्ण समाधान दिवस के रूप में आयोजित होंगे। इनके आयोजन का नया स्वरूप तैयार किया जा रहा है। एक ही स्थान पर आमजन की विभिन्न समस्याओं का समाधान हो सकेगा। इसमें लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिव्यांगजन को अभी तक अपने प्रमाणपत्र आदि बनवाने के लिए सीएमओ कार्यालय में जाना पड़ता था। इससे पहले मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने बताया कि दिव्यांगजन के लिए ट्राई साइकिल उपलब्ध कराने का प्रस्ताव है, जिसे अनुमोदन के किए भारत सरकार को भेजा गया है।


  • राष्ट्रीय सहारा : 18/05/2017 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि यदि विकास कायरे में ठेकेदारी से जनप्रतिनिधि, अपराधी या माफिया जुड़े तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने सदन को आास्त किया कि मानसून से पहले तटबंधों की मरम्मत के कार्य समय से पूरे कर लिए जाएंगे।विधानसभा में कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू द्वारा बाढ़ प्रभावित जिलों के संवेदन और अतिसंवेदनशील बंधों के बारे में पूछे गये एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार इस विषय पर काफी संवेदनशील है और जनप्रतिनिधि की चिंता से अवगत है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के तटबंधों की मरम्मत का काम पिछले आठ-दस वर्षो से नहीं हुआ हैं। उनकी सरकार इसे करवाने जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के संवेदनशील तटबंधों का मरम्मत सरकार करायेगी लेकिन जनप्रतिनिधि इसमें रुचि न लें कि कौन ठेकेदार कार्य करेगा। उन्होंने कहा कि अपराधी, गुंडे, माफिया और जनप्रतिनिधि ठेकेदारी से दूर रहें। यही उनके हित में होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि तटबंधों में ‘‘रेन कट’ को हरहाल में ठीक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि तटबंधों के मरम्मत का काम शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि प्रश्न करने वाले विधायक को भी मौके पर जाकर देखना चाहिए कि कार्य हो रहा है। यह जरूर है कि व्यवस्था बिगड़ गयी है, लेकिन उनकी सरकार इसे ठीक करायेगी।इससे पहले बाढ़ नियंतण्रराज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाती सिंह ने सदन को बताया कि राज्य के बाढ़ प्रभावित 38 जिलों के 28 संवेदनशील और अतिसंवेदनशील तटबंध हैं। इनकी मरम्मत के लिए 30.25 करोड़ रुपये स्वीकृत हैं, जिसमें से 16.64 करोड़ रुपये स्वीकृत किया चुका है। शेष राशि जल्द जारी की जाएगी। एक सवाल के जवाब में स्वाती सिंह ने आश्वासन देते हुए कहा कि सरकार 15 जून के पहले सभी तटबंधों की मरम्मत करा देगी।
    Close
    सरकारी ठेकों से माफिया जुड़े तो खैर नहीं : सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 18/05/2017
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि यदि विकास कायरे में ठेकेदारी से जनप्रतिनिधि, अपराधी या माफिया जुड़े तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने सदन को आास्त किया कि मानसून से पहले तटबंधों की मरम्मत के कार्य समय से पूरे कर लिए जाएंगे।विधानसभा में कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू द्वारा बाढ़ प्रभावित जिलों के संवेदन और अतिसंवेदनशील बंधों के बारे में पूछे गये एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार इस विषय पर काफी संवेदनशील है और जनप्रतिनिधि की चिंता से अवगत है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के तटबंधों की मरम्मत का काम पिछले आठ-दस वर्षो से नहीं हुआ हैं। उनकी सरकार इसे करवाने जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के संवेदनशील तटबंधों का मरम्मत सरकार करायेगी लेकिन जनप्रतिनिधि इसमें रुचि न लें कि कौन ठेकेदार कार्य करेगा। उन्होंने कहा कि अपराधी, गुंडे, माफिया और जनप्रतिनिधि ठेकेदारी से दूर रहें। यही उनके हित में होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि तटबंधों में ‘‘रेन कट’ को हरहाल में ठीक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि तटबंधों के मरम्मत का काम शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि प्रश्न करने वाले विधायक को भी मौके पर जाकर देखना चाहिए कि कार्य हो रहा है। यह जरूर है कि व्यवस्था बिगड़ गयी है, लेकिन उनकी सरकार इसे ठीक करायेगी।इससे पहले बाढ़ नियंतण्रराज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाती सिंह ने सदन को बताया कि राज्य के बाढ़ प्रभावित 38 जिलों के 28 संवेदनशील और अतिसंवेदनशील तटबंध हैं। इनकी मरम्मत के लिए 30.25 करोड़ रुपये स्वीकृत हैं, जिसमें से 16.64 करोड़ रुपये स्वीकृत किया चुका है। शेष राशि जल्द जारी की जाएगी। एक सवाल के जवाब में स्वाती सिंह ने आश्वासन देते हुए कहा कि सरकार 15 जून के पहले सभी तटबंधों की मरम्मत करा देगी।


  • दैनिक जागरण : 17/05/2017 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गरीब और गंभीर रोगों से पीड़ित रोगियों को आर्थिक मदद उपलब्ध कराने के लिए तीन दिन के भीतर ही रिपोर्ट देने की व्यवस्था करने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस आशय के निर्देश गत 12 मई को सभी जिलाधिकारियों को दिए जा चुके हैं।1मंगलवार को योगी ने विधानसभा के प्रश्न काल में बसपा के मोहम्मद असलम राइनी के सवाल पर बताया कि सरकार गरीबों की मदद में कोई कमी नहीं छोड़ेगी। इसीलिए सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि इच्छुक रोगियों की रिपोर्ट जारी करने में विलम्ब बर्दाश्त नहीं होगी। जल्द से जल्द आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए सभी उपाय किए जा रहे हैं। संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने गरीबों को इलाज में मदद की योजनाएं बंद नहीं करने का आश्वासन दिया। वर्षा जल संचयन प्रबंधन के बगैर नक्शे पास न होंगे : मुख्यमंत्री ने बताया कि गिरते भूजल स्तर को रोकने के लिए सरकार मकानों का नक्शा पास करने के पहले वर्षा जल संचयन के प्रबंधन कराना अनिवार्य कर दिया है। बुंदेलखंड की तर्ज पर अन्य क्षेत्रों में खेत तालाब व चेक डेम बनाने का काम किया जाएगा। ऐसे पौधों के रोपण को प्रोत्साहित नहीं किया जाएगा जिनसे भूजल स्तर में गिरावट होती हो। सरकार भूजल को बचाने के लिए पूरी तरह संवेदनशील है। मुख्यमंत्री सपा के नरेंद्र वर्मा, भाजपा के पंकज सिंह, कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू के पूछे गए भूजलस्तर में गिरावट आने के सवाल का जवाब दे रहे थे। इससे पहले मंत्री एसपी बघेल ने बताया कि भूगर्भ जल संसाधन के 31 मार्च, 2011 पर आधारित आकलन के अनुसार प्रदेश के 111 ब्लाक अतिदोहित व 68 ब्लाक क्रिटिकल श्रेणी में आते है। गिरते भूजल स्तर के निदान को गत फरवरी 2013 द्वारा भूजल प्रबंधन, वर्षा जल संचयन एवं भूजल रिचार्ज की समग्र नीति जारी की गयी थी, जिसके बाद से भू जल स्तर में सुधार हुआ है। यूपी-100 को सराहा, बंद नहीं करेंगे : विधानसभा में कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विपक्ष के हमलों का जवाब देते हुए संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने प्रदेश में अपराध घटने के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अपराधों की रोकथाम के लिए विवाद व रंजिश चिह्न्ति कर संबंधित पक्षों को पाबंद कराने की कार्यवाही की जा रही है। गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद और लखनऊ में सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था है। सभी प्रमुख स्थानों पर अतिरिक्त पेट्रोलिंग कारें, गश्त और चेकिंग के साथ वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा पेट्रोलिंग की व्यवस्था है। यूपी-100 योजना में और सुधार किया जाएगा। एंटी रोमियो दल के अलावा महिला सम्मान प्रकोष्ठ गठन करने के साथ ही एंटी भूमाफिया गठित किया जा रहा है।
    Close
    गरीब रोगियों की रिपोर्ट तीन दिन में देंगे डीएम : योगी
    दैनिक जागरण 17/05/2017
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गरीब और गंभीर रोगों से पीड़ित रोगियों को आर्थिक मदद उपलब्ध कराने के लिए तीन दिन के भीतर ही रिपोर्ट देने की व्यवस्था करने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस आशय के निर्देश गत 12 मई को सभी जिलाधिकारियों को दिए जा चुके हैं।1मंगलवार को योगी ने विधानसभा के प्रश्न काल में बसपा के मोहम्मद असलम राइनी के सवाल पर बताया कि सरकार गरीबों की मदद में कोई कमी नहीं छोड़ेगी। इसीलिए सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि इच्छुक रोगियों की रिपोर्ट जारी करने में विलम्ब बर्दाश्त नहीं होगी। जल्द से जल्द आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए सभी उपाय किए जा रहे हैं। संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने गरीबों को इलाज में मदद की योजनाएं बंद नहीं करने का आश्वासन दिया। वर्षा जल संचयन प्रबंधन के बगैर नक्शे पास न होंगे : मुख्यमंत्री ने बताया कि गिरते भूजल स्तर को रोकने के लिए सरकार मकानों का नक्शा पास करने के पहले वर्षा जल संचयन के प्रबंधन कराना अनिवार्य कर दिया है। बुंदेलखंड की तर्ज पर अन्य क्षेत्रों में खेत तालाब व चेक डेम बनाने का काम किया जाएगा। ऐसे पौधों के रोपण को प्रोत्साहित नहीं किया जाएगा जिनसे भूजल स्तर में गिरावट होती हो। सरकार भूजल को बचाने के लिए पूरी तरह संवेदनशील है। मुख्यमंत्री सपा के नरेंद्र वर्मा, भाजपा के पंकज सिंह, कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू के पूछे गए भूजलस्तर में गिरावट आने के सवाल का जवाब दे रहे थे। इससे पहले मंत्री एसपी बघेल ने बताया कि भूगर्भ जल संसाधन के 31 मार्च, 2011 पर आधारित आकलन के अनुसार प्रदेश के 111 ब्लाक अतिदोहित व 68 ब्लाक क्रिटिकल श्रेणी में आते है। गिरते भूजल स्तर के निदान को गत फरवरी 2013 द्वारा भूजल प्रबंधन, वर्षा जल संचयन एवं भूजल रिचार्ज की समग्र नीति जारी की गयी थी, जिसके बाद से भू जल स्तर में सुधार हुआ है। यूपी-100 को सराहा, बंद नहीं करेंगे : विधानसभा में कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विपक्ष के हमलों का जवाब देते हुए संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने प्रदेश में अपराध घटने के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अपराधों की रोकथाम के लिए विवाद व रंजिश चिह्न्ति कर संबंधित पक्षों को पाबंद कराने की कार्यवाही की जा रही है। गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद और लखनऊ में सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था है। सभी प्रमुख स्थानों पर अतिरिक्त पेट्रोलिंग कारें, गश्त और चेकिंग के साथ वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा पेट्रोलिंग की व्यवस्था है। यूपी-100 योजना में और सुधार किया जाएगा। एंटी रोमियो दल के अलावा महिला सम्मान प्रकोष्ठ गठन करने के साथ ही एंटी भूमाफिया गठित किया जा रहा है।


  • राष्ट्रीय सहारा : 15/05/2017 प्रदेश में अगले सत्र से स्कूलों के पाठ्यक्रम में महापुरूषों का इतिहास जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह बात रविवार को किंगजार्ज चिकित्सा विविद्यालय के कन्वेंशन सेंटर में महाराजा सुहेलदेव विजयोत्सव समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में कही।कार्यक्रम का आयोजन महाराजा सुहेलदेव विजयोत्सव आयोजन समिति व राष्ट्रीय स्वयं सेवक के संयुक्त तत्वावधान में किया गया था। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने आयोजन समिति की मांग पर बहराइच में महाराजा सुहेलदेव की प्रतिमा अनावरण समेत चार अन्य मांगों पर सहमति प्रदान की। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश हित में कार्य करने वाले आरएसएस को वे दल साम्प्रदायिक होने की बात कहते हैं जो दल स्वयं वोट बैंक के नाम पर समाज को बांटते हैं। ऐसे में देश में साम्प्रदायिकता पर र्चचा जरुरी हो गयी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो समाज अपने महापुरूषों के काम व उनके बलिदान को सजोकर नहीं रख सकता, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर सकता। भारत के वास्तविक इतिहास को जानबूझकर दबा कर रखा गया है। केन्द्र सरकार देश के महापुरूषों के इतिहास को पाठ्यक्रमों के माध्यम से आमजन तक लाने का काम कर रही है। प्रदेश सरकार भी अगले वर्ष से महाराजा सुहेलदेव, झलकारीबाई, दुर्गावती व अन्य महापुरूषों का इतिहास पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाएगी। बाबर, औरंगजेब व अन्य आक्रमणकारियों ने देश को लूटा है। देश की आजादी के बाद शरारतपूर्ण तरीके से देश के लिए कुर्बानी व बलिदान देने वालों का इतिहास दबाने का काम किया गया है। जब ऐसे लोगों का इतिहास लोगों के सामने आएगा तो देश के महापुरूषों का बलिदान दबाने वालों का चेहरा बेनकाब होगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि महापुरूषों के नाम पर होने वाली छुट्टी रद कर दी गयी है। अब उनके जन्मदिन पर सुबह प्रधानाचार्य बच्चों को महापुरूषों के बारे में बताएंगे। शाम को महापुरूषों पर कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। कार्यक्रम में कन्हैयालाल नगीना, अनुराग मिश्र ‘‘अन्नू’ महन्त धम्रेन्द्र दास, विनय रस्तोगी, पूर्व सांसद जय प्रकाश, सांसद हरिनारायण, मुरलीधर आहूजा, सीएस भण्डारी, सुनील सिंह, पाल सिंह, राजेन्द्र अग्रवाल, अजय सिंह नेगी व उमंग खन्ना समेत काफी लोग मौजूद थे।
    Close
    पाठ्यक्रम में जोड़ा जाएगा महापुरुषों का इतिहास
    राष्ट्रीय सहारा 15/05/2017
    प्रदेश में अगले सत्र से स्कूलों के पाठ्यक्रम में महापुरूषों का इतिहास जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह बात रविवार को किंगजार्ज चिकित्सा विविद्यालय के कन्वेंशन सेंटर में महाराजा सुहेलदेव विजयोत्सव समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में कही।कार्यक्रम का आयोजन महाराजा सुहेलदेव विजयोत्सव आयोजन समिति व राष्ट्रीय स्वयं सेवक के संयुक्त तत्वावधान में किया गया था। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने आयोजन समिति की मांग पर बहराइच में महाराजा सुहेलदेव की प्रतिमा अनावरण समेत चार अन्य मांगों पर सहमति प्रदान की। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश हित में कार्य करने वाले आरएसएस को वे दल साम्प्रदायिक होने की बात कहते हैं जो दल स्वयं वोट बैंक के नाम पर समाज को बांटते हैं। ऐसे में देश में साम्प्रदायिकता पर र्चचा जरुरी हो गयी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो समाज अपने महापुरूषों के काम व उनके बलिदान को सजोकर नहीं रख सकता, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर सकता। भारत के वास्तविक इतिहास को जानबूझकर दबा कर रखा गया है। केन्द्र सरकार देश के महापुरूषों के इतिहास को पाठ्यक्रमों के माध्यम से आमजन तक लाने का काम कर रही है। प्रदेश सरकार भी अगले वर्ष से महाराजा सुहेलदेव, झलकारीबाई, दुर्गावती व अन्य महापुरूषों का इतिहास पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाएगी। बाबर, औरंगजेब व अन्य आक्रमणकारियों ने देश को लूटा है। देश की आजादी के बाद शरारतपूर्ण तरीके से देश के लिए कुर्बानी व बलिदान देने वालों का इतिहास दबाने का काम किया गया है। जब ऐसे लोगों का इतिहास लोगों के सामने आएगा तो देश के महापुरूषों का बलिदान दबाने वालों का चेहरा बेनकाब होगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि महापुरूषों के नाम पर होने वाली छुट्टी रद कर दी गयी है। अब उनके जन्मदिन पर सुबह प्रधानाचार्य बच्चों को महापुरूषों के बारे में बताएंगे। शाम को महापुरूषों पर कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। कार्यक्रम में कन्हैयालाल नगीना, अनुराग मिश्र ‘‘अन्नू’ महन्त धम्रेन्द्र दास, विनय रस्तोगी, पूर्व सांसद जय प्रकाश, सांसद हरिनारायण, मुरलीधर आहूजा, सीएस भण्डारी, सुनील सिंह, पाल सिंह, राजेन्द्र अग्रवाल, अजय सिंह नेगी व उमंग खन्ना समेत काफी लोग मौजूद थे।


  • दैनिक जागरण : 14/05/2017 जागरण संवाददाता, गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीवान बाजार में वनस्पति घी और तेल कारोबारी चंद्र प्रकाश टिबड़ेवाल (45) की हत्या कर हुई लूट का 48 घंटे के अंदर पर्दाफाश करने का जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को अल्टीमेटम दिया है। अधिकारियों से उन्होंने कहा कि इस घटना का सही पर्दाफाश होना चाहिए और लूटी गई पूरी रकम बरामद होनी चाहिए। इससे पहले उन्होंने कारोबारी की पत्नी सुनीता टिबड़ेवाल और बेटे स्वयं, बेटी आस्था व रिश्तेदारों को सर्किट हाउस में बुलाकर मुलाकात की।1कोतवाली थाना क्षेत्र के दीवान बाजार स्थित हेमंत अपार्टमेंट में पत्नी व बच्चों के साथ रहने वाले कोतवाली, महराजगंज निवासी चंद्रप्रकाश टिबड़ेवाल की बीते गुरुवार की रात गोली मारकर हत्या करने बाद बदमाश नकदी लूट ले गए थे। चंद्रप्रकाश इस्माइलपुर स्थित दुकान से एक कर्मचारी के साथ एक्टिवा से घर लौट रहे थे। रुपये से भरा झोला उन्होंने एक्टीवा में पैर के पास रखा था। सवा नौ बजे के आसपास हेमंत अपार्टमेंट से पहले स्थित मस्जिद के पास बदमाशों ने उनको रोक कर घटना को अंजाम दिया। वारदात के तीसरे दिन भी पुलिस बदमाशों का कोई सुराग नहीं लगा पाई है। सीसीटीवी में घटना रिकार्ड है लेकिन बदमाशों का चेहरा स्पष्ट नहीं है। फिलहाल पुलिस शातिर लुटेरे ओसामा और उसके साथी इशान उर्फ जिशान की तलाश कर रही है। शुक्रवार को गोरखपुर आने पर मुख्यमंत्री उसी दिन पीड़ित परिवार से मिलने उनके घर जाना चाह रहे थे लेकिन पता चला कि कारोबारी के परिजन अंत्येष्टि करने पैतृक घर महराजगंज चले गए हैं। मुख्यमंत्री की सूचना पर कारोबारी की पत्नी सुनीता ने बच्चों तथा परिवार के अन्य लोगों के साथ शनिवार को सर्किट हाउस पहुंचकर उनसे मुलाकात की। कारोबारी की पत्नी, बच्चों तथा रिश्तेदारों से एक कमरे में अलग से मुलाकात करने के बाद मुख्यमंत्री ने उनके सामने ही जिलाधिकारी राजीव रौतेला व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरपी पांडेय को तलब किया। दोनों अधिकारियों को सख्त लहजे में उन्होंने 48 घंटे के अंदर घटना का पर्दाफाश करने, वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों को गिरफ्तार करने तथा लूट की पूरी रकम बरामद करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवार से अगली बार गोरखपुर आने पर उनके घर आकर मिलने का वादा किया है।घी कारोबारी की पत्नी व परिवार के अन्य लोगों को सांत्वना देते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ’
    Close
    व्यापारी हत्याकांड का 48 घंटे के अंदर करें पर्दाफाश
    दैनिक जागरण 14/05/2017
    जागरण संवाददाता, गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीवान बाजार में वनस्पति घी और तेल कारोबारी चंद्र प्रकाश टिबड़ेवाल (45) की हत्या कर हुई लूट का 48 घंटे के अंदर पर्दाफाश करने का जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को अल्टीमेटम दिया है। अधिकारियों से उन्होंने कहा कि इस घटना का सही पर्दाफाश होना चाहिए और लूटी गई पूरी रकम बरामद होनी चाहिए। इससे पहले उन्होंने कारोबारी की पत्नी सुनीता टिबड़ेवाल और बेटे स्वयं, बेटी आस्था व रिश्तेदारों को सर्किट हाउस में बुलाकर मुलाकात की।1कोतवाली थाना क्षेत्र के दीवान बाजार स्थित हेमंत अपार्टमेंट में पत्नी व बच्चों के साथ रहने वाले कोतवाली, महराजगंज निवासी चंद्रप्रकाश टिबड़ेवाल की बीते गुरुवार की रात गोली मारकर हत्या करने बाद बदमाश नकदी लूट ले गए थे। चंद्रप्रकाश इस्माइलपुर स्थित दुकान से एक कर्मचारी के साथ एक्टिवा से घर लौट रहे थे। रुपये से भरा झोला उन्होंने एक्टीवा में पैर के पास रखा था। सवा नौ बजे के आसपास हेमंत अपार्टमेंट से पहले स्थित मस्जिद के पास बदमाशों ने उनको रोक कर घटना को अंजाम दिया। वारदात के तीसरे दिन भी पुलिस बदमाशों का कोई सुराग नहीं लगा पाई है। सीसीटीवी में घटना रिकार्ड है लेकिन बदमाशों का चेहरा स्पष्ट नहीं है। फिलहाल पुलिस शातिर लुटेरे ओसामा और उसके साथी इशान उर्फ जिशान की तलाश कर रही है। शुक्रवार को गोरखपुर आने पर मुख्यमंत्री उसी दिन पीड़ित परिवार से मिलने उनके घर जाना चाह रहे थे लेकिन पता चला कि कारोबारी के परिजन अंत्येष्टि करने पैतृक घर महराजगंज चले गए हैं। मुख्यमंत्री की सूचना पर कारोबारी की पत्नी सुनीता ने बच्चों तथा परिवार के अन्य लोगों के साथ शनिवार को सर्किट हाउस पहुंचकर उनसे मुलाकात की। कारोबारी की पत्नी, बच्चों तथा रिश्तेदारों से एक कमरे में अलग से मुलाकात करने के बाद मुख्यमंत्री ने उनके सामने ही जिलाधिकारी राजीव रौतेला व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरपी पांडेय को तलब किया। दोनों अधिकारियों को सख्त लहजे में उन्होंने 48 घंटे के अंदर घटना का पर्दाफाश करने, वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों को गिरफ्तार करने तथा लूट की पूरी रकम बरामद करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवार से अगली बार गोरखपुर आने पर उनके घर आकर मिलने का वादा किया है।घी कारोबारी की पत्नी व परिवार के अन्य लोगों को सांत्वना देते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ’


  • राष्ट्रीय सहारा : 13/05/2017 भाटपाररानी/बनकटा (देवरिया)। भाटपाररानी के टीकमपार गांव निवासी शहीद प्रेमसागर के परिजनों से मिलकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को सांत्वना देते हुए उन्हें 4 लाख Rs नकद एवं 2 लाख Rs की एफडी सौंपी। मुख्यमंत्री ने शहीद के नाम पर स्मारक, विद्यालय एवं मार्ग बनवाने की घोषणा भी की। मुख्यमंत्री आज शाम तकरीबन 6:04 बजे टीकमपार में शहीद प्रेम सागर के अन्त्येष्टि स्थल पर हेलीकाप्टर से पहुंचे। वहां शहीद के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर मुख्यमंत्री भारी सुरक्षा के बीच सड़क मार्ग से 6:15 बजे शहीद के घर पहुंचे। वहां एक कमरे में उन्होंने शहीद के परिजनों से तकरीबन 11 मिनट तक वार्ता किया। जिलाधिकारी देवरिया सुजीत कुमार ने बताया कि शहीद के परिजनों को मुख्यमंत्री द्वारा 6 लाख Rs की रकम दी गयी इसमें 4 लाख रुपये का चेक व 2 लाख की एफडी थी। इससे पूर्व 02 मई को कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने शहीद के परिजनों को 20 लाख Rs का चेक दिया था। 10 लाख Rs शहीद की पत्नी ज्ञान्ति देवी के खाते में बीएसएफ ने भेजवाया है। शहीद के अन्त्येष्टि स्थल पर दर्शनीय स्थल के रुप में शहीद स्मारक बनवाया जायेगा। यहां बालिका इंटरमीडिएट कालेज की भी स्थापना होगी। शहीद अन्त्येष्टि स्थल के बगल में स्थित पोखरे का सौन्दर्यीकरण भी कराया जाएगा। भाटपाररानी-प्रतापपुर मार्ग को शहीद के नाम से जाना जायेगा। शहीद के घर से ब्रह्म स्थान तक सीसी रोड का निर्माण होगा। शहीद के बड़े बेटे को योग्यता एवं मानक के अनुसार नौकरी दिलायी जायेगी। पेट्रोल पम्प अथवा गैस एजेंसी के लिये भारत सरकार को पत्र लिखकर अवगत कराया जायेगा। इस दौरान उ.प्र सरकार के कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही, विधायक कमलेश शुक्ला, सलेमपुर के सांसद रविन्द्र कुशवाहा, देवरिया से भाजपा विधायक जन्मेजय सिंह , सलेमपुर के विधायक काली प्रसाद, सपा विधायक डॉ. आशुतोष उपाध्याय, भाजपा जिलाध्यक्ष महेन्द्र यादव सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।
    Close
    शहीद प्रेम सागर के अन्त्येष्टि स्थल पर बनेगा स्मारक
    राष्ट्रीय सहारा 13/05/2017
    भाटपाररानी/बनकटा (देवरिया)। भाटपाररानी के टीकमपार गांव निवासी शहीद प्रेमसागर के परिजनों से मिलकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को सांत्वना देते हुए उन्हें 4 लाख Rs नकद एवं 2 लाख Rs की एफडी सौंपी। मुख्यमंत्री ने शहीद के नाम पर स्मारक, विद्यालय एवं मार्ग बनवाने की घोषणा भी की। मुख्यमंत्री आज शाम तकरीबन 6:04 बजे टीकमपार में शहीद प्रेम सागर के अन्त्येष्टि स्थल पर हेलीकाप्टर से पहुंचे। वहां शहीद के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर मुख्यमंत्री भारी सुरक्षा के बीच सड़क मार्ग से 6:15 बजे शहीद के घर पहुंचे। वहां एक कमरे में उन्होंने शहीद के परिजनों से तकरीबन 11 मिनट तक वार्ता किया। जिलाधिकारी देवरिया सुजीत कुमार ने बताया कि शहीद के परिजनों को मुख्यमंत्री द्वारा 6 लाख Rs की रकम दी गयी इसमें 4 लाख रुपये का चेक व 2 लाख की एफडी थी। इससे पूर्व 02 मई को कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने शहीद के परिजनों को 20 लाख Rs का चेक दिया था। 10 लाख Rs शहीद की पत्नी ज्ञान्ति देवी के खाते में बीएसएफ ने भेजवाया है। शहीद के अन्त्येष्टि स्थल पर दर्शनीय स्थल के रुप में शहीद स्मारक बनवाया जायेगा। यहां बालिका इंटरमीडिएट कालेज की भी स्थापना होगी। शहीद अन्त्येष्टि स्थल के बगल में स्थित पोखरे का सौन्दर्यीकरण भी कराया जाएगा। भाटपाररानी-प्रतापपुर मार्ग को शहीद के नाम से जाना जायेगा। शहीद के घर से ब्रह्म स्थान तक सीसी रोड का निर्माण होगा। शहीद के बड़े बेटे को योग्यता एवं मानक के अनुसार नौकरी दिलायी जायेगी। पेट्रोल पम्प अथवा गैस एजेंसी के लिये भारत सरकार को पत्र लिखकर अवगत कराया जायेगा। इस दौरान उ.प्र सरकार के कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही, विधायक कमलेश शुक्ला, सलेमपुर के सांसद रविन्द्र कुशवाहा, देवरिया से भाजपा विधायक जन्मेजय सिंह , सलेमपुर के विधायक काली प्रसाद, सपा विधायक डॉ. आशुतोष उपाध्याय, भाजपा जिलाध्यक्ष महेन्द्र यादव सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।


  • दैनिक जागरण : 12/05/2017 गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को देवरिया व गोरखपुर में होंगे। पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए प्रेमप्रकाश के घर शोक संवेदना व्यक्त करने उनके पैतृक गांव देवरिया के टीकमपार जाएंगे और रात्रि विश्रम गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर में करेंगे। शनिवार को बस्ती में विकास कार्यो की मंडलीय समीक्षा बैठक करेंगे।1सीएम का कार्यक्रम : ’ शुक्रवार को शाम 5.05 बजे राजकीय विमान से गोरखपुर एयरपोर्ट पर आगमन ’ 5.10 बजे हेलीकाप्टर से देवरिया के टीकमपार (भाटपार रानी) के लिए रवाना होंगे ’ 5.30 से 5.50 बजे तक शहीद प्रेमप्रकाश के परिजनों से मुलाकात करेंगे ’ 6.20 बजे हेलीकाप्टर से गोरखपुर स्थित एमपी पालीटेक्निक में बने हेलीपैड पर उतरेंगे।
    Close
    सीएम आज देवरिया और गोरखपुर में
    दैनिक जागरण 12/05/2017
    गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को देवरिया व गोरखपुर में होंगे। पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए प्रेमप्रकाश के घर शोक संवेदना व्यक्त करने उनके पैतृक गांव देवरिया के टीकमपार जाएंगे और रात्रि विश्रम गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर में करेंगे। शनिवार को बस्ती में विकास कार्यो की मंडलीय समीक्षा बैठक करेंगे।1सीएम का कार्यक्रम : ’ शुक्रवार को शाम 5.05 बजे राजकीय विमान से गोरखपुर एयरपोर्ट पर आगमन ’ 5.10 बजे हेलीकाप्टर से देवरिया के टीकमपार (भाटपार रानी) के लिए रवाना होंगे ’ 5.30 से 5.50 बजे तक शहीद प्रेमप्रकाश के परिजनों से मुलाकात करेंगे ’ 6.20 बजे हेलीकाप्टर से गोरखपुर स्थित एमपी पालीटेक्निक में बने हेलीपैड पर उतरेंगे।


  • दैनिक जागरण : 11/05/2017 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : इस बार गंगा उल्टी बही। योजना आयोग के जमाने में राज्य सरकार को दिल्ली जाकर विकास की भूमिका बनानी पड़ती लेकिन, पहली बार 17 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के साथ उत्तर प्रदेश के दरवाजे पर आये नीति आयोग ने नई कार्य संस्कृति विकसित की। इसका असर दोनों तरफ दिखा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विकास की दर 7.9 फीसद है जिसे दहाई तक लेकर जाना है। उप्र के विकास की दर दस फीसद करने के लिए एक कार्यकारी ग्रुप का गठन किया गया है। यह ग्रुप 15 दिन में विकास का रोडमैप तैयार करेगा। बुधवार को योगी आदित्यनाथ लोकभवन में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
    Close
    दस फीसद करेंगे उप्र के विकास की दर
    दैनिक जागरण 11/05/2017
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : इस बार गंगा उल्टी बही। योजना आयोग के जमाने में राज्य सरकार को दिल्ली जाकर विकास की भूमिका बनानी पड़ती लेकिन, पहली बार 17 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के साथ उत्तर प्रदेश के दरवाजे पर आये नीति आयोग ने नई कार्य संस्कृति विकसित की। इसका असर दोनों तरफ दिखा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विकास की दर 7.9 फीसद है जिसे दहाई तक लेकर जाना है। उप्र के विकास की दर दस फीसद करने के लिए एक कार्यकारी ग्रुप का गठन किया गया है। यह ग्रुप 15 दिन में विकास का रोडमैप तैयार करेगा। बुधवार को योगी आदित्यनाथ लोकभवन में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।


  • दैनिक जागरण : 10/05/2017 रवि प्रकाश तिवारी ’मेरठ क्रांतिधरा पर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कानून का राज स्थापित करना सरकार की प्राथमिकता है। बहू-बेटियों की हिफाजत के लिए ही एंटी रोमियो स्क्वॉड गठित किया। छेड़खानी और कानून हाथ में लेने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। किसी के साथ भेदभाव नहीं होगा, लेकिन विभाजन का कारण बने तुष्टीकरण को किसी हाल में नहीं पनपने देंगे। अपराधी, समाजविरोधियों से पुलिस-प्रशासन निपटे और समाज भी इसमें सहयोग करे। क्रांति दिवस की पूर्व संध्या पर मुख्यमंत्री ने प्रथम स्वाधीनता संग्राम के शहीदों को श्रद्धांजलि दी और स्वाधीनता संग्राम सेनानियों को सम्मानित किया। भैंसाली ग्राउंड में हुई जनसभा में सरकार की मंशा और कार्यशैली को फिर स्पष्ट किया। बोले, पश्चिमी उप्र से सर्वाधिक शिकायतें आती थीं कि बहुएं बाहर निकलने से ङिाझकती हैं और बेटियां स्कूल जाने से डरती हैं। इससे निपटने के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉड गठित किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में राजनीतिक परिवर्तन तो हो चुका, अब व्यवस्था का संपूर्ण परिवर्तन करना है। जाति, पंथ, मजहब के आधार पर कोई भेदभाव का शिकार नहीं होगा लेकिन समाज में विभाजन के कारण बने तुष्टीकरण को भी नहीं पनपने देंगे। प्रतिस्पर्धा का भाव पैदा हो, ताकि विकास की रफ्तार बढ़े। मुख्यमंत्री ने कहा, मोदी की नीति ‘सबका साथ सबका विकास’, ‘नेशन फस्र्ट’ और ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ की विचारधारा पर ही उप्र आगे बढ़ रहा है। कहा कि एनजीटी के मानक और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का उल्लंघन करने वाले अवैध कमेलों को बंद कराया गया है। प्रशासन भविष्य में भी इसका विशेष ध्यान रखे। सभा के बाद उन्होंने कमिश्नरी सभागार में मंडलीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों की क्लास ली। डीएम को कांवड़ पटरी मार्ग पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। योगी सुबह 9.25 बजे हेलीकॉप्टर से खरखौदा में उतरे। यहां गेहूं क्रय केंद्र का दौरा किया फिर शेरगढ़ी की मलिन बस्ती और मेडिकल कालेज का। यहां से प्रथम स्वाधीनता संग्राम की जन्मस्थली काली पलटन मंदिर पहुंचकर माथा टेका और शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। दोपहर बाद 3.10 बजे राजकीय विमान से वे लखनऊ लौट गए। धोएंगे गंदगी का दाग : स्वच्छता सर्वे में उप्र की बदतर तस्वीर की टीस भी योगी के चेहरे पर दिखी। बोले, नई रेटिंग में शीर्ष-100 में प्रदेश का केवल एक और नीचे से इस सूची में 52 शहर शामिल हैं। भले ही सर्वे पिछली सरकार के कार्यकाल का है, लेकिन हमें तस्वीर बदलनी होगी। प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान को आत्मसात करना होगा, क्योंकि स्वच्छता ही स्वास्थ्य और समृद्धि की गारंटी है। उन्होंने अपील की कि स्वच्छता अभियान में स्कूल, कालेज, एनजीओ, सांस्कृतिक, धार्मिक, सामाजिक, राजनीतिक संगठन भागीदारी कर इस कलंक को धो दें। प्लास्टिक का इस्तेमाल भी बंद करें। एजेंडे में किसान सबसे ऊपर : योगी बोले, हमारा पहला लक्ष्य किसानों का हित है, इसलिए क्रय केंद्रों पर विशेष ध्यान है। हालांकि, पश्चिम के किसान काफी आगे हैं लेकिन विकास की धार और तेज करनी होगी। किसानों से 487 रुपये के भाव पर चार एजेंसियों को आलू खरीद का जिम्मा सौंपा है। गड़बड़ी की शिकायत पर कार्रवाई होगी। गन्ना किसानों के बारे में कहा कि पहली सरकार है जिसने एक महीने में 6200 करोड़ रुपये भुगतान किया। बाकी भुगतान भी 120 दिन में हो जाएंगे।
    Close
    बहू-बेटियों से छेड़खानी बर्दाश्त नहीं: योगी
    दैनिक जागरण 10/05/2017
    रवि प्रकाश तिवारी ’मेरठ क्रांतिधरा पर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कानून का राज स्थापित करना सरकार की प्राथमिकता है। बहू-बेटियों की हिफाजत के लिए ही एंटी रोमियो स्क्वॉड गठित किया। छेड़खानी और कानून हाथ में लेने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। किसी के साथ भेदभाव नहीं होगा, लेकिन विभाजन का कारण बने तुष्टीकरण को किसी हाल में नहीं पनपने देंगे। अपराधी, समाजविरोधियों से पुलिस-प्रशासन निपटे और समाज भी इसमें सहयोग करे। क्रांति दिवस की पूर्व संध्या पर मुख्यमंत्री ने प्रथम स्वाधीनता संग्राम के शहीदों को श्रद्धांजलि दी और स्वाधीनता संग्राम सेनानियों को सम्मानित किया। भैंसाली ग्राउंड में हुई जनसभा में सरकार की मंशा और कार्यशैली को फिर स्पष्ट किया। बोले, पश्चिमी उप्र से सर्वाधिक शिकायतें आती थीं कि बहुएं बाहर निकलने से ङिाझकती हैं और बेटियां स्कूल जाने से डरती हैं। इससे निपटने के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉड गठित किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में राजनीतिक परिवर्तन तो हो चुका, अब व्यवस्था का संपूर्ण परिवर्तन करना है। जाति, पंथ, मजहब के आधार पर कोई भेदभाव का शिकार नहीं होगा लेकिन समाज में विभाजन के कारण बने तुष्टीकरण को भी नहीं पनपने देंगे। प्रतिस्पर्धा का भाव पैदा हो, ताकि विकास की रफ्तार बढ़े। मुख्यमंत्री ने कहा, मोदी की नीति ‘सबका साथ सबका विकास’, ‘नेशन फस्र्ट’ और ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ की विचारधारा पर ही उप्र आगे बढ़ रहा है। कहा कि एनजीटी के मानक और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का उल्लंघन करने वाले अवैध कमेलों को बंद कराया गया है। प्रशासन भविष्य में भी इसका विशेष ध्यान रखे। सभा के बाद उन्होंने कमिश्नरी सभागार में मंडलीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों की क्लास ली। डीएम को कांवड़ पटरी मार्ग पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। योगी सुबह 9.25 बजे हेलीकॉप्टर से खरखौदा में उतरे। यहां गेहूं क्रय केंद्र का दौरा किया फिर शेरगढ़ी की मलिन बस्ती और मेडिकल कालेज का। यहां से प्रथम स्वाधीनता संग्राम की जन्मस्थली काली पलटन मंदिर पहुंचकर माथा टेका और शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। दोपहर बाद 3.10 बजे राजकीय विमान से वे लखनऊ लौट गए। धोएंगे गंदगी का दाग : स्वच्छता सर्वे में उप्र की बदतर तस्वीर की टीस भी योगी के चेहरे पर दिखी। बोले, नई रेटिंग में शीर्ष-100 में प्रदेश का केवल एक और नीचे से इस सूची में 52 शहर शामिल हैं। भले ही सर्वे पिछली सरकार के कार्यकाल का है, लेकिन हमें तस्वीर बदलनी होगी। प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान को आत्मसात करना होगा, क्योंकि स्वच्छता ही स्वास्थ्य और समृद्धि की गारंटी है। उन्होंने अपील की कि स्वच्छता अभियान में स्कूल, कालेज, एनजीओ, सांस्कृतिक, धार्मिक, सामाजिक, राजनीतिक संगठन भागीदारी कर इस कलंक को धो दें। प्लास्टिक का इस्तेमाल भी बंद करें। एजेंडे में किसान सबसे ऊपर : योगी बोले, हमारा पहला लक्ष्य किसानों का हित है, इसलिए क्रय केंद्रों पर विशेष ध्यान है। हालांकि, पश्चिम के किसान काफी आगे हैं लेकिन विकास की धार और तेज करनी होगी। किसानों से 487 रुपये के भाव पर चार एजेंसियों को आलू खरीद का जिम्मा सौंपा है। गड़बड़ी की शिकायत पर कार्रवाई होगी। गन्ना किसानों के बारे में कहा कि पहली सरकार है जिसने एक महीने में 6200 करोड़ रुपये भुगतान किया। बाकी भुगतान भी 120 दिन में हो जाएंगे।


  • दैनिक जागरण : 08/05/2017 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : महानगरों के साथ ही अब प्रदेश में छोटे जिलों के लिए भी लोगों को वातानुकूलित बसों से यात्र की सुविधा मिल सकेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को 27 बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इनमें 12 वाल्वो बसें अत्याधुनिक उच्चस्तरीय तकनीकी सुविधाओं से युक्त हैं जबकि 15 साधारण श्रेणी की वातानुकूलित जनरथ बसें हैं जिनका किराया कम होगा। इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा व परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह समेत कई मंत्री भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पांच कालिदास मार्ग स्थित सरकारी आवास से इन बसों को रवाना किया। इससे पहले उन्होंने बस पर चढ़कर उसका निरीक्षण भी किया। इन बसों के माध्यम से जहां सामान्य जनता को कम किराये में वातानुकूलित बस सेवाओं की सुविधा मिलेगी, वहीं वाल्वो बसों में उच्च आय वर्ग के यात्रियों को सुविधाजनक यात्रा मिल सकेगी।
    Close
    छोटे जिलों के लिए कम किराये की एसी बसें
    दैनिक जागरण 08/05/2017
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : महानगरों के साथ ही अब प्रदेश में छोटे जिलों के लिए भी लोगों को वातानुकूलित बसों से यात्र की सुविधा मिल सकेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को 27 बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इनमें 12 वाल्वो बसें अत्याधुनिक उच्चस्तरीय तकनीकी सुविधाओं से युक्त हैं जबकि 15 साधारण श्रेणी की वातानुकूलित जनरथ बसें हैं जिनका किराया कम होगा। इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा व परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह समेत कई मंत्री भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पांच कालिदास मार्ग स्थित सरकारी आवास से इन बसों को रवाना किया। इससे पहले उन्होंने बस पर चढ़कर उसका निरीक्षण भी किया। इन बसों के माध्यम से जहां सामान्य जनता को कम किराये में वातानुकूलित बस सेवाओं की सुविधा मिलेगी, वहीं वाल्वो बसों में उच्च आय वर्ग के यात्रियों को सुविधाजनक यात्रा मिल सकेगी।


  • राष्ट्रीय सहारा : 07/05/2017 सहारा न्यूज ब्यूरो लखनऊ। देश की स्वच्छता रैंकिंग में यूपी के पिछड़ने के बाद अब सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद ही स्वच्छता को जनभागीदारी का महाभियान बनाने का जिम्मा उठाया है। इसकी शुरुआत उन्होंने राजधानी के एक हिस्से से जाकर की। श्री योगी ने सफाई के लिए जब झाडू उठायी तो उनके साथ मंत्री सुरेश खन्ना, कार्यवाहक महापौर सुरेश अवस्थी भी सफाई में जुट गये। सीएम ने स्वच्छता रैंकिंग में लखनऊ के नीचे होने पर नाराजगी जतायी और कार्यवाहक महापौर को शहर को साफ-सफाई करने के लिए 15 दिनों की मोहलत दी है। इस दौरान गंदगी मिलने व सफाई न मिलने पर जोनल अधिकारी, जेई समेत सफाई एवं खाद्य निरीक्षक पर कार्रवाई की गयी। प्रदेश भर में सरकार ने महीने के पहले शनिवार को सफाई अभियान की शुरुआत की। यहीं से सीएम ने प्रदेश में पालीथीन व र्थमाकोल पर प्रतिबंध लगाने का भी अधिकारियों को निर्देश दिया। करीब आधे घंटे के सफाई अभियान के दौरान सीएम ने मेयर व नगर आयुक्त को कई निर्देश भी दिए। सीएम के जाने के बाद नगर विकास मंत्री ने अन्य क्षेत्रों में सफाई कराने के साथ ही जोनल कार्यालयों का निरीक्षण भी किया। इस दौरान गंदगी मिलने व सफाई न मिलने पर जोनल अधिकारी, जेई समेत सफाई एवं खाद्य निरीक्षक पर कार्रवाई की गई है। सीएम को पहली बार अपने क्षेत्र में देख लोग काफी खुश हुए। लोगों ने कहा इससे पहले यहां कोई विधायक भी नहीं आया था। आज सीधे मुख्यमंत्री ही आ गए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता अभियान को प्रमोट करते हुए शनिवार लखनऊ के बालू अड्डे मोहल्ले में झाडू लगायी। उन्होंने लोगों से साफ सफाई को अभियान के रुप में लेने की अपील की तो नगर विकास मंत्री ने कहा कि सभी की जन भागीदारी हो, यह पीएम श्री मोदी की सोच है और सीएम योगी भी इसी को आगे बढ़ा रहे हैं। वेतन बढ़ाने के भी निर्देश : सीएम ने बालू अड्डा के सुलभ शौचालय को अंदर तक देखा। यहां काम करने वाली पूनम से पूछा कितना वेतन मिलता है। पूनम ने बताया 3000 रुपये। सीएम ने नगर आयुक्त उदयराज सिंह को वेतन बढ़ाने का निर्देश दिया। सुलभ शौचालय का चैनल गेट टूटा हुआ था। नगर आयुक्त ने मानदेय नियमानुसार बढ़ाने व शौचालय के स्थान पर कम्यूनिटी शौचालय बनाने की बात कही है। कार्यक्रम तय होने के बाद भी नगर निगम कर्मचारी व अधिकारी लापरवाह बने रहे। सुबह सात बजे सीएम आने की सूचना के बाबत नगर आयुक्त मौके पर साढ़े पांच बजे ही पहुंच गए। जबकि इतने समय यहां कोई नहीं आया था। सीएम यहां करीब आधे घंटे रुके। क्षेत्र के विधायक व कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक भी कुछ देर बाद पहुंच गये, लेकिन श्रीमती नमृता पाठक जरूर सीएम के साथ रहीं।
    Close
    योगी का ’सफाई योग‘
    राष्ट्रीय सहारा 07/05/2017
    सहारा न्यूज ब्यूरो लखनऊ। देश की स्वच्छता रैंकिंग में यूपी के पिछड़ने के बाद अब सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद ही स्वच्छता को जनभागीदारी का महाभियान बनाने का जिम्मा उठाया है। इसकी शुरुआत उन्होंने राजधानी के एक हिस्से से जाकर की। श्री योगी ने सफाई के लिए जब झाडू उठायी तो उनके साथ मंत्री सुरेश खन्ना, कार्यवाहक महापौर सुरेश अवस्थी भी सफाई में जुट गये। सीएम ने स्वच्छता रैंकिंग में लखनऊ के नीचे होने पर नाराजगी जतायी और कार्यवाहक महापौर को शहर को साफ-सफाई करने के लिए 15 दिनों की मोहलत दी है। इस दौरान गंदगी मिलने व सफाई न मिलने पर जोनल अधिकारी, जेई समेत सफाई एवं खाद्य निरीक्षक पर कार्रवाई की गयी। प्रदेश भर में सरकार ने महीने के पहले शनिवार को सफाई अभियान की शुरुआत की। यहीं से सीएम ने प्रदेश में पालीथीन व र्थमाकोल पर प्रतिबंध लगाने का भी अधिकारियों को निर्देश दिया। करीब आधे घंटे के सफाई अभियान के दौरान सीएम ने मेयर व नगर आयुक्त को कई निर्देश भी दिए। सीएम के जाने के बाद नगर विकास मंत्री ने अन्य क्षेत्रों में सफाई कराने के साथ ही जोनल कार्यालयों का निरीक्षण भी किया। इस दौरान गंदगी मिलने व सफाई न मिलने पर जोनल अधिकारी, जेई समेत सफाई एवं खाद्य निरीक्षक पर कार्रवाई की गई है। सीएम को पहली बार अपने क्षेत्र में देख लोग काफी खुश हुए। लोगों ने कहा इससे पहले यहां कोई विधायक भी नहीं आया था। आज सीधे मुख्यमंत्री ही आ गए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता अभियान को प्रमोट करते हुए शनिवार लखनऊ के बालू अड्डे मोहल्ले में झाडू लगायी। उन्होंने लोगों से साफ सफाई को अभियान के रुप में लेने की अपील की तो नगर विकास मंत्री ने कहा कि सभी की जन भागीदारी हो, यह पीएम श्री मोदी की सोच है और सीएम योगी भी इसी को आगे बढ़ा रहे हैं। वेतन बढ़ाने के भी निर्देश : सीएम ने बालू अड्डा के सुलभ शौचालय को अंदर तक देखा। यहां काम करने वाली पूनम से पूछा कितना वेतन मिलता है। पूनम ने बताया 3000 रुपये। सीएम ने नगर आयुक्त उदयराज सिंह को वेतन बढ़ाने का निर्देश दिया। सुलभ शौचालय का चैनल गेट टूटा हुआ था। नगर आयुक्त ने मानदेय नियमानुसार बढ़ाने व शौचालय के स्थान पर कम्यूनिटी शौचालय बनाने की बात कही है। कार्यक्रम तय होने के बाद भी नगर निगम कर्मचारी व अधिकारी लापरवाह बने रहे। सुबह सात बजे सीएम आने की सूचना के बाबत नगर आयुक्त मौके पर साढ़े पांच बजे ही पहुंच गए। जबकि इतने समय यहां कोई नहीं आया था। सीएम यहां करीब आधे घंटे रुके। क्षेत्र के विधायक व कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक भी कुछ देर बाद पहुंच गये, लेकिन श्रीमती नमृता पाठक जरूर सीएम के साथ रहीं।

  •     
    1  2 
     

सर्वश्रेष्ठ समीक्षा

आपका मत

आप के विचार

  • बूचड़ खाना बंद करने पर धन्यावाद

    राजेश patodi हम यह चाहते हे की यह नियम पुरे भारत देश शक्ति से लागु किया जाये हम आशा करते हे की आप की यह मेहनत जरूर रंग लाएगी जय हिन्द जय भारत ,राजेश पटौदी म.प. इंदौर
  • शिक्षा

    अभिशेष एक अपील मोदी जी और योगी जी से की प्राइवेट स्कूल की फीस पर कोई लगाम नहीं है और उनके स्कूल मे पढ़ाया जाने वाला कोर्स बाजार भाव से पांच गुना दामों मे बेचा जा रहा है । आपसे निवेदन है कि इन दोनों बातो पर अपना ध्यान दे ।
  • संपूर्ण देखें